1. Essays

आतंकवाद पर निबंध, भाषण और कोट्स, हिंदी में।

आतंकवाद से जुड़े हर पहलु से रूबरू होजाए। निबंध, भाषण और कोट्स के साथ जानें क्यों है आतंकवाद एक बड़ी समस्या?, ऐसा क्या है जो लोगो को आतंक के रास्ते पर ले जाता है? और क्या है इसका निवारण?

Hello दोस्तों! आज हम यहाँ एक ऐसे विषय पर बात करेंगे, जो की बहुत ही गंभीर और संगीन विषय है। आप सभी को मुंबई के बम ब्लास्ट् तो याद होंगे ही? और साथ ही 2019 का पुलवामा हमला और 2016 का उरी हमला भी याद होगा? ये हमारे देश पर किये आतंकवादी हमले थेI कैसे इन नामों को सुनते ही हमारे रोंगटे खड़े हो जाते है नI, इनही दिल दहला देने वाले हमलों के पीछे के मास्टरमिंडस को हम आतंकवादी कहते है (Terrorists)I आज का हमारा विषय भी यही है – आतंकवाद।

तो दोस्तों, यदि आप आतंकवाद पर निबंध हिंदी में, यानि Essay On Terrorism In Hindi, या आतंकवाद की समस्या पर निबंध ढूँढ रहे है, तो आप बिलकुल सही जगह पर आये हैI यहाँ हमने इन सभी विषयों पर, अलग-अलग प्रकार के निबन्ध लिखे है। अगर आप आतंकवाद के बारे में और ज़्यादा जानना चाहते है और इससे रुबरु होना चाहते है, तो हमारे इस लेख को अंत तक ज़रूर पढ़िए।

आतंकवाद पर प्रस्तावना। 

(Aatankwad Par Prastavana)

आतंकवाद, आतंकवादियों द्वारा किया गया कायरतापूर्ण कार्य है, जिनका मकसद देश की शांति को भंग करना और लोगो में दहशत फैलाना है।   आतंकवादियों की नापाक करतूतों की वजह से कितने ही लोग अपनी जान गवा चुके है।

भारत को आतंकवाद का खतरा, विशेषकर पाकिस्तान से रहा हैI सालों से कश्मीर, मुंबई, दिल्ली, आतंकवाद का मुख्य शिकार रहा है। दिल्ली का संसद हमला, मुंबई के अनगिनत बम हमले, उरी हमला, पुलवामा हमला, और भी कितने हमले हो चुके है भारत पर।

आतंकवाद पर निबंध। 

(Essay On Terrorism)

आतंकवाद एक ऐसा शब्द है, जिसे सुनते ही हम घबरा जाते है और हमारी दिल की धड़कने तेज़ हो जाती है। आतंकवाद, जिसे अंग्रेजी में Terrorism कहते है, असल में, कुछ बुरे लोगो के एक समूह द्वारा किया गया हिंसात्मक कार्य है, जो वो आम जनता को डराने के लिए, उन्हें तकलीफ पहुंचाने के लिए करते है।

ये आतंकवादी हमले, कभी कभी देशों के आपसी झगड़ों का भी नतीजा होता हैI दो देश आपस में लड़ते है, एक दूसरे को डराते है, नुक्सान पहुंचाते है, एक दूसरे पर हमले करते है।

आज, आतंकवाद केवल बमो के ईस्तमाल को नहीं कहाँ जाताI हथियारों से लड़ने का वक़्त अब पुराना हो गया है। अब तो जीवाणु और विषाणुओ का प्रयोग किया जा रहा है, दूसरे देशों को तबाह करने के मकसद को पूरा करने के लिए।

आज, सभी देशों के पास बड़े-बड़े हथियार है, आतंकवाद का सामना करने के लिएI पर किसी के पास भी, इन जीवाणुओं से लड़ने का हथियार नहीं हैI आतंकवादी अपनी चाल में कामियाब होते नज़र आते है।

2020 में, COVID-19 की जो स्तिथि आज पुरे विश्व में है, वो एक प्रकार का विषाणु आतंकवादी हमला ही तो है, जिसने लाखो करोड़ो लोगो को संक्रमित किया है।

आज का ये नया युग, आतंकवाद के लिए भी नया युग हैI आतंकवाद पर निबंध अगर लिखने बैठा जाये, तो शब्द कम पड़ जायेंगे, क्यूंकि इसकी कहानी इतनी ही पुरानी है, की कुछ पहलु फिर भी अनछुए रह जायेंगे। “अस्थि चर्म मय देह यह, ता सों ऐसी प्रीति नेक जो होती राम से, तो काहे भव-भीत”

भारत में आतंकवाद की समस्या पर निबंध हिंदी में। 

(Bharat Mein Aatankwad Par Nibandh/Aatankwad Ki Samasya Par Nibandh)

हमारा देश, एक साथ कई चुनौतियों का सामना करता है। गरीबी, बेरोज़गारी, असमानता, जनसँख्या वृद्धि, और भी बहुत कुछI पर इन सब से भी बड़ी चुनौती, जिसका सामना हमें करना पड़ता है, वो है आतंकवाद की समस्या।

ये आतंकवाद समूह, हिंसा कर के अन्य देशों पर कब्ज़ा जमाना चाहते है, उनपर जीत हासिल करना चाहते हैI भारत में आतंकवाद की समस्या का इतिहास बहुत पुराना है। कई वर्षो से, भारत पर आतंकवादी हमले होते आ रहे है, जिसके पीछे कई आतंकवादी समूह शामिल है।

भारत में आतंकवाद की समस्या दिन-ब-दिन बढ़ती ही जा रही है। इसने सामान्य जनता को काफी क्षति पहुंचाई है, चाहे जाने में, या अनजाने मेंI इन आतंकवादी हमलों का मुंहतोड़ जवाब देने के लिए, हमारे कई जवान सीमा पर तैनात है। अपनी जान को जोखिम में डाल कर, वे इन आतंकवादियों से लड़ने को तैयार है।

आतंकवाद एक  ऐसी समस्या है, जिससे लड़ने के लिए भारत सरकार कई तरीके अपना चुकी है, पर अब उन्हें और भी सख्ती बरतनी पड़ेगी और इस हिंसा को रोकने क लिए, एक ठोस रणनीति बनानी पड़ेगी।

आतंकवाद पर संक्षिप्त निबंध। 

(Short Essay On Aatankwad)

आतंकवाद, एक बहुत ही खतरनाक और हिंसात्मक लोगो के समूह द्वारा की गयी हिंसा है, जो अपनी बात मनवाने के लिए, कुछ भी करने से पहले सोचते नहीं है। इनपर न कोई कानून लागु होता है और न ही ये किसी नियम को मानते है।

इन्हे बस अपनी बात मनवानी होती है, और अपने मकसद को अंजाम देने की प्रक्रिया में, चाहे इन्हे सैकड़ों नादान, बेक़सूर लोगों की जान ही क्यों न लेनी पड़े, ये एक क्षण के लिए भी नहीं कतराते, बस बम गिरा देते है।

मुंबई का ट्रेन ब्लास्ट याद है? कैसे एक ही झटके में 7 रेलवे स्टेशन के कितने ही लोकल ट्रेनों को बम से उड़ा दिया थाI करीब 200 लोगों ने अपनी जान गवाई थी और कुछ 700 लोग बुरी तरह से जख्मी हुए थे।

इन आतंकवादियो में बिलकुल करूणा नहीं होती, वे बस हिंसा की भाषा ही समझते है। इन आतंकवादियो का खात्मा, मानव और देश, दोनों के लिए बहुत आवश्यक है, तभी मानव सुकून से ज़िन्दगी बिता सकेगाI

वैश्विक आतंकवाद पर निबंध। 

 (Vaishvik Aatankwad Par Nibandh)

आज का युग एक दूसरे से इस तरह जुड़ा हुआ है की अगर एक कोने में कुछ होता है, तो उसकी खबर तुरंत दूसरे कोने को मिल जाती हैI ऐसी ही कुछ स्तिथि, आतंकवाद की भी है।

एक देश में अगर कोई हमला होता है, तो पूरा विश्व सहम जाता है।

आतंकवाद, किसी विशेष देश के लिए चिंता का विषय नहीं है, बल्कि पुरे विश्व क लिए ये एक चिंता का विषय है।

आतंकवाद का सामना भारत सहित, अमेरिका, पाकिस्तान, इराक, नाइजीरिया, और भी कई देशों को करना पड़ता है।

अमेरिका का 2001 वर्ल्ड ट्रेड सेंटर अटैक, विश्व के सबसे बड़े आतंकी हमलों में से एक हैI इसी तरह पाकिस्तान का 2016 पेशावर स्कूल हमला, स्पेन का 2004 ट्रैन बमबारी, विश्व के सबसे खतरनाक और दिल दहला देने वाले आतंकवादी हमले है।

आतंकवाद एक वैश्विक समस्या है, जिससे सभी देशों को मिल कर लड़ना पड़ेगा।

आतंकवाद पर निबंध 2020.

(Aatankwad Par Nibandh 2020)

2020, पुरे विश्व के लिए एक बहुत ही दर्दनाक साल रहा हैI इस साल की शुरुवात से ले कर अभी तक, कुछ न कुछ होता ही आ रहा है।

आज, जैसा की हम जानते है, आतंकवादी हमले सिर्फ मिसाइलो से नहीं लड़े जा रहे हैI हमले करने के कई नए तरीके सामने आये है, जिसमे से एक सबसे खतरनाक हमला साबित हुआ- CORONAVIRUS. माना जा रहा है की यह चीन द्वारा किया गया एक जीवाणु हमला है।

आज, पुरे विश्व में 2 करोड़ से भी ज़्यादा लोग इस बीमारी से संक्रमित हो चुके है और करीब 7 लाख से भी ज़्यदा लोगो की मृत्यु हो चुकी है।

आतंकवादी हमलों का सिलसिला 2020 में शुरुआत से ही शुरू हो चूका थाI मार्च में काबुल के गुरूद्वारे में हुए अत्तंकवादी हमले ने पूरे विश्व को झंझोर के रख दिया था।

ईश्वर की इबादत करते लोगो को, उन निर्दयी आतंकवादियों ने गोलियों से छलनी कर दिया था। इससे ज़्यादा दहशत और क्या हो सकती है की ईश्वर के द्वार पर भी हम सुरक्षित नहीं है।

भारत में कश्मीर की धरती पर आये दिन हमले होते ही रहते है। कितने ही जवान शहीद हो जाते है, इन आतंकवादियों से हमें बचाते हुए।

2020 साल कई हमले क साथ शुरू हुआ था, जिनका दुष्प्रभाव आज तक पुरे विश्व के लोगों और साथ ही उनकी आर्थिक और सामाजिक स्तिथि को झेलनी पड रही है।

आतंकवाद पर निबंध 250, शब्दों में। 

(Essay On Terrorism In 250 Words)

आतंकवाद, हिंसात्मक और खतरनाक लोगों के समूह, जो की हर तरह से प्रशिक्षित होते है, के द्वारा की गयी हिंसाकत्मक गतिविधि हैI आतंक फैलाने वाले लोगों को ही आतंकवादी कहाँ जाता है।

इन आतंकवादी हमलों का मकसद होता है, आम जनता में डर पैदा करनाI वो जनता में खौफ पैदा करना चाहते है, की लोग अपने घरों से बाहर निकलने से भी कतरायेI मंदिर, मस्जिद, बाजार, स्कूल, रेलवे स्टेशन, कोई जगह सुरक्षित नहीं हैI अपना घर तक पूरी तरह सुरक्षित नहीं हैI जैसे ही कोई हमला होता है, लोग सिहर जाते है और डर के अपने अपने घरों में बैठ जाते हैI

ये आतंकवादी, अपने मकसद को अंजाम देने के लिए ऐसी जगहों का ही चयन करते है, जहाँ सबसे अधिक भीड़ होती है। इस तरह, वे एक ही बार में कई लोगों को क्षति पंहुचा सकते है।

मुंबई में 26/11 का वो आतंकवादी हमला याद है आपको? उस हमले में, लगभग 170 लोगो की मौत हुई थी और लगभग 300 लोग ज़ख़्मी हुए थे। इन हमलों के लिए कई जगहों को निशाना बनाया गया था और सभी जगहों पर लोगो की लम्बी तादाद थी।

ऐसे ही कई और दिल दहला देने वाले आतंकवादी हमले हुए है, न सिर्फ भारत पर, बल्कि कई अन्य देशों पर भी। देश चाहे जो भी हो, नुक्सान तो मानव जाति और प्रकृति का ही होता है।

इस हिंसात्मकता को रोकने के लिए, हमारी सरकार को कई मज़बूत फैसले लेने होंगे और इस बुराई को खत्म करने के लिए, हम सब को उनका समर्थन करना पड़ेगाI तभी जा कर हम एक सुकून भरी ज़िन्दगी व्यतीत कर पायेंगे, जहाँ ये भय नहीं होगा की कहीं कोई हमला न हो जाये, और कहीं ये हमारा आखरी दिन न हो।

आतंकवाद पर भाषण। 

(Speech On Terrorism In Hindi)

माननीय प्रिंसिपल, आदरणीय शिक्षकगण और मेरे सभी सहपाठी – मैं आप सभी का हार्दिक अभिनन्दन करता हूँ।

हर बार की तरह आज भी हमारा विद्यालय एक महत्वपूर्ण विषय से हम सभी को रुबरु करने के लिए यहाँ उपस्थित हुआ हैI आज का हमारा विषय है – आतंकवाद।

हमने आतंकवाद शब्द तो कई बार सुना है, पर ये आतंकवादी होते कौन है? ये आतंकवादी एक बहुत ही कायर और हिंसाप्रिय लोगो का एक समूह है, जो अपने मतलबों को पूरा करने के लिए लाखो लोगो की जान ले लेते है।

हमारे भारत देश में ऐसे कई आतंकवादी हमले हो चुके है, जिनमे से कुछ के नाम आपने सुने होंगे जैसे की – पुलवामा हमला, उरी हमला, संसद हमला, मुंबई बम हमले और भी बहुत सारे।

इनका उद्देश्य हमारी आर्थिक, मानसिक, राजनीतिक और सामाजिक स्तिथि को क्षति पहुँचाना होता हैI पर भारत सरकार और हमारी काबिल सेना इन हमलों से हमें बचाने के लिए तैनात है।

पर क्या देश की रक्षा की ज़िम्मेदारी सिर्फ इन्ही की है? देश की रक्षा का ज़िम्मा हम सबको उठाना पड़ेगा। हर नागरिक का ये कर्तव्य है की वह अपने आस-पड़ोस में होने वाली गतिविधियों से अवगत रहे, यदि हमें कोई संदेहजनक गतिविधि दिखाई पड़ती है तो ये हमारी ज़िम्मेदारी है की हम उसकी जानकारी पुलिस कर्मियों तक पहुंचाए।

इस तरह अगर देश का हर नागरिक अपनी ज़िम्मेदारियों को समझकर देश की सुरक्षा के लिए पुलिस कर्मीययों को सहयोग दें तो बिना इजाज़त हमारे देश में परिंदा भी पर नहीं मार सकेगा।

तो आइये, हम सब साथ मिल के उन सभी को धन्यवाद कहे और अपने देश के साथ इन आतंकवदियों के खिलाफ खड़े हो।

धन्यवाद I

आतंकवाद पर कोट्स। 

(Quotes On Aatankwad In Hindi)

#1
#2
#3
#4
#5
#6
#7
#8
#9
#10

तो दोस्तों, यहाँ हमने आपको आतंकवाद से जुड़े हर पहलुओं से रूबरू कराया और ये हमारी एक छोटी सी कोशिश थी आपतक आतंकवाद से जुडी जानकारी पहुंचाने की।

उम्मीद है आपको जो जानकारी आतंकवाद पर चाहिए थी, वो आपको इन निबंधों को पढ़ के मिल गयी होगीI आप इसे पढ़ने क बाद, अपने मित्रो के साथ शेयर ज़रूर करे और हमे अपने बहुमूल्य विचार या कोई सवाल Comment Section में लिख के बताये।

आपको हमारा यह लेख कैसा लगा ?

Average rating 2.3 / 5. Vote count: 4

अब तक कोई रेटिंग नहीं! इस लेख को रेट करने वाले पहले व्यक्ति बनें।

हिंदी सहायता एप्प को डाउनलोड करें।

क्या आपको शीराज़ मूसा के आर्टिकल पसंद आयें? अभी फॉलो करें सोशल मीडिया पर!
कोई कमेंट नहीं।
अभी कमेंट करें। Cancel
Comments to: आतंकवाद पर निबंध, भाषण और कोट्स, हिंदी में।

    Your email address will not be published. Required fields are marked *