वर्तमान समय में अधिकतर व्यक्ति इंटरनेट का इस्तेमाल करके अलग-अलग चीजों को देख और इस्तेमाल कर सकते है जिसके लिए उन्हें अलग-अलग वेबसाइट की ज़रूरत पड़ती है लेकिन बहुत सी ऐसी वेबसाइट भी है जो लोगों को गलत तरीकों से गलत कंटेंट उपलब्ध करवाती है इस तरह की वेबसाइट को सरकार द्वारा ब्लॉक कर दिया जाता है तथा VPN Ka Istemal करके इन वेबसाइट को भी ओपन किया जा सकता है जिसके बारे में आज हम आपको बताने वाले है।

इसके अलावा भी बहुत से अन्य अच्छे और क़ानूनी कार्यों में भी VPN का उपयोग किया जाता है। बहुत सी बड़ी-बड़ी मल्टीनेशनल कम्पनियाँ हो या कोई छोटा बिज़नेस डाटा को सुरक्षित रखने में VPN का बहुत बड़ा योगदान होता है। अगर आप जानना चाहते है कि VPN क्या होता है, इसके लाभ तथा हानि क्या-क्या है और VPN Banane Ka Tarika क्या है।

VPN Kya Hai (वीपीएन क्‍या है)

VPN एक प्राइवेट नेटवर्क होता है जो उपयोगकर्ता को नेटवर्क का उपयोग करने की अनुमति देता है। इसके लिए नेटवर्क कंपनी आपको एक “IP Address”,“User Name” और “Password” उपलब्ध कराती है, जिससे आप कही पर भी इस नेटवर्क का उपयोग कर सकते है। VPN एक सुरक्षित नेटवर्क है और इस सेवा का उपयोग ज्यादातर बड़ी कंपनियों द्वारा किया जाता है, जिससे की वे अपने महत्वपूर्ण डाटा को सुरक्षित रख सके। वैसे VPN सेवा का उपयोग कोई भी व्यक्ति कर सकता है, VPN हमारी “Real IP” को बदल कर “Fake IP” में परिवर्तित कर देता है। VPN का उपयोग आप अपने महत्वपूर्ण डाटा को सुरक्षित करने के लिए कर सकते है।

VPN Ka Full Form:

VPN Ki Full Form – Virtual Private Network

VPN Ka Full Form In Hindi – आभासी निजी संजाल

VPN Kaise Use Kare

VPN Ka Istemal करने के लिए आप नीचे दर्शायी गयी विधियों की मदद ले सकते है। इन विधियों में कंप्यूटर तथा मोबाइल दोनों के लिए VPN Kaise Kaam Karta Hai, इसकी संपूर्ण जानकारी प्रदर्शित है:

Computer Me VPN Kaise Use Kare

कम्प्यूटर में VPN Banane Ka Tarika नीचे प्रदर्शित है, तो चलिए जानते है कंप्यूटर में VPN Ka Use Kaise Kare :

Step 1: Download Software

इसके लिए आपको अपने कंप्यूटर या लैपटॉप में “Opera Developer Software” को इंस्टाल करना होगा, इसके लिए आप ओपेरा की वेबसाइट पर जाकर इसे डाउनलोड कर सकते है।

Step 2: Open The App And Click On Setting

इंस्टाल करने के बाद एप्प को ओपन करे, अब इसमें आपको ऊपर की तरफ, “Menu” का ऑप्शन दिखेगा उस पर क्लिक करे और फिर “Setting” पर क्लिक करे।

Step 3: Click On Privacy And Security

सेटिंग में जाने के बाद आपको “Privacy And Security” पर क्लिक करना है,उसके बाद आपको VPN का ऑप्शन दिखाई देगा।

Step 4: Tick On Enable VPN

VPN के ऑप्शन में Enable VPN पर टिक करे, टिक करने के बाद आपके ओपेरा ब्राउज़र में VPN सक्रिय हो जाएगा, जिसके बाद आप इस ब्राउज़र की सहायता से किसी भी ब्लॉक वेबसाइट तक पहुँच सकते है।

Step 5: On/Off VPN

अब आपको ब्राउज़र के URL के पास VPN लिखा हुआ दिखाई देगा, उसे क्लिक करके आप VPN को बंद या चालू कर सकते है, और इसकी सहायता से लोकेशन भी बदली जा सकती है।

क्या आपने यह पोस्ट पढ़ी: Google Account Me Recovery Email Add Kaise Kare? – गूगल अकाउंट में रिकवरी ईमेल और फोन नंबर जोड़ने का तरीका!

Mobile Me VPN Kaise Set Kare

अगर आप अपने मोबाइल में Setting Of VPN In Hindi में सीखना चाहते है तो यह बहुत ही आसान है, इसके लिए आप अपने मोबाइल के Playstore से VPN को डाउनलोड कर सकते है। इस App की मदद से आप आसानी से VPN उपयोग कर सकते है तो आइये जानते है कि आप अपने Mobile में कैसे VPN को Use कर सकते है:

Step 1 : Download The App

सबसे पहले आप अपने मोबाइल में प्लेस्टोर से “Touch VPN App” को डाउनलोड करे, डाउनलोड करने के बाद इसे इंस्टाल करे।

Step 2 : Location

इंस्टाल करने के बाद एप्प को ओपन करे, अब इसमें सबसे पहले “Location” सेट करे।

Step 3 : Click On Connect

अब “Connect” पर क्लिक करे इस पर क्लिक करते ही आपके मोबाइल में VPN चालू हो जाएगा।

जरूर पढ़े: Incognito Mode Kya Hai? – क्रोम, यूट्यूब, यूसी ब्राउज़र, सफारी, ओपेरा, फायरफॉक्स में इन्कॉग्निटो मोड कैसे एक्टिव करे!

Google Chrome Me VPN Kaise Use Kare

गूगल क्रोम में VPN का उपयोग करने के लिए नीचे दर्शायी गयी विधि की सहायता ली जा सकती है:

Step 1: Download Extension

गूगल क्रोम में VPN का उपयोग करने के लिए सबसे पहले क्रोम को ओपन करके उसमें Google Chrome VPN Extension सर्च करे, फिर गूगल एक्सटेंशन पर जाकर “Add To Chrome” पर क्लिक करे।

Step 2: Click On Extension

Add करने के बाद आपको एक पॉपअप दिखाई देगा जिसमे “Add Extension” के ऑप्शन पर क्लिक करे।

Step 3: Sidebar Icon

तीसरी स्टेप में आपको सबसे ऊपर राइट साइट में एड हो चुका VPN एक्सटेंशन दिखाई देगा, उस पर क्लिक करके भाषा का चयन करे।

Step 4: Sign Up And Use

यदि आप पहली बार इसका उपयोग कर रहे है तो “Create New Account” पर क्लिक कर अपनी ईमेल आईडी और पासवर्ड को सब्मिट करें। इसके बाद आप VPN का आसानी से उपयोग कर सकते है।

VPN Kaise Kaam Karta Hai

VPN का सबसे महत्वपूर्ण काम एक तरह से नेटवर्क को सुरक्षा प्रदान करना है, आप इंटरनेट पर जो भी कार्य कर रहे होते है उन्हें VPN सुरक्षित करता है, तथा आप VPN सेवा की मदद से ब्लॉक हो चुकी वेबसाइट को भी चालू कर सकते है। कुछ वेबसाइट ऐसी होती है जिन्हें आप अपने देश में Access नही कर सकते उन सभी वेबसाइट को भी आप VPN की मदद से आसानी से Access कर सकते है।

यदि आप इंटरनेट का इस्तेमाल कर रहे है और आपकी IP Address भारत की है एवं आप VPN का उपयोग करते है तो इसमें आप जिस भी देश का चयन करने के बाद इंटरनेट का उपयोग करते है तो आपका IP Address उसी देश का हो जायेगा जिसका आपने चयन किया है, इसके साथ ही VPN इंटरनेट पर आपकी पहचान को छिपा देता है।

VPN Ke Fayde

VPN के फायदे तथा नुकसान दोनों ही है। सबसे पहले हम बात करते है VPN के फायदों की, आइये जानते है VPN Ke Fayde क्या-क्या है:

  • VPN की सहायता से कोई सी भी ब्लॉक वेबसाइट पुनः ओपन की जा सकती है।
  • VPN के द्वारा कंट्री की लोकेशन बदली जा सकती है जैसे चीन में फेसबुक पर प्रतिबंध है, परन्तु वहां के लोग VPN की सहायता से कंट्री की लोकेशन बदलकर फेसबुक का उपयोग कर सकते है।
  • इंटरनेट पर VPN की Free और Paid दोनों सुविधा उपलब्ध है, यदि आप फ्री सेवा का लाभ लेना चाहते है तो प्लेस्टोर पर बहुत सारे फ्री VPN एप्प्स उपलब्ध है।
  • VPN का उपयोग करते समय पूरा डाटा इन्क्रिप्ट हो जाता है जिससे हैकिंग का खतरा भी नहीं होता है।

VPN Ke Nuksan

ऊपर हमने आपको VPN से होने वाले लाभों के बारे में बताया परन्तु इसके बहुत से नुकसान भी है, VPN से होने वाले नुकसान नीचे प्रदर्शित है:

  • बहुत से लोगों का मानना होता है कि VPN के उपयोग से किसी पर कोई फ़र्क़ नहीं पड़ता है, परन्तु यह धारणा गलत है क्योंकि इसके उपयोग से आप स्वयं को पूर्णतः नहीं छुपा सकते तथा जिस कारण हमारा डाटा VPN सर्वर में सेव हो जाता है।
  • कई बार फ्री VPN हमारे डाटा का दुरुपयोग कर सकते है क्योंकि उनके पास हमारा संपूर्ण डाटा का एक्सेस होता है।
  • VPN का उपयोग करके हैकर्स बहुत बार अपनी पहचान को छुपा लेते है।
  • VPN, गूगल के साथ एक अन्य सर्वर को जोड़ देता है जिसे VPN सर्वर कहते है। इस अतिरिक्त सर्वर के जुड़ जाने से इंटरनेट की गति धीमी हो जाती है।

यह पोस्ट भी पढ़े: Server Kya Hota Hai? और Server Kaise Kaam Karta Hai? – जानिये सरल शब्दों में!

Type Of VPN In Hindi

बिज़नेस में VPN की भूमिका को देखते हुए इसे मुख्यतः तीन भागों में विभाजित किया गया है, जो कि नीचे प्रदर्शित है:

Remote Access VPN

इस VPN के द्वारा कोई भी कर्मचारी अपने कार्य स्थल के कंप्यूटर नेटवर्क को किसी भी स्थान से Access कर सकता है। जब Remote Access VPN की सहायता से कोई भी होस्ट कनेक्ट किया जाता है तो VPN उसे लोकल कनेक्ट की तरह ही प्रेजेंट करती है।

Site To Site Or Intranet VPN

इस VPN के माध्यम से कोई भी ऑर्गनाइजेशन अपने अलग-अलग ऑफ़िस को जोड़ सकता है। यह VPN किसी एक ऑफ़िस के रिसोर्स को अन्य ऑफ़िस के होस्ट पर उपलब्ध करवा देता है। Site To Site Or Intranet VPN अलग-अलग ऑफिस के कंप्यूटर को इंटरनेट के माध्यम से जोड़ता है।

Extranet VPN

जब कोई ऑर्गनाइजेशन आपस में मिलकर कार्य करती है तो वह Extranet VPN का उपयोग करती है। इस प्रकार के VPN के माध्यम से कोई भी ऑर्गनाइजेशन अन्य किसी भी ऑर्गनाइजेशन जिसके साथ मिलकर वह कार्य करती है, उसे अपने रिसोर्सेस का लिमिटेड एक्सेस उपलब्ध करवाती है।

Conclusion:

सामान्यतः VPN का सर्वाधिक उपयोग IP Address को छुपाने के लिए किया जाता है, इसकी सहायता से आप किसी भी वेबसाइट को कहीं पर भी ओपन कर सकते है। उदाहरण के तौर पर जब हम गूगल पर कुछ भी सर्च करते है, तो हमे सिर्फ इंडिया की वेबसाइट दिखाई देती है। परन्तु यदि हम VPN का उपयोग करें तो हम विदेशों की भी वेबसाइट देख सकते है। यदि Virtual Private Network Kya Hai In Hindi में दी गयी जानकारी आपको पसंद आयी हो तो इसे शेयर करना न भूले, धन्यवाद!

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...