हैलो दोस्तों  Hindi Sahayta में आपका स्वागत है हम आज आपको बताएँगे की Resistor Kya Hai क्या आप कुछ नया जानना चाहते है तो आप बिलकुल सही Post देख रहे है बने रहिए हमारी आज की पोस्ट Resistor Kya Kaam Karta Hai के साथ पूरी जानकारी पाने के लिए उम्मीद है आपको हमारी Post ज़रूर पसंद आएगी।

Resistors Ke Prakar आज की इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको पूरी जानकारी देने का प्रयास करेंगे। हम आपको इसके बारे में बहुत सरल भाषा में बताएँगे आशा करते है की आपको हमारी पिछली पोस्ट की तरह हमारी आज की पोस्ट Resistor Kya Hai Hindi Me भी ज़रूर पसंद आयेगी जिसके बारे में हम आपको सारी जानकारी देंगे।

आज हम आपको Resistors के बारे में बताएँगे ये एक प्रकार का Passive Electrical Component होता है जो Electric Current के बहाव में रुकावट पैदा करता है इसे ही Resistors कहते है जब किसी Current को Resistors से होकर निकाला जाता है तो उसके दोनों अंतिम सिरों पर वोल्टेज की कमी होती है।

जब हमें Resistance की वेल्यू को निकलना होता है उस समय हमें Resistors की जरुरत पड़ती है Resistors कई प्रकार के होते है सभी Resistors ऊपर से देखने पर एक जैसे देखेंगे पर अंदर से सभी अलग-अलग होते है और इन्हे कुछ विधि के द्वारा बनाया जाता है तो आज हम आपको इसके बारे में पूरी जानकारी देंगे हमारी Post के साथ बने रहिए।

नमस्ते, मेरा नाम नीरज जीवनानी है, मैं हिंदी सहायता का संस्थापक हूँ। मैं उम्मीद करता हूँ आपको हमारा काम इस वेबसाइट पर पसंद आ रहा होगा। हम दिन रात मेहनत करके पूरी टीम के सहयोग से यह साइट को चलाते है और आप तक बेहतरीन, एक से बढ़कर एक आर्टिकल्स पहुंचाने का प्रयास करते है। हिंदी सहायता को एक नयी ऊंचाई पर ले जाने के लिए हमें आपका सहयोग चाहिए, हमने अभी हिंदी सहायता का एक मोबाइल एप्प लॉन्च किया है, इस एप्लीकेशन को आप यहां से डाउनलोड कर सकते है।यहाँ पर आप सभी महत्वपूर्ण जानकारियाँ सबसे पहले हासिल कर पाएंगे तो कृपया आप हमारा एप्प इनस्टॉल करके हमारा साथ ज़रूर दे ताकि हम आप तक हमेशा सभी महत्वपूर्ण आर्टिकल्स पहुँचाते रहे।

नीरज जीवनानी
संस्थापक

आज हम आपको इस पोस्ट के जरिए Resistor Ka Kya Kaam Hai के बारे बतायेंगे। इसके लिए आपको हमारी इस Post को शुरू से अंत तक पढ़ना होंगी तो क्या आप जानना चाहते Resistors कैसे काम करता है तो बने रहिए हमारी आज की Post में सभी जानकारी पाने के लिए शुरू से अंत तक।

Resistor Kya Hai

जब आपको Electricity के बारे में पता चला होगा तब आपने जाना होगा की सभी मटेरियल को मुख्य रूप से दो Basic Categories में बाँटा जाता है जो इस प्रकार है Conductors और Insulators जहाँ Conductors (Metals) अपने अंदर से Electrocity को बहने देता है या प्रवाह करने देता है वहीं दूसरी तरफ Insulators (Plastic) अपने अंदर से Electricity को प्रवाह नहीं होने देता है।

इसका Scientific कारण यह है की जो Conductors होते है उनमें Resistance की मात्रा ना के बराबर होती है और वही Insulators में Resistance की मात्रा बहुत अधिक होती है आप सोच रहे होंगे की ये Resistance क्या है Resistance का मतलब है की रूकावट पैदा करना जैसे- जो भी Materials अपने अंदर से Electrocity को Allow करती है बिना रूकावट के उसमे Resistors ना के बराबर होता है और जो  Materials Electrocity को Allow नहीं करते उनमें Resistors की मात्रा बहुत अधिक होती है मतलब जितना ज़्यादा Resistors उतनी ज़्यादा रूकावट।

Market में कुछ ऐसे भी डिवाइस पाए जाते है जो Electrical Circuits में अपने हिसाब से फेर बदल कर सकते है ऐसे डिवाइस को Resistor कहते है। Resistor एक प्रकार का Passive Electrical Component होता है जिसे Resistance के द्वारा बनाया जाता है इसे आप आराम से किसी Electrical Network और Electronic Circuits में देख सकते है Resistance OHMS का माप है OHM उस Resistance को कहा जाता है जब किसी करेंट को एक Ampere वाले किसी Resistor से होकर निकाला जाता है जिसके दोनों अंतिम सिरों के आस-पास 1 Voltage कम होता है यह करेंट हमेशा Voltage के बराबर होता है इसे OHMS कहा जाता है।

क्या आपने यह पोस्ट पढ़ी: VoLTE Kya Hai? LTE Aur VoLTE Me Kya Antar Hai? – आसान भाषा मे समझे क्या होता है VoLTE!

Resistor Kaise Kaam Karta Hai

जब भी किसी को Resistance की वेल्यू निकालना होती है Electric या Electronic Circuits से तब आपको Resistor की ज़रूरत पड़ती है जिसे Circuits के साथ जोड़ के करेंट की वेल्यू को कम किया जा सके सभी Resistor ऊपर से देखने पर एक सामान दिखते है मगर अंदर से सभी अलग-अलग होते है जैसे- सबसे पहले आपको उसकी ऊपरी Outer Coating जो की Insulating Paint है उसे निकालना होता है उसके बाद Insulating Ceramic Rod देखने को मिलती है जो की मध्य में है। जिसके चारों और Copper Wire लपेटा हुआ होता है।

Copper Turns नंबर से पता चलता है की इस Resistance की वेल्यू कितनी है Copper जितनी पतली और Copper Turns जितनी ज़्यादा हो उतनी ही Resistance ज़्यादा होगी। Smaller Value Resistor को Lower Power Circuits के लिए डिज़ाइन किया गया है लेकिन इसमें Copper Winding को Spiral Pattern Of Corbel से बदल दिया जाता है ऐसे Resistor बहुत सस्ते होते है बनाने में और इन्हे Carbon Film भी कहा जाता है।

Resistors Ke Upyog

Resistor बहुत छोटे होते है इसलिए इन्हे एक स्थान से दूसरे स्थान तक ले जाना बहुत आसान होता है और यह बहुत सस्ते भी होते है जिससे इनका इस्तेमाल करना भी अच्छा होता है Resistor वोल्टेज के बाहरी स्रोत पर निर्भर नहीं होते है इसी लिए Resistors के संचालन में किसी भी बाहरी वोल्टेज या ऊर्जा की आवश्यकता नहीं होती है।

जरूर पढ़े: Vodafone Me Loan Kaise Le? Airtel Me Loan Kaise Lete Hai – जानिए अलग-अलग Cellular Networks Me Loan Kaise Le हिंदी में!

Resistors Ke Prakar

Resistors मुख्य तरह दो प्रकार के होते है मगर इन्हे इसके काम और उपयोग के आधार पर अलग-अलग कर दिया जाता है और कई भागों विभाजित कर दिया जाता है।

Fixed Resistors

Fixed Resistors वह होते है जिनका Resistance तापमान के कारण ही थोड़ा बहुत बदलता है नहीं तो इसका तापमान बिलकुल एक सामान रहता है Fixed Resistors को भी कुछ श्रेणियों में बाँटा गया है जो इस प्रकार है।

  • Thin Film Resistors

Thin Film Resistors को चीनी मिट्टी और प्रतिरोधी सामग्री को मिला कर बनाया जाता है और उन्हें भी आगे जाकर दो भागों में बाट दिया जाता है इस प्रतिरोध में अच्छी क़्वालिटी की चीनी मिट्टी और हाथ से बने Insulation को Rod, Plate, Tube के चारों तरफ सुचालक Material अच्छे से लपेट दिया जाता है।

  • Carbon Film Resistors

Carbon Film Resistors में High Grade चीनी मिट्टी की सामग्री से बानी Insulation Material की Rod, Core होती है जिनके ऊपर इसकी पतली लेयर को चढ़ाया जाता है।

  • Metal Oxide Resistors

Metal Oxide Resistors को बनाने के लिए Tin Chlorate की एक लेयर को Oxidizing विधि के द्वारा गरम कांच की छड़ पर चढ़ाया जाता है जिससे की Metal Oxide Resistors बनता है जो Resistor काफी महंगे होते है ये अधिक तापमान पर भी अच्छे से काम करते है और इन्हे ज्यादा Voltage वाले Circuits  में उपयोग किया जाता है।

  • Fusible Resistors

यह Wire Wound Resistor की तरह होते है जब किसी Circuit की Power को Rating एक Specified Value से ज़्यादा बढ़ती है तब यह प्रतिरोध Fused की तरह काम करता है यह Circuits को Open या Out कर सकता है इसलिए इसे Fusible Resistor कहते है। Fusible Resistor एक ही समय पर दो काम कर सकता है जैसे- पहला ये करेंट के बहने की गति को कम करता है और दूसरा ये उसी समय पर एक Fusible के तरह भी काम करता है।

Variable Resistors

Variable Resistors वह होते है जिनकी मदद से किसी प्रतिरोध Value को बदला जा सके इसे प्रतिरोध का उपयोग हम रेडियों-टीवी के वोल्यूम को कंट्रोल करने में करते है इस प्रतिरोध के कुछ प्रकार है।

  • Potentiometers

Potentiometers Resistors एक ऐसा Resistors है जो किसी Circuits वॉल्टेज के लेवल को कंट्रोल करने में काम आता है इस Resistor का कुल Resistance बाहर वाले दोनों टर्मिनल के बीच का Resistance होता है अब इस Resistance को कंट्रोल करने के लिए बीच वाले टर्मिनल में Wiper का उपयोग किया जाता है जिससे के दांये-बांये घूमने में Resistance को कम ज्यादा किया जा सके आज कल इस तरह के Resistors बहुत आ रहे है जिन्हें अलग-अलग उपकरणों में उपयोग किया जाता है ये Resistors आपको रेड़ियो और पुरानी टीवी में आज भी देखने को मिल सकते है।

  • Rheostats

इस Resistors में हमें दो या तीन टर्मिनल देखने को मिल जाते है और इनका उपयोग करेंट को कंट्रोल करने में किया जाता है इसे करेंट को कंट्रोल करने के लिए हाथों से सेट किया जाता है और इस Resistor को Tapped Resistors और Variable Wire Wound Resistors के नाम से भी जाना जाता है। Rheostats Resistors आपको 1 OHMS से लेकर 150 OHMS तक मिलते है और इनकी पॉवर 3 वॉट से 200 वॉट तक होती है मगर इनमें से ज़्यादातर 5 वॉट से 50 वॉट तक के Resistors ही इस्तेमाल होते है।

  • Trimmers

इस Resistors के अच्छे संचालक और ज़्यादा क्षमता के लिए इसमें एक Screw लगाया जाता है और इसे Trimmers Resistors के नाम से जाना जाता है इस Resistor के Resistance को बदलने के लिए आपको Screw ड्राइवर की ज़रूरत होगी जिससे आप इस Resistors के Screw को घुमाकर इसके Resistance को बदल सकते है यह Resistors Carbon Composition, Cermet, Carbon Film, और Wire Materials के द्वारा बनाया जाता है जो आपको बाजार में 50 OHMS से लेकर 50 Mega OHMS तक मिल जायेंगे।

यह पोस्ट भी जरूर पढ़े: VPN Kya Hai Or VPN Kaise Use Kare? जानिए VPN Kaise Set Kare हिंदी में!

Conclusion:

आशा करते है की आपको हमारी आज की पोस्ट Resistor Kya Hota Hai पसंद आयी होगी इसके साथ ही आपको Types Of Resistor In Hindi के बारे में जानकारी प्राप्त हुई अगर आप चाहते हो की इस तरह की महत्पूर्ण जानकारी आपको पढ़ने को मिले तो इसे Like और Share ज़रूर करे।

तो दोस्तों आपको हमारी आज की पोस्ट Variable Resistor Kya Hai कैसी लगी Comment Box में Comment करके ज़रूर बताएं आशा करते है की आपको What Is Resistor In Hindi? के बारे में सब कुछ अच्छे से समझ में आया होगा।

अगर आपको हमारी पोस्ट Resistor Kaise Kaam Karta Hai के बारे में कोई भी परेशानी हो तो हमे ज़रूर बताएं हम आपकी समस्या को हल करने का पूरा प्रयास करेंगे अगर आपको हमारी पोस्ट पसंद आयी हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ ज़रूर शेयर करे ताकि वे भी इस जानकारी को प्राप्त कर सके।

दोस्तों हमारी Website के Latest Update पाने के लिए हमारी Hindi Sahayta की Website को Subscribe करना ना भूले इससे आपको हमारी आने वाली New पोस्ट के बारे में Latest Update मिलते रहेंगे तो Friends आज के लिए बस इतना ही फिर मिलेंगे आपसे तब तक के लिए इजाज़त दीजिए आपका दिन शुभ रहे।

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here