हैलो दोस्तों Hindi Sahayta में आपका स्वागत है आज हम आपको RSS Kya Hai के बारे में पूरी जानकारी देंगे अगर आप RSS Kaise Join Kare के बारे में जानना चाहते है तो आप बिलकुल सही जगह पर आये है इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको पूरी जानकारी देंगे।

RSS Ka Full Form क्या है आज आपको इस पोस्ट के बारे में जानने को मिलेगा आज हम आपको बहुत ही आसान भाषा में RSS के बारे में बताएँगे हमे उम्मीद है की दोस्तों आपको हमारी पिछली सभी पोस्ट पसंद आयी होगी और उसी तरह आप हमारी आज की पोस्ट को भी पसंद करेंगे।

RSS एक हिन्दू राष्ट्रवादी संगठन है जिसके सिद्धांत हिंदुत्व में निहित है यह आरएसएस के नाम से बहुत ही Famous है आरएसएस को बहुत से लोग समझते है और बहुत से हिन्दू आरएसएस के संघ में शामिल हो चुके है।

दोस्तों अगर आप आरएसएस के बारे में सही और स्पष्ट जानकारी चाहते है तो हम आपको इसके बारे में सही जानकारी देंगे बस इसके लिए हमारी पोस्ट को ध्यान से शुरू से अंत तक पढ़े हमे उम्मीद है की हम आपको RSS Ka Matlab Kya Hai के बारे में अच्छे से समझायेंगे।

RSS Kya Hai

RSS भारत का दक्षिणपंथी, हिन्दू राष्ट्रवादी, अर्द्धसैनिक, स्वयंसेवक संगठन है जो व्यापक रूप से भारत के सत्तारूढी ( जिसे सत्ता प्राप्त हो) दल भारतीय जनता पार्टी का पैतृक संगठन माना जाता है।
RSS
BBC के अनुसार RSS विश्व का सबसे बड़ा स्वयंसेवी संगठन है इसका मुख्य उद्देश्य भारत को विश्व शक्ति और परम वैभव बनाना है इस संघ का निर्माण खोये हुए संस्कार और अपने बच्चों को हिन्दू संस्कार देना है और यह प्राकृतिक अपदाओ के आने पर सभी धर्म के लोगों की बढ़ चढ़कर मदद करता है।

दोस्तों अभी हमने आपको RSS Kya Hai Hindi Mai में बताया जिसे आप बहुत ही आसानी से समझ सकते है अब हम आपको RSS Ka Full Form In Hindi में बताने जा रहे है तो चलिये जानते है की RSS का पूरा नाम क्या है।

यह पोस्ट भी जरूर पढ़े: SSC Kya Hai? – SSC Ka Full Form in Hindi, SSC Me Kya Hota Hai, SSC Ki Puri Jaankaari

RSS Full From

Rashtriya Swayamsevak Sangh

RSS Full Form In Hindi

राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ

अभी आपने RSS Full Form In Hindi के बारे में जाना अब हम आगे इसके बारे में महत्वपूर्ण जानकारी बताने जा रहे है की RSS Ki Sthapna Kab Hui थी और किसने इसकी स्थापना की थी।

RSS Ka Itihas

राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ की स्थापना 27 सितम्बर 1925 को विजय दशमी के दिन 4 लोगों की शाखा से “डॉ. केशवराव बलिराम हेडगेवार” द्वारा की गयी थी हमारे देश में विजय दशमी बड़े ही हर्ष उल्लास से मनाया जाता है और आज यह संघ फैलकर दुनिया का सबसे बडे संघ के रूप में जाना जाता है RSS का मुख्यालय नागपुर, महाराष्ट्र में है।

50 वर्षो के बाद सन 1975 में पूरे देश में आपातकाल की घोषणा की गयी थी उस समय संघ के सभी अधिकारियों और कार्यकर्ताओं को एकजुट होने पर रोक लगा थी|

आपातकाल के हटते ही यह संघ भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गयी और केंद्र में “मोरारजी देसाई” के प्रतिनिधित्व में मिली-जुली सरकार बनी। 1975 के बाद धीरे-धीरे इसका राजनीतिक महत्व बढ़ता गया और इसका झुकाव भारतीय जनता पार्टी जैसे राजनीतिक दल के रूप में हुआ।

शुरुआत में राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ ने भारत के राष्ट्रीय ध्वज को स्वीकार करने से मना कर दिया संघ ने अपने मुख-पत्र में “ऑर्गनाइजर” के 17जुलाई 1947 दिनांक के “राष्ट्रीय ध्वज” शीर्षक वाले संपादकीय में “भगवा ध्वज” को राष्ट्रीय ध्वज स्वीकार करने की मांग की।

RSS Kaise Join Kare

RSS में शामिल होने के लिए किसी भी प्रकार की कोई औपचारिक सदस्यता नही है RSS 18 साल से कम उम्र के बच्चों में शुरू से ही अपने विचारों और देश भावना भरने के लिए बाल भारती और बालगोकुल कार्यक्रम चला रही है यह विश्व विद्यालयों में भी छात्रों को अपने संघ के प्रति आकर्षित करने के लिए कार्यक्रम चला रही है।

अगर आप इस संघ से जुड़ना चाहते है या इसमे रहकर काम करना चाहते है तो इसके लिए आप संघ के दैनिक, साप्ताहिक या मासिक गतिविधियों में शामिल हो कर इसका हिस्सा बन सकते है इसकी शाखा आपको हर क्षेत्र, विभाग, जिले, प्रांत और केंद्र पर मिल जाएगी इसमे सभी स्तर के संघ मंडली की बैठक होती है इसमे कार्यकर्ता व्यायाम, खेल, सूर्य नमस्कार, समता(परेड), गीत, भजन आदि कार्य करवाते है।

RSS Join Karne Ke Liye आप यहाँ पर Click करके Form को भरकर इसकी सदस्यता पा सकते है।

RSS Ke Fayde

RSS प्रमुख “मोहन भागवत” के अनुसार RSS में किसी भी व्यक्ति को कोई फायदा नही है क्योंकि RSS एक संगठन नही है जिसमे व्यक्ति अपने व्यक्तिगत लाभ के लिए शामिल हो इसमे केवल वे लोग ही शामिल हो सकते है जो समाज और राष्ट्र का लाभ चाहते हो।

लेकिन अगर आज आप RSS में शामिल हो जाते है तो यह हमारे देश और हिन्दू समाज के लिए फ़ायदेमंद है इसमे आपके लिए कुछ भी फ़ायदे नही है।

  • इससे आप जाति भेदभाव को भूल जायेंगे।
  • आप सीखेंगे की प्राकृतिक आपदाओं में कैसे लोगों की मदद करे।
  • आपको अपनी महान संस्कृति और इतिहास पर गर्व होगा।
  • आपका रोलमॉडल Bollywood की हस्ती से स्वतंत्र सेनानी में चला जायेगा।
  • अगर आप रोज़ाना RSS शाखा में जा रहे है तो आप रोज़ाना नये लोगों से मिलेंगे।
  • RSS में रोजाना व्यायाम करने से आपका शारीर स्वस्थ रहेगा।
  • RSS में जाने से आप में राष्ट्रवादी और देश भक्ति की भावना जागृत हो जाती है।

पढ़ना ना भूले: English Bolna Aur Padhna Kaise Sikhe? – 5 सरल और आसान तरीको से केवल कुछ दिनों में अंग्रेजी बोलना सीखिए!

Conclusion:

तो दोस्तों आपको हमारी आज की पोस्ट Rashtriya Swayamsevak Sangh In Hindi कैसी लगी जिसमे हमने आसान भाषा में RSS के बारे में बताया और साथ ही आपने RSS Ki Full Form In Hindi में जाना।

अगर आपको हमारी पोस्ट RSS Kya Hai अच्छी लगी हो तो इसे ज़रुर Like और शेयर करे आप हमे Comment करके भी हमारी पोस्ट के बारे में बता सकते है इसमे आपने जाना की कैसे आप RSS Join कर सकते है।

RSS In Hindi में आपको कोई भी परेशानी हो तो हमे ज़रुर बताए हमारी टीम आपकी समस्या को हल करने की पूरी कोशिश करेगी आप हमारी आज की पोस्ट को अपने दोस्तों और अपने Facebook, Twiter, Instagram पर भी शेयर कर सकते है जिससे और भी लोग इसके बारे में जानकारी प्राप्त कर सके।

Hindi Sahayta की Latest Update पाने के लिए हमारी Website को Subscribe करे जिससे आपको हमारी Website के Latest Update मिलते रहेंगे तो दोस्तों आज के लिए बस इतना ही फिर मिलेंगे कुछ ऐसी ही Interesting और हमारे देश के हित से संबंधित New Article के साथ धन्यवाद आपका दिन मंगलमय हो।

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 4.00 out of 5)
Loading...