भारत के ऐसे बहुत से नागरिक है जो किसी कारण से विदेश जाकर रह रहे है। ज्यादातर भारतीय नागरिक नौकरी करने के उद्देश्य से या उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए विदेश जाते है और बहुत से भारतीय लोग विदेश में ही बस जाते है जिन्हें एनआरआई कहते है। NRI Ka Matlab Kya Hai इसकी पूरी जानकारी आज हम आपको देंगे।

देखे आज की ताज़ा ख़बर ...

विदेशों में अध्ययन करने के लिए भारत के छात्रों की संख्या में वृद्धि हो रही है। ऐसे बहुत से कारण होते है जिसकी वजह से भारत के नागरिकों को विदेश जाना पड़ता है और वह विदेश की ही नागरिकता ग्रहण कर लेते है। तो आइये अब जानते है एनआरआई क्‍या होता है जिसके माध्यम से आप इससे जुड़ी सभी प्रकार की जानकारी प्राप्त कर पाएँगे।

एनआरआई क्‍या होता है

भारत का व्यक्ति यदि भारत छोड़कर किसी दूसरे देश में रहता है और वहां की नागरिकता को अपना लेता है ऐसे व्यक्ति को NRI कहते है। भारत के बहुत से निवासी है जो विदेशों में जाकर रह रहे है। पूरे विश्व में यह नियम है की व्यक्ति सिर्फ एक ही देश की नागरिकता प्राप्त कर सकता है। यदि व्यक्ति के पास किसी और देश की भी नागरिकता होती है तो उस पर कानूनी कार्यवाही हो सकती है।

नमस्ते, मेरा नाम नीरज जीवनानी है, मैं हिंदी सहायता का संस्थापक हूँ। मैं उम्मीद करता हूँ आपको हमारा काम इस वेबसाइट पर पसंद आ रहा होगा। हम दिन रात मेहनत करके पूरी टीम के सहयोग से यह साइट को चलाते है और आप तक बेहतरीन, एक से बढ़कर एक आर्टिकल्स पहुंचाने का प्रयास करते है। हिंदी सहायता को एक नयी ऊंचाई पर ले जाने के लिए हमें आपका सहयोग चाहिए, हमने अभी हिंदी सहायता का एक मोबाइल एप्प लॉन्च किया है, इस एप्लीकेशन को आप यहां से डाउनलोड कर सकते है।यहाँ पर आप सभी महत्वपूर्ण जानकारियाँ सबसे पहले हासिल कर पाएंगे तो कृपया आप हमारा एप्प इनस्टॉल करके हमारा साथ ज़रूर दे ताकि हम आप तक हमेशा सभी महत्वपूर्ण आर्टिकल्स पहुँचाते रहे।

नीरज जीवनानी
संस्थापक

क्या आपने यह पोस्ट पढ़ी: IGNOU Kya Hai? – IGNOU में एडमिशन के लिए ऑनलाइन अप्लाई कैसे करे!

NRI Full Form

NRI ka FUll Form होता है – Non-resident Indian

NRI Ka Hindi Matlab

NRI Ka Hindi Matlab होता है – अप्रवासी  भारतीय

NRI Taxation

Fema के प्रावधानों के तहत एनआरआई को Tax के नियमों में छूट दी जाती है। एनआरआई को भारत से जो आय प्राप्त होती है उसी पर भारत में Tax देना होता है और जो वेतन आपको बाहर मिल रहा है उसका Tax आपको सिर्फ विदेश में  देना होगा।

जरूर पढ़े: Indian Navy Kaise Join Kare? Navy Me Jane Ke Liye Kya Kare – जानिए Navy Ke Liye Yogyata क्या है हिंदी में!

NRI Status

इनकम टैक्स विभाग द्वारा NRI Status तय किया जाता है जिसे वह भारत में रहने के समय के अनुसार तय करता है जिसमें यह जाना जाता है की व्यक्ति किस उद्देश्य से विदेश में रह रहा है। अगर वह 182 दिन से अधिक समय तक भारत में रहता है तो वह रेसिडेंट कहलाएगा।
आधार कार्ड जरुरी

भारत का निवासी यदि विदेश में रह रहा है तो उनके लिए भी आधार कार्ड बनवाना ज़रुरी होता है। आधार कार्ड का नागरिकता से कोई संबंध नहीं होता है। जो विदेशी भारत में वैध रूप से रह रहे है और जो भारतीय विदेशों में बस गए है यह दोनों ही आधार कार्ड बनवा सकते है।

एनआरआई को भारत आकर ही आधार कार्ड बनवाना होगा। जिस भी एनआरआई के पास आधार कार्ड नहीं है उनके लिए भी आधार कार्ड बनवाना ज़रुरी हो गया है क्योंकि उनको भारत आने का भी काम पड़ सकता है और अब अधिकतर कार्य के लिए आधार कार्ड अनिवार्य हो गया है।

यह पोस्ट भी जरूर पढ़े: Aadhar Card Online Kaise Banaye – जानिए Aadhar Card Ke Liye Online Appointment Kaise Le विस्तार में!

Conclusion:

दोस्तों आज की पोस्ट में आपको एनआरआई की परिभाषा जानने को मिली। यदि आप भी विदेश जाने की सोच रहे है और वहां की नागरिकता लेना चाहते है या पहले से ही विदेश में रह रहे है तो इस पोस्ट के द्वारा आपको एनआरआई से सबंधित सभी जानकारी प्राप्त करने में मदद मिलेगी। अप्रवासी भारतीयों ने विदेशों में अपना एक अलग ही स्थान बनाया है और विदेश में भारत का नाम रोशन किया है। अपने फ्रैंड्स को भी NRI Ka Matlab Bataye, यदि वह भी विदेश जाकर रहना चाहते है तो उन्हें इस पोस्ट के द्वारा मदद मिलेगी।

अगर यह पोस्ट पसंद आयी हो तो Like जरुर करे और इसी तरह Latest Updates पाने के लिए जुड़े रहिये हमारे साथ हिंदी सहायता पर, धन्यवाद!

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here