गूगल एंड्राइड से व्यापार में पिछड़ने पर माइक्रोसॉफ्ट के सह-संस्थापक बिल गेट्स ने माना “यह मेरी अब तक की सबसे बड़ी गलती”!

Microsoft co-founder Bill Gates admitted his mistake

कंप्यूटर सॉफ्टवेयर के क्षेत्र में दुनिया की अग्रणी कंपनियों में शुमार माइक्रोसॉफ्ट के सह-संस्थापक बिल गेट्स ने सार्वजनिक तौर पर अपनी एक बड़ी गलती को स्वीकारा है। बिल गेट्स के अनुसार गूगल एंड्राइड को मोबाइल के क्षेत्र में आगे बढ़ने देना और दुनिया का सबसे बड़ा उपभोक्ता आधार बनाने देना शायद माइक्रोसॉफ्ट की अब तक की सबसे बड़ी गलती साबित हुई है जिससे माइक्रोसॉफ्ट को लगभग 400 बिलियन डॉलर का घाटा हुआ है।

एक कैपिटल फर्म से बातचीत के दौरान बिल गेट्स ने कहा – “ हमसे बड़ी गलती ये हुई कि हमने माइक्रोसॉफ्ट को वो कंपनी नहीं बनाया जो गूगल आज के समय में है, इसके पीछे कारण शायद कुप्रबंधन या ज़रूरी बदलाव की कमी को माना जा सकता है। एप्पल को पीछे छोड़कर गूगल दुनिया में सबसे बड़ा मोबाइल प्लेटफॉर्म बनकर उभरा है और इस जगह पर माइक्रोसॉफ्ट हो सकता था”।

“सॉफ्टवेयर इंडस्ट्री ने आज दुनिया की अन्य सभी इंडस्ट्रीज पर अपना प्रभुत्व साबित किया है, अगर आपके पास कोई नॉन-एप्पल प्लेटफॉर्म हो जिसमे एंड्राइड के मुकाबले 90 प्रतिशत या 50 प्रतिशत एप्प भी हो तो यह आपको मोबाइल प्लेटफॉर्म पर नई ऊंचाइया दे सकता है। शायद वो आपको 400 बिलियन डॉलर का मुनाफा भी दे सकता है जो कंपनी जी से कंपनी एम में स्थानांतरित हो सकते थे” ऐसा बिल गेट्स ने बातचीत करते समय कहा।

बिल गेट्स ने ये भी कहा कि – “हमारे प्रोडक्ट्स जैसे एमएस ऑफिस ने दुनियाभर में सफलता हासिल की लेकिन क्या माइक्रोसॉफ्ट मोबाइल के लिए उपयोगी सॉफ्टवेयर बनाने में कामयाब रहा? शायद ये एक “अग्रणी कंपनी” हो सकती थी जो ये आज नहीं है”। बिल गेट्स द्वारा ये बड़ा बयान उस समय आया है जब गूगल दुनियाभर में अपनी गलत डाटा संग्रहण नीतियों के कारण आलोचनाओं का शिकार हो रहा है।

नमस्ते, मेरा नाम नीरज जीवनानी है, मैं हिंदी सहायता का संस्थापक हूँ। मैं उम्मीद करता हूँ आपको हमारा काम इस वेबसाइट पर पसंद आ रहा होगा। हम दिन रात मेहनत करके पूरी टीम के सहयोग से यह साइट को चलाते है और आप तक बेहतरीन, एक से बढ़कर एक आर्टिकल्स पहुंचाने का प्रयास करते है। हिंदी सहायता को एक नयी ऊंचाई पर ले जाने के लिए हमें आपका सहयोग चाहिए, हमने अभी हिंदी सहायता का एक मोबाइल एप्प लॉन्च किया है, इस एप्लीकेशन को आप यहां से डाउनलोड कर सकते है।यहाँ पर आप सभी महत्वपूर्ण जानकारियाँ सबसे पहले हासिल कर पाएंगे तो कृपया आप हमारा एप्प इनस्टॉल करके हमारा साथ ज़रूर दे ताकि हम आप तक हमेशा सभी महत्वपूर्ण आर्टिकल्स पहुँचाते रहे।

नीरज जीवनानी
संस्थापक

फ़िलहाल गूगल के पास पूरी दुनिया में मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम का सबसे अधिक 75.27 प्रतिशत हिस्सा है जबकि एप्पल के पास सिर्फ 22.74 प्रतिशत है। साल 2010 में माइक्रोसॉफ्ट ने गूगल और एप्पल को टक्कर देने के लिए अपना विंडोज 7 फ़ोन लॉन्च किया था जो ग्राहकों को लुभा पाने में असफल रहा, इस फ़ोन में सबसे बड़ी समस्या थर्ड पार्टी सॉफ्टवेयर को इंस्टॉल ना कर पाना थी। इसी साल माइक्रोसॉफ्ट ने अपने विंडोज 10 मोबाइल का सपोर्ट ख़त्म करते हुए उपभोक्ताओं को एंड्राइड और आईओसएस प्लेटफॉर्म पर जाने की सलाह थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here