Home » Technology » D.Ed Kya Hai – डी एड का फुल फॉर्म, योग्यता, परीक्षा, विषय।

D.Ed Kya Hai – डी एड का फुल फॉर्म, योग्यता, परीक्षा, विषय।

D.ED Full Form डिप्लोमा इन एजुकेशन होता है। यह एक सर्टिफाइड शिक्षक प्रशिक्षण कार्यक्रम है, जिसमें उम्मीदवारों को प्राथमिक विद्यालयों के साथ-साथ सरकारी स्कूलों में पढ़ाने के लिए तैयार किया जाता है। क्या आप भी पढ़ाने में रूचि रखते है, और एक टीचर के रूप भी अपनी पहचान बनाना चाहते है तो D.Ed आपके करियर के लिए एक अच्छा विकल्प साबित हो सकता है।

[toc]

इस कोर्स में आगे बढ़ने से पहले इस कोर्स की पूरी जानकारी (D.Ed Course Details in Hindi) जरूर प्राप्त कर लें जैसे- D.Ed Kya Hai और डीएड का फुल फॉर्म क्या है, इसके लिए योग्यता, परीक्षा आदि। D.Ed एक डिप्लोमा कोर्स है, जिसमें उम्मीदवारों को एक बेहतर शिक्षक बनने की ट्रेनिंग दी जाती है, ताकि वह बच्चों को सही ज्ञान दे सके। इस कोर्स को करने के बाद आप किसी भी सरकारी या प्राइवेट स्कूल में कक्षा 1 से 8 के विद्यार्थियों को पढ़ाने के लिए सक्षम हो जाते है।

यह पाठ्यक्रम उन उम्मीदवारों के लिए सबसे अच्छा है जो शिक्षा के क्षेत्र में एक अनुशंसित करियर बनाने की इच्छा रखते है या जो स्कूल के माध्यम से छात्रों को प्रशिक्षित करने की इच्छा रखते है। इसलिए खास यह पोस्ट उन्ही लोगों के लिए बनाई गई है। इसमें आपको DEd Kya Hota Hai, D.ED Full Form in Hindi, डी एड के विषय क्या है आदि विभिन्न जानकारियां प्राप्त होगी।

D.Ed Kya Hai

D.Ed Kya Hai

Diploma in Education (D.Ed) एक सर्टिफिकेट लेवल का ट्रेनिंग कोर्स है, जिसमें उम्मीदवारों को शिक्षक बनने की ट्रेनिंग दी जाती है। यह दो साल का डिप्लोमा कोर्स है जिसे फुल टाइम और डिस्टेंस लर्निंग दोनों तरह से किया जा सकता है। यह कोर्स करने के बाद आप कक्षा 1ली से 8वीं तक के विद्यार्थियों को पढ़ाने के लिए सक्षम हो जाते है। D.Ed कोर्स के बाद आप किसी भी सरकारी स्कूल या प्राइवेट स्कूल में शिक्षक के पद पर कार्य कर सकते हैं।

इस कोर्स में आपको सैद्धांतिक (Theoretical) और व्यावहारिक (Practical) दोनों प्रकार के विषय पढ़ाए जाते है। यह कोर्स एक प्रत्याशी को नर्सरी और प्राथमिक स्कूल का शिक्षक बनने योग्य बनाता है। यह कोर्स भारत के सरकारी विद्यालयों में अच्छा प्राथमिक शिक्षण प्रदान करने का लक्ष्य रखता हैं। साथ में यह शिक्षा के क्षेत्र में अच्छा रोज़गार भी देता हैं।

यहाँ तक आपने जाना कि DEd Kya Hai अब जानते है डी एड फुल फॉर्म (DEd Full Form) क्या होता है।

क्या आपने यह पोस्ट पढ़ी: Teacher Kaise Bane – सरकारी टीचर बनने से जुड़ी पूरी जानकारी।

D Ed Ka Full Form

D.ED Full Form – “Diploma in Education” होता है, जबकि हिन्दी में DEd Full Form – “शिक्षा में डिप्लोमा” होता है।

अब आप यह जान चुके हैं कि डीएड का मतलब क्या होता है? या D Ed Full Form क्या है? अब जानिए डी एड कितने साल का कोर्स है और D.Ed में कितने सब्जेक्ट होते हैं की पूरी जानकारी।

D.Ed Course Details in Hindi

किसी भी कोर्स करने के लिए उसके लिए निर्धारित पात्रताओं को पूरा करना जरुरी होता है इसलिए आगे आपको DEd Karne Ke Liye Qualification क्या चाहिए होती है इस बारे में बताया गया है।

  • डीएड के लिये योग्यता – यह कोर्स करने के लिए सबसे पहले आपको 12वीं कक्षा किसी भी स्टीम (Science, Commerce & Arts) से कम से कम 50 प्रतिशत अंकों से उत्तीर्ण करनी होगी।
  • D.Ed Kitne Saal Ka Course Hai  – यह दो साल का कोर्स है, जिसमें प्रवेश के लिए बहुत से कॉलेजेस में प्रवेश परीक्षा आयोजित की जाती है जबकि किसी कॉलेज में मेरिट लिस्ट के आधार पर भी प्रवेश दिया जाता है।
फुल फॉर्मडिप्लोमा इन एजुकेशन (D.ED)
कोर्स का स्तरग्रेजुएशन
अवधि2 वर्ष
परीक्षा का प्रकारD.ED परीक्षा वार्षिक आधार पर आयोजित की जाती है।
योग्यतामान्यता प्राप्त बोर्ड से 10वीं + 12वीं कक्षा 50% अंकों से उत्तीर्ण
कोर्स की फीसऔसत फीस 15,000-70,000 रूपये वार्षिक
औसत सैलरी2 से 2.50 लाख रूपये साल

जरूर पढ़े: TET Exam Kya Hai – TET के लिए योग्यता, सिलेबस व एग्जाम पैटर्न 2022

D.Ed Me Kitne Subject Hote Hai

डीएड दो साल का डिप्लोमा कोर्स है जिसके पाठ्यक्रम में मुख्य कांसेप्ट को कवर करने वाले 2 सेमेस्टर शामिल है। जिसमें एक सेमेस्टर है थेयोरिटिकल और दूसरा है प्रैक्टिकल।

डी एड के विषय

अब देखते हैं डीएड की सब्जेक्ट्स लिस्ट। इस कोर्स के विषय व्यवहार कौशल पर आधारित होते हैं। नीचे आपको डीएड के सभी सब्जेक्ट्स नाम दे रखे हैं –

  • Child Development And Learning
  • Curriculum And Pedagogy
  • Regional Language
  • Environmental Science Teaching
  • Mathematics Teaching
  • Art Education
  • Physical Education
  • Literature
  • Social Science Teaching
  • General Science Education
  • Criticism Lessons
  • Educational Psychology
  • Methods of Teaching

D.Ed करने के बाद क्या करें?

डीएड कोर्स करने के बाद आप किसी भी सरकारी या प्राइवेट स्कूल में बतौर शिक्षक पढ़ा सकते हैं। या चाहें तो आप D.Ed करने के बाद B.Ed कोर्स के लिए भी अध्यन कर सकते हैं।

D.Ed Course Fees कितनी है?

एवरेज फीस 15,000-70,000 रूपये प्रति वर्ष है हालांकि यह प्रत्येक संस्थान की लोकप्रियता एवं वहां प्रदान की जाने सुविधाओं के हिसाब से अलग-अलग हो सकती है।

एक नज़र इस पर भी: सरकारी रिजल्ट 2022 – Sarkari Results Hindi, Latest Jobs Updates

Conclusion

डीएड करके आप एक अच्छे शिक्षक बन सकते हैं। क्योंकि यह कोर्स आपको छात्रों को समझाने के लिए सक्षम बनाता हैं। इस कोर्स को करने के द्वारा आप हमारे देश के भविष्य के निर्माण में अपना योगदान दे पाएंगे। इस लेख में आपने जाना कि डीएड क्या होता है (D.Ed Kya Hota Hai in Hindi), D. Ed Full Form in Hindi, और D.Ed Course Details जैसे कि डीएड कितने साल का है वग़ैरा।

हमें उम्मीद हैं कि यह सब डीएड के बारे में जानकारी पाकर आपके मन की असमंजस दूर हुई होगी और आपकी Career Planning आसान हुई होगी। हमें नीचे कमेंट्स में बताए कि यह लेख आपको कितना उपयोगी हुआ।

FAQs

  • क्या D.ED एक डिग्री आधारित कोर्स है?

नहीं, यह एक सर्टिफिकेट कोर्स है जिसे उम्मीदवार अपनी 12वीं कक्षा उत्तीर्ण करने के बाद कर सके है।

  • क्या B.ED और D.ED में क्या अंतर है?

B.ED तीन वर्ष का बैचलर डिग्री कोर्स है जबकि D.ED दो वर्ष का सर्टिफिकेट कोर्स है।

  • D.Ed कोर्स करने के लिए पात्रता मानदंड क्या है?

इसके लिए न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता किसी भी मान्यताप्राप्त बोर्ड से कम से कम 50% अंकों के साथ 12वीं कक्षा उत्तीर्ण है।

आपको हमारा यह लेख कैसा लगा ?

Average rating 4.7 / 5. Vote count: 230

अब तक कोई रेटिंग नहीं! इस लेख को रेट करने वाले पहले व्यक्ति बनें।

एडिटोरियल टीम

एडिटोरियल टीम, हिंदी सहायता में कुछ व्यक्तियों का एक समूह है, जो विभिन्न विषयो पर लेख लिखते हैं। भारत के लाखों उपयोगकर्ताओं द्वारा भरोसा किया गया।Email के द्वारा संपर्क करें - [email protected]

Leave a Comment