वर्तमान समय में बच्चे से लेकर बड़े व्यक्तियों तक सभी बहुत Advance हो गए है और इसका सबसे बड़ा कारण नई-नई Technology का आना है। आज हर कोई कंप्यूटर लैपटॉप के बारे में जानता है और उनको Use भी करता है। कंप्यूटर लैपटॉप Use करते समय आपने उनमें कई Software Use किये होंगे। तो आपके दिमाग में कभी ना कभी ये सवाल ज़रूर आया होगा की यह Software कौन बनाता है। इसी सवाल के जवाब के साथ आज हम आपके लिए सॉफ्टवेयर इंजीनियर के बारे में जानकारी लाये है।

सॉफ्टवेयर इंजीनियर वह होता है जो कंप्यूटर लैपटॉप आदि क्षेत्र में नई-नई Technology बनाता है। जिसका Use करके हम अपने काम बड़ी आसानी से कर पाते है। एक Software Engineer बनना कोई आसान काम नहीं है इसके लिए आपको Software Engineer Ki Padhai करना होती है।

Software Engineering Kya Hai

Software Engineer को हम Software Developer भी कह सकते है। इसका मुख्य काम Computer, Laptop, Mobile के लिए Apps और Program बनाना है। जब भी इन चीजों में कोई नई App या प्रोग्राम आता है तो उसे एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर द्वारा ही बनाया जाता है और उसमे कोई समस्या आने पर सॉफ्टवेयर इंजीनियर ही उसे ठीक कर पता है, क्योंकि इनमें जिस लैंग्वेज का इस्तेमाल किया जाता है उन्हें हर कोई नहीं समझ सकता है।

Software Engineer Kaise Bane

किसी भी फ़ील्ड में इंजीनियर बनने का सीधा सा मतलब है की आपको उस फ़ील्ड में काम करना पसंद है और बात करें सॉफ्टवेयर इंजीनियर की तो इसके लिए आपको Computer, Laptop, Mobile आदि Technology में रूचि होना चाहिए। यह Skill आपको एक अच्छा सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने में मदद करेंगी। सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए आपको Basically Software Engineering Course करने होंगे।

यहाँ पर आपको प्रोग्राम या सॉफ्टवेयर बनाने में जिस लैंग्वेज का Use होता है उन लैंग्वेज का अच्छा ज्ञान होना चाहिए, अन्यथा आप सॉफ्टवेयर इंजीनियर कभी नहीं बन पाएँगे। सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग के कोर्स में आपको वह सभी लैंग्वेज सिखाई जाती है जो नीचे हम आपको बता रहे है।

  • C Language
  • C++ Language
  • MATLAB
  • (.)Net
  • Java
  • SQL
  • Ruby
  • Python

एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने और Engineering में प्रवेश पाने के लिए आपको 12th Class में पास होना होगा, वह भी 50% अंक के साथ और उसमे Physics, Chemistry और Mathematics विषय भी शामिल होना चाहिए। उसके बाद आप किसी भी University में सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग कोर्स कर सकते है। हम आपको नीचे कुछ सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के कोर्स और कुछ यूनिवर्सिटी के नाम बता रहे है।

Software Engineering Courses

  • B.Tech – Bachelor Of Technology (CS, IT)
  • B.C.A. – Bachelor Of Computer Application
  • B.Sc – Bachelor Of Science (CS)
  • Polytechnic Diploma (Computer Science)

Software Engineering University

  • देवी अहिल्या यूनिवर्सिटी, इंदौर
  • नेताजी सुभाष इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, दिल्ली
  • मद्रास क्रिश्चियन कॉलेज, चेन्नई
  • द ऑक्सफोर्ड कॉलेज ऑफ साइंस, बैंगलोर
  • गुरु गोविंद सिंह इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी, दिल्ली
  • इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय
  • नालंदा ओपन यूनिवर्सिटी
  • लवली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी

इसके अलावा देश के सभी राज्यों में इंजीनियरिंग कॉलेज और IIT कॉलेज में प्रवेश के लिए कई Exam करवाई जाती है जैसे- JEE Main, JEE Advance, BitSet, AIEEE, VITEEE यह सभी National Level की परीक्षाये है। इन परीक्षाओं को पास करके आप एक अच्छे कॉलेज में प्रवेश प्राप्त कर सकते है जो हर साल आयोजित करवाई जाती है।

सॉफ्टवेयर इंजीनियर के कार्य

एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर का मुख्य कार्य Programming करना, Software Development करना, Computer/Laptop के Software बनाना, Software Testing करना, Algorithm Design And Analysis करना, Mobile App बनाना आदि कार्य शामिल है। एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर कई Apps, Programs बनाने से लेकर उनमें कोई समस्याएं आने पर उन्हें ठीक करने का भी कार्य करता है।

Software Engineer Salary

एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर की सैलरी सबसे ज़्यादा उसके अनुभव पर निर्भर करती है। जितना ज़्यादा अनुभव होगा उसकी सैलरी भी उतनी ही ज़्यादा होगी। शुरुवाती समय में एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर को Fresher के रूप में 15,000 से लेकर 20,000 तक मिल सकते है और अनुभव के साथ-साथ उनकी सैलरी भी बढ़ती जाएगी।

Software Engineering Books

Software Engineering की बाज़ार में कई Books उपलब्ध है। लेकिन आज हम आपके लिए कुछ Top Books लाए है, जो आपको Software Engineer बनने में मदद करेंगी।

  • Software Design X-rays
  • A Philosophy Of Software Design
  • Designing Data-intensive Applications
  • Developer Hegemony
  • The Manager’s Path

Software Engineering Subject

अगर आप Software Engineering करने जा रहे है तो आपको इसकी कुछ बेसिक चीजों का पता होना चाहिए जैसे- यह कोर्स 4 वर्ष का होता है और Software Engineer बनने वाले सभी विद्यार्थियों को पहले वर्ष में एक जैसे विषय ही पढ़ाये जाते है। इसका फायदा यह है इससे विद्यार्थियों को सभी बेसिक जानकारी प्रथम वर्ष में ही प्राप्त हो जाती है, जो सभी Courses में एक सामान होती है। तो आईये जानते है उन बेसिक विषयों के बारे में:

Software Engineer Jobs

एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर के लिए Jobs की कोई कमी नहीं है बस उसके पास Talent होना चाहिए। एक अच्छी Job के लिए आपको कोर्स खत्म होने के बाद, अच्छी कंपनियों में Internship के लिए आवेदन करना चाहिए। उससे यह होगा की आपको सॉफ्टवेयर बनाने के तरीके पता चलेंगे और आपको सभी Language को समझना और Use करना आ जाएगा, मतलब आपको सॉफ्टवेयर बनाने का अनुभव हो जाएगा। बस अब आपको कंपनियों में Jobs के लिए Apply करना है आपके अनुभव के हिसाब से आपको आसानी से Job मिल जाएगी।

Conclusion:

दोस्तों भविष्य में अच्छी नौकरी के लिए हर कोई आज Engineer, Doctor, आदि की पढ़ाई करते है, जिससे वह आगे जाकर एक अच्छी नौकरी प्राप्त कर सके और अपने भविष्य को Secure कर सके। इसी के चलते आज हमने आपको सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने की जानकारी प्रदान की, सॉफ्टवेयर इंजीनियर का काम और सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनाना कोई आसान काम नहीं है।

इसके लिए आपको Engineering की पूरी पढ़ाई करना होती है और उसके साथ ही आपकी गणित और अंग्रेजी में भी अच्छी पकड़ होना चाहिए। Software Engineering के Bachelor कोर्स करने के बाद आप उसमे मास्टर डिग्री भी कर सकते है। तो अगर आपको यह महत्वपूर्ण जानकारी पसंद आयी हो तो सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग इन हिंदी की जानकारी अपने दोस्तों के साथ भी ज़रूर शेयर करें, धन्यवाद!

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (2 votes, average: 3.50 out of 5)
Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here