1. Essays

मेरा प्रिय मित्र पर निबंध हिंदी में।

अगर आप मेरा प्रिय मित्र से जुड़े बेस्ट निबंध ढूंढ रहे है तो आप बिलकुल सही जगह पर है। इस ब्लॉग में हमने अनेक प्रकार के निबंध लिखे है जो आपको मददरूप होंगे।

दोस्ती भगवान् की एक बहुत बड़ी देन है। खुशनसीब होते है वो लोग जिनके पास अच्छे दोस्त होते है।

एक दोस्त हमारी ज़िन्दगी में एक भाई जैसा होता है। ऐसे दोस्त बनाओ जो आपको ज़िन्दगी के हर कदम पर प्रेरित करें और हर कदम पर आपका साथ दें।

अगर आपका भी कोई प्रिय मित्र, सच्चा दोस्त या Best Friend है और आप उसको समर्पित निबंध/Essay लिखना चाहते है तो निचे हमने मेरा प्रिय मित्र निबंध, मेरा प्रिय मित्र Essay In Hindi, मेरा मित्र हिंदी में 10 लाइन और My Best Friend Essay In Hindi जैसे निबंध दिए है उन्हें ज़रूर पढ़ें।

मेरा प्रिय मित्र पर निबंध। 

© हिंदी सहायता (यदि आप इसका इस्तेमाल किसी अन्य प्लेटफॉर्म पर करते है तो हिंदी सहायता को क्रेडिट ज़रूर दें)

मेरे कई दोस्त है लेकिन राहुल मेरा सबसे प्रिय मित्र है। राहुल हमारी सोसाइटी में ही रहता है, उसके पिता पोस्ट ऑफिस में काम करते है।

राहुल बहुत ज़्यादा मालदार तो नहीं पर वो बहुत इंटेलीजेंट और ईंमानदार है।

राहुल को में “मेरा प्रिय मित्र” इसलिए कहता हु क्युकी वो व्यव्हार में औरो से बहुत अलग है। उसे मिलते ही हर कोई उससे प्रभावित हो जाता है।

मेरा मित्र राहुल समय का बहुत पाबन्द है और वो अपने सभी काम वक़्त पर और व्यवस्थित तरीके से करता है। वह पढाई में भी बहुत अच्छा है और मुझे मेरी पढाई में मदद भी करता है।

राहुल बहुत हसमुख है और लोगो से बड़े आदर से पेश आता है, इसीलिए उसे सब पसंद करते है।

राहुल की सबसे ख़ास बात ये है की वो पढाई के साथ – साथ घर पर अपनी माँ को काम में हाथ बटाता है और इस बात के लिए में उसकी बहुत इज़्ज़त करता हु।

मेरा मित्र राहुल मेरे लिए प्रेरणा का बहुत बड़ा स्त्रोत है। मुझे उससे कई चीज़े सिखने मिलती है। चाहे पढाई हो, लोगो के सामने अच्छा व्यव्हार या समय की पाबंदी, यह सब बाते मुझे राहुल से सिखने मिली।

मुझे गर्व है राहुल मेरा प्रिय मित्र है, मैं हमेशा उसके साथ एक अच्छा दोस्त बनकर रहूँगा और उससे नै नयी नयी चीज़े सीखता रहूँगा।

मेरा प्रिय मित्र Essay In Hindi

© हिंदी सहायता (यदि आप इसका इस्तेमाल किसी अन्य प्लेटफॉर्म पर करते है तो हिंदी सहायता को क्रेडिट ज़रूर दें)

मेरे ज़्यादा दोस्त तो नहीं है पर जो मेरे दोस्त है वो सब अच्छे है और उनमे मेरा सबसे प्रिय दोस्त विशाल है। विशाल मेरे मित्रो की सूचि में सबसे ऊपर है।

अच्छा स्वाभाव, होशियार और ईमानदारी विशाल को मेरा प्रिय मित्र बनता है। मुझे ख़ुशी है की मुझे विशाल के रूप में एक अच्छा दोस्त यानि मित्र मिला।

विशाल एक गरीब घर से है। उसके पिता मज़दूर, और उसकी माँ सिलाई कड़ाई करके घर खा खर्चा चलाते है। विशाल खुद स्कूल के बाद कुछ घंटे पार्ट टाइम काम करके अपने परिवार की आमदनी में योदगान देता है ताकि अपने माँ – बाप का हाथ बटा सके।

विशाल की यही चीज़ मुझे बहुत पसंद है। सुबह सूरज की पहली किरण के साथ उठकर व्यायाम करना, फिर स्कूल के लिए तैयार होकर स्कूल पहुंचना और स्कूल के बाद काम पर जाना। ऐसी उम्र में जहा हम सब अच्छी और आराम देय ज़िन्दगी गुज़ार रहे है, विशाल अभी से मेहनत और जद्दोजहद में लगा है।

विशाल की यही बाते मुझे बेहद पसंद आती है। इतनी मेहनत – मशक्कत करने के बाद भी विशाल पढाई में अव्वल आता है। उसे स्कूल में सभी शिक्षक बहुत पसंद करते है और सभी को विशाल से प्रेरणा लेने के लिए कहते है।

स्वाभाव की बात करें तो विशाल हमेशा दुसरो की मदद के लिए तैयार रहता है। स्कूल में एक्टिविटी हो या किसी छात्र को पढाई में मदद चाहिए हो, विशाल किसी काम के लिए ना नहीं कहता।

इतने सुन्दर चरित्र, सभी कामो में अव्वल और दुसरो को मदद करने में सबसे आगे। यह सब खूबियां विशाल को सबसे अलग और बेहतर बनाती है और इसी कारण विशाल हमारी क्लास में “मॉनिटर” की पदवी मिली हुई है।

मुझे ख़ुशी और गर्व है की विशाल मेरा सबसे प्रिय मित्र है में हमेशा उसका दोस्त बना रहूँगा।

मेरा मित्र हिंदी में 10 लाइन। 

© हिंदी सहायता (यदि आप इसका इस्तेमाल किसी अन्य प्लेटफॉर्म पर करते है तो हिंदी सहायता को क्रेडिट ज़रूर दें)

मेरे बहुत दोस्त है पर जिसकी दोस्ती का मैं दम भरता हु वो है मेरा मित्र साहिल।

साहिल एक अच्छा, सुलझा हुआ और होशियार इंसान है।

साहिल पढाई में अव्वल और हर काम को बड़ी ही रूचि से करता है।

साहिल बहुत मालदार तो नहीं पर वो पढ़ी के साथ-साथ कुछ घंटे काम कर अपने घर की आमदनी में योगदान देता है।

वह घर पर अपनी माँ को काम में हाथ भी बटाता है और अपने माँ-बाप की बहुत इज़्ज़त और आदर करता है।

साहिल से मुझे बहुत कुछ सिखने मिलता है और मेरे लिए वो प्रेरणा का बहुत बड़ा स्त्रोत है।

सरल स्वाभाव, हमेशा कुछ नया सिखने की भूख और मेहनत में विश्वास। यही सब खूबियां साहिल को सबसे अलग और सबसे बेस्ट बनाती है।

मेरे माँ-बाप साहिल को बेहद पसंद करते है और मुझे उसके जैसा बनने के लिए कहते है।

साहिल मेरा सच्चा मित्र है क्युकी वह मुझे पढाई के लिए प्रेरित करता है और मेरी मदद भी करता है।

मैं बहुत खुशनसीब हूँ, साहिल के रूप में मुझे मेरा सच्चा मित्र मिला और उसी से मुझे मित्रता का महत्त्व समझा।

My Best Friend Essay In Hindi

© हिंदी सहायता (यदि आप इसका इस्तेमाल किसी अन्य प्लेटफॉर्म पर करते है तो हिंदी सहायता को क्रेडिट ज़रूर दें)

हम सबके दोस्त होते है पर उनमे कुछ ही लोग हमरे सच्चे दोस्त या Best Friend होते है।

दोस्त ऐसा हो जो हमें अच्छे कामों के लिए, नयी चीज़े सिखने के लिए और जीवन के हर कदम पर हमारा साथ दें। मुझे ख़ुशी है की मेरे पास एक ऐसा दोस्त है।

निखिल, My Best Friend – मेरा सच्चा दोस्त। मैं निखिल को अपना प्रिय मित्र इसलिए कहता हु क्युकी वह औरो से बिलकुल अलग और बहुत मेहनती इंसान है।

वह पढाई में अच्छा होने के साथ-साथ सभी तरह की स्पोर्ट्स एक्टिविटीज में भी अच्छा है। मेरे लिए तो निखिल एक ऑल-राउंडर इंसान है जिसे सबकुछ आता है।

निखिल सभी से मिल जुलकर रहता है, वह कभी किसीको निचा नहीं दिखाता और कभी किसीसे कोई झगड़ा नहीं करता। जब कोई निखिल को किसी बात के लिए आलोचना करता है तो वह उसे सकारात्मक तरीके से लेकर अपनी भूल सुधार लेता है, मुझे मेरे Best Friend निखिल की यह खूबी बहुत पसंद है।

निखिल अपने काम में ईमानदार और अपने व्यवहार में बहुत सरल है। हमारे स्कूल में सभी शिक्षक निखिल की बहुत तारीफ करते है और सभी बच्चो को निखिल से प्रेरणा लेने के लिए कहते है।

निखिल के पिता एक बड़े वबिज़नेस-मेन है, उसका बहुत बड़ा घर है और वह बहुत मालदार है। इतना मालदार होने के बावजूद भी निखिल सादगी से ज़िन्दगी गुज़ारता है।

हमारे स्कूल में कई गरीब छात्र है जो पिछड़े वर्ग से है पर निखिल सबसे मान-सम्मान के साथ बात करता है और अपनी अमीरी का प्रदर्शन नहीं करता।

इतनी सारी खूबियों के साथ निखिल एक हसमुख इंसान है और दूसरों को हसाता रहता है। वह हमेशा कहता है की दूसरों को खुश करना ही सबसे बड़ा पुण्य का काम है।

निखिल के कारण मेरे अंदर बहुत सारे सकारात्मक बदलाव आये और उसे मुझे जीने का हुनर सिखाया है। अगर निखिल नहीं होता तो आज मैं शायद इतना अच्छा नहीं हो पता। निखिल सही मायनो में मेरा सच्चा मित्र है।

मुझे ख़ुशी है की मेरे पास निखिल जैसा Best Friend है और मैं यही दुआ करूँगा की सबको निखिल जैसा मित्र मिले।

तो ये थे मेरा प्रिय मित्र, My Best Friend Essay In Hindi, मेरा प्रिय मित्र Essay In Hindi, मेरा मित्र हिंदी में 10 लाइन से जुड़े निबंध। अगर आपको यह निबंध अच्छे लगे तो हमें ज़रूर बताये। और हाँ, आपके प्रिय मित्र के बारे में हमें Comment में बताना ना भूलें।

 

आपको हमारा यह लेख कैसा लगा ?

Average rating 5 / 5. Vote count: 1

अब तक कोई रेटिंग नहीं! इस लेख को रेट करने वाले पहले व्यक्ति बनें।

हिंदी सहायता एप्प को डाउनलोड करें।

Contributor
क्या आपको शीराज़ मूसा के आर्टिकल पसंद आयें? अभी फॉलो करें सोशल मीडिया पर!
Comments to: मेरा प्रिय मित्र पर निबंध हिंदी में।

Your email address will not be published. Required fields are marked *