in

Inverter Kya Hai? – जानिए इन्वर्टर से जुड़ी सम्पूर्ण जानकारी हिंदी में।

इस गर्मी के मौसम में बार बार बिजली गुल होने से अब आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है जानिए Inverter की पूरी जानकारी और फायदे हिंदी में।
विज्ञापन
लेख़ इसके बाद शुरु होगा।

ऐसा अक्सर होता है कि जब आप अपने घर में बैठकर टेलीविजन पर अपना मनपसंद टीवी शो या फिल्म देख रहे होते है तब अचानक लाइट कट जाती है और टीवी झट से बन्द हो जाता है।

विज्ञापन
लेख़ इसके बाद शुरु होगा।

इसके अलावा आपके साथ ऐसा भी जरूर हुआ होगा कि गर्मी के मौसम में आप बाजार या ऑफिस से थक कर घर आए और घर आते ही पता चले कि लाइट नहीं है। ऐसी स्थिति में हम बहुत परेशान हो जाते है।

बिजली गुल होने से हम हमारे घर के पंखे, ट्यूबलाइट इत्यादि इलेक्ट्रॉनिक उपकरण का इस्तेमाल नहीं कर पाते है लेकिन यदि आप चाहते है कि बिजली कट जाने के बाद भी आपके घर में इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों का इस्तेमाल कर सके तो इसके लिए आपको Inverter की जरूरत होगी जिसकी मदद से आपको बिजली कट होने पर परेशान होने की जरूरत नहीं होगी।

तो आइए जानते हैं इन्वर्टर क्या है (What is Inverter in Hindi?)? इन्वर्टर का मतलब (Meaning of Inverter) क्या होता है? Inverter कैसे काम करता है? Inverter Ka Itihas, इन्वर्टर के प्रकार और इन्वर्टर का पूरा नाम हिंदी में।

Inverter Kya Hai

इन्वर्टर (Inverter) एक ऐसी इलेक्ट्रॉनिक मशीन है जिससे DC (Direct Current) करंट को AC (Alternating Current) करंट और AC करंट को DC करंट में बदला जाता है। आसान भाषा में कहें तो आमतौर पर घरों में इस्तेमाल होने वाले Inverter की बैटरी की मदद से बिजली पैदा की जा सकती और घर की मेन लाइट कट जाने पर इस बिजली का आसानी से उपयोग किया जा सकता है।inverter kya hai

इससे हमारे घर के सभी इलेक्ट्रॉनिक उपकरण जैसे पंखा, ट्यूबलाइट, टेलीविजन इत्यादि बिजली कट जाने के बाद भी बंद नहीं होते और हम इनका इस्तेमाल आसानी से कर सकते हैं। इसके अलावा मेन बिजली से Inverter की बैटरी को चार्ज भी किया जा सकता है। यह बैटरी Inverter का Power Source होती है।

यदि आप इन्वर्टर के बारे में पूरी जानकारी (Inverter Details in Hindi) प्राप्त करना चाहते हैं तो इस लेख को पढ़ना जारी रखें।

Inverter Ke Prakar

Inverter Ke Prakar की बात करें तो Inverter दो प्रकार के होते हैं।

  1. Solar Inverter: यह आजकल काफी ज्यादा प्रचलित है। इस प्रकार के इन्वर्टर की बैटरी को Charge करने के लिए सूर्य के किरणों की आवश्यकता होती है।
  2. Electricity Power Inverter: इस प्रकार के इन्वर्टर को चार्ज करने के लिए घर में इस्तेमाल होने वाली मेन बिजली सप्लाई का उपयोग होता है।

Modified Sine Wave Inverter: कम सर्किट लगे होने की वजह से यह इन्वर्टर सिम्पल और सस्ते होते है और बहुत अधिक बिजली की खपत करते हैं।

Pure Sine Wave Inverter: यह अत्यधिक महंगे होते है लेकिन इनकी कार्य क्षमता अधिक होती है, जिससे High Energy Consumption वाले Device का भी इस्तेमाल किया जा सकता है।

Inverter Ke Bare Me Jankari Hindi Me

Inverter का सबसे बड़ा फायदा यह है कि इन्वर्टर किसी भी प्रकार की आवाज़ नहीं करता है और इसे घर में किसी भी जगह लगाया जा सकता है। इन्वर्टर चलाने के लिए किसी भी प्रकार के Fuel और Diesel की भी जरूरत नहीं होती है।

इसके अलावा यदि अब आप Inverter Ka Full Form या इन्वर्टर का पूरा नाम हिंदी में जानना चाहते हैं तो हम आपको बता दें कि Inverter अपने आप में एक Complete शब्द है इन्वर्टर की कोई फुल फॉर्म नहीं होती है।

Inverter Kaise Kaam Karta Hai? इन्वर्टर Charging और Discharging के नियम पर काम करता है। जब बिजली कट जाती है तो इन्वर्टर, बैटरी में Charged बिजली का उपयोग करके घर के सभी इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों को जलाए रखता है।

Conclusion

तो दोस्तों, ये थी Inverter की पूरी जानकारी। उम्मीद है इसे पढ़ने के बाद आप समझ गए होंगे कि Inverter Ka Matlab Kya Kota Hai? अगर आपको Inverter Ki Jankari अच्छी लगी तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें और कमेंट बॉक्स में कमेंट करके जरूर बताएं कि आपको यह लेख कैसा लगा।

यह पोस्ट भी जरूर पढ़े:

UPS Kya Hai? Types Of UPS In Hindi – जानिए UPS Kaise Kaam Karta Hai बेहद सरल भाषा में!

Fuse Kya Hai और यह कैसे काम करता है? – Types Of Fuse In Hindi!

आपको हमारा यह लेख कैसा लगा ?

Average rating 3.5 / 5. Vote count: 22

अब तक कोई रेटिंग नहीं! इस लेख को रेट करने वाले पहले व्यक्ति बनें।

हिंदी सहायता एप्प को डाउनलोड करें।

आपको हमारा यह लेख कैसा लगा?

आपको क्या जानकारी नहीं मिली हमें ज़रूर बताएं

हम सभी जानकारियां आपको जल्द उपलब्ध कराएँगे

पूजा जांगिड़

Written by पूजा जांगिड़

पूजा जांगिड़, पत्रकारिता और हिंदी लेखन में विशेष रुचि रखती है। सरल हिंदी भाषा में लेखन की अपनी इस कला को हिंदी सहायता के पाठकों तक पहुंचाने में गर्व महसूस करती है।

2 Comments

Leave a Reply
  1. Jab main supply ko inverter ko disconnect karti hai to main supply band ho jata hai lekin jab ko band karte hai to tab bhi main current supply nahi hota hai

Leave a Reply

Avatar

Your email address will not be published. Required fields are marked *

IPL Kya Hai? – जानिए आईपीएल की पूरी जानकारी हिंदी में।

Passport Kya Hai? – जानिए पासपोर्ट की पूरी जानकारी।