हैलो दोस्तों Hindi Sahayta में आपका स्वागत है आज हम आपको बताएँगे की Digital Signature Kya Hai अगर आप भी Digital Signature Kaise Banaye के बारे में जानकरी प्राप्त करना चाहते है तो आप बिलकुल सही पोस्ट पढ़ रहे है इस पोस्ट के जरिये हम आपको इसकी पूरी जानकारी देंगे।

दोस्तों आप सभी जानते है आजकल सभी Service ई-गवर्नेंस के माध्यम से प्राप्त हो रही है जिनमे आधार कार्ड वोटर ID, जाती प्रमाण पत्र, आय का प्रमाण पत्र आदि आप सभी अपने Singnature को जगह-जगह इस्तेमाल करते होंगे ये Signature हमारी सहमति का सबूत होता है।

हम उन जगह पर अपनी सहमति जाहिर करते है जैसे- बैंक Check , किसी सरकारी दस्तावेज़ जहाँ पर हमारी सहमति मांगी जाती है वहां पर हम हमारी सहमति देने के लिए Signature का Use करते है लेकिन आज का समय Digital का है Digital Signature के जरिये आप अपने Signature को Secure कर सकते है।

अगर आप जानना चाहते है की कैसे आप भी अपने Signature को Secure कर सकते है तो इसके लिए पहले जानते है की Digital Signature होता क्या है।

Digital Signature Kya Hai

आप सभी जानते है की Digital Signature हमारी पहचान होती है जिसके द्वारा हम अपनी चीजों को सुरक्षा प्रदान करते है लेकिन हमारे इन Signature को कोई भी आसानी से नकल कर सकते है और हमारी चीजों को बिगाड़ और इसका गलत Use भी कर सकते है।


यह एक मेथेमेटिकल Technology होती है जो Message, Software और Digital Document की Authority और Integrity को पहचानता है जिससे यह पता चल जाता है की Message और Document किस व्यक्ति द्वारा भेजा गया है।

हम इसके नाम से समझ सकते है की Digital Signature वैसा ही जैसे हम किसी Document के Paper Authentication के लिए इस पर अपने हस्ताक्षर करते है उसी तरह Digital Document के Authentication के लिए हम Digital Signature का Use करते है यह Signature Digital Document के लिए जरुरी हो गया है जिसे क़ानूनी रूप से Legal माना जाता है।

Digital Signature की सुरक्षा बहुत ही अच्छी है इसमे आप किसी के Signature को Copy नही कर सकते है क्योंकि इसके अंदर आपकी बहुत सारी जानकारी होती है जिसमें आपका Email, नाम के साथ ही आपको एक Privacy Key और Pin मिलता है जब तक आपके पास यह Pin होता है तब तक आपका Digital Signature सुरक्षित रहता है क्योंकि जब आपको Privacy Key Generate किया जाता है तब इसको Compliant Cryptographic ने सुरक्षित रख दिया जाता है।

यह पोस्ट भी जरूर पढ़े: Computer Kya Hai? Computer Ka Hindi Name Kya Hai? – Computer Ka Itihas जानिए हिंदी में!

Digital Signature Kaise Banaye

Digital Signature Public Key Cryptography पर ही Based होता है ये Public Key Algorithm जैसे- Rsa के इस्तेमाल करके दो Key Generate करता है जो है Private और Public ये दोनों Mathematicaly Linked होते है।

Digital Signature बनाने के लिए आपको सबसे पहले Digital Certificate की जरूरत होती है Digital Signature को Certificate Authority के द्वारा Provide किया जाता है जिसे Ca कहते है। यह ऐसा व्यक्ति होता है जिसे Information Technology Act 2000 के तहत Digital Signature Provide करने के लिए License दिया जाता है।

CA Digital Certificate को Generate करके उससे Digital Signature बनाकर आपको Provide करता है Digital Signature बनाने के लिए आपको Ca को Fees देनी होती है और इसे बनाने के लिए एक सप्ताह का टाइम लग सकता है।

चलिए अब आपको बताते है की कैसे आप ऑनलाइन Digital Signature बना सकते है इसके लिए आप हमारी नीचे दी Step को Follow कर सकते है:

  • My Live Signature

सबसे पहले गूगल के Search Menu में Create Signature Online टाइप करना है तब आपके सामने कई सारे Result Open होंगे वहां पर आपको My Live Signature वाली Website को खोलना है।

  • Enter Your Name

Website Open करने के बाद Enter Your Name में आपका नाम Enter करना है जिसका आप Signature बनाना चाहते है और Next पर क्लिक कर दे।

  • Font Style

इसके बाद आपको Font का Style चुनना है और Next पर क्लिक करना है।

  • Signature Size

उसके बाद आपको Signature का Size Select करना है और उसके बाद Next पर क्लिक करना है।

  • Signature Slope

इसके बाद आपको आपको Signature का Slope Select करना है मतलब आप Signature को कितना टेढ़ा या सीधा रखना चाहते है उसके बाद Next पर क्लिक कर दे।

  • Signature Color

इसके बाद आपको अपने Signature के लिए Color को Select करना होगा आप इसका Priview इसी Website पर देख सकते है उसके बाद Next पर क्लिक करे।

  • Download Your Signature

अब आपके Signature बनने की Process पूरी हो चुकी है अब इसे Download करने के लिए Click Here To Download Your Signature पर क्लिक करना होगा।

Digital Signature Kaise Kaam Karta Hai

Digital Signature Paper Signature से पूरी तरह अलग होता है इसमे Software द्वारा Generated Public Key का Use किया जाता है Digital Signature को हर कोई व्यक्ति इस्तेमाल नही कर सकता इसे सिर्फ Authorised व्यक्ति ही इस्तेमाल कर सकता है Digital Signature का उपयोग करने के लिए User ID और Password की आवश्यकता होती है।

यह एक विशेष Protocol पर कार्य करती है जिसे Pki (Public Key Infrastructure) कहा जाता है Digital Signature प्रोवाइडर इसी Interface का Use करके एक विशेष Algorithm के जरिये दो नंबर या दो Key जिनमे एक Public Key और दूसरा Private Key को Generate करता है।

जब किसी Document पर Signature किया जाता है तो वह Signature Public Key का इस्तेमाल करके किया जाता है यह प्राइवेट Key Signature करने वाले के पास सुरक्षित रखी होती है।

जब भी किसी Document को Sign In किया जाता है तब यूजर को दिए गये प्राइवेट Key का Use करते समय Mathemetical Algorithm की Help से एक Data को Generate किया जाता है जिसे Hash कहा जाता है इसमे Data को Hash के साथ Encrypt करके Document में जोड़ दिया जाता है।

इसके साथ इसमे और भी जानकारी जैसे Document को कब Edit किया गया था Edit करने का समय और Edit करने वाले का नाम भी Add रहते है जिससे कोई भी Document Edit करे तो Digital Signature Cancel रहेंगे।

जरूर पढ़े: Antivirus Kya Hai? Virus Kya Hai? – जानिए Top 10 Antivirus Name List आपके Computer और Mobile के लिए हिंदी मे!

Digital Certificate Kya Hai

Digital Certificate का Use ऑनलाइन इंटरनेट के माध्यम से किये विभिन्न कार्यो को पहचानने के लिए किया जाता है यह हमे सभी प्रकार के ऑनलाइन कार्यो को उच्च स्तर की सुरक्षा प्रदान करता है इसमे Certificate जारी करने वाली Authority के Digital Signature उपलब्ध होते है।

इसके द्वारा किसी व्यक्ति की पहचान और Unit जिसमें उस व्यक्ति का नाम, Pin Code, Email, Country और Certificate जारी करने की Date आदि को एक Public Key में रखा जाता है जिससे Public Key को Verify किया जा सके की वह उस व्यक्ति से संबंधित है।

Digital Signature Aur Digital Certificate Me Kya Antar Hai

Digital Certificate का Use किसी Website के Trust को Verify करने के लिए किया जाता है जबकि Digital Signature का Use किसी Document को Verify करने के लिए किया जाता है तो समझ ही सकते है की Digital Certificate और Digital Signature में कितना Difference है।

क्या आपने यह पोस्ट पढ़ी: Laptop Or Computer Ko Reset Kaise Kare? – Computer Or Laptop Ko Reset करने के आसान तरीके!

Conclusion:

तो दोस्तों ये थी हमारी आज की पोस्ट Digital Signature Kya Hai Hindi Me जिसके बारे में हमने आपको पूरी तरह से विस्तार से इसके बारे में जानकारी दी हमे आशा करते है की हमने आपको Digital Signature Kaise Banaye In Hindi अच्छे से समझाया होगा और आपको हमारी पोस्ट अच्छे से समझ में आयी होगी।

हमे उम्मीद है की आपको Meaning Of Digital Signature In Hindi की जानकारी अच्छी लगी होगी जिसके साथ ही आपको Digital Signature Aur Digital Certificate Me Kya Antar Hai के बारे में भी सीखने को मिला आप हमारी पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ और Social Media पर भी शेयर कर सकते है।

अगर आपको हमारी पोस्ट Digital Signature In Hindi में कोई भी परेशानी हो तो हमे Comment करके बता सकते है हम आपकी परेशानी को हल करने का पूरा प्रयास करेंगे आप हमारी पोस्ट को Like और Share ज़रूर करे जिससे और लोग भी इसके बारे में जानकारी प्राप्त कर सके।

इस तरह की और पोस्ट को पढने के लिए हमारी Hindi Sahayta की Website को ज़रूर Subscribe करे इससे आपको हमारी नयी पोस्ट के बारे में Latest Update मिलते रहेंगे तो दोस्तों आज के लिए बस इतना ही फिर मिलेंगे कुछ और Interesting पोस्ट के साथ आपका दिन मंगलमय रहें।

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here