Home » Career » पीएचडी (PhD) कैसे करे? – PhD Kitne Saal Ka Hota Hai!

पीएचडी (PhD) कैसे करे? – PhD Kitne Saal Ka Hota Hai!

पीएचडी (Ph.D. – “Doctor Of Philosophy”) करना मतलब आपके पसंदीदा विषय में महारत हासिल करना। वह विषय कोई भी हो सकता हैं। जब आपको कोई विषय इतना पसंद आने लगता हैं कि आपको उसके अंत तक जाने का दिल करें, उसके बारें में सब कुछ जानने का मन करें तो आपको उस विषय पर पीएचडी की डिग्री करनी ही चाहिए। यह करके आप उस विषय के Expert बन जाते हैं। पर कई लोगों को PhD Kitne Saal Ka Hota Hai और PhD Kaise Kare इस बारे में कम ही जानकारी होती है।

पीएचडी में आपको प्रतिष्ठा मिलती हैं और आपके नाम के आगे Dr. तो लगता ही हैं लेकिन साथ ही साथ आप अपनी पढ़ाई से संतुष्ट होते हैं क्योंकि आपने अपनी मनपसंद चीज़ के बारें में सब कुछ जान लिया होता है। यदि आप PhD कोर्स कर लेते है तो आप उसमें निपुण हो जाते है मतलब आपको उस विषय में अच्छा खासा ज्ञान हो जाता है। यदि आपको यह कोर्स करना है लेकिन आपको पता नहीं है कि, पीएचडी कैसे करें एवं PhD Course Duration कितना होता है, तो इस लेख में आपको आपके सभी प्रश्नों के जवाब मिलेंगे।

यदि आप में भी अपने क्षेत्र और विषय में आगे बढ़ने का जुनून है तो इस पेज को पूरा पढ़ें, जिसमें आप जानेंगे कि PhD Kaise Karen, M.A. के बाद पीएचडी कैसे करें (PhD Ki Taiyari Kaise Kare) पूरी जानकारी हिंदी में जैसे- PhD Kya Hai, PhD Eligibility (योग्यता), फीस, सब्जेक्ट्स, Exam Details एवं PhD Kitne Saal Ki Hoti Hai आदि।

[toc]

PhD Kaise Kare_PhD Kitne Saal Ka Hota Hai

PhD क्या है?

पीएचडी (Doctor of Philosophy) एक डॉक्टरल डिग्री होती है, जिसमें आपको किसी एक विशेष विषय में अध्यन करना होता है, PhD का कोर्स (PhD Duration) 3 वर्ष का होता है, जिसे आप 6 साल के अंदर पूरा कर सकते हैं। इस डिग्री को करने के बाद आपके नाम के आगे डॉक्टर शब्द लग जाता है। किसी यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर अथवा लेक्चरर बनने के लिए या आप चाहे तो किसी विशेष विषय में गहन अध्यन के लिए भी आप पीएचडी कर सकते है। जिस विषय में आप पीएचडी करते है उस विषय का आपको बहुत ज्यादा ज्ञान हो जाता है और उस विषय के आप विशेषज्ञ कहलाते है।

इस कोर्स को आप ग्रेजुएशन पूरा करने के बाद ही कर सकते हैं आप कॉलेज में प्रोफेसर बन सकते है। आपको जिस विषय में रूचि हो उसी विषय से बारहवीं और मास्टर डिग्री करे।

पीएचडी का फुल फॉर्म हिंदी में – PhD Full Form in Hindi

पीएचडी का फुल फॉर्म “Doctor Of Philosophy” होता है, जिसे हिंदी में “डॉक्टर ऑफ फिलोसॉफी” के नाम से जाना जाता है। पीएचडी एक डॉक्टरल डिग्री है।

PhD Kitne Saal Ka Hota Hai

पीएचडी एक डॉक्टरेट शोध डिग्री होती है। सामान्य तौर पर, पीएचडी कोर्स की अवधि (Time Duration of PhD) 3 वर्ष है और एक छात्र इसे अधिकतम 6 वर्षों की अवधि के भीतर पूरा कर सकता है।

PhD का पूरा नामDoctor of Philosophy
PhD कोर्स की अवधि3 से 6 वर्ष
औसत फीस50,000 - 2,00,000 रूपये
टॉप रिक्रूटर्सविश्वविद्यालय, कॉलेज, प्रकाशन एजेंसियां आदि
टॉप जॉब प्रोफाइल्सप्रोफेसर, लेक्टरर्स, मैनेजमेंट कंसलटेंट, रिसर्च साइंटिस्ट आदि
औसत वेतन6 से 9 लाख रूपये प्रति वर्ष

पीएचडी के लिए योग्यता (PhD Eligibility)

अगर आप PhD करना चाहते है तो इसके लिए आपके पास क्या योग्यताएं होना चाहिए यह आपको नीचे बतायी गयी है।
  • पीएचडी करने के लिए आपके 12वीं के बाद ग्रेजुएशन पास होना जरुरी है।
  • इसके साथ ही आपकी मास्टर डिग्री में आपके 55% होना अनिवार्य है।
  • आप जिस विषय में PhD करना चाहते है, उसी विषय से आपने मास्टर डिग्री होना चाहिए।
  • इसके साथ ही PhD के लिए आपको Entrance Exam क्लियर करना जरुरी होता है।

PhD Kaise Kare

पीएचडी करने के लिए आपको विषय के प्रति समर्पित होना पड़ता हैं। पूरी जी-जान लगा कर उस विषय को अपने जीवन का भाग बनाना होता हैं। जब आप उस विषय को पढ़ें तो आपको लगना चाहिए कि, आप पढ़ाई नहीं कर रहे बल्कि मज़े कर रहे है।

PhD Karne Ke Liye Kya Kare या पीएचडी (PhD) कैसे करे की पूरी जानकारी Stepwise Guide नीचे दी गई हैं जिसमें हम आपको विस्तार से बताएँगे कि PhD Kaise Karte Hain एवं कैसे आप इसके लिए अप्लाई कर सकते है।

1. बारहवीं कक्षा पास करें।

पीएचडी के लिए क्वालिफिकेशन के तौर पर सबसे पहले अपनी रुचि की प्रवाह में 12th पास करे। अगर आप अभी नहीं जानते कि आप किस विषय में आगे बढ़ना चाहेंगे और पीएचडी करना चाहेंगे तो अपने सबसे पसंद के विषय को ध्यान में रखकर बारहवीं कक्षा पास करें।

2. स्नातक (Graduation) की डिग्री लें।

बारहवीं के बाद आपको एक अंदाज़ा आ गया होगा कि आपको कौन-से विषय में सबसे अधिक रुचि और उसके बारें में ज़्यादा से ज़्यादा जानने की दिलचस्पी हैं। इसलिए उसी विषय में ग्रेजुएशन के लिए अप्लाई करे और पढाई पूरी करे।

3. स्नातकोत्तर (Masters) की डिग्री पूरी करें।

3 साल तक अपने पसंदीदा विषय पढ़कर आपको समझ आ गया होगा कि उस विषय के कौन-से भाग में आपको सबसे अधिक रुचि हैं। इसलिए उसमें Specialization लेकर मास्टर डिग्री की पढाई पूरी करे जो कि 2 साल की होती हैं। आपको इस कोर्स में कम से कम 55 प्रतिशत अंक आने चाहिए।

4. यूजीसी (UGC NET) की परीक्षा क्लियर करें।

यदि आप MA Ke Baad PhD Kaise Kare यह जानना चाहते है तो आपको बता दें कि, किसी भी कोर्स करने के लिए आपको एक प्रवेश परीक्षा देनी पड़ती हैं। वैसे ही पीएचडी के लिए आपको UGC NET Test Pass करनी होती हैं। इसलिए स्नातकोत्तर के कोर्स के बाद UGC NET टेस्ट के लिए अप्लाई करे और क्लियर करे। यह करके आप PhD Ke Liye Qualification पूरी तरह से पा लेते हैं। (UGC NET की तैयारी कैसे करें के लिए हमारी इस पोस्ट को पढ़े)

5. पीएचडी के लिए एडमिशन लें।

पीएचडी में एडमिशन कैसे ले? यह कॉलेज पर निर्भर करता है। ज़्यादातर कॉलेज यूजीसी की परीक्षा क्लियर होने पर दाख़िला दे देते है और कुछ कॉलेज अपनी अलग से Entrance परीक्षा लेते है तो आपको उस कॉलेज में दाख़िला लेने के लिए उस कॉलेज की PhD Entrance Test पास करनी होती हैं।

6. साक्षात्कार क्लियर करें।

अब ज़्यादातर कॉलेज पीएचडी में दाख़िला देने से पहले एक Personal Interview लेती हैं। वह क्लियर करने के बाद ही आपको पीएचडी में दाखिला मिलता हैं।

7. पीएचडी की पढ़ाई पूरी करें।

अब आपको अपने विषय के अंदर डूब जाना हैं। उस पर बहुत Research यानि अनुसंधान करना हैं। उस पर थीसिस यानि निबंध लिखने हैं। पीएचडी कितने साल का होता है? पीएचडी की पढ़ाई 3 साल तक चलती हैं। और अगर आप चाहें तो इसे 6 साल तक खींच सकते हैं। लेकिन उससे ज़्यादा नहीं। और वह करने के बाद आपके नाम के पीछे डॉक्टर लग जाता हैं और आपको पीएचडी की उपाधि प्राप्त होती हैं।

PhD Ki Tayari Kaise Kare

अब हम आपको इस बात का अवलोकन देंगे कि पीएचडी की तैयारी कैसे करे?

  • आपको अपनी तैयारी जितना जल्दी हो सके उतनी जल्दी कर देनी चाहिए। यानि कॉलेज के पहले वर्षो से ही आपको उस पर ध्यान देना चाहिए।
  • अपने शिक्षक और Seniors से सलाह लें।
  • अपने विषय के हर पहलू पर विचार करें और उस पर पीएचडी किए हुए छात्रों से मार्गदर्शन लें।
  • आप कौन-सी कॉलेज और कैसे वातावरण में पीएचडी करना चाहेंगे वह तय करें। क्योंकि एक बार पीएचडी शुरू करने के पश्चात आपका जीवन पूरी तरह से बादल जाएगा।
  • यूजीसी की परीक्षा के पिछले वर्षो के पेपर को Solve करें।
  • प्रश्न ढूँढना और पूछना सीखीए। और अपने सलाहकार और शुभचिंतको को अपने विषय और पीएचडी के संबंध में सवाल करते रहिए।
  • कॉलेज के सालों में पीएचडी के विद्यार्थियो का निरीक्षण करें।

PhD Ke Subject

हमने आपको जैसे बताया कि पीएचडी के लिए कौन सा सब्जेक्ट लेना चाहिए यह पूरी तरह से आप पर निर्भर हैं। पीएचडी का सरल अर्थ यह होता हैं कि किसी विषय में विशेषज्ञता पाना। और आप उसी विषय के विशेषज्ञ बन सकते हैं जिसमें आपको आनंद आता हो।

फिर भी आपकी मदद के लिए हमने कुछ विषयों की सूची दी हुई हैं जिसपे आप पीएचडी कर सकते हैं।

  • अंग्रेजी
  • हिंदी
  • इतिहास
  • एग्रीकल्चर
  • मनोविज्ञान में
  • रसायन विज्ञान
  • भौतिकी
  • बायोसाइंस
  • वाणिज्य प्रबंधन
  • व्यवसाय प्रशासन
  • सामाजिक कार्य में पीएचडी
  • कानून में पीएचडी

इसके अलावा भी कई विषय हैं जिसमें आप मुख्य रूप से पीएचडी कर सकते हैं।

PHD Qualification, Eligibility, Exam, Career In Hindi

पीएचडी करने के लिए फीस

आइये अब जानते हैं कि पीएचडी की फीस कितनी होती है? PHD कोर्स में लगने वाली फीस और समय की बात करें तो इसकी फीस कॉलेज पर निर्भर करती हैं। औसत तौर पर सरकारी कॉलेज में 15 से 20 हज़ार रुपए प्रतिवर्ष होती हैं। और प्राइवेट कॉलेज में इससे ज़्यादा ही होती हैं।

PhD करने के फायदे

पीएचडी करने के लिए और ज़्यादा उत्सुक होने के लिए जानिए पीएचडी कोर्स करने के फायदे।

  • सबसे पहले तो आप अपनी रुचि के विषय में अपना Career बनाते हैं और एक उच्च स्तरीय डिग्री प्राप्त कर सकते हैं।
  • PhD करने के बाद आप किसी भी कॉलेज में प्रोफेसर और लेक्चरर के पद पर कार्य कर सकते हैं।
  • यह एक डॉक्टरेट डिग्री कोर्स है, जिसे करने के बाद आपके नाम के आगे डॉक्टर लगता हैं और आप प्रतिष्ठा पाते हैं।
  • जिस क्आषेत्पर में आपकी रूचि है, आप उस विषय में रिसर्च करते हैं तो उसके बारें में नई चीज़ें जानते हैं और आप उस क्षेत्र में अपना योगदान दे पाते हैं।
  • रिसर्च करने के वक़्त आप कई मज़ेदार जगहों पर जा पाते हैं और लोगो से मिल पाते हैं। इसलिए आपको कई अच्छे-बुरे अनुभव होते हैं।

पीएचडी के बाद क्या करे

PhD करने के बाद बहुत सारे करियर ऑप्शन होते है जिसमें आप अपना भविष्य बना सकते है।

  • आप शिक्षा के क्षेत्र में करियर बना सकते है और प्रोफेसर के रूप में कार्य कर सकते है।
  • डेवलपमेंट सेंटर्स तथा मेडिकल रिसर्च में कार्य कर सकते है।
  • केमिस्ट्री में PhD करने के बाद केमिकल रिसर्च सेंटर एंड लेबोरेट्रीज एनालिस्ट में Job कर सकते है।
  • न्यूट्रीशन में PhD करके साइंटिफिक एडवाइजर के क्षेत्र में कार्य किया जा सकता है।
  • अगर आप सरकारी विभाग में एडवाइजरी पद पर काम करना चाहते है तो लॉ में PhD करने के बाद कर सकते है।

और भी बहुत से क्षेत्र है जिसे आप अपने विषय के अनुसार चुन सकते है और जॉब कर सकते है।

पीएचडी क्या है कैसे करें?

  • PHD एक डॉक्टरेट डिग्री है। जिसके लिए क्वालिफिकेशन पोस्ट ग्रेजुएशन है।
  • यह डिग्री पूरी करने में 3-6 साल का समय लगता है।
  • मास्टर डिग्री में आपके कम से कम 55% अंक होने चाहिए।
  • पीएचडी के लिए प्रवेश परीक्षा UGC NET, RET, GATE, BITS आदि देनी होती है।
  • PhD में आपके द्वारा चुने गए विषय को बहुत गहराई में पढ़ना होता है।
  • पीएचडी डिग्री हासिल करके आप विश्वविद्यालय एवं कॉलेज में अस्सिटेंट प्रोफेसर बन सकते है।
  • PhD उम्मीदवार को बहुत सी सरकारी और प्राइवेट इंस्टिट्यूट बढ़िया पैकेज ऑफर करती है।

तो ये थी PhD Kya Hai Kaise Kare की शार्ट एवं सिंपल लैंग्वेज में जानकारी। अगर अपने ऊपर दी गयी सभी जानकारियों को अच्छे से पढ़ लिया है तो अब आपको PhD के बारे में सब कुछ अच्छे से समझ में आ गया होगा।

PhD की पूरी जानकारी वीडियो के माध्यम से –

Conclusion

पीएचडी सबसे उच्च डिग्री मानी जाती हैं। यह करने में बहुत मेहनत लगती हैं। यह आप तभी ही कर पाएंगे जब आप उस मेहनत को आनंद मानेंगे। और आपका मन आपके विषय की ओर पूरी तरह से एकाग्र होगा। इसलिए यहाँ पढ़ी हुई PhD Full Information in Hindi की गाइड को फॉलो करें और Eligibility Criteria for Ph.D. ध्यान में रखकर पीएचडी की तैयारी शुरू कर दें।

पीएचडी करने के बाद, छात्र कई पीएचडी नौकरियों में से अपनी पसंद की किसी भी नौकरी को चुन सकते है। पीएचडी डिग्री पूरी करने के बाद नौकरी के अवसर आपके लिए खुल जाते है। उम्मीद करते है कि PhD Kya Hai Kaise Kare एवं PhD Kitne Sal Ki Hoti Hai की जानकारी आपको अच्छे समझ में आ गयी होगी, फिर भी यदि आपके कोई सवाल हो जो आप हमसे पूछना चाहते है तो हमे कमेंट करके बता सकते है।

PhD 2022 – FAQs

  • पीएचडी का फुल फॉर्म क्या होता है?

पीएचडी का फुल फॉर्म या मतलब डॉक्टर ऑफ फिलॉसफी या डॉक्टर फिलॉसफी होता है।

  • भारत में पीएचडी में प्रवेश कैसे प्राप्त करें?

GC NET, CSIR UGC NET, GATE, इत्यादि एंट्रेंस एग्जाम को क्रैक करने के बाद उम्मीदवारों को भारत में पीएचडी में प्रवेश दिया जाता है।

  • भारत में पीएचडी की आयु सीमा क्या है?

GATE के माध्यम से पीएचडी करने के लिए कोई आयु सीमा नहीं है।

  • पीएचडी कितने साल का कोर्स है?

PhD कम से कम 3 वर्ष और अधिकतम 6 वर्ष का डॉक्टरेट कोर्स होता है।

आपको हमारा यह लेख कैसा लगा ?

Average rating 4.5 / 5. Vote count: 363

अब तक कोई रेटिंग नहीं! इस लेख को रेट करने वाले पहले व्यक्ति बनें।

Neeraj Jivnani

नीरज जीवनानी हिंदी सहायता के फाउंडर है। इन्होंने ही हिंदी सहायता वेबसाइट की शुरुआत की और इन्हें टेक्नोलॉजी से जुड़े रहने में काफी मज़ा आता है, न्यूज़ राइटिंग के अलावा इन्हें किताबें पढ़ने का काफ़ी शौक है। नीरज जीवनानी से आप इनके ईमेल [email protected] के माध्यम से जुड़ सकते है।

4 thoughts on “पीएचडी (PhD) कैसे करे? – PhD Kitne Saal Ka Hota Hai!”

Leave a Comment