हैलों दोस्तों! Hindi Sahayta में आपका स्वागत है। आज हम आपको बताएँगे कि Monitor Kya Hai और Monitor Kitne Prakar Ke Hote Hai, आप Computer का उपयोग करते हैं तो आपको पता होगा कि Monitor क्या होता हैं, लेकिन आप Monitor Ke Baare Mein और ज्यादा जानकारी चाहते हैं, तो हमारी इस पोस्ट को ध्यान से पढ़े।

देखे आज की ताज़ा ख़बर ...

जब भी हम कोई काम करते हैं, तो हम लगातार उस काम को देखते रहते हैं कि वो काम सही से हो रहा है या नहीं। इसी तरह जब हम Computer पर काम करते हैं तब हमारा सारा काम CPU में चल रहा होता हैं। अब हम CPU के अंदर तो देख नहीं सकते, इसलिए हम Monitor का उपयोग करते हैं। Monitor हमें Computer के अंदर चल रहे कामों को दिखाता हैं।

Monitor, Computer का एक Part होता हैं, जिसमे Screen और Electronic Circuits होते हैं, जिसकी सहायता से हम देख पाते हैं कि Computer में क्या काम हो रहा हैं।

इससे हम Computer की Memory में रखे Videos और Images को भी देख पाते हैं। Computer में एक Video Card लगा होता है जो Computer की Graphical Information को Monitor तक पहुँचाता हैं।

नमस्ते, मेरा नाम नीरज जीवनानी है, मैं हिंदी सहायता का संस्थापक हूँ। मैं उम्मीद करता हूँ आपको हमारा काम इस वेबसाइट पर पसंद आ रहा होगा। हम दिन रात मेहनत करके पूरी टीम के सहयोग से यह साइट को चलाते है और आप तक बेहतरीन, एक से बढ़कर एक आर्टिकल्स पहुंचाने का प्रयास करते है। हिंदी सहायता को एक नयी ऊंचाई पर ले जाने के लिए हमें आपका सहयोग चाहिए, हमने अभी हिंदी सहायता का एक मोबाइल एप्प लॉन्च किया है, इस एप्लीकेशन को आप यहां से डाउनलोड कर सकते है।यहाँ पर आप सभी महत्वपूर्ण जानकारियाँ सबसे पहले हासिल कर पाएंगे तो कृपया आप हमारा एप्प इनस्टॉल करके हमारा साथ ज़रूर दे ताकि हम आप तक हमेशा सभी महत्वपूर्ण आर्टिकल्स पहुँचाते रहे।

नीरज जीवनानी
संस्थापक

अगर आप Monitor के बारे में और ज्यादा जानकारी चाहते हैं तो हमारी इस पोस्ट को पूरा पढ़े इसमें आज हम आपको बताएँगे कि Monitor Kya Hai Hindi में और ये Computer के साथ कैसे काम करता हैं, और साथ ही हम आपको ये भी बताएँगे कि Monitor Kisne Banaya.

Monitor Kya Hai

Monitor, Computer का Output Device हैं, जो एक Cable के द्वारा CPU के साथ जुड़ा रहता हैं। आज-कल ऐसे भी Monitor आ गए हैं, जिनमे CPU भी Attached रहता हैं। Monitor का Main काम होता हैं, CPU के अंदर चल रही प्रक्रियाओं (Processes) को दिखाना जिससे आप अपने Computer पर काम कर पाए।

Monitor

अगर CPU के साथ Monitor जुड़ा हुआ नहीं होगा तो आप ये नहीं देख पाएंगे की CPU में क्या काम चल रहा हैं। Monitor आपके किये हुए कामों की Softcopy को दिखाता हैं।

पुराने समय में Computer के Monitor में Cathode Ray Tube (CRT) का उपयोग होता था। जिसके कारण Monitor बहुत बड़ा और भारी होता था। लेकिन आज बहुत हल्के और पतले LCD Screen वाले Monitor का उपयोग होता हैं। Monitor को Screen या Visual Display Unit (VDU) भी कहते हैं।

अगर हम Monitor Ki Definition की बात करें तो यह एक ऐसी Device जो Computer में किसी चीज़ का लगातार Record देखने या जांचने के लिए उपयोग की जाती हैं।
अभी हमने आपको बताया Computer Monitor In Hindi और Monitor Konsa Device Hai, अब आगे हम आपको बताएँगे कि Monitor कितने प्रकार के होते हैं।

यह पोस्ट भी जरूर पढ़े: Mobile Ko TV Remote Kaise Banaye? जानिये सरल शब्दों में Mobile Ko TV Remote Banane Ka Tarika!

Monitor Kitne Prakar Ke Hote Hai

समय के अनुसार Computer Monitor में भी बदलाव होते रहे हैं। हमने आपको नीचे Monitor Ke Prakar और Monitor की Characteristics (विशेषताओं) के बारे में कुछ जानकारी बताई हैं:

CRT Monitor In Hindi

CRT Monitor
यहाँ Crt का मतलब Cathode Ray Tube हैं। LCD Monitor की तुलना में CRT Monitor, Size में बड़े और बहुत भारी होते हैं। इस कारण इन्हे ज्यादा जगह की जरूरत होती हैं और भारी होने के कारण इनको एक जगह से दूसरी जगह लाने और लेकर जाने में भी ज्यादा परेशानी होती हैं।

1970 के दशक के अंत में Computer Monitor में CRT का उपयोग शुरू हुआ था। तब लोगों के घरों में Computer का उपयोग नहीं हुआ करता था। उस समय ये Monitors सिर्फ Black & White Display के होते थे। फिर 1977 में Apple ने अपना Color Display वाला Monitors Apple-ii Launch किया। Color Display Apple-II का Standard Feature था।

LCD Monitor

LCD Monitor

Lcd को बनाने के लिए Liquid Crystal का उपयोग होता हैं इसलिए इनको Liquid Crystal Display (LCD) कहते हैं। LCD Monitor, CRT Monitor की तुलना में Size में पतले और बहुत हल्के होते हैं। इस कारण इन्हे ज्यादा जगह की जरूरत नहीं होती हैं और वजन में हल्के होने की वजह से इनको एक से दूसरी जगह लाने और लेकर जाने में भी ज्यादा परेशानी नहीं होती हैं।

LCD को बनाने के लिए बहुत सी Technology का उपयोग किया गया हैं। 1990 के दशक में, Laptop के Display के रूप में LCD Display का उपयोग होता था, क्योंकि LCD वजन में हल्की, Size में पतली और छोटी होती थी, जो कम बिजली का Use करती थी, लेकिन LCD Monitor, CRT Monitor से महंगे होते थे, इसलिए उस समय इनका उपयोग Desktop Monitor के रूप में नहीं होता था।

TFT Monitor In Hindi

TFT Monitor

यह LCD का ही एक रूप है जो आज-कल Computer के Monitors के लिए उपयोग की जाने वाली Main Technology हैं। यह LCD की तरह ही एक Flat Panel Display हैं। जो कि वजन में हल्का और Size में पतला होता हैं।

यह LCD Display की तुलना में अच्छी Quality का Display हैं। TFT Display की वजह से Contrast Ratio में सुधार हुआ जिससे हमें और अच्छी Quality की Images और Videos देखने को मिलते हैं। यहाँ पर TFT का मतलब ‘Thin Film Transistor’ हैं।

जरूर पढ़े: Laptop/Pc Me Screenshot Kaise Lete Hai? Computer Me Screenshot Lene Ka Tarika – How To Take Screenshot In Laptop हिंदी में!

Plasma Monitor In Hindi

Plasma Monitor

Plasma Screen काँच की बनी होती हैं। इनको Plasma Display कहा जाता हैं क्योंकि ये बहुत छोटे Cells का उपयोग करते हैं, जिनमे ‘electrically Charged Ionized Gas’ भरी होती हैं। ऐसे Cells को ही Plasma कहा जाता हैं।

LCD Display की तुलना में Plasma Display के कुछ Advantages हैं:

  • Superior (बेहतर) Contrast Ratio
  • बढ़िया Viewing (देखने का) Angle
  • तेज़ Response (प्रतिक्रिया) Time

लेकिन सस्ते LCD और OLED (ज्यादा महंगे लेकिन High Contrast वाले Display) के कारण Plasma Display को लोगों ने उतना पसंद नहीं किया और 2016 के आखिर तक इनको बनाना बंद कर दिया गया।

LED Monitor In Hindi

LED Monitor

यह भी LCD की तरह एक Flat Panel Display हैं। LED Display किसी Image या Video को दिखाने के लिए Pixels के रूप में Light Emitting Diodes (LED) का उपयोग करता हैं। LED Display दूसरे Display की तुलना में ज्यादा Brightness वाले होते हैं जिसकी वजह से दिन की रौशनी में भी इस पर आसानी से पढ़ा या देखा जा सकता हैं।

LED Monitor, LCD Monitor की तुलना में ज्यादा समय तक काम करते हैं, इसलिए आज के समय में LED Display का उपयोग ज्यादा हो रहा हैं। साथ ही LED चलने के लिए बहुत कम Power लेती हैं, और हमारी आँखों को ज्यादा Effect भी नहीं करती हैं।

अभी हमने आपको बताया Types Of Monitor In Hindi और Characteristics Of Monitor In Hindi. अब हम आपको बताएँगे कि Monitor Ka Aviskar Kisne Kiya और इसका उपयोग कब से शुरू हुआ।

Monitor Kisne Banaya

सन 1929 में Zworykin नाम के एक व्यक्ति ने Cathode-Ray Tube (CRT) का अविष्कार किया जिसे Kinescope कहा जाता हैं, जो Television के लिए बहुत जरूरी हैं।

CRT की सहायता से हम Screen पर कोई Video देख पाते हैं। सन 1942 में America में दो व्यक्तियों ने मिलकर पहला “Automatic Electronic Digital Computer” बनाया जिसका नाम था ‘Atanasoff-Berry Computer’.

आज हमने आपको Computer Monitor Ki Jankari दी हमने आपको बहुत सारे Monitor जैसे CRT, LCD, TFT, Plasma और LED Monitor Definition In Hindi की भी जानकारी दी।

क्या आपने ये पोस्ट देखी: Mobile Me TV Kaise Dekhe? – जानिए Hotstar और YuppTV को Download करने के आसान तरीके हिंदी में!

Conclusion:

हाँ तो दोस्तों आपको हमारी आज की पोस्ट कैसी लगी आज हमने आपको बताया Computer Monitor Meaning In Hindi और Monitor कैसे काम करता हैं, और Monitor Kitne Prakar Ke Hote Hai ये भी हमने आज की पोस्ट में जाना।

उम्मीद है आपको समझ आया होगा और पसंद भी आया होगा, क्योंकि आज हमने सरल भाषा में आपको नयी और Update जानकारी बताई है, जो आपके लिए उपयोगी और महत्वपूर्ण हैं। हम आशा करते है कि आपके कई सवालों के जवाब आज आपको यहाँ मिले होंगे।

अगर आपके मन में कोई सवाल है, तो आप Comment Box में Comment करके हमसे पूछ सकते हैं, हमारी टीम आपकी सहायता करने की कोशिश करेगी। इसी प्रकार की अन्य जानकारी के लिए आप हमारी वेबसाइट Hindi Sahayta की Notification को Subscribe भी कर सकते हैं जिससे आपको हमारी नयी पोस्ट की जानकारी मिल सके।

आप हमारी पोस्ट अपने दोस्तों से भी शेयर कर सकते हैं और शेयर करके अपने दोस्तों को भी इसके बारे में बता सकते हैं, तो दोस्तों आज के लिए बस इतना ही हम फिर नयी टेक्नोलॉजी और एजुकेशन से संबंधित पोस्ट लेकर हाज़िर होंगे तब तक के लिए अलविदा दोस्तों।आपका दिन शुभ हो! धन्यवाद।

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (2 votes, average: 2.00 out of 5)
Loading...

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here