Swadesh Darshan Prasad Yojana Kya Hai? - जानिए Swadesh Darshan Yojana Ke Lakshya और विशेषता हिंदी में - Hindi Sahayta

आज हर जगह दर्शन करने वाले लोगों की संख्या बढती ही जा रही है। भारत में ऐसे बहुत से मनोहारी पर्यटन स्थान है जहाँ अधिक मात्रा में पर्यटक घूमने आते है।


इन्हीं पर्यटकों के लिए इन पर्यटन स्थानों को और भी ज्यादा बेहतर बनाये जाने के लिए स्वदेश दर्शन एवं प्रसाद योजना को प्रारंभ किया गया है। Swadesh Darshan Prasad Yojana Ki Jankari आगे आपको विस्तार में दी गई है।

इन योजनाओं के अंतर्गत परिवहन, आर्थिक स्थिति, भोजन, रोज़गार इन सभी पर आवश्यक रूप से ध्यान दिया जाएगा। सरकार ने इस योजना में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।


इस योजना के तहत कुछ शहरों को भी चुना गया है। जहाँ पर पर्यटन स्थानों को रिनोवेट किया जाएगा। तो जानते है Swadesh Darshan And Prasad Scheme In Hindi की पूरी जानकारी।

Swadesh Darshan Prasad Yojana Kya Hai

यह एक तरह की योजना है। जिसे भारत की सरकार के द्वारा संचालित किया गया है।  स्वदेश दर्शन योजना के द्वारा देश में जो पर्यटन स्थल है उनके विकास में वृद्धि की जाएगी। भारत की सरकार ने इस योजना की शुरुआत 2015 में की थी। इस योजना में और भी दो योजनाओं को जोड़ा गया है पहली योजना है प्रसाद योजना जिसका उद्देश्य है प्रत्येक धर्म के तीर्थस्थलों को सुविधा प्रदान करना और दूसरी योजना है स्वदेश दर्शन योजना यह योजना एक प्रकार की थीम पर आधारित है जो पर्यटन सर्किट के विकास को बढ़ावा देने के लिए बनाई गई है।

क्या आपने यह पोस्ट पढ़ी: Gobar Dhan Yojana Kya Hai? Gobar Dhan Yojana Ke Labh कैसे ले – जानिए Gobar Dhan Yojana Ke Uddeshya और इससे जुड़ने का आसन तरीका हिंदी में!

Prasad Yojana Full Form –

PILGRIMAGE REJUVENATION AND SPIRITUAL AUGN DRIVE

Swadesh Darshan Yojana Ki Visheshta

इस योजना की विशेषता आपको आगे बताई गई है। जानते है इसकी क्या विशेषताएँ है।

  • व्यक्तिगत प्रोजेक्ट की जो फंडिंग है वह इसके द्वारा एक राज्य से किसी अन्य राज्य में परिवर्तित हो जाएगी एवं कार्यक्रम प्रबंधक सलाहकार के जरिये जो डिटेल्ड प्रोजेक्ट की रिपोर्ट तैयार होगी उसके आधार पर तय हो जाएगी।
  • स्वदेश दर्शन योजना को पब्लिक फंडिंग के लिए शुरू किया गया है। जिसमें पूरी तरह से केन्द्रीय वित्त द्वारा सहायता दी गई है।
  • इस योजना में लगने वाली कुल लागत 2048 करोड़ रुपये है।
  • इन 5 राज्यों में परियोजना को स्वीकृति प्रदान की गई है मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, सिक्किम, उत्तराखंड, तमिलनाडु।

Swadesh Darshan Scheme Guidelines In Hindi

स्वदेश दर्शन योजना का निर्माण करने के पीछे क्या दिशा-निर्देश है। यह हम आपको आगे बता रहे है। जानते है इस योजना के क्या लक्ष्य है। Swadesh Darshan Yojana Ke Lakshya नीचे दिए गए है।

  • इस योजना का सबसे मुख्य लक्ष्य है देश की आर्थिक स्थिति को मज़बूती प्रदान करना।
  • इससे जीडीपी के स्तर में भी वृद्धि होगी।
  • जिन क्षेत्रों में तीर्थ स्थान अधिक है उन तीर्थ स्थानों की पहचान, कला, संस्कृति, भोजन को बढ़ावा देने के लिए भी इस योजना को बनाया गया है।
  • इस योजना के अंतर्गत परिवहन की सुविधाओं सड़कों, रेलवे, इन सभी पर अधिक ध्यान दिया जाएगा
  • लोगों को रोज़गार उपलब्ध करना भी इसका एक लक्ष्य है।
  • जो स्थानीय समुदाय है उनके मध्य आय के साधन में वृद्धि करना, जीवन स्तर में सुधार करना, क्षेत्र के विकास में पर्यटन के महत्व को बताना और इसके लिए उनमें जागरूकता को बढ़ाना है।

जरूर पढ़े: Pradhan Mantri Suraksha Bima Yojana Kya Hai? Pradhan Mantri Suraksha Bima Yojana Ke Labh कैसे ले? – जानिए प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना से जुड़ने का तरीका!

प्रसाद योजना के उद्देश्य

प्रसाद योजना को किन उद्देश्यों से बनाया गया है तथा इस योजना को बनाने के पीछे क्या उद्देश्य है यह आप आगे जानेंगे।

  • इस योजना के तहत ज्यादा पर्यटक आने की वजह से उस स्थान के आर्थिक विकास में वृद्धि होगी।
  • विकास ज्यादा होने की वजह से रोज़गार में भी वृद्धि होगी।
  • स्थानीय संस्कृति, स्थानीय कला, भोजन तथा हस्तशिल्प को बढ़ावा देना भी इसका एक उद्देश्य है।
  • इस योजना के उद्देश्य में कुछ आधारभूत सुविधाओं के विकास को भी बढ़ावा देना है। जैसे – जल मार्ग, रेल, सड़क, मनी एक्सचेंज, एटीएम आदि।

Prasad Yojana Ki Visheshta

  • योजना को रिव्यू करना, उसकी निगरानी करना और पूरे मार्गदर्शन की ज़िम्मेदारी।
  • इस योजना में ऐसे 12 धार्मिक पर्यटन स्थानों का विकास होगा जहाँ पर पर्यटक ज्यादा आते है।
  • तीर्थ स्थानों के विकास के साथ ही समुदाय का भी विकास बढ़ेगा।
  • इससे सार्वजनिक पूँजी की मात्रा में भी वृद्धि होगी।

यह पोस्ट भी जरूर पढ़े: Ujala Yojana Kya Hai? Ujala Yojana Ke Labh कैसे ले? – जानिए Ujala Yojana Kis Se Sambandhit Hai और इसके क्या-क्या फायदे है!

प्रसाद योजना में आने वाले स्थान

इस योजना के अंतर्गत इन 12 स्थानों को विकास के लिए चुना गया है। इनके नाम निम्न है।

  • मथुरा (उत्तरप्रदेश)
  • अजमेर (राजस्थान)
  • कांचीपुरम (तमिलनाडु)
  • द्वारका (गुजरात)
  • गया (बिहार)
  • अमृतसर (पंजाब)
  • वाराणसी (उत्तरप्रदेश)
  • कामाख्या (असम)
  • अमरावती (आंध्रप्रदेश)
  • पूरी (ओडिशा)
  • वेलान्कन्नी (तमिलनाडु)
  • केदारनाथ (उत्तराखंड)

Conclusion

स्वदेश दर्शन एवं प्रसाद योजना से देश में पर्यटकों की संख्या में भी वृद्धि होगी और पर्यटक सुंदर दृश्यों का आनंद ले पाएँगे तथा शौचालय की उचित व्यवस्था के कारण महिलाओं को किसी तरह की परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा। आज की पोस्ट Swadesh Darshan Prasad Yojana In Hindi से आपको इस योजना का लाभ लेने में काफी मदद मिलेगी।

Swadesh Darshan Prasad Yojana Kya Hai? जानिए Swadesh Darshan Yojana Ki Visheshta और उद्देश्य हिंदी में!
Rate this post

1 Comment

  • Avatar
    Yogendra Singh
    Posted Sunday, March 24, 2019 3:15 am 0Likes

    Ye post bahut achchhi lagi.

Leave a comment