Home » Quotes » Swami Vivekananda Quotes in Hindi – 100+ अनमोल विचार।

Swami Vivekananda Quotes in Hindi – 100+ अनमोल विचार।

हमारे भारत देश में कई ऐसे महापुरुष हुए है जिनके जीवन चरित्र एवं विचारों से हमे बहुत कुछ सीखने को मिलता है उन्ही में एक स्वामी विवेकानंद जी है जिनके विचार अगर निराश व्यक्ति भी पढ़े तो उसे भी जीवन जीने का एक नया मकसद मिल जाए। ये एक ऐसे आध्यात्मिक गुरु और समाज सुधारक थे, जिन्हें आज भी यह दुनिया याद करती है। आपके विचारों को एक नई दिशा देने लिए यहां मैं आपके लिए 100+ Swami Vivekananda Quotes in Hindi लेकर आये है जो आपको जरूर पसंद आएंगे।

[toc]

Swami Vivekananda का जन्म 12 जनवरी, 1863 में कोलकाता के कायस्थ परिवार में हुआ था। इनके बचपन का नाम नरेन्द्रनाथ दत्त था, जिसे इनके गुरु रामकृष्ण परमहंस ने दिया था। भारत माता की गोद में एक ऐसे लाल ने जन्म लिया, जिसने सिर्फ भारत के लोगों को ही नहीं अपितु पूरी मानवता का गौरव बढ़ाया।

1893 में अमेरिका में आयोजित शिकागो में विश्व धर्म सम्मलेन में स्वामी विवेकानंद द्वारा ही भारत की ओर से सनातन धर्म का प्रतिनिधित्व किया गया था। 21वीं सदी के युवाओं के लिए भी स्वामी विवेकानंद प्रेरणास्त्रोत है। ये तो बात हुई स्वामी विवेकानंद के जीवन के बारे में (About Swami Vivekananda In Hindi) कुछ महत्वपूर्ण जानकारी।

यदि आप भी स्वामी विवेकानंद के अनमोल विचारों की तलाश कर रहे है तो आप सही जगह पर है। क्योंकि यहां मैं आपके लिए कुछ महत्वपूर्ण एवं चुनिंदा Swami Vivekananda Quotes Hindi के साथ-साथ Thoughts Swami Vivekananda लेकर आएं है। जिसके माध्यम से आपको स्वामी विवेकानंद के विचारों को और गहराई से जानने का मौका मिलेगा।

Swami Vivekananda Quotes in Hindi

(स्वामी विवेकानंद कोट्स – “स्वामी विवेकानंद के विचार”)

#1

1. खुद को कमजोर समझना सबसे बड़ा पाप है।

#2

2. सत्य को हजार तारीख को से बताया जा सकता है फिर भी हर एक सत्य ही होगा

#3

3. जैसा तुम सोचते हो वैसे ही बन जाओगे खुद को निर्गुण मानोगे तो निर्बल और सबल मानोगे तो सबल ही बन जाओगे।

#4

4. किसी की निंदा ना करें। अगर आप मदद के लिए हाथ बढ़ा सकते हैं तो जरूर बढ़ाएं। अगर नहीं बढ़ा सकते, तो अपने हाथ जोड़िए, अपने भाइयों को आशीर्वाद दीजिए, और उन्हें उनके मार्ग पर जाने दीजिए।

#5

5. यदि आप खुद को कमजोर समझते हैं तो यह सबसे बड़ा पाप है।

#6

6. जिस क्षण में मैंने प्रत्येक मानव शरीर के मंदिर में भगवान को बैठे हुए महसूस किया है, उस क्षण से मैंने प्रत्येक मनुष्य के सामने श्रद्धा से खड़ा हूं और उसमें भगवान को देख रहा हूं – उस क्षण में बंधन से मुक्त हो जाता हूं, वह सब कुछ जो गायब हो जाता है और मैं मुक्त हूं।

#7

7. धन्य है वह लोग जिनके शरीर दूसरों की सेवा करने में नष्ट हो जाते हैं।

#8

8. मैंने भगवान से शक्ति मांगी उसने मुझे मुश्किल हालत में डाल दिया।

#9

9. राम-राम करने से कोई धार्मिक नहीं हो जाता, जो प्रभु की इच्छा अनुसार काम करता है वही धार्मिक है।

#10

10. वे अकेले रहते हैं जो दूसरों के लिए जीते हैं बाकी जिंदा से ज्यादा मरे हुए हैं।

#11

11. बस वही जीते हैं जो दूसरों के लिए जीते हैं।

#12

12. जिस क्षण मैंने यह जान लिया कि भगवान हर एक मनुष्य शरीर रूपी मंदिर में विराजमान है, जिस क्षण मैं हर व्यक्ति के सामने श्रद्धा से खड़ा हो गया और उसके भीतर भगवान को देखने लगा उसी क्षण में बंधनों से मुक्त हूं, हर वह चीज जो बांधती है नष्ट हो गई और मैं स्वतंत्र हूं।

#13

13. एक शब्द में यह आदर्श है कि तुम परमात्मा हो।

#14

14. भगवान की एक परम प्रिय के रूप में पूजा की जानी चाहिए या अगले जीवन की सभी चीजों से बढ़कर।

#15

15. प्रेम विस्तार है निस्वार्थ संकुचन है इसलिए प्रेम जीवन का सिद्धांत है। वह जो प्रेम करता है जीता है। वह जो स्वार्थी है, मर रहा है। इसलिए प्रेम के लिए प्रेम करो, क्योंकि जीने का यही एकमात्र सिद्धांत है। वैसे ही जैसे कि तुम जीने के लिए सांस लेते हैं।

क्या अपने इसे पढ़ा: 100+ Motivational Quotes in Hindi – प्रेरणादायक कोट्स हिंदी में!

Swami Vivekananda Quotes in Hindi on Education

(Quotes By Swami Vivekananda)

स्वामी विवेकानंद का बचपन का नाम नरेंद्र था। सन 1871 में 8 वर्ष की उम्र में नरेंद्र ने ईश्वर चंद्र विद्यासागर स्कूल के मेट्रोपॉलिटन संस्थान में पढ़ाई करने हेतु एडमिशन लिया। नरेंद्र पढ़ने में बहुत होशियार थे और वह एक ऐसे छात्र थे जिन्होंने प्रेसीडेंसी कॉलेज प्रवेश परीक्षा ने प्रथम स्थान प्राप्त करके सभी को गौरवान्वित महसूस करवाया। तो आइए Swami Vivekananda In Hindi के माध्यम से कुछ Anmol Vichar एवं Suvichar Swami Vivekananda जानते है।

#1
#2
#3
#4
#5
#6
#7
#8
#9
#10
#11
#12
#13
#14
#15

इसे भी जरूर पढ़े: Friendship Quotes in Hindi – 25+ बेस्ट फ्रेंडशिप कोट्स हिंदी में।

Swami Vivekananda Thoughts In Hindi

(स्वामी विवेकानंद कोट्स फॉर स्टूडेंट्स)

नरेंद्र को सामाजिक विज्ञान, इतिहास, साहित्य, दर्शन, धर्म, और कला जैसे सभी विषयों में विशेष रूचि थी। हिंदू शास्त्रों को भी वह बहुत उत्सुकता के साथ पढ़ते थे। एक दिन यह नन्हा नरेंद्र, रामकृष्ण परमहंस से इतना प्रभावित हुआ कि उन्हें अपना गुरु मान लिया। अब नरेंद्र अपने गुरु की देखभाल और सेवा करता था।

रामकृष्ण परमहंस भी नरेंद्र से इतना प्रभावित हुए कि उन्होंने नरेंद्र को विवेकानंद बना दिया। तो आइए Swami Vivekananda Quotes in Hindi for Students के माध्यम से जानते हैं नरेंद्र से विवेकानंद बने इस महापुरुष के कुछ Anmol Vachan.

#1
#2
#3
#4
#5
#6
#7
#8
#9
#10
#11
#12
#13
#14
#15

एक नज़र इस पर भी: Love Quotes in Hindi – 30+ बेस्ट लव कोट्स, रोमांटिक कोट्स।

Swami Vivekananda Quotes in Hindi for Youth

सन 1886 में अपने गुरु रामकृष्ण परमहंस की निधन के बाद 24 वर्ष की अवस्था में विवेकानंद गेरुआ वस्त्र धारण कर पैदल ही विश्व भ्रमण पर निकल पड़े। शिकागो में अपनी विश्व भ्रमण की यात्रा समाप्त कर स्वामी विवेकानंद विश्व धर्म परिषद में भारत के प्रतिनिधि के रूप में शामिल हुए।

वह एक ऐसा दौर था जब अमेरिका और यूरोप के लोगों के बीच भारतीयों को बुरी नजर से देखा जाता था। ऐसी परिस्थितियों में स्वामी जी को बड़ी मशक्कत के बाद परिषद में बोलने का मौका दिया गया और जैसे ही स्वामी विवेकानंद ने भाषण देना शुरू किया सभी अमेरिकावासी बहुत खुश हुए और स्वामी विवेकानंद को इज्जत देने लगे।

तो आइए Swami Vivekananda Quotes in Hindi for Youth के माध्यम से जानते हैं Swami Vivekananda ke Vichar जिसका सभी लोग सम्मान करते हैं।

#1
#2
#3
#4
#5
#6
#7
#8
#9
#10
#11
#12
#13
#14
#15

Swami Vivekananda Ke Anmol Vichar

(Swami Vivekananda ke Samajik Vichar)

लगभग 4 वर्षों तक विदेशों में धर्म का प्रचार करने के बाद जब विवेकानंद भारत लौटे तो उनका भव्य स्वागत किया गया. भारत लौटकर उन्होंने लोगों से कहा कि “वास्तविक शिव की पूजा निर्धन और दरिद्र की पूजा में है, रोगी और दुर्लभ सेवा में है।” उन्होंने भारतीय अध्यात्मवाद के प्रचार प्रसार के लिए रामकृष्ण मिशन की स्थापना की।

ऐसे थे मानवता के प्रति स्वामी विवेकानंद के Swami Vivekananda ke Anmol Vichar। आइए स्वामी विवेकानंद के ऐसे ही कुछ अनमोल विचार और जानते हैं।

#1
#2
#3
#4
#5
#6
#7
#8
#9
#10
#11
#12
#13
#14
#15

यह भी है उपयोगी: शिक्षा का महत्व पर निबंध – Essay on Importance of Education

Swami Vivekananda Ke Updesh

रामकृष्ण मिशन की स्थापना के बाद उसे सफल बनाने के लिए भी विवेकानंद ने लगातार श्रम किया। स्वास्थ्य बिगड़ जाने के बाद भी वह रुके नहीं। अपने जीवन के अंतिम समय में स्वामी जी ने अपने ध्यान करने की दिनचर्या को भी नहीं बदला और लगातार ध्यान करते रहे।इसी ध्यानावस्था में उन्होंने अपने शरीर का त्याग कर दिया और परमात्मा में लीन हो गए लेकिन Swami Vivekananda ke Updesh हमारे बीच हमेशा अमर रहेंगे।
#1
#2
#3
#4
#5
#6
#7
#8
#9
#10
#11
#12
#13
#14
#15

Conclusion

आज के हमारे इस पोस्ट में बस इतना ही। Swami Vivekananda Quotes in Hindi और स्वामी विवेकानंद के इन तमाम अनमोल वचनों को अधिक से अधिक लोगों तक शेयर जरूर करें। जिससे दुनिया भर के लोग स्वामी विवेकानंद के विचारों को गहराई से समझ सकें।

आपको हमारा यह पोस्ट कैसा लगा हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं साथ ही यदि आप हमारी वेबसाइट हिंदी सहायता या इस पोस्ट से संबंधित कोई जानकारी हमारे साथ साझा करना चाहते हैं तो वह भी आप कमेंट बॉक्स में हमें जरूर बताएं।

आपको हमारा यह लेख कैसा लगा ?

Average rating 4.7 / 5. Vote count: 46

अब तक कोई रेटिंग नहीं! इस लेख को रेट करने वाले पहले व्यक्ति बनें।

एडिटोरियल टीम

एडिटोरियल टीम, हिंदी सहायता में कुछ व्यक्तियों का एक समूह है, जो विभिन्न विषयो पर लेख लिखते हैं। भारत के लाखों उपयोगकर्ताओं द्वारा भरोसा किया गया।Email के द्वारा संपर्क करें - [email protected]

Leave a Comment