Home » Technology » GPS Kya Hai – जीपीएस कैसे काम करता है की पूरी जानकारी।

GPS Kya Hai – जीपीएस कैसे काम करता है की पूरी जानकारी।

दोस्तों क्या आप नहीं जानते कि GPS Kya Hai, GPS Kaise Kaam Karta Hai तो आज हम आपको GPS के बारे में जानकारी प्रदान करेंगे। GPS (जीपीएस) हमारे मोबाइल का वह Function (यंत्र) हैं जिसकी जरूरत हमें कभी ना कभी पड़ ही सकती है। आप कहीं भी हों या आपको कही भी जाना हो बस अपने मोबाइल के GPS Option पर जाइये इसे On कर दीजिए और आपके बस एक Single Click से GPS आपकी Location की जानकारी और आपको जहाँ जाना है, वहाँ तक पहुँचने का रास्ता बहुत ही आसानी से बता देगा।

[toc]

तो अगर आप GPS के बारे में विस्तार से जानना चाहते है, कि What is GPS in Hindi, GPS Full Form in Hindi, GPS Meaning in Hindi तो हमारे साथ बने रहिए और इस लेख को अंत तक ज़रूर पढ़िए।

GPS Kya Hai

जीपीएस (GPS) का फुल फॉर्म – “Global Positioning System” होता है। यह एक वैश्विक नेविगेशन सैटेलाइट सिस्टम है, जो हमें हमारी Location के बारे में बताता है। GPS हमारी Location के साथ-साथ, हमारे वेग (Velocity) और समय के सिंक्रनाइज़ेशन (Time Synchronization) की भी जानकारी देता है। एक तरह से ये हमारा दिशा निर्धारण करता है और हमें एक स्थान से दूसरे स्थान तक का रास्ता, Satellite के माध्यम से दिखाता है।

GPS Ka Full Form in Hindi

जीपीएस फुल फॉर्म हिंदी में – “ग्लोबल पोजिशनिंग सिस्टम” होता है। यह हमें हमारी Location की जानकारी देता है।

GPS Ki Puri Jankari Hindi Mein

GPS (ग्लोबल पोज़ीशनिंग सिस्टम) नौवहन उपग्रह प्रणाली पर काम करता है, जो हमें Location के साथ समय की सटीक जानकारी प्रदान करता है। जीपीएस का हिंदी अर्थ – वैश्विक स्थान-निर्धारण प्रणाली है।पृथ्वी से ऊपर स्थित किये गए जीपीएस उपग्रहों के समूह लगातार संदेशों को संकेत के रूप में प्रेषित करते हैं, जिससे Receiver अपनी स्थिति का आंकलन उपग्रहों द्वारा भेजे गए संकेतो से करता है।

GPS का विकास संयुक्त राज्य अमेरिका के रक्षा विभाग द्वारा किया गया है, पहले जीपीएस का उपयोग केवल सेना के लिए किया जाता था, लेकिन अब जीपीएस का उपयोग सभी स्वतंत्र रूप से कर सकते हैं, वर्तमान में जीपीएस का उपयोग बड़े स्तर पर होने लगा है।

GPS Kaise Kaam Karta Hai

GPS Map सैटेलाइट के द्वारा काम करता है। इन सैटेलाइट से पृथ्वी पर सिग्नल भेजे जाते है। GPS इन सिग्नल्स को जोड़ता है। सैटेलाइट से जो सिग्नल्स आते है, GPS उन Signals को Map में Show करता है। अमेरिका ने 50 से भी ज्यादा GPS Satellite Launch किये है। प्रत्येक सैटेलाइट 24 घंटे सिग्नल भेजते रहते है। रिसीवर उन सिग्नल्स के समय और दूरी को भी रिसीव करता है। यदि आपका फोन सिग्नल रिसीव करता है तो आपको अपनी लोकेशन का पता लग जाता है।

जीपीएस का इतिहास

सबसे पहले जानते है कि जीपीएस का इतिहास क्या है। GPS का यंत्र सबसे पहले Russia ने 1957 में बनाया था, जो Sputnik I Satellite था और इसे अमेरिका ने पनडुब्बी नेविगेशन (Submarine Navigation) के लिए इस्तेमाल किया। साल 2000 के बाद ही, आम जनता और कंपनियों को GPS के उपयोग की पूरी सुविधा प्राप्त हुई, जिसने GPS को नई उच्चाइयों तक पहुंचने का पथ-प्रशस्त किया।

GPS का महत्व

जैसा कि हम जान गए हैं कि GPS एक नौवहन उपग्रह प्रणाली पर आधारित है, जो हमें हमारी स्थिति (Location) के बारे में बताता है एक बार स्थिति का पता लगने के बाद जीपीएस दूसरी जानकारियाँ प्रदान करता है, जैसे गति, ट्रेक, दूरी और बहुत कुछ।

वैसे तो आप GPS के बारे में बहुत कुछ जान ही गए होंगे चलिए जीपीएस एक खास गुण के बारे में जानते हैं कि जीपीएस कि एक अच्छी विशेषता यह है कि ये किसी भी Weather (मौसम) में काम करता है और शायद आपको पता ना हो कि GPS के इस्तेमाल के लिए हमें किसी Fees या Charges की जरूरत नहीं होती।

जीपीएस के उपयोग

GPS Ki Visheshta ने उसे वैज्ञानिकों, नाविकों, तथा सर्वेक्षणकर्ताओ के काम का एक महत्वपूर्ण हिस्सा बना दिया। जीपीएस के उपयोग की लिस्ट लंबी है। चलिए हम GPS के कुछ महत्वपूर्ण उपयोगों के बारे में जानते हैं –

  • सटीक समय को मापने के लिए
  • सर्वेक्षण करने के लिए
  • नैविगेट करने के लिए
  • किसी स्थान या व्यक्ति की लोकेशन का पता करने के लिए

GPS Kaise ON Kare

GPS को ON करने के लिए आपको अपने फ़ोन के सेटिंग्स में जाकर, वहाँ से लोकेशन वाले ऑप्शन को खोल कर, लोकेशन को ON करना होगा। उसे ON करते ही आपका GPS चालू हो जाएगा।

आपने GPS ON तो कर लिया, अब GPS Kaise Chalaye ये भी जानते है।

GPS Kaise Chalaye

आपके मोबाइल में Google Maps नाम का एक ऐप होता है, आपको उस ऐप में जाना है और उसके खुलते ही आपको एक Map दिखेगा। उस Map पर एक छोटा सा Green Dot होगा, वही आपका Location है।

अगर आप किसी दूसरे जगह का लोकेशन जानना चाहते है, तो आपको उस जगह का नाम लिख कर उसे Search करना होगा। जैसे ही आप सर्च करेंगे, तो एक पेज खुलेगा जिसमे आपके लोकेशन से उस दूसरे लोकेशन पर कैसे जाना है, उसमे कितना समय लगेगा, और उसकी दूरी कितनी है, ये सभी जानकारी आपको मिल जाएगी।

Conclusion

तो दोस्तों, उम्मीद है जीपीएस के बारे में जानकारी आपको पसंद आयी होगी और आप GPS Ka Kya Kaam Hai ये भी अच्छे से समझ गए होंगे। अगर आपको हमारा ये लेख पसंद आया हो, तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी ज़रूर Share करें, और अगर आपके पास हमारे लिए कोई सवाल है, तो उसे Comment में लिख कर हमें बताइए।

FAQs

  • जीपीएस क्या है?

GPS (ग्लोबल पोजिशनिंग सिस्टम) एक रेडियो नेविगेशन सिस्टम है जिसका इस्तेमाल सेटेलाइट के जरिये एक्सएक्ट लोकेशन, टाइम और वेलोसिटी निर्धारित करने के लिए किया जाता है।

  • जीपीएस के तीन मुख्य घटक क्या हैं?

GPS आमतौर पर तीन घटकों से मिलकर बना है वो है; सैटेलाइटस, ग्राउंड स्टेशन और रिसीवर।

  • जीपीएस का आविष्कार किसने किया था?

GPS के आविष्कारक Ivan A. Getting, Bradford Parkinson और Roger L. Easton है।

आपको हमारा यह लेख कैसा लगा ?

Average rating 4.6 / 5. Vote count: 141

अब तक कोई रेटिंग नहीं! इस लेख को रेट करने वाले पहले व्यक्ति बनें।

एडिटोरियल टीम

एडिटोरियल टीम, हिंदी सहायता में कुछ व्यक्तियों का एक समूह है, जो विभिन्न विषयो पर लेख लिखते हैं। भारत के लाखों उपयोगकर्ताओं द्वारा भरोसा किया गया।Email के द्वारा संपर्क करें - [email protected]

1 thought on “GPS Kya Hai – जीपीएस कैसे काम करता है की पूरी जानकारी।”

Leave a Comment