Gateway एक तरह का प्लेटफार्म है जो किसी नेटवर्क में आने और नेटवर्क से बाहर जाने के लिए प्रयोग होता है। इस नेटवर्किंग कॉम्पोनेन्ट को आसानी से समझने के लिए आज हम आपके लिए यह पोस्ट Gateway Kya Hai In Hindi लेकर आये है। जिसमें आपको बहुत ही सरल तरीके से इसकी पूरी जानकारी दी गई है।

आज अगर सबसे ज्यादा किसी चीज का इस्तेमाल किया जा रहा है तो वह है इंटरनेट। दोस्तों क्या आप जानते है की इंटरनेट कैसे एक्सेस होता है इंटरनेट को Gateway के द्वारा ही एक्सेस कर सकते है। तो आपका ज्यादा समय ना लेते हुए शुरू करते है Gateway Devices Kya Hai और जानते है इसके बारे में।

Gateway Kya Hai (What Is Gateway In Hindi?)

Gateway एक हार्डवेयर और सॉफ़्टवेयर दोनों रूपों में हो सकता है। Gateway कंप्यूटर नेटवर्क को कनेक्ट करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। यह अन्य डिवाइस जैसे – सर्वर, राउटर, फायरवॉल आदि दूसरे डिवाइस भी हो सकते है। यह डिवाइस नेटवर्क ट्रैफिक का इस्तेमाल करने के लिए नेटवर्क ट्रैफिक को आने और जाने के लिए कनेक्ट करने का काम करता है।

क्या आपने यह पोस्ट पढ़ी: URL Kya Hota Hai? URL Kaise Kam Karta Hai? – जानिए URL से जुडी सारी जानकारी हिंदी मे!

Gateway Kaise Kaam Karta Hai

Gateway के द्वारा हम बहुत से नेटवर्क का इस्तेमाल कर सकते है। जिससे ऑनलाइन बहुत से कार्य किये जा सकते है सोशल मीडिया का इस्तेमाल करना, वेबसाइट को ब्राउज करना, ऑनलाइन शॉपिंग करना आदि। Gateway, नेटवर्क का इस्तेमाल करने के लिए नेटवर्क को इन और आउट करने का कार्य करता है। जब हमें इंटरनेट से कनेक्ट होना होता है तब यह इंटरनेट सिग्नल डिवाइस में इन और आउट होने के पहले इन सिग्नल्स को पहले Gateway से गुजरना होता है।

Function Of Gateway In Computer Network In Hindi

यह कई तरह के टास्क को कर सकता है। जिसमें बहुत तरह के फंक्शन्स होते है। तो जानते है Gateway के इन फंक्शन्स के बारे में।

  • Media Gateway – डाटा का जो एक फॉर्मेट होता है यह उसे दूसरे फॉर्मेट में बदलने का कार्य करता है।
  • Email Security Gateway – जो कंपनी की पॉलिसी का गलत तरह से इस्तेमाल करते है और जानकारी का गलत इस्तेमाल करने के लिए उसे शेयर करते है। जिसके लिए यह Gateway सिक्यूरिटी प्रदान करती है।
  • VOIP Trunk Gateway – इस Gateway का प्रयोग Plain Old Telephone Service के लिए किया जाता है। जिसमें फैक्स मशीन, लैंडलाइन फ़ोन्स आते है।

Gateway Security Kya Hai

यह लोकल नेटवर्क के लिए सिक्यूरिटी उपलब्ध करवाता है और यह लोकल नेटवर्क के साथ पब्लिक नेटवर्क को जोड़ने का कार्य करता है। यह फायरवॉल की सिक्यूरिटी प्रदान करता है जिसमें एक प्रकार की तकनीक NAT का प्रयोग किया जाता है।

जरूर पढ़े: IP Address Kya Hai? IP Address Kaise Pata Kare – जानिए IP Address के बारे में विस्तार से!

Gateway Devices Kya Hai

Gateway में कई तरह के Devices होते है। इसके अन्य प्रकार के Devices है Impedance Matching Devices, Protocol Translators. किसी एक्शन को परफॉर्म करने के लिए Gateway राउटर और स्विच के साथ कनेक्ट होते है।

Gateways Ke Fayde

Gateway का इस्तेमाल करने से क्या फायदे प्राप्त होते है यह आपको आगे बताये गए है।

  • जिन Users के पास Gateway का एक्सेस होता है जिसमें कुछ आवश्यक जानकारी रहती है ऐसे Users के लिए यह बहुत उपयोगी होता है। यह सिक्यूरिटी अधिकतर हर प्रकार के नेटवर्क में उपलब्ध रहती है।
  • यह नेटवर्क को फ्लेक्सिबिलिटी प्रदान करता है। यह कंप्यूटर की जानकारी को अपने अनुसार परिवर्तित कर सकती है।

Gateway Ke Nuksan

जिस तरह से इसके फायदे होते है उसी प्रकार Gateway के कुछ नुकसान भी है जो नीचे दिए गए है।

  • ट्रबलशूटिंग करने में कठिनाई होती है। एक भी Gateway फैल होने पर पूरी कम्युनिकेशन खत्म हो जाती है। प्रॉब्लम को जब तक लोकेट नहीं कर पाएँगे तब तक कम्युनिकेशन Restore नहीं हो सकेगी। इसके लिए आपको सभी कंप्यूटर में अलग-अलग Troubleshoot करना होगा।
  • Gateway जानकारी को विभिन्न प्रोटोकॉल्स में परिवर्तित करता है। जिससे की Time Delay की समस्या आती है और यह साधारण बात है।

यह पोस्ट भी जरूर पढ़े: Modem Kya Hai? Modem Ke Functions Kya Hai – जानिए Modem Ke Prakar कितने होते है हिंदी में!

Difference Between Router And Gateway In Hindi

इन दोनों में कुछ तरह के अंतर पाए जाते है जो आपको नीचे बताये गए है। जानते है इन दोनों में क्या अंतर है।

  • राउटर एक तरह के नेटवर्किंग डिवाइस होते है जो दो अलग-अलग नेटवर्क को एक-दूसरे से जोड़ने का कार्य करता है। प्रोटोकॉल पर निर्भर नेटवर्क को आपस में कनेक्ट करने के लिए Gateway का प्रयोग किया जाता है।
  • राउटर Computer Network को Internet से जोड़ने का कार्य करता है तथा इंटरनेट को Gateway के बिना एक्सेस नहीं किया जा सकता है।

Conclusion:

दोस्तों आपको हमने Gateway की महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान की। अब आप समझ गए होंगे की इंटरनेट को एक्सेस करने के लिए पहले Gateway से गुजरना पड़ता है उसके बाद इंटरनेट एक्सेस होता है। उम्मीद करते है की आपको यह पोस्ट What Is Gateway In Networking In Hindi? पसंद आयी होगी। तो हमारी इस पोस्ट को Like और Share ज़रुर करे और जुड़े रहे हमारे साथ ऐसी ही तकनीकी जानकारी को आसान भाषा में समझने के लिए।

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here