विज्ञापन
विज्ञापन

ANM Course Details In Hindi – एएनएम क्या है, कॉलेज, फीस, जॉब।

विज्ञापन
विज्ञापन

ANM नर्सिंग के क्षेत्र में दो साल का एक डिप्लोमा कोर्स होता है। इच्छुक उम्मीदवार साइंस या आर्ट्स स्ट्रीम से 12वीं की परीक्षा पास करने के बाद ANM डिप्लोमा के लिए आवेदन कर सकते है। दो साल के डिप्लोमा कोर्स को पूरा करने के पश्चात छात्रों को 6 महीने की अनिवार्य इंटर्नशिप भी करना होती है। वे जो नर्सिंग के क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहते है वे यह कोर्स कर सकते है। पर इससे पहले आप ANM Course Details In Hindi से जुड़ी संपूर्ण जानकारी जरूर प्राप्त कर लें, जो आज आपको इस लेख के माध्यम से मिलने वाली है।

नर्स का नाम सुनते ही सबके दिमाग में बस एक बात आती है कि यह कोर्स सिर्फ लड़कियाँ ही कर सकती है। लेकिन ऐसा नहीं है इस क्षेत्र में महिला-पुरुष दोनों ही अपना भविष्य बना सकते है। जो कम समय में नर्स बनाना चाहते है वे ANM डिप्लोमा कोर्स को नर्सिंग के क्षेत्र में एक प्रारंभिक कदम के रूप में चुन सकते है। लेकिन इस कोर्स को करने से पहले आपको ANM Me Kitne Subject Hote Hai और ANM Course in Hindi के बारे में जानकारी होना जरुरी है, ताकि आपको इस कोर्स को करने में कोई परेशानी न हो।

विज्ञापन

जो भी छात्र Nursing के क्षेत्र में करियर बनाना चाहते है और ये चाहते है कि वे कम समय एवं कम खर्च के नर्स बन बन जाये तो यह कोर्स आपके लिए बहुत अच्छा विकल्प हो सकता है। इस लेख में, मैं आपको A N M Course Details in Hindi जैसे- एएनएम क्या है, ANM Ke Liye Qualification, ANM के कार्य, फीस एवं ANM Course Kitne Saal Ka Hota Hai तथा ANM Ka Kya Kaam Hota Hai आदि पूरी जानकारी प्रदान कर रही हूँ।

विज्ञापन
विज्ञापन

ANM Kya Hai (ANM Course Details In Hindi)

ANM नर्सिंग क्षेत्र से जुड़ा दो साल का एक डिप्लोमा कोर्स है, जिसे आप साइंस या आर्ट्स स्ट्रीम से 12th पास करने के बाद कर सकते हैं। इस कोर्स को करने के दौरान छात्रों को चिकित्सा से जुड़ी ट्रेनिंग दी जाती है। जैसे टीका लगाने का काम, मरीज़ों की देखरेख करना, ऑपरेशन थ्रेटर में डॉक्टर की मदद करना, इलाज के दौरान काम आने वाले सभी उपकरणों को कैसे इस्तेमाल किया जाता है इन सब के बारे में सिखाया जाता है। इस कोर्स को ज्यादातर महिलाएं ही करती है।

इसके अंतर्गत छात्रों को ह्यूमन एनाटॉमी, बायोलॉजी, माइक्रोबायोलॉजी, मनोविज्ञान, बायोलॉजिकल साइंस, समाजशास्त्र, व्यवहार विज्ञान, नर्सिंग के बुनियादी सिद्धांत आदि के बारे में पढ़ाया जाता है। एएनएम कोर्स के लिए न्यूनतम अंक 40-50% होना आवश्यक है। कुछ कॉलेज और संस्थान में ANM कोर्स में प्रवेश प्रदान करने के लिए एंट्रेंस एग्जाम आयोजित की जाती है जबकि कुछ अन्य कॉलेज इंटरव्यू और 1 2th में प्राप्त अंकों के आधार पर प्रवेश देते है। इस कोर्स के लिए छात्रों की न्यूनतम आयु सीमा 17 वर्ष एवं अधिकतम आयु सीमा 35 वर्ष है। ANM का कोर्स करने के बाद गाँवों में अधिक नौकरी मिलती है।

आगे आपको टेबल के माध्यम से ANM कोर्स की संक्षिप्त जानकारी दी गयी है –

ANM का स्तरडिप्लोमा कोर्स
ANM का पूरा नामAUXILIARY NURSE MIDWIFERY
ANM कोर्स की अवधि2 वर्ष + 6 महीने की इंटर्नशिप
ANM कोर्स की फीसप्राइवेट कॉलेज: 60 हजार से 1 लाख प्रतिवर्ष
सरकारी कॉलेज: बहुत ही कम
शैक्षणिक योग्यता12th पास (कम से कम 45% के साथ)
आयु सीमान्यूनतम 17 वर्ष और अधिकतम 35 वर्ष

ANM Full Form In Hindi

ANM Full Form “Auxiliary Nurse Midwifery” होता है, जिसका हिंदी में पूरा नाम “सहायक नर्स दाई” होता है।

ANM Kaise Kare

एएनएम कोर्स को करने के लिए कुछ विशेष योग्यता की जरुरत होती है, जिसके आधार पर आपको इस कोर्स को करने के लिए एडमिशन प्राप्त होता है। आईये जानते है कि ANM Ke Liye Qualification क्या-क्या मांगी जाती है:

  • शैक्षिक योग्यता: उम्मीदवार का किसी भी मान्यता प्राप्त विद्यालय से 12 वीं कक्षा कला (Arts) या विज्ञान (Science) स्ट्रीम से 45% अंकों के साथ पास होना अनिवार्य है।
  • उम्र सीमा: उम्मीदवार की न्यूनतम आयु सीमा 17 वर्ष और अधिकतम आयु सीमा 35 वर्ष होना चाहिए।
  • प्रवेश प्रक्रिया: इसमें आपका एक विशेष व्यक्तिगत साक्षात्कार के आधार पर प्रवेश किया जाता है। जिसमें आपके पाठ्यक्रम के लिए सामान्य योग्यता का परीक्षण लिया जाता है। आमतौर पर कॉलेजों में प्रवेश परीक्षा भिन्न होती है। ANM कोर्स में अंतिम प्रवेश परीक्षा और साक्षात्कार पर निर्भर करता है।
  • मेडिकल सर्टिफिकेट: उम्मीदवार को चिकित्सकीय रूप से फिट होना चाहिए तथा जिसके लिए उन्हें किसी भी मान्यता प्राप्त डॉक्टर से घोषित करने वाला एक प्रमाण पत्र प्रदान करना पड़ सकता है।

ANM Kitne Saal Ka Hai

ऑक्जिलरी नर्सिंग एंड मिडवाइफरी (ANM) मेडिकल नर्सिंग के क्षेत्र में एक सर्टिफिकेट या डिप्लोमा स्तर का कोर्स है। ANM कोर्स की अवधि (ANM Course Duration) 2 वर्ष की होती है जिसमें 6 महीने की इंटर्नशिप भी अनिवार्य रूप से शामिल होती है।

ANM Ke Karya (Role of ANM in Hindi)

एएनएम के विभिन्न प्रकार के कार्य होते है। ANM को क्या कार्य करने होते है उनके बारे में आपको आगे बताया गया है।

  • ANM डॉक्टर द्वारा इलाज के दौरान उनके कार्य में मदद करती है।
  • इसके साथ ही ANM मरीज़ों की देखभाल भी करती है।
  • मरीज़ों के रिकार्ड्स को मेन्टेन करने का कार्य भी ANM के द्वारा किया जाता है।
  • इलाज के दौरान काम में आने वाली चीजों, उपकरणों का रख-रखाव का कार्य ANM करती है।

Syllabus Of ANM In Hindi

यह 2 साल का कोर्स होता है जिसमें आपको दोनों साल में अलग-अलग सिलेबस पढ़ना होते है।

1st Year Syllabus

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Health Promotion
  • Community Health Nursing
  • Primary Health Care Nursing
  • Child Health Nursing

2nd Year Syllabus

  1. Midwifery
  2. Health Center Management

एएनएम कोर्स की फीस कितनी है

एएनएम की फीस सभी सरकारी कॉलेज और प्राइवेट कॉलेज में अलग-अलग होती है। सरकारी कॉलेजेस में आरक्षित वर्ग के उम्मीदवारों के लिए कोई फीस नहीं होती, जबकि जनरल व ओबीसी के वर्गों के लिए फीस बहुत ही कम लगभग 20,000 रूपए हो सकती है। पर सरकारी कॉलेजेस में प्रवेश पाने के लिए आपको Entrance Exam देना होगा जिसमें सिलेक्शन मेरिट लिस्ट के आधार पर होता है। वहीं अगर प्राइवेट कॉलेजेस में फीस की बात करें तो प्राइवेट कॉलेजेस में ANM Course की फ़ीस 60,000 से 1 लाख तक हो सकती है।

ANM के बाद क्या करें

एएनएम डिप्लोमा कोर्स पूर्ण करने के पश्चात एक ANM नर्सिंग फ्रेशर के पास कई जॉब विकल्प होते है। वे Community Health Worker, Home Nurse, Health Visitor, Basic Health Worker और Rural Health Worker आदि के रूप में शामिल होकर नर्सिंग में अपना करियर शुरू कर सकते है। नीचे आपको कुछ अन्य जॉब प्रोफाइल है जिसमें ANM Nursing डिप्लोमा धारक, कुछ एक्सपीरियंस प्राप्त करने के बाद, इस क्षेत्र में काम करने की उम्मीद कर सकते है –

  • Community Health Nurse
  • Home Care Nurse
  • Health Care Nurse
  • ICU Nurse
  • Staff Nurse
  • Nursing Tutor
  • Teacher – Nursing School
  • Certified Nursing Assistant
  • Senior – Nurse Educator

ANM Ki Taiyari Kaise Kare

एएनएम कोर्स (ANM Course) में एडमिशन प्राप्त करने के लिए आपको इसकी तैयारी किस तरह से करना है यह आप आगे जानेंगे।

  • ANM का कार्य मरीज़ों की देखभाल उनकी सेवा करना होता है, तो आपको आपके स्वभाव में नम्रता लानी होगी।
  • आपको विज्ञान के विषयों पर अधिक ध्यान देना होगा।
  • ANM बनने के लिए सभी तरह की दवाइयों का ज्ञान होना ज़रुरी है।
  • इलाज के दौरान प्रयोग किये जाने वाले उपकरणों का ज्ञान बढ़ाये।

ANM Ki Salary Kya Hai

एएनएम का वेतन या ANM Ki Salary अलग-अलग अस्पतालों के अनुसार उनके नियमों पर निर्भर करती है। शुरुआत में आप 10-12 हजार रुपए की नौकरी आसानी से पा सकते है और सरकारी नौकरी की बात करे तो आपको 25 से 30 हजार रुपये की नौकरी मिल सकती है।

ANM and GNM Difference in Hindi

इन दोनों में इनके कार्यो के आधार पर अंतर होता है जो आपको नीचे बताया जा रहा है। तो चलिए निचे दिए बिंदुओं की मदद से जानते है कि Difference Between GNM And ANM Course In Hindi क्या है:

  • GNM का कोर्स 3 साल का होता है। ANM का कोर्स 2 साल का होता है।
  • GNM का फुल फॉर्म “General Nursing and Midwifery” होता है जबकि ANM का फुल फॉर्म “Auxiliary Nursing Midwifery” होता है।
  • ANM डिप्लोमा कोर्स का महत्व GNM से कम होता है।
  • GNM डिप्लोमा धारक की सैलरी ANM डिप्लोमा धारक से अधिक होती है।

भारत के टॉप ANM कॉलेज

  • आईआईएमटी, मेरठ
  • श्री गुरु राम राय विश्वविद्यालय, देहरादून
  • इंदिरा गांधी स्कूल और नर्सिंग कॉलेज
  • असम डाउन टाउन यूनिवर्सिटी
  • तीर्थंकर महावीर विश्वविद्यालय

Conclusion

तो दोस्तों ये थी ANM Kya Hai In Hindi में दी गयी जानकारी, जो आपको जरूर पसंद आयी होगी। ANM कोर्स करने बाद आप किसी भी अस्पताल या संगठन में शामिल होने के अलावा, आप अपनी आगे की पढाई जारी रख सकते है। एएनएम डिप्लोमा कोर्स पूरा करने के बाद उम्मीदवार GNM डिप्लोमा प्रोग्राम को आगे की पढाई के रूप में कर सकते है।

उम्मीद करते है कि अब आपको ANM के बारे में पूरी जानकारी अच्छे से समझ में आ गयी होगी, जिसमें आपको ANM Kya Hota Hai एवं ANM Kitne Saal Ka Hota Hai आदि सभी जरूरी बातों को मैंने यहां कवर किया। फिर भी यदि आपके कोई सवाल या सुझाव हो तो, वो भी आप कमेंट करके बता सकते है। हिंदी सहायता आपकी मदद के लिए हमेशा तत्पर है।

अगर आपको ANM Course Kya Hai की जानकारी उपयोगी लगी हो तो इसे अपने दोस्तों, रिस्तेदारों एवं अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर जरूर शेयर करे, ताकि अन्य लोगों को भी यह जानकारी प्राप्त हो सके।

ANM कोर्स से जुड़े FAQs

  • एएनएम का कोर्स की अवधि कितनी होती है?

ANM या ऑक्जिलरी नर्स मिडवाइफरी डिप्लोमा कोर्स 6 महीने से लेकर 2 साल तक का होता है। कुछ मामलों में यह 3 साल भी हो सकता है।

  • भारत में एएनएम के लिए शीर्ष 3 कॉलेज कौन से हैं?

इंडिया में ANM कोर्स प्रदान करने वाले टॉप तीन कॉलेज या संस्थान, जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज, किंग्स जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी, लखनऊ और अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय, यूपी है।

  • भारत में एएनएम कोर्स करने के लिए फीस कितनी होती है?

इंडिया में ANM कोर्स करने के लिए औसत फीस 10,000 रूपये से लेकर 1 लाख प्रति वर्ष हो सकती है। यह इस पर निर्भर करता है कि आप कॉलेज से एएनएम कोर्स करने जा रहे है।

आपको हमारा यह लेख कैसा लगा ?

Average rating 4.3 / 5. Vote count: 148

अब तक कोई रेटिंग नहीं! इस लेख को रेट करने वाले पहले व्यक्ति बनें।

Default image
एडिटोरियल टीम

एडिटोरियल टीम, हिंदी सहायता में कुछ व्यक्तियों का एक समूह है, जो विभिन्न विषयो पर लेख लिखते हैं। भारत के लाखों उपयोगकर्ताओं द्वारा भरोसा किया गया।

Email के द्वारा संपर्क करें - [email protected]

Articles: 212

5 Comments

    • इसके लिए आप हमारी GNM वाली पोस्ट पढ़े उसमें आपको पूरी जानकारी मिल जाएगी!

Leave a Reply