1. Education
  2. Tutorial

Pustak Samiksha Kya Hai? Pustak Samiksha in Hindi Kaise Likhte Hain?

विज्ञापन
लेख़ इसके बाद शुरु होगा।

आज की पोस्ट में हम आपको बताने जा रहे है Pustak Samiksha के बारे में विस्तार से यदि आप भी पुस्तक पढ़ने में रूचि रखते है और किसी पुस्तक की समीक्षा करना चाहते है तो आप बिल्कुल सही पोस्ट पढ़ रहे है। इसके साथ ही आप जानेंगे की Pustak Samiksha Kya Hai
pustak samiksha in hindi भी आज आप इस पोस्ट के माध्यम से जानेंगे। हम आपको यह बिल्कुल सरल भाषा में समझाएँगे।

Pustak Samiksha Kya Hai

कभी ना कभी आपने भी पुस्तकें पढ़ी होगी। कविताएं, कहानियां, लेख आपने ज़रुर पढ़े होंगे। पुस्तक को पढ़ने के बाद पुस्तक के बारे में बताना पुस्तक की समीक्षा कहलाता है। यह किसी को पुस्तक को पढ़ने या ना पढ़ने के लिए प्रेरित करती है। किसी किताब, लेख, कहानी पर आपकी प्रतिक्रिया होती है जो अच्छी या बुरी हो सकती है इसे पुस्तक समीक्षा में बताया जाता है। पुस्तक समीक्षा से पाठकों को पुस्तक के विभिन्न पहलुओं की जानकारी मिलती है।

बहुत से लोग आज भी पुस्तकें पढ़ने का शौक रखते है। पुस्तकें तो सभी ने पढ़ी होगी। आज भी कई तरह की पुस्तकें लिखी जाती है जिन्हें बहुत से लोगों द्वारा पढ़ा जाता है। लेकिन इन पुस्तकों पर अपनी राय देना भी एक अच्छा माध्यम है उन लोगों के लिए जो किसी प्रकार की पुस्तक पढ़ना चाहते है जो उन्हें पढ़ने और ना पढ़ने के लिए प्रेरित करती है।

Hindi pustak samiksha लिखकर आप किसी पुस्तक पर अपने विचार प्रकट कर सकते है कि वह पुस्तक अच्छी है बुरी है या इस पुस्तक को लेकर आपके क्या अनुभव है। इससे अगर कोई भी व्यक्ति उसे पढ़ना चाहेगा तो वह आपकी पुस्तक समीक्षा पढ़कर उस पुस्तक को पढ़ने का विचार बना सकता है।

तो आइये जानते है पुस्तक समीक्षा pdf क्या है दोस्तों पुस्तक समीक्षा लिखने के लिए यह पोस्ट How To Write Book Review In Hindi, पुस्तक समीक्षा कैसे लिखें pdf शुरू से अंत तक ज़रुर पढ़े। पोस्ट को अंत तक पढ़ने के बाद ही आपको pustak samiksha in hindi pdf की पूरी जानकारी प्राप्त होगी।  

पुस्तक समीक्षा के उद्देश्य

पुस्तक समीक्षा लिखने का उद्देश्य यह होता है कि इससे पुस्तक के बारे में पाठकों को परिचय दिया जाता है। पुस्तक समीक्षा के माध्यम से समीक्षक पुस्तक या पुस्तक की रचनाओं, लेखक के रचनाकर्म को स्पष्ट करता है। समीक्षक द्वारा पाठक को पुस्तक से परिचय कराया जाता है।

पुस्तक समीक्षा के उदाहरण

पुस्तक समीक्षा को तीन वर्गों में विभाजित किया जाता है जिससे आप इसे और भी अच्छे से समझ सकते है।

  1. परिचयात्मक समीक्षा – इसमें पुस्तक का सिर्फ सामान्य परिचय दिया जाता है।
  2. विश्लेषणात्मक समीक्षा – विश्लेषणात्मक समीक्षा में पुस्तक में जिस विषय का वर्णन किया जाता है उसका विश्लेषण भी होता है।
  3. मूल्यांकन समीक्षा – इसमें आलोचनात्मक और तुलनात्मक मूल्यांकन पर जोर दिया जाता है और उसी विषय पर लिखी गई दूसरी पुस्तकों से तुलना भी की जाती है।

पुस्तक समीक्षा का प्रारूप

पुस्तक समीक्षा का प्रारूप कैसा होना चाहिए यह आप आगे जानेंगे।

  1. पुस्तक का नाम
  2. पुस्तक के लेखक
  3. प्रकाशक का नाम
  4. आई एस बी एन नंबर
  5. पुस्तक की कीमत
  6. पुस्तक के बारे में (12 लाइन)
  7. पुस्तक से मिली सीख (2 लाइन)

पुस्तक समीक्षा कैसे लिखें

पुस्तक समीक्षा लिखने के लिए इसका कोई निश्चित तरीका नहीं है लेकिन फिर भी इसके कुछ बिंदु होते है जिससे आप एक अच्छी पुस्तक समीक्षा लिख सकते है।

  • पुस्तक से सम्बन्धित संक्षेप वाक्य लिखे

पुस्तक की पूरी कहानी को प्रकट नहीं करना चाहिए। इसे बस संक्षिप्त रूप में बताये। पाठक उसकी कल्पना कर सके इतना छोड़ दीजिये। पुस्तक में जितनी भी घटना होती है उसका विस्तार से वर्णन ना करे। आप पुस्तक समीक्षा में इस बात का भी उल्लेख कर सकते है की पुस्तक की श्रृंखला की अन्य पुस्तकों को पढ़ना आवश्यक है जिससे की पुस्तक को आनंद पूर्वक पढ़ा जा सके।

  • पुस्तक में आप किस बात से अधिक प्रभावित हुए यह बताये

आप पुस्तक में किस चीज से ज्यादा प्रभावित हुए आपको जो भी आकर्षक लगा था वह विषय वस्तु, पात्र, या कथानक कुछ भी हो सकता है या और कोई दूसरी चीज भी हो सकती है इस बारे में बताये। पुस्तक के बारे में आप खुद से ही कुछ प्रश्न कर सकते है और उनके उत्तरों पर आधारित पुस्तक समीक्षा लिख सकते है।

  1. पुस्तक में आपको किस पात्र ने ज्यादा प्रभावित किया और आपको कौन सा पात्र पसंद आया और क्यों?
  2. पुस्तक ने आपको हँसाया या रुलाया था?
  3. क्या पात्र आपको वास्तविक लगे थे?
  4. दृश्य किस तरह लिखे गए थे? दृश्य किस प्रकार के थे जैसे – रहस्यात्मक दृश्य, रोमांटिक दृश्य, आनंद पूर्ण दृश्य आदि।
  5. आप संवाद से प्रेरित हुए थे?
  6. किस प्रकार की शब्दावली का प्रयोग किया गया था?
  • पुस्तक में जो चीज आपको पसंद नहीं आई थी उस चीज का उल्लेख करे

पुस्तक में आपको बहुत से अंश पसंद आये होंगे लेकिन पुस्तक के बहुत से अंश ऐसे भी हो सकते है जिसने आपको प्रभावित नहीं किया हो जिसमें कहानी की शुरुआत, कहानी का अंत, विषय-वस्तु, पत्रों का व्यवहार कुछ भी हो सकता है इसका वर्णन करे।

  • पुस्तक समीक्षा का समापन करे

पुस्तक समीक्षा का समापन आपको इस तरह से करना है की यह पुस्तक पाठकों को किस तरह से आकर्षित करती है। जिसमें युवा पाठक भी हो सकते है, वयस्क पाठक भी हो सकते है नाटक, रोमांस, रहस्य कुछ भी हो सकते है। आप इस पुस्तक की किसी और पुस्तक से तुलना कर सकते है तो उसे भी सम्मिलित कर लीजिये।

  • पुस्तक का मूल्यांकन करे

आप पुस्तक का मूल्यांकन कर सकते है जैसे इसे स्कोर दे सकते है। इससे पाठकों को लगेगा की पुस्तक को पढ़ना चाहिए या नहीं।

Conclusion

आज की पोस्ट में आपने Pustak samiksha ki paribhasha को समझा और इसके साथ ही आपने पुस्तक समीक्षा का प्रारूप भी जाना। आशा करते है की हमारे द्वारा दी गई जानकारी आपके लिए उपयोगी होगी।

Pustak samiksha format in Hindi की जानकारी के लिए हमारी इस पोस्ट की मदद ज़रुर ले। पुस्तक समीक्षा की परिभाषा आप इस पोस्ट के द्वारा अच्छे से जान गये होंगे। आपको यह जानकारी कैसी लगी हमें कमेंट करके बताये।

आपको हमारा यह लेख कैसा लगा ?

Average rating 4.3 / 5. Vote count: 22

अब तक कोई रेटिंग नहीं! इस लेख को रेट करने वाले पहले व्यक्ति बनें।

हिंदी सहायता एप्प को डाउनलोड करें।

Contributor
क्या आपको एडिटोरियल टीम के आर्टिकल पसंद आयें? अभी फॉलो करें सोशल मीडिया पर!
People reacted to this story.
Show comments Hide comments
Comments to: Pustak Samiksha Kya Hai? Pustak Samiksha in Hindi Kaise Likhte Hain?
  • Avatar
    July 13, 2020

    पुस्तक समीक्षा लेखन पर बेहतरीन जानकारी. बहुत ही सरल तरीके से समीक्षा लेखन की पद्धति को समझाया गया है. शुभकामनाएँ.

    Reply

Write a response

Your email address will not be published. Required fields are marked *