in

Self Introduction Kaise Prepare Kare – इन 5 बिंदुओं की सहायता से जाने एक बेहतरीन सेल्फ इंट्रोडक्शन देना!

विज्ञापन
लेख़ इसके बाद शुरु होगा।

आज हम बात करेंगे Self Introduction in Hindi की, यह एक ऐसा विषय है जिसकी बहुत उपयोगिता भी है और अहमियत भी, क्योंकि जब भी हम स्कूल, कॉलेज या अन्य जगह अपना पहला परिचय देते है तो उससे हमारे व्यक्तित्व की पहचान होती है इसीलिए self introduction in hindi for students के बारे में जानना भी ज़रूरी है।

अंग्रेज़ी में भी एक कहावत है कि “First Impression Is Last Impression”. जब भी हम किसी नौकरी के लिए आवेदन करते है तो सबसे पहले हमारा CV या Resume ही कंपनी के पास जाता है। अगर हमारा Resume, Job Profile के अनुसार होता है तभी वह कंपनी हमसे प्रभावित होती है और साक्षात्कार के लिए आमंत्रित करती है। तो आइये जानते है अपना इंट्रोडक्शन कैसे लिखें इंग्लिश में

आज के समय में किसी भी नौकरी को पाने के लिए इंटरव्यू एक महत्वपूर्ण भाग होता है। इसके साथ ही यह भी सच है कि आप बिना इंटरव्यू टिप्स के किसी भी इंटरव्यू में सफल नहीं हो सकते है। इसलिए, जिस प्रकार हर चीज के लिए विशेष नियम होते है, उसी प्रकार प्राइवेट या सरकारी नौकरी के साक्षात्कार के लिए भी कुछ ज़रुरी बाते होती है। इस लेख में आप यह भी जानेंगे कि Introduction Kaise Dete Hain और Interview Kaise De in English

अगर इन्हे सही से समझ लिया जाए तो निश्चित ही हम अपने जॉब इंटरव्यू में सफलता हासिल कर सकते है। किसी भी इंटरव्यू में सबसे पहले हमे अपना स्वयं का परिचय देना पड़ता है। इसलिए आज हम इस के माध्यम से बताएँगे कि सेल्फ इंट्रोडक्शन कैसे दिया जाता है। Self Introduction Kaise Dena Chahiye और self introduction in hindi pdf, इंटरव्यू कैसे देना चाहिए in English के बारे में जानकारी के लिए इस पोस्ट को पूरा पढ़े।

Self Introduction Kaise De

Self Introduction Definition

सेल्फ इंट्रोडक्शन, स्वयं का परिचय देने की अवस्था या भाव होता है। अन्य शब्दों में किसी एक व्यक्ति का दूसरे व्यक्तियों के लिए दी गयी एक औपचारिक व्यक्तिगत प्रस्तुति। Self Introduction में आपका नाम, आपका बैकग्राउंड और आपके कार्य से संबंधित बातें शामिल होती है, इस परिचय को आप दो भागों में बाँट सकते है:

  • Formal Introduction (औपचारिक परिचय) – औपचारिक परिचय आप किसी संस्था या कार्य-क्षेत्र में नौकरी प्राप्त करने या किसी अधिकारिक बैठक इत्यादि के दौरान देते है।
  • Informal Introduction (अनौपचारिक परिचय) – अनौपचारिक परिचय आप किसी नए दोस्त से या ऐसे व्यक्ति को देते हो जिससे आप मित्रतापूर्ण संबंध बनाना चाहते है।

क्या आपने यह पोस्ट पढ़ी: Personality Development Kaise Kare? – इन 10 बेहतरीन टिप्स के जरिये बनाये पर्सनालिटी को और प्रभावशाली!

Self Introduction Kaise Diya Jata Hai

अभी हमने ऊपर माय सेल्फ इंट्रोडक्शन स्पीच के प्रकारो के बारे में बताया और परिभाषित भी किया अब हम आपको बताएँगे कि Self Introduction Kaise De, हिंदी में इंट्रोडक्शन या Self Introduction Dene Ka Tarika और Apna Self Introduction Kaise De English Me नीचे प्रदर्शित है:

Formal Introduction

इसमें हम आपको कुछ जानकारी देंगे जैसे Introduction Kaise Diya Jata Hai और किसी संस्था या किसी कंपनी में परिचय देते वक़्त किन बातों को ध्यान में रखना चाहिए। किसी कंपनी में परिचय देने के लिए आपको दिखाना होता है कि आप उस कार्य-क्षेत्र से जुड़े हो इसके लिए सबसे पहले जरूरी है कि आपके पास उस कार्य से संबंधित सारी जानकारी हो, ताकि आपके अंदर आत्मविश्वास हो। इसके साथ ही आपको कार्य-क्षेत्र से जुड़े कुछ नियमों का भी पालन करना होता है, जैसे कि आप समय पर पहुंचे, फॉर्मल कपड़े पहने आदि।

इसके साथ ही इंटरव्यू के दौरान अपना मोबाइल स्विच ऑफ या साइलेंट मोड पर रखे जिससे इंटरव्यू के दौरान बाधा उत्पन्न ना हो। जब भी हमे इंटरव्यू देना हो तो बिना इंटरव्यू लेने वाले अधिकारी की आज्ञा के अपने मन से कुर्सी पर न तो बैठे और न ही उठे इसके अलावा जब इंटरव्यू खत्म हो जाए तो उनको धन्यवाद कहना भी ना भूले।

Self Introduction In Hindi For Interview

अंग्रेजी में सेल्फ इंट्रोडक्शन देने से पहले इन बातों का जरूर ध्यान रखे इससे आप एक बेहतरीन इंटरव्यू दे पाएंगे:

अपना परिचय दें

जब आप कंपनी में इंटरव्यू लेने वाले किसी भी नए व्यक्ति से मिलते हो तो सबसे पहले आप उनसे एक हल्की सी मुस्कान के साथ हाथ मिला कर अभिवादन करें और इंटरव्यूअर (Interview लेने वाला व्यक्ति) की आंखों में देख कर बात करें तथा अपना पूरा नाम स्पष्ट रूप से बताए।

उचित हावभाव

इंटरव्यू के अलावा भी जब कभी आप किसी व्यक्ति से मिले तो एक सकारात्मक भाव के साथ, सिर उठाकर, शरीर को सीधा रखकर मिलें, आपके हावभाव एक अनुभवी व्यक्ति की तरह होना चाहिए।

नज़रें मिलाइये

आई कांटेक्ट से यह तो पता चलता ही है कि आप सामने वाले की बातों को ध्यान-पूर्वक सुन रहे है, साथ ही इससे आपका आत्मविश्वास भी झलकता है। यदि आप सीधे किसी की आँखों में सहजता से नहीं देख पाते है या इधर-उधर देखते है तो उन्हें ये लगता है की आप उनकी बातों को नहीं सुन रहे है।

सवालों का जवाब दें

जब भी इंटरव्यूअर हमसे कुछ पूछ रहा हो तो उसे घूमा फिराकर जवाब नही देना चाहिए और ना ही बातों को लंबा खींचना चाहिए। हमारे पास जो भी जानकारी हो उसे सही ढंग से और सटीक रूप से बता दे। इंटरव्यूअर की बातों को ध्यान से सुने और उनके सवालों का जवाब सरल शब्दों में दे तथा आपके पास उस सवाल की जानकारी नही है तो माफ़ी बोल-कर उसके बारे में नही जानते है ऐसा बोल सकते है ऐसा करने से हम खुद को सही रूप में पेश कर सकते है।

यह पोस्ट भी पढ़े: English Bolna Sikhe? – इन 5 आसान तरीकों से सीखे फर्राटेदार अंग्रेजी बोलना और पढ़ना!

समाप्त करें

अपनी मीटिंग को खत्म करने के लिए आप एक बार फिर से हाथ मिलायें और फिर से सामने वाले व्यक्ति का नाम लेकर कहे कि “आपसे मिलकर बहुत अच्छा लगा श्री मान”।

Apna introduction Kaise de in English

Self Introduction In Hindi तो आप ऊपर बताए गए बिन्दुओ की सहायता से आसानी दे देंगे परन्तु आप सोच रहे होंगे की Apna Introduction English Me Kaise De क्योंकि इंग्लिश आजकल हर जगह पर अनिवार्य है, और बहुत से लोग इंटरव्यू में सिर्फ इंग्लिश न बोल पाने की वजह से असफल हो जाते है। इसलिए हमे अपनी भाषा के साथ इंग्लिश का भी ज्ञान रखना बहुत ज़रुरी है। जैसा हमने आपको ऊपर बताया ठीक यही सब बातें इंग्लिश में इंट्रोडक्शन देने के लिए भी काम आती है, फिर भी इसके अलावा भी कुछ ऐसी बातें है जो हमे ध्यान में रखना चाहिए। इन्हे नीचे बिंदुसार दर्शाया गया है:

  • इंग्लिश में इंट्रोडक्शन देने के लिए हमे ग्रामर का ज्ञान होना बहुत ही आवश्यक है।
  • इंग्लिश में इंटरव्यू देते समय ग्रामर पर विशेष ध्यान देना चाहिए जिससे ग्रामेटीकल मिस्टेक न हो।
  • जब भी हम सेल्फ इंट्रोडक्शन इन इंग्लिश की बात करते है, अक्सर हम कंफ्यूज हो जाते है। कंफ्यूशन के कारण हम वहीं बैठे-बैठे सोचने लग जाते है या बोलते-बोलते रुक जाते है, जिससे सामने वाले व्यक्ति के सामने हमारी गलत छवि बन जाती है।
  • इंग्लिश में इंटरव्यू देने के लिए, आप इन चीजों के बारे में बता सकते है जिससे एक अच्छा Introduction तैयार हो सकता है जैसे- Name, Residence, Educational Qualification, Experience, Hobby, Strength, Weakness, Family Details आदि।

Conclusion:

एक अच्छा इंटरव्यू और अच्छा इंट्रोडक्शन सामने वाले के मन में हमारी छवि को निर्धारित करता है। यदि आप नौकरी के लिए इंटरव्यू दे रहे है तो यह आपकी भविष्य में आने वाली पदोन्नति में भी एक महत्वपूर्ण रोल निभाता है। अपना सेल्फ इंट्रोडक्शन कैसे दे के बारे में ऊपर दर्शायी गयी जानकारी Self Introduction In Interview For Fresher Candidates, Self Introduction For Kids, Self Introduction For Students आदि सभी के लिए है इससे आप किसी भी इंटरव्यूअर या किसी भी व्यक्ति को प्रभावित कर सकते है।

आपको हमारा यह लेख कैसा लगा ?

Average rating 3.5 / 5. Vote count: 87

अब तक कोई रेटिंग नहीं! इस लेख को रेट करने वाले पहले व्यक्ति बनें।

हिंदी सहायता एप्प को डाउनलोड करें।

नीरज जीवनानी

Written by नीरज जीवनानी

नीरज जीवनानी, हिंदी सहायता के फाउंडर है, ये सिर्फ 21 वर्ष के है, और भारत में हिंदी भाषी लोगो के लिए एक कम्युनिटी बना रहे है, एक ऐसा मंच जिससे समाज में बदलाव आये और लोगो की ज़िंदगी आसान होजाये। Information के इस युग में नीरज ने हिंदी सहायता मंच का निर्माण किया जहा हिंदी भाषी अपने सभी सवालों के सरल और सटीक जवाब पा सकते है।

9 Comments

Leave a Reply

Leave a Reply

Avatar

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Disaster Management in Hindi – आपदा प्रबंधन पर निबंध, हिंदी में।

Powerpoint Presentation Kaise Banate Hai

PPT Kaise Banate Hai? – पावर पॉइंट प्रेजेंटेशन बनाने का बेहद आसान तरीका!