Home » Technology » Civil Engineer Kaise Bane – योग्यता, परीक्षा, सैलरी पूरी जानकारी।

Civil Engineer Kaise Bane – योग्यता, परीक्षा, सैलरी पूरी जानकारी।

Civil Engineering एक प्रोफेशनल इंजीनियरिंग कोर्स है। इसमें सिविल इंजीनियर द्वारा कंस्ट्रक्शन के कई काम किए जाते है जैसे कि सड़के बनाना, डिज़ाइन बनाना और घर बनाने की प्लानिंग करना आदि। इसके अलावा इसमें रोड, ब्रिज, पाइपलाइन आदि के काम भी शामिल है। बहुत से छात्र सिविल इंजीनियरिंग करना चाहते है पर वे Civil Engineer Kaise Bane को लेकर कंफ्यूजन में रहते है।

[toc]

अगर कोई छात्र सिविल इंजीनियरिंग में अपना करियर बनाने की सोंच रहा है तो उसे एक स्नातक (ग्रेजुएशन) इंजीनियरिंग प्रोग्राम (BTech) करना होगा, जिसे पूरा करने में 4 वर्ष का समय लगता है। हालांकि कुछ कॉलेज सिविल इंजीनियरिंग में डिप्लोमा भी प्रदान करते है जो कि तीन वर्ष का होता है।

लाखों छात्र सिविल इंजीनियर बनने का सपना देखते है पर उनमें से केवल कुछ ही छात्र सफल हो पाते है। क्योंकि बहुत से छात्रों को इस कोर्स के बारे में पूरी जानकारी नहीं होती तथा जिसके लिए उन्हें काफी मेहनत करनी पढ़ती है। इसलिए इस पोस्ट ‘Civil Engineering Hindi’ के माध्यम से मैं आपको Civil Engineering Kya Hai, सिविल इंजीनियरिंग डिप्लोमा कोर्स, योग्यता, परीक्षा एवं सिविल इंजीनियरिंग सब्जेक्ट्स आदि की सम्पूर्ण जानकारी देने जा रही हूँ।

Civil Engineer Kaise Bane

Civil Engineering Kya Hota Hai

सिविल इंजीनियरिंग Engineering की ही एक ब्रांच (Branch) है, जिसको पूरा करने के बाद आप सिविल इंजीनियर बनते है। सिविल इंजीनियरिंग में कई सारे काम आते है जैसे कि सीवेज सिस्टम, सड़कों, पुलों, नहर, हवाई अड्डों और अन्य कई चीजों के डिजाइन और निर्माण का कार्य करना आदि। इन सभी काम को पूरा करने में Civil Engineer की अहम भूमिका होती है।

उदाहरण के लिए मान लीजिये कि, एक खाली प्लॉट है Civil Engineer का काम यह देखना होगा कि, कितने एरिया में घर बनेगा, कितने कमरे या बाथरूम होंगे, किचन और हाल कहाँ पर होगा आदि। इसके बाद Design को देखते हुए सीमेंट, सरिया आदि मंगाया जाता है। और इन सभी कार्य को पूरा Civil Engineer की देख-रेख में ही किया जाता है।

उम्मीद है कि अब आप समझ गए होंगे कि सिविल इंजीनियर क्या होता है या Civil Engineering Meaning in Hindi क्या है? आइये अब आगे जानते है सिविल इंजीनियर कैसे बने।

जरूर पढ़े: Software Engineer Kaise Bane – सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग से जुड़ी पूरी जानकारी।

Civil Engineer के लिए योग्यता (Eligibility)

  • सिविल इंजीनियरिंग में डिप्लोमा करने के लिए छात्र का 10वीं पास होना जरूरी है।
  • 12वी साइंस सब्जेक्ट में फिजिक्स, केमिस्ट्री, बायोलॉजी और मैथ्स होना चाहिए।
  • अच्छे कॉलेज में एडमिशन के लिए एंट्रेंस एग्जाम देना होता है जैसे कि, (AIEEE, JEE MAINS, IIT) इन्हे देने के लिए छात्र के 12वी में 60% प्रतिशत मार्क्स होना अनिवार्य है।

Civil Engineer Kaise Bane

1. 10वीं के बाद डिप्लोमा करें।

अगर आप 10वी के बाद सिविल इंजीनियरिंग करना चाहते है तो आप किसी भी पॉलिटेक्निक कॉलेज से सिविल इंजीनियरिंग में डिप्लोमा कर सकते है। हालांकि इसके लिए आपको Entrance Exam देना अनिवार्य है। इस डिप्लोमा कोर्स को करने में आपको कुल 3 साल का समय लगता है। जिसे करने के बाद आप Junior Civil Engineering बन जाते है।

पॉलिटेक्निक कैसे करें से जुड़ी पूरी जानकारी पाने के लिए दी गयी लिंक पर क्लिक करें।

2. 12वी साइंस या मैथ्स सब्जेक्ट से पास करे।

अगर आप अच्छे कॉलेज से डिग्री इन सिविल इंजीनियरिंग करना चाहते है तो उसके लिए आपका 12वी पास होना जरूरी है। 12वी में आपके पास Physics, Chemistry, Biology, Maths सब्जेक्ट्स होने चाहिये वो भी 60% अंकों के साथ, तभी आप किसी भी एंट्रेंस एग्जाम को देने के योग्य होंगे।

3. एंट्रेंस एग्जाम क्लियर करें।

जब आप 12वी कक्षा अच्छे अंको से पास कर लेते है तो उसके बाद अच्छे कॉलेज में B.Tech में एडमिशन पाने के लिए आल इंडिया लेवल एंट्रेंस एग्जाम जैसे- JEE MAIN, IIT (इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी), AIEEE आदि देने होते है। अगर आप इन में से किसी भी एग्जाम को क्लियर कर लेते है तो परीक्षा में आपके द्वारा प्राप्त किये गए अंक और रैंक के आधार पर आपको अच्छे कॉलेज में एडमिशन मिलती है। पर यह एग्जाम थोड़ा मुश्किल होता है जिसके लिए आपको काफी मेहनत करनी पड़ती है।

लेकिन बहुत से ऐसे कॉलेज भी है जो स्टेट लेवल पर एंट्रेंस एग्जाम आयोजित करते है, आप उनके लिए भी अप्लाई कर सकते है। इसके अलावा बहुत से कॉलेज बिना एंट्रेंस एग्जाम के भी एडमिशन लेते है, पर इसके लिए आपको काउन्सलिंग के दौर से गुजरना होगा।

हालांकि आप किसी भी प्राइवेट कॉलेज से डिग्री कर सकते है लेकिन उसमें फीस काफी ज्यादा होती है। अगर आप बिना एंट्रेंस एग्जाम दिए किसी प्राइवेट कॉलेज में एडमिशन लेते है तो उसके बारे में एक बार पूरी रिसर्च अवश्य कर लेना।

4. बैचलर डिग्री पूरी करे।

कॉलेज में एडमिशन मिल जाने के बाद सिविल इंजीनियर बनने के लिए आपको B.Tech करना होता है। इस बैचलर डिग्री में आपको पुरे 4 साल तक इंजीनियरिंग की पढ़ाई करवाई जाती है। जिसमे आप बेसिक चीज़े सीखते है जैसे कि, घर का नक्शा बनाना, कितना रॉ मटेरियल लगाना है, कौन सी जगह पर क्या चीज़ बनाना है आदि। सिविल इंजीनियरिंग में बैचलर डिग्री पूरी करने वाले को Senior Civil Engineering कहा जाता है।

5. डिग्री के बाद इंटर्नशिप करे।

सिविल इंजीनियरिंग में डिग्री पूरी कर लेने के बाद आपको इंटर्नशिप करनी होगी, ताकि आप अपने किताबी ज्ञान को प्रक्टिकली देखे और सीखे। इससे आप एक प्रोफेशनल सिविल इंजीनियर बनने के गुण सीखते है और अगर आप किसी कंपनी में सिविल इंजीनियर की पोस्ट के लिए अप्लाई करते है तो एक्सपीरियंस होने के कारण आपको ज्यादा महत्व दिया जायेगा।

6. लाइसेंस और सर्टिफिकेट के लिए अप्लाई करें।

अगर आप सर्टिफाइड सिविल इंजीनियर बनना है तो इसके लिए आपको सिविल इंजीनियर का लाइसेंस चाहिए, परन्तु इसके लिए आपके पास सालों का एक्सपीरियंस होना जरूरी है। अगर आप एक्सपीरिएंस्ड है तो आपको लाइसेंस के लिए अप्लाई करना होगा और लाइसेंस मिलने के बाद आप प्रोफेशनल सिविल इंजीनियर बन जाएंगे।

इसे भी पढ़े: Architecture Kya Hota Hai? – आर्किटेक्चर कैसे बने की सम्पूर्ण जानकारी!

सिविल इंजीनियरिंग सब्जेक्ट्स

सिविल इंजीनियरिंग में कई तरह के सब्जेक्ट्स होते है जो कि Construction से जुड़े हुए होते है जो कि इस प्रकार है –

  • Hydraulic Engineering
  • Material Engineering
  • Structural Engineering
  • Earthquake Engineering
  • Urban Engineering,
  • Environmental Engineering
  • Transportation Engineering
  • Geo Technical Engineering
  • Coastal Engineering
  • Construction Engineering
  • Forensic Engineering
  • Outdoor Plant Engineering

सिविल इंजीनियरिंग की सैलरी कितनी होती है?

जैसे की हमने जाना सिविल इंजीनियर 2 तरह से बन सकते है पहला डिप्लोमा करके और दूसरा डिग्री करके। इसी आधार पर दोनों की सैलरी भी अलग-अलग होती है जो की इस प्रकार है –

  • Diploma in Civil Engineering Salary:

प्राइवेट (Private) सेक्टर में Civil Engineer की शुरुआती सैलरी 10 से 15 हजार रूपये प्रति महीने तक हो सकती है। सैलरी इस चीज पर भी आधारित है कि आप कौन सी सिटी, स्टेट या कंपनी में कार्यरत है। वहीं दूसरी तरफ सरकारी (Government) सेक्टर में सिविल इंजीनियर को 35 से 40 हजार रुपए प्रति महीने की सैलरी मिल सकती है।

  • Degree in Civil Engineering Salary:

अगर आप सिविल इंजीनियरिंग में B.Tech या B.E करते है तो प्राइवेट (Private) सेक्टर में आपको शुरुआती तौर पर 20 से 30 हजार रूपये प्रति महीने की सैलरी मिल सकती है। वहीं दूसरी तरफ सरकारी (Government) सेक्टर में आपकी सैलरी 50 से 60 हजार रूपये प्रति महीने हो सकती है।

इसे भी जरूर पढ़े: Web Designing Kya Hai? जानिए Web Designing Course Kya Hota Hai In Hindi!

सिविल इंजीनियर में क्या गुण होने चाहिये

  • बेहतर कम्युनिकेशन स्किल्स
  • प्लानिंग
  • थिंकिंग पावर
  • कंप्यूटर स्किल्स
  • टीमवर्क
  • क्रिएटिविटी
  • रेस्पोंसिबल
  • शार्प माइंड
  • प्रैक्टिकल नॉलेज

Top Civil Engineering College

भारत में सिविल इंजीनियरिंग करने के लिए कई टॉप कॉलेजेस है उन्हीं में से कुछ Colleges की List आपको निचे दी गयी है –

  • इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, रुड़की
  • इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, नई दिल्ली
  • इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, अहमदाबाद
  • इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, मुंबई
  • बिड़ला इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (बीआईटी), रांची
  • दिल्ली टेक्नोलॉजिकल यूनिवर्सिटी, नई दिल्ली
  • इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस, बेंगलुरु
  • नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ कंस्ट्रक्शन मैनेजमेंट एंड रिसर्च, नई दिल्ली
  • वीरमाता जीजाबाई टेक्निकल इंस्टीट्यूट, मुम्बई
  • सरदार पटेल कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग, मुंबई
  • नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, श्रीनगर
  • चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी
  • मालवीय टेक्निकल इंस्टीट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, जयपुर
  • उस्मानिया यूनिवर्सिटी
  • इंजीनियरिंग कॉलेज ऑफ अजमेर
  • ग्रीन हिल्स इंजीनियरिंग कॉलेज, हिमाचल प्रदेश
  • गवर्नमेंट पॉलिटेक्निक, लखनऊ
  • गवर्नमेंट पॉलिटेक्निक, दिल्ली
  • गवर्नमेंट पॉलिटेक्निक, मुंबई
  • गवर्नमेंट पॉलिटेक्निक, बरेली
  • कोयम्बटूर इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, तमिलनाडु
  • तीर्थंकर महावीर यूनिवर्सिटी, मुरादाबाद

Conclusion

ये थी आज की पोस्ट Civil Engineer in Hindi के बारे में, जिसमें मैंने आपको बताया कि Civil Engineer Kya Hota Hai और सिविल इंजीनियर कैसे बने। आशा करती हूं कि हमारे द्वारा दी गई जानकारी आपको पसंद आई होगी और आपको आपके सभी सवालों के जवाब यहां प्राप्त हुए होंगे। अगर मेरे द्वारा दी गयी जानकारी आपको उपयोगी लगी हो तो नीचे COMMENT बॉक्स में कमेंट करके जरूर बताएं।

अगर इस पोस्ट से जुड़ा आपका कोई भी सवाल हो, तो हमसे जरूर पूछे हम सही आंसर के साथ आपसे जरूर संपर्क करेंगे। इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ शेयर करना न भूलें, ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों को Civil Engineering से जुड़ी जानकारी प्राप्त हो सके। इसी प्रकार की अन्य शिक्षा से जुड़ी जानकारी पाने के लिए जुड़े रहे हिंदी सहायता पर।

आपको हमारा यह लेख कैसा लगा ?

Average rating 4.3 / 5. Vote count: 31

अब तक कोई रेटिंग नहीं! इस लेख को रेट करने वाले पहले व्यक्ति बनें।

Neeraj Jivnani

नीरज जीवनानी हिंदी सहायता के फाउंडर है। इन्होंने ही हिंदी सहायता वेबसाइट की शुरुआत की और इन्हें टेक्नोलॉजी से जुड़े रहने में काफी मज़ा आता है, न्यूज़ राइटिंग के अलावा इन्हें किताबें पढ़ने का काफ़ी शौक है। नीरज जीवनानी से आप इनके ईमेल [email protected] के माध्यम से जुड़ सकते है।

Leave a Comment