Home » Technology » Pagemaker Kya Hai – पेजमेकर की विशेषताएँ, घटक, उपयोग।

Pagemaker Kya Hai – पेजमेकर की विशेषताएँ, घटक, उपयोग।

पेजमेकर (Pagemaker) एक डेस्कटॉप एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर है, जिसका उपयोग पेज लेआउट डिजाइन के लिए किया जाता है, जैसे- ब्रोसर, मैगजीन, बुक, शादी कार्ड्स, इनविटेशन कार्ड्स, पोस्टर्स, बैनर्स, बुक डिजाइनिंग आदि। पेजमेकर का मुख्य कार्य डिजाइनिंग और एडिटिंग करना है। Page Maker का उपयोग हर कोई कर सकता है, बस इसके लिए आपको पता होना चाहिए कि Pagemaker Kya Hai और इसे उपयोग कैसे किया जाता है।

[toc]

आज की तारीख में पेजमेकर सबसे ज्यादा Use किया जाने वाला एक ग्राफिक डिजाइन Software है, जिसका इस्तेमाल डेस्कटॉप पब्लिशिंग के लिए किया जाता है। यूजर्स अक्सर यह कमेंट करके पूछते हैं कि पेजमेकर क्या है (Page Maker in Hindi), एडोब पेजमेकर में रिवर्ट कमांड एवं इसके उपयोग की व्याख्या कीजिए। तो आपके इन सभी सवालों के जवाब मैं आज आपको इस पोस्ट में देने जा रहा हूँ, जिसमें आप Pagemaker In Hindi, Pagemaker Tools in Hindi और इनका यूज क्या है इसके बारे में भी जानेंगे।

Pagemaker Kya Hai

Pagemaker Kya Hai

Pagemaker एक डेस्कटॉप पब्लिशिंग सॉफ्टवेयर है, जिसका इस्तेमाल Cards, Boucher, Invitation Card, Poster, Banners, Document बनाने के लिए, मॉडिफाई करने के लिए और उन्हें प्रिंट करने के लिए किया जाता है। इसमें आप Graphics Designing के साथ-साथ Typing भी बड़ी आसानी से कर सकते है।

Page Maker को आज कल बड़े-बड़े ऑफिस में Use किया जाता है। इसके द्वारा आप कोई भी फाइल आसानी बना सकते है। Pagemaker Design सॉफ्टवेयर का नया Edition या Version Adobe 7.0 है।

पेजमेकर (Pagemaker) का निर्माण Adlus कॉरपोरेशन द्वारा 1985 में किया गया था, लेकिन 1994 में Adobe कंपनी द्वारा इसका अधिग्रहण कर लिया गया।

डेस्कटॉप उपयोगकर्ताओं के लिए Page Maker एक लोकप्रिय ग्राफिक्स सॉफ्टवेयर है। PageMaker के आने के बाद से एडिटिंग की दुनिया में एक अलग ही बदलाव आया है, क्योंकि आज के डिजिटल वर्ल्ड में एडिटिंग और प्रेजेंटेशन का काफी महत्व है।

Page Maker Kya Hai ये तो आप अच्छे समझे गए होंगे, चलिए अब आगे इसके प्रमुख घटक एवं विशेषताओं के बारे में आपको बताते है।

इसे भी पढ़े: DTP Kya Hai और डीटीपी ऑपरेटर कैसे बने? – कार्य, कोर्स, उपयोग।

पेजमकर के विभिन्न घटक

  • Title Bar – यह Pagemaker विंडो के सबसे ऊपरी भाग में होता है, जिसमें आप अपने डॉक्यूमेंट का नाम डालकर सेव कर सकते हैं। और अगर आप अपने डॉक्यूमेंट को सेव नहीं करते हैं, तो टाइटल बार में Untitled-1 शो करता है।
  • Rulers – Pagemaker में दो Rulers होते हैं, जिन्हें वर्टीकली और हॉरिजॉन्टली मूव किया जा सकता है, पेज की लम्बाई-चौड़ाई बताने के लिए इसका उपयोग किया जाता है।
  • Pasteboard – पेस्टबोर्ड पेजमेकर डॉक्यूमेंट के पीछे का बैकग्राउंड (पृष्ठ) होता है, इसका इस्तेमाल टेक्स्ट और इमेजेस (Graphics Elements) को अस्थायी रूप से रखने के लिए होता है, कि आइटम्स को कहाँ और पृष्ठों के बीच कब रखना है।
  • Page Icon – पेजमेकर के मेनूबार के नीचे जो स्टैंडर्ड टूल बार दिया होता है वही Page Icon कहलाते है। इसमें इस्तेमाल की जाने वाली कमांड जैसे- न्यू, ओपन, सेव, प्रिंट, फाइंड आदि Icons के रूप में दिए होते है। जिसे आप अपने हिसाब से इस्तेमाल कर सकते है।

पेजमेकर की विशेषताओं का वर्णन कीजिए

Pagemaker का सबसे नया एडिशन 7.0 है। इस एडिशन में Adobe ने बहुत से नए तरह के बदलाव किये है। और इसमें नए Features डाले गए है। आईये जानते है इसके Features के बारे में:

  • पेजमेकर में टेम्प्लेट्स का फीचर प्रोवाइड किया गया है, जिनमें पेजों की डिजाईन पहले से ही बनी होती है, आप बस इसे ओपन करके उपयोग में ले सकते हैं। इससे आपका काम जल्दी और आसानी से हो जाएगा।
  • Pagemaker में टूलबार की सुविधा भी दी गई है, जिसके जरिए आप अपने डॉक्यूमेंट या फाइल को सेव, प्रिंट कर सकते है। इसके साथ ही टूलबार में फॉर्मेटिंग और स्पेलिंग चेक करने का कमांड भी दिया गया है।
  • इसमें कलर मैनेजमेंट नाम से टूल ऐड किया गया है। इसके जरिये आप डॉक्यूमेंट के कलर को अपनी पसंद के अनुसार चेंज कर सकते है।
  • क्लिप आर्ट के प्रयोग से आप Image और Icon का उपयोग पब्लिशिंग में आसानी से कर सकते है।
  • Page maker में लेटेस्ट प्रिंटिंग टेक्नोलॉजी के द्वारा आप दोनों तरफ प्रिंटिंग, डुप्लेक्स प्रिंटिंग, बाइंडिंग प्रिंटिंग आदि कम समय में और आसानी से कर सकते है।

पेजमेकर की विशेषताएं क्या है यह तो आप जान गये, लेकिन इसका इस्तेमाल किस तरह से किया जाता है यह आप आगे जानेंगे।

इसे भी जरूर पढ़े: Photoshop में फोटो कैसे बनाएं – जानिए Photo Kaise Banate Hain

पेजमेकर के उपयोग

Adobe Pagemaker विभिन्न कार्यों के लिए किया है इसमें आपको बहुत सारे ऑप्शन्स मिलेंगे, जिनकी मदद से आप एक Attractive और Unique Graphic Designing कर सकते है –

#1. Starting A New Publication

सबसे पहले डॉक्यूमेंट सेटअप का डायलॉग बॉक्स ओपन करे। इस डायलॉग बॉक्स में आपके डॉक्यूमेंट को प्रारम्भ करने का सेटअप किया जाता है। जिसके अनुसार New Document को ओपन किया जाता है। यह डायलॉग बॉक्स आप फाइल मेनू में डॉक्यूमेंट सेटअप से तथा शिफ्ट और कंट्रोल के साथ P बटन (Shift+Ctrl+P) दबाकर भी खोल सकते है। इस डायलॉग बॉक्स में नीचे दी गई सूचनाएं पहले से ही सेट होती है। जिन्हें आप अपनी जरुरत के अनुसार बदल सकते है।

#2. Page Size

इसमें आप अपने अनुसार Document के Page Size को सेट कर सकते है। लेकिन पेज साइज़ Inches में दी गयी होती है। लेकिन आप अपने अनुसार भी इसकी साइज़ को सेट कर सकते है।

#3. Orientation

Document का ओरिएंटेशन बहुत बड़ा होता है। जिसे हम पोर्ट्रेट भी कहते है। इसमें Width कम और Height ज्यादा होती है। आपके द्वारा चुने गए Page Dimensions के अनुसार पेजमेकर इनमें से कोई ओरिएंटेशन खुद ही चुन लेता है। अगर आप चाहे तो उसे बदल भी सकते है।

#4. Number Of Pages

इसमें आप यह सिलेक्ट कर सकते है की डॉक्यूमेंट में कितने पेज होंगे। शुरू में उतने ही पेजों का डॉक्यूमेंट खोला जाता है। बाद में आप अपनी जरुरत के अनुसार पेज की संख्या बढ़ा भी सकते है और घटा भी सकते है।

#5. Starting Page Number

इसमें यह बताया जाता है की पेज नंबर किस संख्या से शुरू किया जाएगा। अगर आप चाहते है की डॉक्यूमेंट के पहले पेज का नंबर 10 हो और दूसरे पेज का 9 हो तो आपको इसके बॉक्स में 10 इंटर करना चाहिए।

#6. Margins

इन Text Box में नए डाक्यूमेंट्स के चारों तरफ की मार्जिन को सेट किया जाता है। आप इन्हें बाद में Change कर सकते है।

#7. Options

इसमें आप Document के दूसरे ऑप्शन्स को सेट कर सकते है। जैसे डॉक्यूमेंट को काग़ज़ के दोनों तरफ प्रिंट किया जाएगा या एक तरफ।

#8. Printer

इसमें आप अपने डॉक्यूमेंट के लिए उस प्रिंटर का नाम चुनते है जिस पर डॉक्यूमेंट को प्रिंट किया जाता है। लेकिन प्रिंटर आपके कंप्यूटर से लिंक होना चाहिए। अगर आपके पास प्रिंटर नहीं है तो इस बॉक्स में Display On None शब्द दिखाई देगा।

एक नजर इस पर भी: Animation Kya Hai? – जानिए Mobile Se Animation Kaise Banaye पूरी जानकारी हिंदी में !

Pagemaker मुख्य स्क्रीन फीचर्स

आगे हम Pagemaker Tools और पेजमेकर के User Interface के बारे में जानेंगे। पेजमेकर को खोलने पर आपके सामने यह स्क्रीन आती है:

Pagemaker Screen

1. टूलबॉक्स

जब पेजमेकर पर काम किया जाता है और जिन Tools का उपयोग करते है, वह बॉक्स में होते है। और आपको पब्लिकेशन बनाने के लिए 14 तरह के अलग-अलग Tools मिलते है। पेजमेकर में जो हम File बनाते है, उसे पब्लिकेशन कहा जाता है। इसे आप अपनी इच्छानुसार कहीं पर भी Move कर सकते है। नीचे दी गई टेबल में आपको पेजमेकर में मौजूद 14 टूल्स के बारे में बताया गया है –

टूल्स का नामशॉर्टकट कीसकार्य
Rectangle ToolShift+F4इस टूल पर क्लिक करके आप Rectangle या Square जैसी कोई भी शेप बना सकते है।
Constrained Line ToolShift+Alt+F3यदि आप पेजमेकर पर लाइन बनाना चाहते है तो आप Constrained Line Tool की सहायता से बिना Shift Button को दबाये आसानी से एक सीधी लाइन बना सकते है।
Pointer ToolF9किसी भी Line, Text Box या Graphics को एक जगह से दूसरी जगह Move करना चाहते है या उनका size चेंज करना चाहते है तो आप Pointer Tool पर क्लिक कर के कर सकते है।
Rotate ToolShift+F2इस टूल की मदद से आप किसी भी Photo या Table को रोटेट कर सकते है।
Oblique Line ToolShift+F3यह पेजमेकर में सबसे ज्यादा इस्तेमाल किये जाने वाला टूल है। अगर आप पेजमेकर पर लाइन या कोई टेबल बनाना चाहते है तो आप इस टूल की मदद से बना सकते है।
Circle ToolShift+F5Circle Tool से आप पेजमेकर पर गोल शेप में एक Circle का निर्माण कर सकते है।
Polygon ToolShift+F6यदि आप पेज मेकर पर Polygon शेप बनाना चाहते है तो आप इस टूल पर क्लिक करके आसानी से बना सकते है।
Hand ToolShift+F7अगर आप पेज मेकर के पेज की जगह बदलना चाहते है यानि कि अगर आप उसे ऊपर या नीचे करना चाहते है तो आप Hand Tool का इस्तेमाल कर सकते है।
Text ToolShift+Alt+F1Text Tool का उपयोग पेज मेकर पर किसी भी तरह के Text को लिखने के लिए किया जाता है।
Crop ToolShift+Alt+F2अगर आप किसी भी फोटो को Crop करना चाहते है तो इसके लिए आप Crop Tool का इस्तेमाल कर सकते है।
Ellipse Frame ToolShift+Alt+(plus symbol)इस Tool का उपयोग Circular या Oval शेप बनाने के लिए किया जाता है।
Polygon Frame ToolShift+Alt+F6Polygon Frame Tool का उपयोग पेज मेकर पर Polygon बनाने के लिए किया जाता है।
Zoom ToolShift+Alt+7अगर आप किसी भी Photo को Zoom करना चाहते है तो इसके लिए आप पेज मेकर पर दिए गए Zoom Tool का इस्तेमाल कर सकते है।

2. स्टैंडर्ड टूल बार

पेजमेकर के Menu Bar के नीचे जो स्टैंडर्ड टूल बार दिया होता है। इसमें इस्तेमाल की जाने वाली कमांड जैसे न्यू, ओपन, सेव, प्रिंट, फाइंड आदि Icons के रूप में दिए होते है। जिसे आप अपने हिसाब से इस्तेमाल कर सकते है।

3. रूलर गाइड्स

पेज की लम्बाई-चौड़ाई बताने के लिए रूलर गाइड्स का प्रयोग करते है। जरुरत होने पर इसे भी मूव किया जा सकता है। रूलर गाइड्स पब्लिकेशन के लेफ्ट और टॉप में होती है।

4. कण्ट्रोल पैलेट

इसमें फ़ॉन्ट, फ़ॉन्ट साइज़, बोल्ड, इटैलिक, अंडर लाइन, लाइन स्पेसिंग, आदि ऑप्शन दिए गए होते है। जो पब्लिकेशन पर काम करते समय किसी प्रकार की एडिटिंग करने में प्रयोग किये जाते है।

5. पेज बॉर्डर

इस Tool की मदद से आप पेज की बार्डर Select कर सकते है। आपको कितनी साइज़ की Border रखनी है, वो आप आसानी से सेट कर सकते है। अगर आपने कुछ टाइप किया है और वह पेज की बार्डर से बाहर चला जाता है तो वह प्रिंट निकालते समय प्रिंट नहीं होता है।

6. मार्जिन गाइड्स

पेज के अंदर टाइपिंग की जगह को निर्धारित करने के लिए इस ऑप्शन का प्रयोग किया जाता है। पेज पर यह नीले रंग की एक पतली रेखा के रूप में दिखाई देती है।

पेजमेकर फाइल मेनू

  1. New – नया पेज पेज या डॉक्यूमेंट बनाने के लिए इसी ऑप्शन का उपयोग किया गया है।
  2. Open – यह मौजूदा पेज या फाइल को खोलने की अनुमति देता है।
  3. Save – पब्लिकेशन फाइलों को सेव करने के लिए इस विकल्प का उपयोग करते है।
  4. Revert – यह अंतिम बार सेव किये गए सभी परिवर्तनों को वापस ले लेता है।
  5. Place – प्लेस कमांड का उपयोग आप टेक्स्ट एवं ग्राफिक्स को पब्लिकेशन में रखने के लिए कर सकते है।
  6. Acquire – इस कमांड का उपयोग पब्लिकेशन में एक इमेज को स्कैन करने के लिए किया जाता है।
  7. Export – एक्सपोर्ट ऑप्शन के द्वारा आप पब्लिकेशन को अपने द्वारा चुने गए फॉर्मेट में एक्सपोर्ट करने के लिए कर सकते है।

PageMaker के Versions

  • Adlus Pagemaker 1.0 – Adlus Pagemaker 1.0 को जुलाई 1985 में MAC के लिए और 1986 में PC के लिए जारी (रिलीज़) किया गया था।
  • एल्डस पेजमेकर (Adlus Pagemaker 1.2) – Adlus Pagemaker 1.2 version को 1986 में रिलीज़ किया गया था।
  • Adlus Pagemaker 4 – Adlus Pagemaker 4.0 को मेकिन्टोस के लिए 1990 में जारी किया गया था।
  • एल्डस पेजमेकर (Adlus Pagemaker 5.0) – एल्डस पेजमेकर 5.0 को जनवरी 1993 में रिलीज़ किया गया था।
  • Adobe Pagemaker 6.0 – 1995 में एडोब पेजमेकर को जारी किया गया था।
  • एडोब पेजमेकर (Adobe Pagemaker 6.5) – एडोब पेजमेकर 6.5 को 1996 में रिलीज़ किया गया था।
  • Adlus Pagemaker 7.0 – Adobe Pagemaker 7.0 को 1 जुलाई 2001 में जारी किया गया था।

पेजमेकर के कार्य

  • पेजमेकर का कार्य होता है किसी भी तरह की डिजाइनिंग करना, उसे मॉडिफाई करना और प्रिंट करना।
  • Page Maker बहुत सारी चीजो में काम आता है जैसे कि Ads बनाना, फ्रंट पेज क्रिएट करना, फाइल बनाने के लिए, इनविटेशन बनाने के लिए, बुक डिजाईन करने के लिए और बहुत से कामों के लिए ।
  • यह एक बहुत बढ़िया सॉफ्टवेर है, जिसके द्वारा हम अपना काम बड़ी आसानी से और जल्दी कर सकते है।

Page Maker के कार्य जानने के बाद चलिए, अब जानते है कि Story Editor Kya Hai?

Story Editor in Hindi

Story Editor Pagemaker का एक टूल होता है जिसमें Text को Type और Edit कर सकते है, मतलब टेक्स्ट में सुधार कर सकते है। स्टोरी एडिटर में सभी एडिटिंग टूल मौजूद है जैसे- Insert, Delete, Cut, Paste इत्यादि। पेजमेकर में स्टोरी एडिटर को ओपन करने के लिए आप Edit Menu से Story Editor का चयन कर सकते है और चाहें तो शॉर्टकट Key ‘Ctrl+ E’ का इस्तेमाल कर इसे Open भी कर सकते है।

जरूर पढ़े: Adobe Photoshop Kya Hai – एडोब फोटोशॉप 7.0 डाउनलोड और इनस्टॉल कैसे करें!

Conclusion

आज की पोस्ट के माध्यम से आपने जाना Page Maker Kya Hai और इसकी विशेषताओं, घटक और कार्यों के बारे में। उम्मीद है की दी गई जानकारी आपके लिए उपयोगी साबित हुई होगी। इस लेख के माध्यम से आपको Page Maker Notes in Hindi बनाने में सहायता मिलेगी। फिर भी अगर आपके कोई सवाल हो तो आप उन्हें हमसे कमेंट करके पूछ सकते है हम सही सवालों के जवाब के साथ आपके सामने फिर हाजिर होंगे।

Pagemaker पर अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQ)

  • Adobe Pagemaker In Hindi क्या है?

Adobe Pagemaker एक Page Layout सॉफ्टवेयर है जिसका उपयोग Brochure, Report, Newsletters, Marriage Cards या फिर किसी भी तरह के Poster को डिज़ाइन करने के लिए किया जाता है।

  • Pagemaker सॉफ्टवेयर की शुरुआत कब और किसके द्वारा की गई थी?

पेजमेकर की शुरुआत सन् 1985 में Apple Macintosh द्वारा की गई थी।

  • Pagemaker टूलबॉक्स में कितने प्रकार के टूल्स होते है?

पेजमेकर टूलबॉक्स में 14 प्रकार के टूल्स होते है, जिसका उपयोग पब्लिकेशन (File) बनाने के लिए किया जाता है।

आपको हमारा यह लेख कैसा लगा ?

Average rating 4.6 / 5. Vote count: 207

अब तक कोई रेटिंग नहीं! इस लेख को रेट करने वाले पहले व्यक्ति बनें।

एडिटोरियल टीम

एडिटोरियल टीम, हिंदी सहायता में कुछ व्यक्तियों का एक समूह है, जो विभिन्न विषयो पर लेख लिखते हैं। भारत के लाखों उपयोगकर्ताओं द्वारा भरोसा किया गया।Email के द्वारा संपर्क करें - [email protected]

2 thoughts on “Pagemaker Kya Hai – पेजमेकर की विशेषताएँ, घटक, उपयोग।”

Leave a Comment