AIDS Kya Hai? AIDS Ke Lakshan Kya Hai? - जानिए AIDS Aur HIV Se Bachne Ke Tarike हिंदी में - Hindi Sahayta
Akansha Panwar Health

हैलो दोस्तों Hindi Sahayta में आपका स्वागत है। आज की पोस्ट में हम आपको बताने जा रहे है AIDS Kaise Hota Hai यदि आपको भी एड्स हो गया है और आप इससे बचना चाहते है तो आप बिल्कुल सही जगह पर आये है। इसके साथ ही आप यह भी जानेंगे की AIDS Ke Lakshan Kya Hai

HIV Kya Hota Hai भी आप आज इस पोस्ट के माध्यम से जानेंगे। हम आपको यह बिल्कुल सरल भाषा में समझाएँगे। आशा करते है की आपको हमारी सभी पोस्ट पसंद आ रही होगी। इसी तरह आप आगे भी हमारे ब्लॉग पर आने वाली प्रत्येक पोस्ट को पसंद करते रहे।

मनुष्य शरीर ऐसा होता है जिसे बहुत सी तरह की बिमारियों से लड़ना पड़ता है। कुछ बीमारियाँ ऐसी होती है जिससे इंसान की मृत्यु भी हो जाती है। इन्हीं में से एक बीमारी है एड्स जो की बहुत ही भयंकर बीमारी है। जब HIV इन्फेक्शन होता है तो इसके शुरू के चरणों में व्यक्ति सामान्य ही महसूस करता है।

Contents

आपको एड्स है इसका पता टेस्ट के द्वारा ही लगाया जा सकता है। HIV संक्रमण होने के बाद यह फ्लू जैसी बीमारी होती है। यह फ्लू कुछ दिनों तक ही रहता है और बहुत हल्का होता है। इसलिए इसे पहचानने में मुश्किल होती है। HIV संक्रमण 8 से 10 साल में एड्स तक पहुँच जाता है। इसलिए इसके शुरूआती लक्षणों को जानना ज़रुरी होता है।

तो आइये जानते है AIDS Kya Hota Hai अगर आप भी इस बीमारी से दूर रहना चाहते है तो यह पोस्ट What Is AIDS In Hindi? शुरू से अंत तक ज़रुर पढ़े तभी आपको इसकी पूरी तरह से जानकारी प्राप्त होगी और आप इस बीमारी से बच पाएँगे।

AIDS Kya Hai

यह एक तरह की भयंकर बीमारी होती है जो किसी वायरस के माध्यम से शरीर में प्रवेश करती है जिसे HIV Virus कहते है। HIV Virus मनुष्य की प्रतिरोधी क्षमता कम कर देता है इसे जानलेवा बीमारी के रूप में जानते है। यह बीमारी किसी को हो जाती है तो उसकी मृत्यु तय रहती है। HIV Virus रक्त में मौजूद प्रतिरोधी पदार्थ लसिका-कोशो पर हमला कर देता है।

क्या आपने यह पोस्ट पढ़ी: @Hair Fall Kyu Hota Hai? Hair Fall Ke Karan क्या होते है? – जानिए Baal Jhadne Se Rokne Ke Upay विस्तार में!

यह एक तरह का संक्रामक रोग है जो HIV Virus के नाम के विषाणु के संक्रमण की वजह से होता है। यह विषाणु शरीर में पहुँचने के बाद ब्लड में पहुँचकर व्हाईट ब्लड सेल्स में मिलकर DNA में प्रवेश कर जाता है जहाँ पर वह विभाजित हो जाता है और रक्त के सफ़ेद कणों पर आक्रमण करता है जिसके बाद यह सफ़ेद कणों की संख्या को कम कर देता है इसी कमी के साथ शरीर की रोगों से लड़ने की प्रतिरोधक क्षमता को खत्म कर देता है।

AIDS Full Form

AIDS Ka Full Form

ACQUIRED IMMUNE DEFICIENCY SYNDROME

AIDS Ke Lakshan Kya Hai

जब एड्स की बीमारी शुरू होती है तो उसके कुछ शुरूआती लक्षण दिखाई देते है। जो आपको नीचे बताये गए है।

  • बुखार आना भी एड्स का एक लक्षण होता है। अगर आपको बार-बार बुखार आता है तो आपको सावधानी रखनी चाहिए।
  • मांसपेशियों में दर्द होना भी एड्स का लक्षण होता है। यदि आपने भारी काम या ज्यादा शारीरिक श्रम नहीं किया है तो भी आपकी मांसपेशियों में दर्द है तो आपको तुरंत डॉक्टर को दिखाना चाहिए।
  • गले में खराश होने पर भी आपको सावधानी रखनी चाहिए। गले में खराश होना भी इसका एक कारण होता है।
  • यदि एक सुई किसी संक्रमित व्यक्ति पर इस्तेमाल की गई है और उसी सुई को किसी असंक्रमित व्यक्ति पर इस्तेमाल कर दी जाये तो भी एड्स हो सकता है।
  • लगातार थकान बने रहने की वजह से भी आपको एड्स हो सकता है। शरीर का इम्यून पॉवर जब कम होता है तो उसे आराम की जरूरत होती है।
  • अगर एड्स हुआ है तो शरीर पर सूजन भरी गिल्टियाँ हो जाती है। यह दर्दरहित गिल्टियाँ होती है जो बगल, गले, जांघों आदि में होती है।
  • धीरे-धीरे वजन में कमी होना भी AIDS Ke Lakshan में ही आता है। एड्स में अचानक से वजन कम नहीं होता है बल्कि इसमें धीरे-धीरे वजन घटता है।
  • गला अधिकतर तभी पकता है जब शरीर में पानी की कमी होती है लेकिन पर्याप्त मात्रा में पानी पीने पर भी गला पक रहा है और खराश जैसा लग रहा है तो यह एड्स का संभावित लक्षण ही होता है।

AIDS Se Kaise Bache

AIDS को रोकने के बहुत से उपाय मौजूद है। एड्स से बचाव के लिए आप निम्नलिखित सावधानीयां रख सकते है आइये AIDS Se Bachne Ke Upay जानते है।  

  • जो सुइयां उपयोग की गई है उनका असंक्रमित व्यक्तियों पर उपयोग नहीं करना चाहिए।
  • यदि आपको रक्त की आवश्यकता है तो किसी अनजान व्यक्ति का रक्त ना ले HIV जांच किया हुआ रक्त ही ले जो सुरक्षित होता है।
  • पीड़ित साथी के साथ यौन सम्बन्ध ना बनाये इस बात का बिलकुल ध्यान रखे।
  • आपको पीड़ित का झूठा भी नहीं खाना चाहिए। वैसे देखा जाये तो झूठा किसी का भी नहीं खाना चाहिए। क्योंकि हमें पता नहीं होता है की किस व्यक्ति को कौन सी बीमारी हो।
  • इससे बचने के लिए आप असुरक्षित सम्बन्ध ना बनाये किसी अनजान के साथ यौन सम्बन्ध ना बनाये।
  • अगर आप नाई के पास बाल कटाने जाते है या शेविंग के लिए जाते है तो नया ब्लेड ही इस्तेमाल करने के लिए कहे।

इन सब बातों का ध्यान रखकर आप एड्स से बचाव रख सकते है और सावधानी रखना भी बहुत ज़रुरी। जिससे आप एड्स से दूर रह सकते है।

HIV Kya Hai

HIV एक तरह का वायरस होता है। जिसकी वजह से एड्स होता है। HIV वायरस एक इन्सान से दूसरे इन्सान में फैलता है। जिस इन्सान में यह वायरस होता है उसे HIV Positive कहते है। ज्यादातर लोग HIV Positive होने को ही एड्स समझने लगते है लेकिन यह गलत है।

HIV Virus शरीर में प्रवेश होने के बाद शरीर की प्रतिरोधक क्षमता कम होने लगती है। जिससे की शरीर पर बहुत सी तरह की बीमारियाँ और इन्फेक्शन फ़ैलाने वाले वायरस अटैक करना शुरू कर देते है। HIV Positive निकलने पर 8 से 10 साल बाद कई प्रकार की बीमारी के लक्षण दिखाई देना शुरू हो जाते है जिसे एड्स कहा जाता है।

जरूर पढ़े: Appendix Kya Hai? Appendix Kyu Hota Hai? Appendix Se Bachne Ke Upay क्या है? – जानिए Appendix Me Kya Khana Chahiye और क्या नही खाना चाहिये!

HIV Full Form

HIV Ka Full Form

HUMAN IMMUNODEFICIENCY VIRUS

HIV Ke Lakshan

जो व्यक्ति HIV से संक्रमित होते है उनमें फ्लू जैसे लक्षण देखे जाते है। HIV होने पर निम्न प्रकार के लक्षण देखे जा सकते है।

  • जो व्यक्ति HIV से संक्रमित है उसके शरीर पर लाल चकते होने लगते है। इसमें खुजली हो भी सकती है और नहीं भी।
  • बुखार आना, ठण्ड लगना और पसीना आना भी इसका एक लक्षण होता है।
  • HIV होने पर महिलाओं का मासिक धर्म अनियमित हो जाता है।
  • सिर दर्द भी बना रहता है यह भी HIV का लक्षण होता है।
  • HIV वायरस के होने से भुख कम हो जाती है और अगर वजन धीरे-धीरे कम हो रहा है तो यह HIV का लक्षण होता है।

HIV Se Kaise Bache

HIV से बचने के लिए आपको कुछ बातों का ध्यान रखना होगा। HIV Se Bachne Ke Tarike आगे बतये गए है।

  • आप और आपके साथी को समय-समय पर जांच कराना चाहिए इससे दोनों को सुरक्षित रहने में मदद मिल सकती है।
  • एक ही साथी के साथ यौन सम्बन्ध बनाये।
  • जब भी आपको खून चढ़ाने की आवश्यकता हो तो यह देख ले की नई जीवाणुरहित सुइयों का प्रयोग किया जाए।

Conclusion

आज की पोस्ट में आपने जाना HIV Kya Hota Hai इसके साथ ही आपने यह भी जाना की HIV Kaise Hota Hai उम्मीद करते है की हमारे द्वारा दी गई जानकारी आपके लिए उपयोगी होगी।

HIV AIDS Se Kaise Bache इसकी जानकारी के लिए हमारी इस पोस्ट की मदद ज़रूर ले। AIDS Ke Lakshan Hindi Mai आप इस पोस्ट के द्वारा अच्छे से जान गए होंगे। आपको यह जानकारी कैसी लगी हमें कमेंट करके बताये।

यह पोस्ट भी जरूर पढ़े: Height Kaise Badhaye? Height Badhane Ki Exercise क्या है? – जानिए Height Badhane Ke Aasan Tarike और उपाय के बारे में विस्तार से!

इस पोस्ट की जानकारी आप अपने दोस्तों को भी दे तथा सोशल मीडिया पर भी यह पोस्ट AIDS In Hindi ज़रुर शेयर करे। जिससे ज्यादा से ज्यादा लोगों के पास यह जानकारी पहुँच सके। हमारी पोस्ट What Is Hiv In Hindi? में आपको कोई परेशानी है या आपका कोई सवाल है तो आप कमेंट में अपने सवाल ज़रूर पूछे। हमारी टीम आपकी मदद ज़रुर करेगी।

अगर आप हमारी वेबसाइट के Latest अपडेट पाना चाहते है तो आपको हमारी Hindi Sahayta की वेबसाइट को सब्सक्राइब करना होगा। फिर मिलेंगे आपसे कुछ ऐसी ही आवश्यक जानकारी लेकर तब तक के लिए अलविदा दोस्तों, आपका दिन मंगलमय हो।

Leave a comment

अधिकतर पूछे जाने वाले प्रश्न

हिंदी सहायता क्या है?







हिंदी सहायता एक वेबसाइट है जिस पर अनेक प्रकार की जानकारियों को लेखों के माध्यम से पाठकों तक पहुँचाया जाता है। जिन्हें हिंदी भाषा में लिखकर सरल रूप में समझाया जाता है।

हिंदी सहायता की शुरुआत किसने की?







हिंदी सहायता 15 अगस्त 2017 को नीरज जीवनानी के द्वारा शुरू की गई थी।

हिंदी सहायता का उद्देश्य क्या है?







हमारी वेबसाइट हिंदी सहायता का सबसे मुख्य उद्देश्य लोगों तक इंटरनेट और आधुनिक तकनीकों से जुड़ी सभी प्रकार की जानकारियों को प्रदान करना है। इसके साथ ही देश की मातृभाषा हिंदी के महत्व को बनाये रखना भी है। जो भारत देश की सबसे प्रिय भाषा है।

हिंदी सहायता पर किस प्रकार के लेख मौजूद है ?







हिंदी सहायता पर कई तरह के लेख है जिनके बारे में जानना आपके जीवन के लिए आवश्यक है जैसे – शिक्षा संबंधी लेख, तकनीकी संबंधी लेख, स्वास्थ्य संबंधी लेख, ऑनलाइन पैसे कैसे कमाए तथा और भी विभिन्न प्रकार के लेख मौजूद है। जिनसे आपको बहुत कुछ सीखने को भी मिलता है और आपका काम भी आसान हो जाता है।

हिंदी सहायता अन्य वेबसाइट से क्यों बेहतर है ?







इस वेबसाइट पर आपको बहुत ही सरल भाषा में जानकारी दी जाती है लेख इस प्रकार से लिखे गए होते है जो आसानी से समझ में आ सके शब्दों को बिल्कुल सामान्य रूप में अभिव्यक्त किया जाता है

क्या हिंदी सहायता पर मेरे सवालों का उत्तर दिया जाएगा ?







हाँ आपके सभी सवालों के जवाब दिए जाएँगे आपको किसी लेख में कोई परेशानी आती है तो आप हमसे जरुर पूछे लेखों से जुड़ी परेशानी को दूर करने में हम आपकी मदद करेंगे

अपना बहुमूल्य सुझाव दे |