Home » Education » UPSC Kya Hai – UPSC के लिए योग्यता, सिलेबस की पूरी जानकारी।

UPSC Kya Hai – UPSC के लिए योग्यता, सिलेबस की पूरी जानकारी।

UPSC का Full Form संघ लोक सेवा आयोग या Union Public Service Commission होता है। यह भारत की एक भर्ती एजेंसी है जो केंद्र सरकार के उच्च पदों पर नियुक्ति का कार्य करती है। UPSC के द्वारा सिर्फ Group A और कुछ Group B लेवल के अफसरों की नियुक्ति की जाती है। यूनियन पुलिस सर्विस कमिशन द्वारा भारत के सबसे बड़े प्रतियोगी परीक्षाओं यानी सिविल सेवाओं की परीक्षा (CSE) का आयोजन करवाया जाता है। अगर आप भी IAS या IPS बनने की इच्छा रखते है तो आपको UPSC Kya Hai के बारे में पता होना चाहिए।

[toc]

संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) सिविल सर्विस एग्जाम (CSE) जैसे आईएएस, आईपीएस एग्जाम के साथ ही अन्य सशस्त्र बलों की भर्ती के लिए परीक्षा का आयोजन करती है। ये परीक्षा मुख्यतः 3 चरणों में होती है- UPSC Prelims, UPSC Mains और Interview आदि। यह एक स्वतंत्र संगठन है, जिसकी स्थापना 1 अक्टूबर 1926 को हुई थी। UPSC भारत में सिविल सेवाओं और डिफेन्स सेवाओं के पदों पर नियुक्ति के लिए हर वर्ष परीक्षाओं का आयोजन करता है।

UPSC भारत में राष्ट्रिय स्तर की परीक्षा का आयोजन केंद्र सरकार और राज्य सरकार के अंतर्गत आने वाली 24 सेवाओं के लिए करता है। अगर आप सिविल सर्विस के सर्वोच्च पद कार्य करना चाहते है तो इसके लिए UPSC एग्जाम के लिए आवेदन करना होगा, इस लेख में आपको UPSC Kya Hota Hai, UPSC Me Kya Ban Sakte Hai, सिलेबस, सिलेक्शन प्रोसेस आदि की पूरी जानकारी दी गयी है।

UPSC Kya Hai

UPSC भारत की एक सेंट्रल एजेंसी है जो उच्च स्तर के सरकारी पदों अखिल भारतीय सेवाओं, केंद्रीय सेवाओं, संवर्गों के साथ-साथ भारतीय संघ के सशस्त्र बलों की नियुक्ति के लिए सिविल सर्विस एग्जाम (CSE) का आयोजन करती है। UPSC द्वारा IAS, IPS, IFS और IRS जैसे भारत के प्रमुख सरकारी पदों पर नियुक्ति की जाती है। UPSC सिविल सर्विस और डिफेन्स सर्विस दोनों में ही पदों पर नियुक्ति का कार्य करती है।

क्या आपने इसे पढ़ा: DSP Kaise Bane – DSP बनने की पूरी जानकारी।

UPSC Full Form In Hindi

UPSC Ka Full Form ‘Union Public Service Commission‘ है, इसे हिंदी में ‘संघ लोक सेवा आयोग‘ के नाम से जाना जाता है।

इसी के साथ अब आप UPSC क्या है In Hindi? यूपीएससी का फुल फॉर्म क्या है (UPSC Full Form In Hindi And English) आदि के बारे में जान चुके होंगे, चलिए अब आगे आपको इसके कार्य, आयोजित परीक्षा व सिलेक्शन प्रोसेस के बारे में बताते है।

UPSC के कार्य

भारतीय संविधान के आर्टिकल 320 के अनुसार, भारत में सभी प्रकार की सिविल सेवाओं और पदों पर नियुक्ति से सम्बंधित सभी मामलों पर सलाह लेना ज़रूरी है। UPSC के द्वारा किये जाने वाले कार्य –

  • संघ की सेवाओं पर नियुक्ति के लिए परीक्षा का आयोजन करना।
  • इंटरव्यू के माध्यम से चयन करके सीधी भर्ती करना।
  • पदोन्नति (Promotion), प्रतिनियुक्ति (Deputation) या आमेलन (Absorption) होने पर नियुक्ति करना।
  • सरकार के अनतर्गत आने वाले विभिन्न सेवाओं और पदों पर नियुक्ति के लिए नियम का निर्माण और संशोधन करना।
  • भारत के राष्ट्रपति द्वारा आयोग को भेजे गये मामलों पर सरकार को सलाह देना।

UPSC द्वारा आयोजित परीक्षाओं की सूची

यहाँ आपको UPSC के द्वारा सरकारी पदों पर नियुक्ति के लिए आयोजित करवाई जाने वाली कुछ प्रमुख और बहुचर्चित परीक्षाओं की सूची दी गयी है।

  • Civil Services Examination (CSE)
  • Indian Forest Service examination
  • Combined Defence Services Examination
  • Engineering Services Examination
  • National Defence Academy Examination
  • Naval Academy Examination
  • Combined Medical Services Examination
  • Special Class Railway Apprentice
  • Indian Economic Service/Indian Statistical Service Examination
  • Combined Geoscientist and Geologist Examination
  • Central Armed Police Forces (Assistant Commandant)

UPSC सिलेक्शन प्रोसेस

UPSC में भर्ती प्रक्रिया के लिए मुख्य रूप से उम्मीदवार को 3 चरणों को पार करना होता है-

  1. UPSC Preliminary Exam
  2. UPSC Mains Exam
  3. Personality Tests

1. UPSC Preliminary Exam

UPSC Prelims परीक्षा को Qualifying परीक्षा माना जाता है। इस परीक्षा को पास करने के लिए 33% अंक हासिल करना अनिवार्य है। इसको पास करने वाले उम्मीदवार ही अगले राउंड के लिए योग्य माने जाते है। इसमें कुल 2 पेपर होते है, जिनमें नेगेटिव मार्किंग भी होती है। हर गलत जवाब पर 1/3 अंक काट लिया जाता है। इस परीक्षा में प्राप्त अंकों को अंतिम मेरिट में शामिल नहीं किया जाता है।

UPSC Prelims Exam Pattern:

पेपरटाइपकुल प्रश्नकुल अंकसमय सीमा
सामान्य अध्ययन I (GAT)ऑब्जेक्टिव1002002 घंटे
सामान्य अध्ययन II (CSAT)ऑब्जेक्टिव802002 घंटे

2. UPSC Mains Exam

इस परीक्षा में कुल 9 पेपर होते है, जिसके लिए कुल अंक 1750 होते है। इनमें डिस्क्रिप्टिव टाइप की परीक्षा होती है। UPSC Mains में 2 पेपर भाषा के आधार पर होते है। Mains Exam की अवधि लगभग 1 हफ्ते तक होती है। इंटरव्यू राउंड में पहुँचने के लिए उम्मीदवार का इस परीक्षा में 25% अंक हासिल करना अनिवार्य होता है।

3. Interview

यह UPSC चयन प्रक्रिया का अंतिम चरण होता है। यह कुल 275 अंक का होता है। इसमें उम्मीदवार का पर्सनालिटी टेस्ट लिया जाता है जिसमें उसके व्यक्तित्व, भाषा कौशल, गुण, लक्षण और विचार, सामान्य ज्ञान तथा वर्तमान घटनाओं आदि पर सवाल किये जाते है।

UPSC मेरिट लिस्ट में कुल अंकों की संख्या 2025 होती है, इसमें सिर्फ उम्मीदवार के मेन्स परीक्षा और इंटरव्यू के अंकों को शामिल किया जाता है।

इसे भी जरूर पढ़े: SDM Full Form In Hindi – एसडीएम कौन होता है, एवं कैसे बने।

UPSC के लिए योग्यता (Eligibility)

शैक्षणिक योग्यता (Education Qualification)

  • उम्मीदवार का किसी भी मानयता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक (Graduate) होना तथा उसमें कम से कम 50% अंक से उत्तीर्ण होना अनिवार्य है।
  • स्नातक के अंतिम वर्ष में भी विद्यार्थी UPSC Preliminary परीक्षा दे सकते है, लेकिन UPSC Mains के समय स्नातक का प्रमाण होना अनिवार्य है।

उम्र सीमा और प्रयासों की संख्या (Age Limit & Number of Attempt)

UPSC परीक्षा में आवेदन के लिए विभिन्न वर्गों के लिए उम्र सीमा और प्रयासों की संख्या अलग है।

  • जनरल कैंडिडेट के लिए न्यूनतम उम्र 21 वर्ष है और अधिकतम आयु 32 वर्ष है। इसी के साथ प्रयासों की कुल संख्या 6 है।
  • SC/ST कैंडिडेट के लिए उम्र सीमा 21 वर्ष से लेकर 37 वर्ष तक है। इस वर्ग के उम्मीदवार असीमित (Unlimited) प्रयास कर सकते है और इन्हें उम्र में भी 5 वर्षों की छूट है।
  • OBC कैंडिडेट की उम्र सीमा 21 वर्ष से लेकर 35 वर्ष तक है। इनके प्रयासों की कुल संख्या 9 है और इन्हें उम्र सीमा में 3 वर्षों की छूट दी जाती है।
वर्गउम्र सीमाछूटकुल प्रयास
जनरल21-32 वर्षकोई छूट नहीं6
अनुसूचित जाति/जनजाति (SC/ST)21-37 वर्ष5 वर्षअसीमित
अन्य पिछड़ी जाति (OBC)21-353 वर्ष9

UPSC Exam Syllabus In Hindi

यूपीएससी एग्जाम सिलेबस बहुत ही बड़ा होता है जिसे सही रणनीति के साथ पढ़ना बहुत जरुरी है, आगे आपको यूपीएससी का सिलेबस क्या है इस बारे में बताया गया है।

  • प्रारंभिक परीक्षा पेपर-1(GAT): वर्तमान देश की घटनाएं, भारत एवं विश्व का भूगोल, भारतीय राष्ट्रीय आन्दोलन का इतिहास, राज व्यवस्था और शासन, आर्थिक और सामाजिक व्यवस्था, पर्यावरण, आदि।
  • प्रारंभिक परीक्षा पेपर-2 (CSAT): Comprehension, पारंपरिक और संचार कौशल, तार्किक विश्लेषण, सामान्य ज्ञान एवं मानसिक क्षमता, निर्णय लेने की शक्ति तथा समस्या का समाधान, गणित (दसवीं स्तरीय)।

आईये अब आपको आगे बताते है कि UPSC Me Kya Ban Sakte Hai व किन पदों पर कार्य कर सकते है।

यूपीएससी में कौन-कौन से पोस्ट होते हैं?

UPSC में इन पदों पर नियुक्ति की जाती है, आप इस एग्जाम के जरिये इन पदों पर कार्य सकते है –

  • भारतीय प्रशासनिक सेवा (IAS)
  • भारतीय पुलिस सेवा (IPS)
  • भारतीय वन सेवा (IFoS)
  • भारतीय विदेश सेवा (IFS)
  • भारतीय सूचना सेवा (IIS)
  • भारतीय डाक सेवा (IPoS)
  • भारतीय राजस्व सेवा (IRS)
  • भारतीय व्यापार सेवा (ITS)
  • रेलवे सुरक्षा बल (RPF)
  • इंडियन ऑडिट एंड अकाउंट्स सर्विस (IAAS)
  • इंडियन सिविल अकाउंट्स सर्विस (ICAS)
  • इंडियन कॉरपोरेट लॉ सर्विस (ICLS)
  • इंडियन डिफेंस एस्टेट सर्विस (IDES)
  • इंडियन डिफेंस अकाउंट्स सर्विस (IDAS)
  • इंडियन ऑर्डिनेंस फैक्ट्रीज सर्विस (IOFS)
  • इंडियन कम्युनिकेशन फैक्ट्रीज सर्विस (ICFS)
  • इंडियन रेलवे अकाउंट्स सर्विस (IRAS)
  • इंडियन रेलवे पर्सनल सर्विस (IRPS)
  • इंडियन रेलवे ट्रेफिक सर्विस (IRTS)
  • आर्म्ड फोर्सेज हेड क्वार्टर्स सिविल सर्विस (AFHCS) आदि।

UPSC एग्जाम के बाद Salary

UPSC परीक्षा के तहत चुने गये उम्मीदवारों को उनके पद के अनुसार सैलरी प्रदान की जाती है। सभी पदों पर उम्मीदवारों की सैलरी लगभग एक समान ही होती है। हालांकि IAS की मूल सैलरी दूसरी रैंक के मुकाबले थोड़ी ज्यादा होती है, लेकिन सभी सिविल सर्विस पर नियुक्त अधिकारीयों को सुविधाएँ समान दी जाती है।

सातवे वेतन आयोग के तहत, UPSC ट्रेनिंग के दौरान उम्मीदवारों को ₹45000 औसत सैलरी दी जाती है। जिला अधिकारी के रूप में पोस्ट होने के बाद IAS और IPS की शुरूआती सैलरी ₹56,100 होती है। इसके बाद अनुभव के साथ-साथ एक IAS की अधिकतम सैलरी ₹2,50,000 होती है और IPS की अधिकतम सैलरी ₹2,25,000 होती है।

एक नज़र इस पर भी: PCS Kya Hota Hai? – PCS ऑफिसर कैसे बने की पूरी जानकारी।

यूपीएससी की तैयारी कैसे करें

UPSC को देश की सबसे कठिन प्रतियोगी परीक्षा माना जाता है। इसमें उम्मीदवारों की संख्या भी काफी ज्यादा है, तथा इसमें प्रतिस्पर्धा बहुत है।  इसलिए इस परीक्षा को पास करने के लिए आपको बहुत ज्यादा मेहनत करनी पड़ेगी।

UPSC की तैयारी के लिए कुछ टिप्स हमने आपको दिए हैं जिनसे आपको इस परीक्षा में सहायता मिलेगी।

1. Daily News Paper पढ़े

हर रोज़ समाचार पत्र पढने से आपके सामान्य ज्ञान में वृद्धि होती है जिससे आपको UPSC परीक्षा अच्छे अंकों से पास करने में सहायता मिलती है। अगर संभव हो तो अंग्रेजी और हिंदी दोनों भाषाओं में अखबार पढ़ें इससे आपके भाषा ज्ञान में भी वृद्धि होगी।

2. Mock Test Solve करें

मॉक टेस्ट सोल्व करने के बहुत फायदे होते है इससे आपको सिलेबस समझने में मदद मिलती है। आपकी लिखने और सोचने की स्पीड बढ़ती है, आपकी तैयारी कैसी चल रही है इसका ज्ञान भी आपको मॉक टेस्ट के ज़रिये होता है इसलिए हर हफ्ते मॉक टेस्ट सोल्व करने का प्रयास करें।

3. पिछले वर्षों के Paper Solve करें

पिछले वर्षों का प्रश्न पत्र हर प्रतियोगी परीक्षा के छात्र को ज़रूर हल करना चाहिए, इससे उन्हें एग्जाम पैटर्न और सिलेबस अच्छे से समझने में और जवाब बेहतर ढंग से लिखने में सहायता मिलती है।

4. कोचिंग सेंटर जॉइन कर सकते है

प्रतियोगी परीक्षाओं खासकर UPSC परीक्षा के लिए बहुत अच्छे कोचिंग सेंटर उपलब्ध है जिनसे आपको इन परीक्षाओं को अच्छे अंकों से उत्तीर्ण करने में सहायता मिलती है। आप Self-Study यानी खुद से पढाई करके भी अच्छे अंक हासिल कर सकते है।

Conclusion

UPSC CSE (सिविल सर्विस एग्जाम) परीक्षा को पास करने के लिए आप में ‘समर्पण, ध्यान, सही दृष्टिकोण, प्रेरणा, क्या करना है, सही रणनीति और उचित निर्णय लेने’ आदि की क्षमता होनी चाहिए है। हमारी आपके लिए यही सलाह है कि लेटेस्ट UPSC Exam Pattern और Syllabus के बारे में खुद को अपडेट रखे, ताकि आप आपकी तैयारी के दौरान सही रास्ते पर रहे।

उम्मीद है इस लेख के माध्यम से आपको UPSC Exam Kya Hota Hai, UPSC Ka Full Form Kya Hai, UPSC Me Kya Hota Hai, UPSC Ka Syllabus Kya Hai व यूपीएससी के अंतर्गत क्या आता है आदि सभी सवालों के जवाब मिल गए होंगे, अगर दिए गए आर्टिकल से जुड़े आपके कोई सुझाव या प्रश्न हो तो वे आप हम तक दिए गए Comment Box में कमेंट करके पहुंचा सकते है।

FAQs

  • UPSC एग्जाम नोटिस कब जारी करती है?

UPSC एग्जाम नोटिस अपनी आधिकारिक वेबसाइट पर परीक्षा से 3 महीने पहले अपलोड कर देती है। UPSC एग्जाम नोटिस में सरकार द्वारा निर्धारित परीक्षा के नियम शामिल होते हैं।

  • UPSC परीक्षा के लिए अप्लाई कैसे करें?

UPSC परीक्षा के लिए ऑनलाइन आवेदन करने के लिए आप UPSC की आधिकारिक वेबसाइट upsconline.nic.in पर जा सकते है।

  • क्या UPSC सिविल सर्विस एग्जाम में नेगेटिव मार्किंग होती है?

हाँ जी. सिविल सर्विसे एग्जाम में गलत जवाब देने पर एक तिहाई (1/3) अंक काटा जाता है। इसलिए उम्मीदवारों को यही सलाह दी जाती है कि उनसे जिस प्रश्न का सही जवाब आता हो सिर्फ उसी को सोल्व करना चाहिए।

  • UPSC से क्या बनते है?

यूपीएससी से आप IAS, IPS IFS, IRS, IFoS आदि 24 सेवाओं के लिए नियुक्ति प्राप्त कर सकते है।

आपको हमारा यह लेख कैसा लगा ?

Average rating 4.7 / 5. Vote count: 91

अब तक कोई रेटिंग नहीं! इस लेख को रेट करने वाले पहले व्यक्ति बनें।

एडिटोरियल टीम

एडिटोरियल टीम, हिंदी सहायता में कुछ व्यक्तियों का एक समूह है, जो विभिन्न विषयो पर लेख लिखते हैं। भारत के लाखों उपयोगकर्ताओं द्वारा भरोसा किया गया।Email के द्वारा संपर्क करें - [email protected]

Leave a Comment