पिछले कुछ दिनों से आ रही खबरों के अनुसार ज़्यादातर टेक कंपनियां अपने सभी प्रॉडक्ट्स के उत्पादन के लिए चीन के अलावा दूसरी देशों का रुख कर रही है। अमेरिका और चीन के बीच चल रहे व्यापारिक युद्ध को मद्देनज़र रखते हुए सभी अमेरिकी कंपनियां जैसे- अमेज़न, डेल, एचपी अपने उत्पादन का एक बड़ा हिस्सा किसी अन्य जगह स्थांतरित करने का मन बना रही है। लेकिन इसी बीच माइक्रोसॉफ्ट ने इस बात का खंडन किया है कि वो भी अपने एक्सबॉक्स गेम कंसोल्स के उत्पादन को चीन के बाहर ले जा रहा है।

माइक्रोसॉफ्ट के प्रवक्ता ने अपने बयान में कहा कि – “ इस ख़बर में कोई सच्चाई नहीं है कि माइक्रोसॉफ्ट अपने उत्पादों का प्रॉडक्शन चीन के बाहर ले जा रहा है और इन सभी खबरों से चीन में हो रहे हमारे एक्सबॉक्स कंसोल के उत्पादन पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा”। माइक्रोसॉफ्ट के अलावा लेनोवो ने भी यह कहा है कि फ़िलहाल वो भी अपने लैपटॉप्स का उत्पादन चीन के बाहर ले जाने के बारे में कुछ भी नहीं सोच रहे है।

मिली जानकारी के अनुसार एचपी और डेल जैसी बड़ी लैपटॉप निर्माता कंपनियां जिनके प्रॉडक्शन प्लांट चीन के चोंगकिंग और कुनशान शहर में है अपना 30 प्रतिशत उत्पादन चीन के बाहर ले जा रहे है। इसके अलावा अमेज़न ने भी अपने किनडल्स और इको स्पीकर्स के उत्पादन के लिए दूसरी जगह तलाशना शुरू कर दिया है। फिलहाल एचपी ने इस मामले में कोई भी टिप्पणी करने से साफ मना कर दिया है।

अमेरिकी सरकार द्वारा लगाई गई नई टैक्स दरों के अनुसार चीन में निर्मित सभी चीजों पर ज़्यादा स्थानीय टैक्स का भुगतान करना होगा जिसका सीधा असर उत्पादों की कीमतों पर पड़ेगा और कंपनियों को अपने उत्पादों के दाम बढ़ाने पड़ेंगे और इससे उपभोक्ताओं पर भी अधिक भार पड़ेगा। फ़िलहाल चीन दुनिया में सबसे बड़ा कंप्यूटर और स्मार्टफोन निर्माता देश है लेकिन कुछ बड़ी कंपनियों का उत्पादन बाहर जाने से चीन को काफी फर्क पड़ेगा।

फॉक्सकॉन और इन्वेन्टेक ने जहां अपना उत्पादन ताइवान और मेक्सिको जैसे देशों में स्थांतरित करने का मन बनाया है वहीं अमेज़न और निनटेंडो अपना उत्पादन वियतनाम में शुरू करने के बारे में सोच रहे है। माइक्रोसॉफ्ट भी भविष्य में अपना उत्पादन थाईलैंड या फिर इंडोनेशिया में शुरू कर सकता है जिसके बारे में अभी कुछ स्पष्ट रूप से नहीं कहाँ जा सकता।

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here