Home » Shayari » Meditation Kaise Kare? – यह फायदे है नियमित ध्यान करने से।

Meditation Kaise Kare? – यह फायदे है नियमित ध्यान करने से।

इस भागती-दौड़ती ज़िन्दगी में मन और शरीर को शांत रखना अक्सर लोग भूल जाते है। शरीर भले थक जाए, पर अगर मन शांत रहे, तो शरीर सदैव स्वस्थ रहता है। शरीर और मन दोनों को शांत और स्वस्थ रखने का सबसे आसान और फायदेमंद तरीका है ‘मेडिटेशन’ करना। परन्तु कई लोगों को पता नहीं होता कि मेडिटेशन क्या है एवं Meditation Kaise Kare जो आज हम आपको इस लेख में बताने जा रहे है।

[toc]

मैडिटेशन यानि ध्यान एक ऐसी तकनीक है जिससे मन शांत और दिमाग स्थिर रहता है। आपका मन जितना शांत रहेगा, काम में उतना अधिक ध्यान लगेगा। इसलिए, हर दिन थोड़े वक़्त के लिए ही सही, पर Meditation करना ज़रूरी है। पर मेडिटेशन का मतलब सिर्फ आँखें बंद करके बैठना नहीं होता।

ध्यान या Meditation Karne Ka Sahi Tarika होता और अगर आप नहीं जानते कि मेडिटेशन कैसे करें? Meditation Ki Shuruat Kaise Kare और एक जगह पर ध्यान केंद्रित कैसे करें, तो हमारे इस आर्टिकल को अंत तक ज़रूर पढ़िए और जानिए मेडिटेशन (ध्यान) क्या है और Meditation Kaise Karen की जानकारी विस्तार में।

Meditation Kaise Kare

Meditation Kya Hai

मेडिटेशन का अर्थ है (Meditation Meaning in Hindi) अपने मन को किसी एक जगह, विचार, या कार्य पर केंद्रित करना। हमारा मन एक ही समय में कई तरह की बातें सोचता है। ऐसे में मन की शांति भंग हो जाती है। ध्यान करने से हमें आतंरिक रूप से शांति का अनुभव होता है। कुछ वक्त के लिए हमारे सभी तनाव (Depression) और चिंता दूर हो जाते है और इसका हमारे ऊपर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है।

ध्यान एक ऐसी युक्ति है जो आपको मानसिक और शारीरिक तौर पर कई तरह से मदद कर सकता है। यह आपकी याददाश्त को तेज करने, तनाव को कम करने और एक व्यक्ति के रूप में आपको अधिक कुशल एवं प्रफुल्लित बनाने में सहायक होता है। साथ ही साथ यह क्रोध को आप पर हावी नहीं होने देता। ऐसे और भी कई फायदे होते है नियमित ध्यान या मेडिटेशन करने के।

Meditation Kab Aur Kaise Kare और Meditation Kaise Shuru Kare ये एक बहुत ही आवश्यक व महत्वपूर्ण सवाल है, जिसका जवाब हम आपको आगे देने जा रहे है। और रही बात मेडिटेशन कैसे किया जाता है या Meditation Kaise Kare in Hindi की, तो वो भी हम आपको इसी लेख में बता रहे है।

Meditation Kaise Kare

ध्यान (Meditation) करने का सबसे सही वक्त होता है अमृतावेला, यानी सुबह 4-5 बजे का समय और नुमाशम, यानि शाम के 6-7 बजे का समय, क्योंकि इस वक्त चारो तरफ शांति रहती है और हमारा मन भी शांत रहता है। ध्यान शुरू करना एक अच्छा फैसला है लेकिन इसे करने के कुछ नियम होते है जैसे- शुरुआत में आपको लंबे समय तक मेडिटेशन से बचना चाहिए, ​भोजन के बाद मेडिटेशन न करें,​ जागरूक और सक्रिय रहें, एवं ​हमेशा खुले वातावरण में ध्यान करें आदि।

ध्यान करने के लिए या मेडिटेशन कैसे करें हिंदी में जानने के लिए निचे बताये गए बिंदुओं को ध्यानपूर्वक पढ़े –

1. Meditation के लिए शांत व खुले स्थान का चुनाव करें।

Peace Place for Meditation

Meditation किसी शांत एवं खुले जगह पर ही सबसे अच्छे से हो सकती है। इसलिए ऐसी जगह का चयन करें, जहाँ किसी भी तरह का शोर ना हो। शांतिपूर्ण वातावरण ध्यान के अनुभव और अधिक आनंदमय बनाता है जिससे आप ऐसा अनुभव करते है जैसे आप किसी और ही दुनिया में हो। इसके अलावा अपने चारों ओर बहने वाली शुद्ध ठंडी हवा और पक्षियों के चहचहाट की मधुर आवाज आपके मन में एक अद्भुत ऊर्जा, शांति और प्रेम का रस घोल देती है।

2. सही समय का चुनाव करें।

Choose Right Time For Meditation

Meditation करने का वैसे तो कोई नियमित समय नहीं होता, पर अगर भौर और शाम को मेडिटेशन किया जाए, तो ध्यान ज्यादा अच्छे से लगता है। यदि आप भौर या शाम को मैडिटेशन करते है तो आपको शांतिपूर्ण वातावरण मिलता है जिससे आपका मन एकाग्रचित रहता है।

3. कुछ देर शांत और सीधा रहने का अभ्यास करें।

staying calm and upright for some time

अब अपनी आँखें बंद करके शांति में बैठे। मैडिटेशन करते वक़्त आप एक आरामदायक मुद्रा (Comfortable Posture) में बैठिये, ताकि आपको अधिक समय तक बैठने में परेशानी ना हो। हांलांकि रोजाना ध्यान पर बैठने से धीरे-धीरे आपका ध्यान पर बैठने का समय भी बढ़ता जायेगा।

4. अब धीरे-धीरे गहरी लंबी सांस ले।

slowly take deep long breaths

शुरुआत में आपका मन इधर-उधर जाता है ऐसे में धीरे-धीरे गहरी साँस ले और मन को एकाग्रचित रखने का प्रयास करें। आहिस्ता-आहिस्ता आपका मन शांत और आपको शारीरिक आराम (Body Relax) मिलता जायेगा। और फिर आप अपने मन और मस्तिष्क को दोनों आँखों के बिच नियंत्रित कर पाएंगे।

5. अब अपनी सांसों पर ध्यान केंद्रित करें।

focus on your breath

श्वास लें और छोड़ें के पैटर्न को ध्यान में रखते हुए अपना ध्यान सांस पर केंद्रित करें। आपको अपना पूरा ध्यान दोनों आँखों के बिच में केंद्रित करके रखना है। गहरी सांस लेना और छोड़ना नाड़ी शोधन प्राणायाम होता है जिससे साँस की लय स्थिर हो जाती है और मन शांतिपूर्ण एवं एकाग्रचित होकर ध्यान अवस्था में चला जाता है।

6. चेहरे पर मुस्कराहट रखें।

Keep-Smile-on-Your-Face

मेडिटेशन के अनुभव को और अच्छा बनाने के लिए चेहरे पर सौम्य मुस्कान जरूर रखे। इसकी विधि पूरी होने के बाद आंखों को आराम से धीरे-धीरे खोले और मन में शांति का अनुभव महसूस करे। निरंतर सौम्य मुस्कान से आप आंतरिक रूप से आराम और शांतिपूर्ण महसूस करेंगे, जिससे रोजाना आपके ध्यान का अनुभव और गहरा होता जाता है।

Pregnancy Me Meditation Kaise Kare, Deep और Mindfulness Meditation Kaise Kare, इन सभी सवालों का जवाब एक यही है।

रही बात Third Eye और Om Shanti Meditation Kaise Kare, तो इसके लिए आपको एक शांत जगह ढूंढ़कर बिलकुल Relax होकर बैठना है और अपना ध्यान अपनी आँखों के बीच में लगाना है और धीरे-धीरे सभी Thoughts को अपने मस्तिष्क से निकालते जाना है।

आप चाहे तो सोते हुए भी ध्यान लगा सकते है। Sote Hue Meditation Kaise Kare इसका तरीका है किसी शांत जगह पर लेट जाइए, अपनी आँखें बंद कीजिए और धीरे-धीरे सांस ले। गहराई से सांस लें और छोड़ें। इस बीच अगर आपके मन में किसी भी तरह का ख़याल आता है तो अपना ध्यान अपने स्वास पर केंद्रित कर ले। मैडिटेशन करते-करते ही आप सो जाएंगे।

Meditation Ke Prakar

Meditation कई तरह से किया जा सकता है। आप घर पर बैठकर भी मेडिटेशन कर सकते है, सोते हुए भी कर सकते है और चलते-चलते भी कर सकते है। मेडिटेशन के 5 मुख्य प्रकार इस तरह है –

  • Deep Meditation: डीप मेडिटेशन का अर्थ है कि आपका मन जागरूकता की सतह से सुक्ष्म जागरूकता को होते हुए, अंतः बिना किसी जागरूकता की स्तिथि में चला जाएगा। आपका मन हज़ारो विचारों को पीछे छोड़ते हुए बिलकुल गहराई तक पहुंच जाएगा जहाँ किसी भी तरह का कोई विचार उस तक नहीं पहुंच सकेगा।
  • Third Eye Meditation: तृतीय नेत्र ध्यान आपके मन को एकाग्र करने में सबसे अधिक फायदेमंद है। इसमें आपको अपना ध्यान अपने Eyebrows के बीच स्तिथ तीसरे नेत्र पर लगाना होता है और धीरे-धीरे अपनी सांसों की गति को समझना पड़ता है।
  • Mindfulness Meditation: माइंडफुलनेस मेडिटेशन में आप अपने विचारों पर या अपने श्वास पर अपना ध्यान क्रेंद्रित करते है,और उनको Observe करते है। इससे आपकी एकाग्रता शक्ति में वृद्धि होती है और इसे आप कभी भी और कहीं भी Practice कर सकते है।
  • Om Shanti Meditation: ॐ शांति मेडिटेशन में आपको अपना ध्यान एक Point Of Light पर केंद्रित करना होता है और धीरे-धीरे अपनी सभी चिंताओं को मस्तिष्क से हटाते जाना होता है। इससे शरीर को बहुत ठंडक पहुँचती है।
  • Mantra Meditation: मंत्र मेडिटेशन में आपका ध्यान एक शब्द या ध्वनि पर केंद्रित होता है, जैसे – ‘‘। इस शब्द का उच्चारण करते-करते आपका ध्यान पूरी तरह से आपके वातावरण में लीन हो जाता है। यह आपके जागरूकता को गहराई तक अनुभव करने की क्षमता को बढ़ाता है।

Meditation Ke Fayde

Meditation Doctors द्वारा लगभग सभी Patients को Recommend किया जाता है। ये एक ऐसा इलाज है जिसका कोई Side Effect नहीं है। Stress, Anxiety, Heart Disease, Insomnia, किसी भी तरह की परेशानी का ये एक बहुत ही असरदायक इलाज है।

मेडिटेशन के फायदें कुछ इस तरह है:

  • Mental और Physical Health, दोनों को स्वस्थ रखने में मेडिटेशन काफी मदद करता है।
  • मेडिटेशन तनाव कम करने में मदद करता है।
  • यह गलत लतो, जैसे- Smoking, Drinking, नशा, से छुटकारा पाने में भी मदद करता है।
  • यह आपके Concentration Level (एकाग्रता) को बहुत अधिक बढ़ाता है और आपको काफ़ी हद तक शांत भी बनाता है।
  • मेडिटेशन करने से अनिंद्रा (Insomnia) की बीमारी में भी काफ़ी राहत मिलती है।
  • मेडिटेशन करने से दिल का दौरा पड़ने का खतरा कम हो जाता है, और Blood Pressure और Sugar भी Control में रहता है।

Conclusion

अपने जीवन में एक सकारात्मक ऊर्जा का संचार करने के लिए मेडिटेशन सबसे अच्छा माध्यम है। इससे आपके शरीर के साथ आपका मन भी स्वस्थ और एक नई ऊर्जा से भरपूर रहेगा।

तो ये थी मेडिटेशन कैसे किया जाता है की पूरी जानकारी (Meditation in Hindi)। उम्मीद है इस पोस्ट ‘मैडिटेशन इन हिंदी’ को पढ़कर आप समझ गए होंगे कि Meditation Kaise Karte Hain, Meditation Kya Fayde Hote Hai और मेडिटेशन कब करना चाहिए।

अगर आप अपने दोस्तों तक भी मेडिटेशन के फायदे और Meditation Kaise Karen Hindi Mein को पहुंचाना चाहते है तो हमारे इस आर्टिकल को उनके साथ ज़रूर Share कीजिये और अगर आपको हमारा यह लेख ‘मेडिटेशन क्या है और कैसे करें’ पसंद आया हो, या आपके पास हमारे लिए कोई प्रश्न हो, तो उसे Comment में लिखकर हमें बताए।

एक नज़र इन आर्टिकल्स पर भी:

आपको हमारा यह लेख कैसा लगा ?

Average rating 4.2 / 5. Vote count: 229

अब तक कोई रेटिंग नहीं! इस लेख को रेट करने वाले पहले व्यक्ति बनें।

Neeraj Jivnani

नीरज जीवनानी हिंदी सहायता के फाउंडर है। इन्होंने ही हिंदी सहायता वेबसाइट की शुरुआत की और इन्हें टेक्नोलॉजी से जुड़े रहने में काफी मज़ा आता है, न्यूज़ राइटिंग के अलावा इन्हें किताबें पढ़ने का काफ़ी शौक है। नीरज जीवनानी से आप इनके ईमेल [email protected] के माध्यम से जुड़ सकते है।

2 thoughts on “Meditation Kaise Kare? – यह फायदे है नियमित ध्यान करने से।”

Leave a Comment