दोस्तों आपने DRDO के बारे में तो सुना होगा अगर नही सुना तो कोई बात हम आपको इस पोस्ट में इसकी पूरी जानकारी देंगे। DRDO एक भारतीय संगठन है, जो भारत की रक्षा से जुड़े सभी कार्यों को Manage करता है। यह भारतीय रक्षा मंत्रालय की रक्षा अनुसंधान और विकास विभाग के अंतर्गत कार्य करता है जिसमें यह भारत की रक्षा प्रणाली के Design और विकास के लिए लगातार कार्यरत है।

DRDO भारत की तीन रक्षा सेवाओं जल, थल और वायु सेवा की आवश्यकता के अनुसार विश्व स्तर के हथियारों प्रणालियों और उपकरणों के उत्पादन में आत्मनिर्भर बढ़ाने की दिशा में कार्य कर रहा है। यह मिलिट्री Technology के विभिन्न क्षेत्रों में काम रहा है, जिसमें Aircraft, Weapons, लड़ाई के उपयोग किये जाने वाले वाहनों, इलेक्ट्रॉनिक्स इंस्ट्रूमेंटेशन, इंजीनियरिंग सिस्टम, मिसाइल, विशेष सामग्री, नौसेना सिस्टम, एडवांस कंप्यूटिंग और जीवन विज्ञान शामिल है।

DRDO Kya Hai (What Is DRDO In Hindi?)

DRDO Ka Moto (डीआरडीओ लक्ष्य) भारत को विश्व स्तर पर विज्ञान और प्रौद्योगिकीय आधार स्थापित कर समृद्ध बनाना है और अपनी Defence Forces को अन्तराष्ट्रीय रूप से प्रतिस्पर्धी प्रणालियों और समाधानों से लेस करवाकर उन्हें निर्णायक लाभ देना है। यह सैनिकों की युद्ध शक्ति को और अधिक बेहतर करने लिए रक्षा सेवाओं को तकनीकी समाधान प्रदान करता है।

DRDO Full Form

DRDO Ka Full Form होता है – DEFENCE RESEARCH AND DEVELOPMENT ORGANISATION

DRDO Full Form In Hindi

डीआरडीओ का फुल फॉर्म होता है – रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन

History Of DRDO In Hindi

DRDO की स्थापना के समय भारत 70% Defence Items बाहर से खरीदता था लेकिन कुछ समय बीत जाने के बावजूद भी वर्तमान में भी कोई ज्यादा फर्क नही आया। जब इसकी स्थापना की गयी थी तब यह 10 प्रतिष्ठानों और प्रयोगशाला वाला छोटा संगठन था, लेकिन इसके आगे के वर्षों में इस संगठन ने कई विषय शिक्षणों, प्रयोगशालाओं और उपलब्धियों में विकास किया जिसके कारण से आज वर्तमान में 50 से अधिक प्रयोगशालाएं कार्यरत है जो विभिन्न प्रकार के शिक्षणों जैसे- विमान, हथियार, युद्ध वाहन, इलेक्ट्रॉनिक्स, इंस्ट्रूमेंटेशन, इंजीनियरिंग सिस्टम, मिसाइल, विशेष सामग्री, नौसेना सिस्टम, एडवांस कंप्यूटिंग और जीवन विज्ञान, इनफार्मेशन सिस्टम और कृषि को सुरक्षा देने वाली रक्षा Technologies का विकास करने में तत्परता से कार्य कर रही है। वर्तमान में इस संगठन में 5 हजार से अधिक वैज्ञानिक कार्य कर रहे है, जबकि 25 हजार अन्य वैज्ञानिक तकनीकी और समर्थन के कर्मियों के द्वारा कार्यरत है।

क्या आपने यह पोस्ट पढ़ी: NASA Kya Hai? NASA Ki Sthapna Kab Hui – जानिए NASA History In Hindi! 

DRDO Ki Sthapna Kab Hui Thi

DRDO Ki Sthapna वर्ष 1958 में भारतीय थल सेना एवं रक्षा विज्ञान संस्थान के तकनीकी विभाग के रूप में की गयी थी। वर्तमान में DRDO Ka Headquarters भारत की राजधानी यानि नई दिल्ली में स्थित है।

DRDO Ka Adhyaksh Kaun Hai

डीआरडीओ के वर्तमान अध्यक्ष है – जी.सतीश रेड्डी
डीआरडीओ के महानिदेशक है – सेल्विन क्रिस्टोफर

DRDO Me Kaise Jaye

जो भी उम्मीदवार साइंटिस्ट बनना चाहते है वे DRDO द्वारा आयोजित की जाने वाली डीआरडीओ भर्ती 2019 Exam में Participate करके साइंटिस्ट बन सकते है आप GATE, SET और CEPTAM के Through साइंटिस्ट बन सकते है।

GATE

GATE के माध्यम से DRDO में भर्ती के लिए आवेदन करने वाले उम्मीदवारों को भर्ती प्रक्रिया में योग्य होने के लिए GATE पास होना चाहिये, क्योंकि DRDO उम्मीदवार द्वारा GATE और Interview में प्राप्त अंकों के माध्यम से साइंटिस्ट ‘B’ की भर्ती करता है। जो भी उम्मीदवार DRDO में साइंटिस्ट बनाना चाहते है वे DRDO के Application Form को GATE के माध्यम से भर सकते है। Shortlist किये गये उम्मीदवार को Personal Interview के लिए बुलाया जाता है जिसके बाद उन्हें DRDO के द्वारा भर्ती किया जायेगा।

CEPTAM

आप CEPTAM के माध्यम से भी DRDO में भर्ती के लिए आवेदन कर सकते है। यह Exam Written होती है जिसमें दो Exam होती है टियर-1 और टियर-2, जो अभ्यार्थी टियर-1 पास कर लेते है वे ही इसकी दूसरी Exam यानि टियर-2 में बैठ सकते है। टियर-1 में 150 Marks के Objective Type के Question पूछे जाते है जिसके लिए 2 घंटे का समय दिया जाता है जबकि टियर-2 में 100 Marks के Objective Question को Solve करने के लिए 1 घंटे 30 मिनट का समय दिया जाता है।

DRDO Ka Syllabus:

टियर-1 सिलेबस

  • Quantitative Ability/Aptitude
  • General Intelligence & Reasoning Ability
  • General Awareness
  • English Language (Basic Knowledge)
  • General Science

टियर-2 सिलेबस

  • Test Specific To The Subject Of Post Code

SET (Scientist Entry Test)

DRDO की यह Exam दो चरणों में होती है जिसमें पहले Written Exam होती है उसके बाद Interview होता है। DRDO में आपके द्वारा प्राप्त अंकों को आगे नही बढ़ाया जाता बल्कि Interview में उम्मीदवारों की Screening के लिए उपयोग किया जाता है। इसमे अंतिम सिलेक्शन Interview में अभ्यार्थी की Performance के आधार पर होता है। यह Exam 3 घंटे की होती है जिसमें 500 Marks के 150 Objective Type Question पूछे जाते है।

Section A में BE, B.Tech, M.Sc सिलेबस के विषय के अनुसार कुल 400 अंकों में से 4 अंक के 100 प्रश्न होते है और Section B में 2 अंकों के 50 प्रश्न होते है, जो कुल 100 अंक के होते है जिसमें Logical Reasoning, Spatial Reasoning, Concept Formation, Abstract Reasoning और Numerical Reasoning से संबंधित विषय शामिल होते है।

जरूर पढ़े: SSC Ki Taiyari कैसे करे? – SSC Ki Bharti 2019 के लिए Eligibility, Exam Pattern! 

Eligibility For DRDO

तो चलिए अब जानते है कि DRDO के लिए आपके पास क्या-क्या योग्यताएं होनी चाहिये।

Education Qualification

आवेदन करने के लिए इच्छुक सभी उम्मीदवारों को किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय/संस्थान से Engineering And Technology में बेचलर डिग्री के साथ Science, Maths, Psychology में कम से कम 60% अंकों से साथ Master डिग्री होना अनिवार्य है।

Age Limit

आवेदक की उम्र 18 से 28 वर्ष के बीच होनी चाहिये, जबकि आरक्षित वर्ग की आयु में छूट सरकारी निर्देशों के अनुसार होगी।

DRDO Exam Kab Hoga

यदि आप DRDO Me Bharti कब होगी के बारे में जानना चाहते है तो इसके लिए आप DRDO की ऑफिसियल वेबसाइट www.drdo.gov.in पर जाकर DRDO Exam, DRDO Ki Vacancy, DRDO Result 2019 आदि सभी के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते है।

यह पोस्ट भी जरूर पढ़े: Paramedical Ki Taiyari Kaise Kare? – पैरामेडिकल के लिए योग्यता, कोर्सेज की पूरी जानकारी हिंदी में!

DRDO Ki Salary

DRDO में साइंटिस्ट का वेतन हर पोस्ट के लिए अलग-अलग होता है इसमें साइंटिस्ट को अच्छी सैलरी मिलने के साथ में विभिन्न प्रकार के वेतन भत्ते भी दिए जाते है।

Conclusion:

तो अगर आप भी साइंटिस्ट बनना चाहते है तो ऊपर बताई गयी जानकारी से आपकी काफी मदद होगी जिसमें हमने DRDO Ki Taiyari Kaise Kare, DRDO Exam, DRDO Me Syllabus क्या होता है आदि सभी जानकारियों के बारे बता दिया है। अब आपको DRDO Me Job पाने के लिए बस इसमें आवेदन करके इसकी परीक्षा को पास करना है और लीजिये बन गए आप साइंटिस्ट। पोस्ट पसंद आयी हो तो इसे Like और शेयर जरूर करे ताकि जिनका भी सपना साइंटिस्ट बनने का है उन्हें भी DRDO Ki Puri Jankari प्राप्त हो सके, आपका दिन शुभ हो!

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (3 votes, average: 3.67 out of 5)
Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here