Home » Health » BP Kaise Check Karte Hain – घर बैठे ब्लड प्रेशर नापने का तरीका।

BP Kaise Check Karte Hain – घर बैठे ब्लड प्रेशर नापने का तरीका।

शरीर के सभी अंगों तक रक्त पहुँचाने के लिए हमारा ह्रदय रक्त को एक विशेष दवाब पर पम्प करता है, इसी दवाब को ब्लड प्रेशर या रक्तचाप कहते है। जब ब्लडप्रेशर सामान्य से ज्यादा हो जाता है तो उसे हाई ब्लड प्रेशर कहते है और जब सामान्य से कम होता है तो उसे लो ब्लड प्रेशर कहते है। पर अगर आपको नहीं पता कि खुद से अपना BP Kaise Check Karte Hain तो आज इस पोस्ट में हम आपको ब्लड प्रेशर नापने का तरीका बहुत ही आसान और सरल भाषा में समझाएंगे।

Blood Pressure की समस्या अब बहुत आम हो चुकी है इसलिए आपको घर पर रहकर ही Blood Pressure की जाँच करना आना चाहिए। Blood Pressure की समस्या आजकल अधिकतर लोगों में देखी जाती है। अगर बीपी सामान्य ना हो तो व्यक्ति को बहुत सी तरह की बीमारी हो सकती है।

इसलिए आपको समय-समय पर अपने रक्तचाप की जांच जरुर करवाना चाहिए। पर बहुत से लोग यहीं सोचते है, कि बीपी की जांच करवाने के लिए उन्हें हर बार डॉक्टर के पास जाना पड़ता है, और इसमें पैसे भी खर्च होते हैं।

पर हम आपको बता दें कि ऐसा बिल्कुल भी नहीं है कि आप हर बार डॉक्टर के पास ही जाएँ, आप घर पर रहकर भी अपने Blood Pressure जांच कर सकते है। इसके लिए बस आपको ब्लडप्रेशर मापने वाले उपकरणों की जानकारी होनी चाहिए।

अगर आपका भी बीपी High या Low रहता है, और आप BP Check Karne Ka Tarika जानना चाहते है, तो इसके लिए आप हमारी इस पोस्ट BP Kaise Napte Hain को ध्यान से पढ़ें। इसके साथ ही अगर आप मोबाइल से बीपी कैसे चेक करें इसके बारे में जानना चाहते हैं , तो आज आप इस लेख में इसके बारे में भी जानेगे।

BP Kaise Check Karte Hain

BP Kaise Check Karte Hain

घर पर अपना ब्लड प्रेशर चेक करने के लिए आपको नीचे बताई गई सामग्री की आवश्यकता होगी, जिसकी सहायता से आप अपना Blood Pressure चेक कर पाएँगे जैसे-

  1. कफ
  2. स्टेथोस्कोप
  3. डायाफ्राम
  4. रबर बल्व
  5. एनेरोइड मॉनिटर

आईये अब जानते है कि ब्लड प्रेशर कैसे चेक करते है (How to Check Blood Pressure) व BP Check Karne Ka Tarika क्या है:

  • अब ब्लडप्रेशर चेक करने के लिए अपने बाएँ हाथ को टेबल पर रखें और आरामदायक स्तिथि में बैठे की आपके पैर जमीन को टच करने चाहिए। इसके बाद कफ को कोहनी से दो अंगुल ऊपर बांधे और यह सुनिश्चित करें कि कफ कहीं ज्यादा कसा हुआ या ढीला तो नहीं है, इसके लिए आप कफ के अंदर अपनी 2 उंगली डालकर चेक कर सकते हैं, इसके साथ ही Rubber Tube कफ के अंदर की तरफ होना चाहिए।
  • इसके बाद स्टेथोस्कोप को अपने कान में लगाएं और Diaphragm को कफ के पास कोहनी के बीच में कुछ इस तरह लगाइए कि यह त्वचा के साथ पूरी तरह संपर्क में रहे।
  • अब BP Machine के रबर बल्व के वोल्व घुमाये और टाइट करे और रबर बल्व (रबर का गुब्बारा) को पंप करें, इससे कफ में हवा जाने लगती है, इस हवा के दवाब के कारण रक्त प्रवाह कुछ देर के लिए बंद हो जाता है।
  • बॉल को दबाते हुए BP Machine के प्रेशर को 160-180 तक बढ़ाये। इसके बाद रबर बल्व को पंप करना बंद कर दें और वोल्व को धीरे- धीरे खोलें।
  • अब हाथ से प्रेशर कम हो जाता है और BP Machine में पारा धीरे- धीरे नीचे आने लगता है, Para नीचे आते वक्त रक्त प्रवाह फिर से शुरू हो जाता है, और उसी समय स्टेथोस्कोप में मीटर के जिस पॉइंट पर पहली बार पल्स की जो आवाज सुनाई देती है, उसे नोट कर लीजिए, इसे ही Systolic Blood Pressure कहते है।
  • पारा नीचे आते समय पल्स की आवाज आती रहती है, पर जिस पॉइंट या स्तर पर पल्स की आवाज़ सुनाई देना बंद हो जाती है, जिस स्तर पर पल्स की आवाज होती है, उस अंक को नोट करे इसे Diastolic Blood Pressure कहते है।
  • आख़िरी में पूरा वोल्व खोल दीजिये और कफ़ को दबाकर पूरी हवा बाहर निकाल दीजिये।

इस तरह आपने जाना कि Blood Pressure Kaise Check Karte Hain, चलिए अब आगे ब्लड प्रेशर से जुड़ी कुछ जरुरी बातों के बारे में बताते है।

ब्लड प्रेशर नापने का तरीका

आप घर पर Blood Pressure की जाँच 2 तरीकों से कर सकते है। पहला Automatic Blood Pressure Machine द्वारा और दूसरा Manually, Sphygmomanometer के द्वारा, इन दोनों उपकरणों से ब्लड प्रेशर की जाँच की जाती है। आप दोनों में से किसी का भी उपयोग करके घर पर ही ब्लड प्रेशर माप सकते है।

Sphygmomanometer

Sphygmomanometer आपको सामान्य और डिजिटल दोनों प्रकार का मिल जाएगा। लेकिन डिजिटल में ब्लडप्रेशर कम या फिर ज्यादा बताता है। घर में अगर आप इसका उपयोग कर रहे है तो Mercury Sphygmomanometer का इस्तेमाल कर सकते हैं।

ब्लडप्रेशर बढने के कारण

  • हाई कॉलेस्ट्रोल
  • तनाव, डर
  • धूम्रपान और शराब का सेवन

ब्लड प्रेशर की जांच किन लोगों को करना चाहिए?

  • जिन्हें हाई ब्लडप्रेशर और लोब्लड प्रेशर का खतरा हो।
  • ह्रदय रोग के मरीज को।
  • जो दवाईयों का सेवन कर रहे हों।
  • कैफीन लेने वाले लोगों को।
  • तनाव में रहने वाले लोगों को।

ब्लडप्रेशर की जांच करने से पहले किन बातों का ध्यान रखें?

  • ब्लडप्रेशर चेक करने से पहले अपनी बीपी मशीन की जांच जरुर कर लें।
  • अपने हाथ के आकार के हिसाब से मैन्युअल कफ लें, इससे आपको सटीक बीपी रीडिंग लेने में सुविधा होगी।
  • आपको कम से कम दो बार अपने Blood Pressure को चेक करना है।
  •  सोकर उठने के तुरंत बाद ब्लडप्रेशर Check ना करें।
  • रक्तचाप की जांच लेने से 30 मिनट पहले तक खाना, कैफीन, तम्बाखू, शराब आदि का सेवन ना करें।
  • Blood Pressure मेजर करने के लिए आप बिल्कुल रिलैक्स होकर बैठें और अपनी बांह को सही तरीके से रखें।
  • ध्यान रखें कि कफ को बाँह पर बांधने से पहले आर्म से कपड़े हो हटा लें।
  • पहली रीडिंग लेने के 2-3 मिनट बाद फिर से दुबारा Reading जरुर लें, इससे आपको एक्यूरेसी का पता लगेगा।

Mobile Se Blood Pressure Kaise Check Kare

आप मोबाइल से भी अपना BP Check कर सकते है। इसके लिए आपको एक एप्प को डाउनलोड करना होगा। जिसके बारे में हम आपको आगे बता रहे है।

1. सबसे पहले आपको इस App BP Finger Scanner Prank को डाउनलोड करना होगा।

Download App

2. डाउनलोड करके अब इस एप्प को install कर लीजिये।

Install App

3. App को Install करके Open करे।

Open App

4. जैसे ही आप एप्प को ओपन करते है तो आपको 2 आप्शन आएँगे Male और Female के यदि आप Male है तो Male पर क्लिक करे। यदि आप Female है तो Female पर क्लिक करे।

Select Option

5. इसके बाद आपको Scanning करनी है। तो अपने अँगूठे को लगाकर स्कैन करे।


6. अब आपके सामने आपका ब्लडप्रेशर शो हो जाएगा। इस तरह से आप अपना ब्लड प्रेशर मोबाइल से ही जांच कर सकते है।

ब्लड प्रेशर कितना होना चाहिए?

ब्लडप्रेशर 140/90 से ज्यादा होता है तो इसे हाई ब्लड प्रेशर या हाइपरटेंशन कहते है। इसका मतलब होता है की धमनियों में अधिक तनाव है। ब्लडप्रेशर 120/80 तक होना ही सामान्य रूप से सही होता है और इतना ही होना चाहिए। 139/89 के बीच का ब्लड का दबाव प्री- हाइपरटेंशन कहा जाता है।

आयु के अनुसार बीपी कितना होना चाहिए?

उम्र के अनुसार भी बीपी होना सही रहता है। किस उम्र में कितना बीपी होना ज़रुरी है व बीपी कैसे नापते हैं यह हम आपको आगे बता रहे है।

आयु ब्लड प्रेशर लेवल (पुरुष) ब्लड प्रेशर लेवल (महिला)
15 से 18 की उम्र177-77 mmHg120-85 mmHg
19 से 24 की उम्र120-79 mmHg

120-79 mmHg
25 से 29 की उम्र120-80 mmHg
120-80 mmHg
30 से 35 की उम्र122-81 mmHg123-82 mmHg
30 से 35 की उम्र122-81 mmHg123-82 mmHg
36 से 39 की उम्र123-82 mmHg124-83 mmHg
40 से 45 की उम्र 124-83 mmHg
125-83 mmHg
46 से 49 की उम्र 126-84 mmHg
127-84 mmHg
50 से 55 की उम्र 128-85 mmHg
129-85 mmHg
56 से 59 की उम्र131-37 mmHg130-86 mmHg
60 की उम्र से ज्यादा135-88 mmHg
134-84 mmHg

हाई ब्लड प्रेशर के लक्षण

हाई ब्लडप्रेशर होने पर कुछ इस प्रकार के लक्षण दिखाई देते है। इन लक्षणों से आप जान सकते है की आपको हाई ब्लड प्रेशर है।

  • नाक से खून बहने जैसी समस्या हो सकती है।
  • सांस लेने में परेशानी होती है साँस की कमी हो जाती है।
  • सिर दर्द होता है लगातार सिर में दर्द बना रहता है।
  • मूत्र में खून आना भी इसका एक लक्षण होता है।

हाई ब्लड प्रेशर में क्या खाना चाहिए?

अगर आपको हाई ब्लडप्रेशर है तो आपको खाने पीने का ध्यान रखना चाहिए और अपने खाने पीने में बदलाव करना चाहिए। जिससे आप इस परेशानी से बच सकते है।

  • अपने भोजन में फलो और सब्जियों का ज्यादा से ज्यादा प्रयोग करे। इसके साथ ही साबुत अनाज, सोयाबीन, लहसुन, प्याज का अधिक सेवन करे।
  • तरबूज भी High Blood Pressure में फ़ायदेमंद होता है। यह एमिनो एसिड के स्तर को कम करता है। जिससे ब्लड प्रेशर का स्तर सामान्य होता है। साथ ही इसमें फाइबर और लाइकोपिन होते है जो आपके ह्रदय को भी स्वस्थ बनाते है।
  • उच्च रक्तचाप में चुकंदर खाना बेहद फायदेमंद होता है। यह रक्त वाहिकाओं को आराम पहुँचाता है। चुकंदर से शरीर में रक्त का प्रवाह बेहतर होता है। रक्त प्रवाह सही होने से हाई Blood Pressure में राहत मिलती है।
  • एक अध्ययन में पाया गया की दिन में तीन बार अगर मुट्ठी भर किशमिश खाई जाये तो रक्तचाप में कमी होती है।
  • दही भी उच्च रक्तचाप से राहत देता है। इसमें में प्रोटीन, कैल्शियम, विटामिन बी 6, विटामिन बी 12 होते है जो High Blood Pressure को कम करते है।
  • पानी, ताजा फलो का जूस, सब्जियों का जूस और नारियल पानी का ज्यादा से ज्यादा सेवन करे।

हाई ब्लड प्रेशर में क्या नहीं खाना चाहिए?

यदि आपको हाई बीपी हुआ है तो आपको कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए और कुछ चीजें ऐसी है जिनका सेवन नहीं करना चाहिए।

  • आपको High ब्लडप्रेशर है तो आपको ज्यादा तैलीय भोजन का प्रयोग नहीं करना चाहिए तथा मसालेदार भोजन से दूरी बनाकर रखे।
  • उच्च रक्तचाप में अचार का सेवन भूलकर भी नहीं करना चाहिए। अचार बहुत ज्यादा मात्रा में नमक को अपने अंदर सोखता है जो की सोडियम से भरपूर हो जाता है। हाई सोडियम हाई ब्लड प्रेशर में बहुत खतरनाक होता है। तो यदि आप High BP के मरीज़ है तो आपको अचार का सेवन नहीं करना चाहिए।
  • अगर आपको हाई ब्लडप्रेशर है तो आपको कॉफी नहीं पीनी चाहिए। कॉफी हाईपरटेंशन को बहुत ही जल्दी बढ़ा देती है।
  • एल्कोहल ब्लड प्रेशर को तेजी से बढ़ाने में मदद करता है। यह रक्त नलिकाओं को भी खराब कर देता है। इसलिए एल्कोहल का सेवन High Blood Pressure में ना करे।

Low BP के लक्षण

BP Low होने पर इस तरह के लक्षण दिखाई देते है। अगर आपको इस तरह के लक्षण आपके शरीर में दिखाई दे रहे है तो तुरंत डॉक्टर से सलाह ले।

  • पानी की कमी होने लगती है और बार-बार प्यास लगती है।
  • मरीज़ अवसाद में चला जाता है।
  • शरीर ठंडा पड़ जाता है और पीला पड़ने लगता है।
  • सांसे तेज लेने लगती है और उथली सांसे व आधी अधूरी सांसे लेना।
  • धुँधला दिखाई देने लगता है।

लो ब्लड प्रेशर का इलाज

यदि आपका BP Low हो गया है तो आपको नीचे बताई गई बातों का ध्यान रखना चाहिए। जिससे आप अपने Low BP को सामान्य कर सकते है।

  • यदि आपका ब्लड प्रेशर कम हो गया है तो स्ट्रांग कॉफी, हॉट चॉकलेट का सेवन करे। ब्लड प्रेशर कम रहने पर रोज एक कप कॉफ़ी पिए और ध्यान रखे की इसके साथ कुछ ना कुछ खाए ज़रुर।
  • ज्यादा से ज्यादा पानी पिए और पानी में नींबू, चीनी और नमक मिलाकर पिए।
  • अगर नमक का सेवन कम करते है तो उसकी थोड़ी सी मात्रा बढ़ा ले।
  • तुलसी के पत्तियों के सेवन से भी आप लो ब्लड प्रेशर को सामान्य कर सकते है।
  • ब्लड प्रेशर लो है तो बादाम का सेवन करे। 5-6 बादाम को रात में भिगो दे और सुबह इसका पेस्ट बनाकर दूध के साथ सेवन करे।
  • आप किशमिश का प्रयोग भी कर सकते है। रात में किशमिश के कुछ दानों को पानी में भिगोकर रखे और सुबह इसका सेवन करे।

40 साल की आयु पूरी होने से पहले वे लोग जिन्हें ज्यादा खतरा होता है?

  • मोटापा
  • व्यायाम न करने वाले लोग
  • अत्यधिक शराब का सेवन करने वाले लोग
  • स्वस्थ आहार का पालन न करने वाले लोग
  • किडनी, हृदय रोग, और मधुमेह से पीड़ित लोग
  • अधिक धूम्रपान करने वाले लोग
  • हाई बीपी का पारिवारिक इतिहास
  • कम सोने वाले लोग
  • कैफीन युक्त पेय पदार्थों का अधिक मात्रा में सेवन करने वाले लोग

Conclusion

आज की पोस्ट में आपने जाना BP Kaise Check Karte Hai इसके साथ ही हमने आपको इस पोस्ट में High BP और Low BP के बारे में भी बताया। उम्मीद करते है की हमारे द्वारा दी गई जानकारी आपके लिए उपयोगी होगी। आप भी BP Machine Se BP Kaise Napte Hain जानने के लिए हमारी इस पोस्ट की मदद ज़रूर ले।

इस पोस्ट की जानकारी आप अपने दोस्तों को भी दे तथा सोशल मीडिया पर भी यह पोस्ट BP Kaise Check Kare ज़रुर शेयर करे। जिससे ज्यादा से ज्यादा लोगों के पास यह जानकारी पहुँच सके। हमारी इस पोस्ट में आपको कोई परेशानी है या आपका कोई सवाल है तो आप कमेंट करके हमें बताएं। हमारी टीम आपकी मदद ज़रुर करेगी।

अगर आप हमारी वेबसाइट के Latest अपडेट पाना चाहते है तो आपको हमारी Hindi Sahayta की वेबसाइट को सब्सक्राइब करना होगा। फिर मिलेंगे आपसे कुछ ऐसी ही आवश्यक जानकारी लेकर तब तक के लिए अलविदा दोस्तों, आपका दिन मंगलमय हो।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQs)

  • बीपी कितना होना चाहिए?

सामान्य परिस्थिति में एक स्वस्थ व्यक्ति का ब्लड प्रेशर 120/80 होना चाहिए।

  • ब्लड प्रेशर लेने के लिए सही हाथ कौन सा है?

यदि संभव हो तो बाएं हाथ (Right Hand) से रक्तचाप लेना सबसे अच्छा होता है।

  • क्या पानी पीने से ब्लड प्रेशर कम हो सकता है?

जी हाँ, BP को मेन्टेन रखने के लिए पूरे दिन पानी पीने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है।

  • क्या उच्च रक्तचाप के लिए चलना अच्छा है?

हाँ, कार्डियोवास्कुलर, या एरोबिक, व्यायाम आपके रक्तचाप को कम करने और आपके दिल को मजबूत बनाने में बिलकुल मददगार सबित हो सकता है।

आपको हमारा यह लेख कैसा लगा ?

Average rating 4.8 / 5. Vote count: 207

अब तक कोई रेटिंग नहीं! इस लेख को रेट करने वाले पहले व्यक्ति बनें।

एडिटोरियल टीम

एडिटोरियल टीम, हिंदी सहायता में कुछ व्यक्तियों का एक समूह है, जो विभिन्न विषयो पर लेख लिखते हैं। भारत के लाखों उपयोगकर्ताओं द्वारा भरोसा किया गया। Email के द्वारा संपर्क करें - [email protected]

Leave a Comment

हिंदी सहायता सीमित समय के लिए Guest Post स्वीकार कर रही हैंContact us
+ +