Home » Education » Paramedical Kya Hai – पैरामेडिकल कोर्स से जुड़ी पूरी जानकरी।

Paramedical Kya Hai – पैरामेडिकल कोर्स से जुड़ी पूरी जानकरी।

पैरामेडिकल हेल्थकेयर से संबंधित सेक्टर है जिसमे आप सहायक डॉक्टर की तरह काम करते हैं। साधारण भाषा में अगर समझाएं तो जब हम हॉस्पिटल जाते है, तो रोगी को जो प्राथमिक चिकित्सा प्रदान करता है, पैरामेडिकल स्टाफ ही होता है। इसके अलावा पैरामेडिकल स्टाफ ही इमरजेंसी के समय डॉक्टर के साथ Medical Care Provider के रूप में भी कार्य करता है। अगर आप भी मेडिकल के क्षेत्र में करियर बनाना चाहते है तो आप Paramedical Course कर सकते है। इस लेख में जाने Paramedical Kya Hai एवं Paramedical Courses List हिंदी में।

[toc]

आजकल हेल्थकेयर सेक्टर में स्कोप काफी बढता जा रहा है, और पैरामेडिकल फील्ड में आगे बढ़ने की अपार संभावना है क्योंकि यह क्षेत्र काफी बड़ा है। पैरामेडिकल एक मेडिकल की फील्ड से जुड़ा कोर्स है जिसे करने करने बाद विद्यार्थी किसी भी अस्पताल में एक सहायक चिकित्सक के रूप में अपनी सेवाएं देता है इसमें मूल रूप से प्राथमिक चिकित्सा और ट्रॉमा आदि सेवाएं एक पैरामेडिकल छात्र प्रदान करता है। साथ ही ये इमरजेंसी स्थिति में मेडिकल केयर प्रोवाइडर के रूप में भी कार्य करता है।

आज की तारीख में Paramedical एक बहुत बड़ा क्षेत्र है, जिसमें कई तरह के कोर्स होते है। जिन्हें आप अपनी रूचि के अनुसार चुन सकते है। और उसमें अपना करियर आसानी से बना सकते है। तो अगर आप भी पैरामेडिकल के क्षेत्र में जाना चाहते है, तो यह आपके लिए बहुत अच्छा विकल्प हो सकता है। हालांकि इस कोर्स में जाने पहले से इससे जुड़ी सभी महत्वपूर्ण जानकारी (Paramedical in Hindi) जैसे- Paramedical Kya Hota Hai, पैरामेडिकल कोर्स के लिए योग्यता, पैरा मेडिकल की तैयारी कैसे आदि जरूर प्राप्त कर लें।

Paramedical Kya Hai

पैरामेडिकल विज्ञान से जुड़ा एक क्षेत्र है। पैरामेडिकल फील्ड में काम करने वाले व्यक्ति को एक सहायक चिकित्सक भी कहा जाता है। यह भी एक डॉक्टर की तरह ही काम करते है। इनके द्वारा किये जाने वाले कार्य में फ्रेक्चर प्रबंधन, जलने की दुर्घटना, रीढ़ की हड्डी की चोट का मूल्यांकन करना आदि काम आते है। इसके अलावा पेशेंट को जो फर्स्ट ऐड दिया जाता है, वह पैरामेडिकल स्टाफ के लोग ही देते है। इस कोर्स को करने के बाद आप Diagnoses, Physio, Laboratory में Technician के रूप में भी काम कर सकते है।

अब आपको मालूम हो गया होगा कि पैरामेडिकल क्या होता है, या Paramedical Course Kya Hota Hai आईये अब आपको आगे 12 वीं के बाद पैरामेडिकल पाठ्यक्रमों की सूची (List of Paramedical Courses) और पैरामेडिकल से जुड़ी सारी महत्वपूर्ण जानकारी विस्तार से बताते है।

क्या आपने यह पोस्ट पढ़ी: PGDM Course Kya Hai? – PGDM Course कैसे करें!

पैरामेडिकल स्टाफ का प्रमुख कार्य

  • पैरामेडिकल स्टाफ जिन्हें हेल्थ वर्कर्स के रूप में भी जाना जाता है फिजिशियन के मार्गदर्शन में क्लीनिकल सेवाएं देते है।
  • Paramedical वर्कर्स डेली रूटीन प्रोसीजर्स जैसे- ब्लड सैंपल लेना, मरीज को डेली एनालाइज करना आदि कई सारे कामों को परफॉर्म करते है।
  • मरीज के उपचार के दौरान डॉक्टरों और चिकित्सक टीम के अन्य सदस्यों के साथ मिलकर काम करना या उनको सहायता देना।

पैरामेडिकल कोर्स के लिए योग्यता

यदि आप पैरामेडिकल कोर्स में एडमिशन लेना चाहते है, तो आपका 10वीं के बाद विज्ञान विषय से 12वीं पास होना आवश्यक है। इसके बाद ही आप पैरामेडिकल डिप्लोमा कोर्स और डिग्री कोर्स कर सकते है। साथ ही आपके 12वी में 50% से ज्यादा अंक होने चाहिए और उम्मीदवार की आयु 17 साल से कम होनी चाहिए।

Paramedical Kaise Kare

भारत में पैरामेडिकल पाठ्यक्रमों में तीन तरह के कोर्स करवाए जाते है; डिग्री कोर्स, डिप्लोमा कोर्स, सर्टिफ़िकेट कोर्स। आप इन तीनों में से किसी भी कोर्स को चुन सकते है। मतलब अगर आप डिप्लोमा कोर्स चुनते है तो आप इसे अपनी दसवीं कक्षा के बाद कर सकते है, वहीं अगर आप डिग्री कोर्स चुनते है तो उसके लिए आपको अपनी 12वीं कक्षा साइंस PCB ( फिजिक्स, केमिस्ट्री और बायोलॉजी) से करनी होगी। भारत के टॉप कॉलेजेस से पैरामेडिकल कोर्स करने के लिए प्रवेश परीक्षाएं भी आयोजित करवाई जाती है जबकि बहुत सी यूनिवर्सिटी एवं कॉलेजेस मेरिट लिस्ट के आधार पर भी एडमिशन देते है।

पैरामेडिकल कोर्स फीस जो कि इस बात पर निर्भर करती है, की आप किस कॉलेज में एडमिशन ले रहे है। अगर आप पैरामेडिकल डिग्री कोर्स चुनते है तो यह 3 से 4 वर्ष साल तक का कोर्स होता है।

Paramedical Courses List

जैसा कि आपने ऊपर जाना की पारा मेडिकल कोर्स में डिप्लोमा/सर्टिफिकेशन एवं डिग्री कोर्स करवाए है उसी आधार पर इनकी कोर्स लिस्ट भी अलग-अलग है जो आपको निचे दी गयी है –

बैचलर डिग्री पैरामेडिकल कोर्स

अगर आप पैरामेडिकल में बैचलर डिग्री प्राप्त करना चाहते है तो इसके लिए आपकी 12वीं साइंस PCB स्ट्रीम से न्यूनतम 50% अंकों के साथ उत्तीर्ण होना आवश्यक है, क्योंकि तभी आप इसमें एडमिशन प्राप्त कर सकते है। पैरामेडिकल बैचलर डिग्री कोर्स की अवधि 3 से 4 वर्ष की होती है।

B.Sc. इन मेडिकल रिकॉर्ड टेक्नोलॉजीB.Sc. इन मेडिकल इमेजिंग टेक्नोलॉजी
बैचलर ऑफ़ फिजियोथेरेपीB.Sc. इन एनेस्थीसिया टेक्नोलॉजी
B.Sc. इन ओप्टामीटरB.Sc. इन नर्सिंग
B.Sc. इन X-Ray टेक्नोलॉजीबैचलर ऑफ आयुर्वेदिक मेडिसिन एंड सर्जरी
बैचलर ऑफ़ रेडिएशन टेक्नोलॉजीबीएससी इन मेडिकल इमेजिंग टेक्नोलॉजी
B.Sc. इन डायलिसिस थेरेपीबैचलर आफ ऑक्यूपेशनल थेरेपी
B.Sc. मेडिकल लैब टेक्नोलॉजीB.Sc. इन न्यूक्लियर मेडिसिन टेक्नोलॉजी

पैरामेडिकल डिप्लोमा कोर्स

  • डिप्लोमा इन डायलिसिस टेक्नोलॉजी
  • डिप्लोमा इन नर्सिंग केयर असिस्टेंट
  • डिप्लोमा इन ओटी टेक्निशियन
  • डिप्लोमा इन एक्सरे टेक्नोलॉजी
  • ऑडीओमेट्री तकनीशियन में डिप्लोमा
  • भौतिक चिकित्सा में डिप्लोमा
  • ऑडियोलॉजी और स्पीच थेरेपी में डिप्लोमा

पैरामेडिकल सर्टिफ़िकेट कोर्स

अगर आपने अपनी 10वीं या 12वीं कक्षा उत्तीर्ण कर ली है तो निचे दिए सर्टिफिकेशन कोर्स करने की अवधि 6 महीने से लेकर 2 साल तक की है।

सर्टिफिकेट इन होम बेस्ड हेल्थ केयरMRI टेक्निशियन
सर्टिफिकेट इन नर्सिंग केयर असिस्टेंटनर्सिंग केयर असिस्टेंट
होम हेल्थ आइडे (HHA)सर्टिफिकेट इन डेंटल असिस्टेंट
सर्टिफिकेट इन रूरल हेल्थ केयरसर्टिफिकेट इन जनरल ड्यूटी असिस्टेंट
सर्टिफिकेट इन डायलिसिस टेक्नीशियनसर्टिफिकेट इन टेक्नीशियन लैब असिस्टेंट
सर्टिफिकेट इन x-Ray टेक्नीशियनसर्टिफिकेट इन ECG एंड CT स्कैन टेक्नीशियन
सर्टिफिकेट इन होम बेस हेल्थ केयरसर्टिफिकेट इन एच आई वी एंड फेमिली एजुकेशन

पैरामेडिकल पोस्ट ग्रेजुएट कोर्स

  • मास्टर ऑफ़ रेडिएशन टेक्नोलॉजी
  • मास्टर ऑफ़ मेडिकल लैब टेक्नोलॉजी
  • मास्टर ऑफ़ पैथोलॉजी टेक्नोलॉजी
  • PG डिप्लोमा इन मैटरनल एंड चाइल्ड हेल्थ
  • PG डिप्लोमा इन Geriatric मेडिसिन
  • मास्टर ऑफ़ फार्मेसी
  • ऍम. एस. सी. इन नर्सिंग

जरूर पढ़े: RSCIT Computer Course Kya Hai – RSCIT कंप्यूटर कोर्स कैसे करें!

Paramedical Course Karne Ke Baad Kya Kare

पैरामेडिकल करने के बाद अनेक सेक्टर्स उपलब्ध है, जहां पर आप आसानी से नौकरी कर सकते है। यह एक ऐसा कोर्स है जिसकी विदेशों में बहुत मांग होती है।

फिजियोथेरेपिस्टMRI टेकनीशियन
नर्सिंग असिस्टेंटडेंटल असिस्टेंट
ऑपरेशन थ्रेटर अस्सिस्टेंटएम्बुलेंस असिस्टेंट
रेडियोग्राफीडेगोनेसिस
  • रेडियोग्राफी

इसके अंतर्गत रेडिएशन के द्वारा डायग्नोस्टिक टेस्ट होता है। रेडियोग्राफी में अल्ट्रासाउंड, सिटीस्कैन, एक्स रे, एमआरआई आदि किया जाता है। प्राइवेट हॉस्पिटल, सरकारी हॉस्पिटल, डायग्नोस्टिक सेंटर, नर्सिंग होम में इनकी आवश्यकता होती है।

  • ओप्टोमेट्री

ओप्टोमेट्री में इंसानो की आँखों की क्रियाविधि शामिल होती है, जिसमें आँखों की सभी प्रकार की परेशानियों को जांच की जाती है। ओप्टोमेट्री के अन्दर आप डिप्लोमा और डिग्री कोर्स कर सकते है। इसके बाद आप किसी भी अच्छे आई क्लिनिक पर और आँखों के हॉस्पिटल में आसानी से जॉब कर सकते है।

  • मेडिकल लेबोरेटरी

मेडिकल लेबोरेटरी में आप जॉब कर सकते है, जहां पर किसी रोग को जाँचने के लिए जो टेस्ट किये जाते है वो इसके अंतर्गत आते है। जिसमें ब्लड बैंक, क्लीनिकल टेक्नोलॉजी, माइक्रोबायोलॉजी आते है। इस कोर्स को करने के बाद आप क्लिनिक, इमरजेंसी सेंटर, सरकारी या प्राइवेट अस्पताल में नौकरी कर सकते है।

  • फार्मासिस्ट

फार्मास्युटिकल प्रोडक्शन के अलग-अलग तरीकों का विकास करना, फार्मास्युटिकल के उत्पाद को बनाना यह कार्य फार्मासिस्ट में होता है। इसके अंतर्गत आप प्राइवेट और सरकारी संस्थान, मेडिकल, फार्मासिस्ट ड्रग मैन्युफ्रैक्चरिंग कंपनियों में काम कर सकते है। आप फार्मासिस्ट मेडिकल रिप्रेजेंटेटिव के तौर पर भी काम कर सकते हैं।

भारत में पैरामेडिकल कॉलेज

अगर आप Paramedical College में एडमिशन लेना चाहते है, तो आपको हम पैरामेडिकल के कुछ प्रमुख कॉलेजों के नाम बताने जा रहे है:

  • दिल्ली पैरामेडिकल एंड मैनेजमेंट एंड इंस्टीट्यूट
  • राजीव गांधी पैरामैडिकल इंस्टीट्यूट
  • उपाधि पैरामैडिकल कॉलेज, इटावा, सैफाई
  • कैलाश इंस्टिट्यूट ऑफ नर्सिंग एंड पैरामाडिकल साइंसेस

Paramedical Ki Taiyari Kaise Kare

पैरामेडिकल परीक्षा में पास होने के लिए आपको मेहनत तो करनी ही होती है साथ ही पारा मेडिकल की तैयारी के लिए कुछ आसान से टिप्स फॉलो करके आप अच्छे नंबर ला सकते है।

  • सबसे पहले अपना एक टाइम टेबल बना ले और उसी के अनुसार इसकी तैयारी करे।
  • सभी टॉपिक्स को अच्छे से कवर कीजिये, ताकि एक भी टॉपिक न छूटे।
  • जितने भी ज़रुरी टॉपिक्स है उनके अलग नोट्स बना लीजिये।
  • जिन टॉपिक को आपने पढ़ लिया है, उन्हें बार-बार रिवाइज करते रहे।
  • पिछले वर्ष के एग्जाम पेपर को सोल्व करे, इससे आपको परीक्षा का पैटर्न समझने में आसानी होगी।

Paramedical स्टाफ की सैलरी

पैरामेडिकल स्टाफ की सैलरी इस पर निर्भर करती है कि आपने कौन सा पैरा मेडिकल कोर्स किया है, साथ ही आपका अनुभव और स्किल्स भी मायने रखता है। शुरुआत में अनुमानतः आपका वार्षिक पैकेज 2 से 5 लाख रूपये तक या उससे अधिक भी हो सकता है।

Conclusion

यह फील्ड उन स्टूडेंट्स के लिए बहुत ही बेहतर है जो एक डॉक्टर के रूप में काम करने की इच्छा रखते है। आप अपने भविष्य को बेहतर बनाने के लिए इस कोर्स का चुनाव कर सकते है। उम्मीद है कि Paramedical Course in Hindi दी गयी जानकारी आपको उपयोगी लगी होगी और आपके सभी सवालों के जवाब आपको यहां प्राप्त हुए होंगे, फिर भी अगर आपके कोई सवाल या सुझाव हो तो आप  कमेंट करके बता सकते है हमे आपकी सहायता करके बहुत खुसी होगी।

FAQs

  • पैरामेडिकल कोर्स कितने साल का होता है?

पैरामेडिकल डिग्री कोर्स की अवधि 3 वर्ष से लेकर 4 वर्ष की होती है। जबकि पैरामेडिकल डिप्लोमा कोर्स की पूरी अवधि 1 से 2 वर्ष तक की होती है, वहीं अगर आप पैरामेडिकल सर्टिफिकेशन कोर्स करते है तो उसकी अवधि 6 माह से लेकर 2 तक हो सकती है।

  • क्या पैरामेडिकल एक अच्छा करियर विकल्प है?

हाँ, पैरामेडिकल सेक्टर में अधिक संख्या में बढ़ते नौकरी के अवसरों के कारण पैरामेडिकल क्षेत्र आपके लिए एक अच्छा करियर विकल्प हो सकता है।

  • क्या पैरामेडिकल के लिए NEET देने की जरूरत है?

नहीं, पैरामेडिकल कोर्स में प्रवेश के लिए आपको NEET देने की कोई जरूरत नहीं है। विभिन्न संस्थान पैरामेडिकल पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए अपनी स्वयं की प्रवेश परीक्षा आयोजित करवाते है जबकि बहुत से कॉलेज मेरिट लिस्ट के आधार पर भी प्रवेश देते है।

आपको हमारा यह लेख कैसा लगा ?

Average rating 4.7 / 5. Vote count: 277

अब तक कोई रेटिंग नहीं! इस लेख को रेट करने वाले पहले व्यक्ति बनें।

एडिटोरियल टीम

एडिटोरियल टीम, हिंदी सहायता में कुछ व्यक्तियों का एक समूह है, जो विभिन्न विषयो पर लेख लिखते हैं। भारत के लाखों उपयोगकर्ताओं द्वारा भरोसा किया गया।Email के द्वारा संपर्क करें - [email protected]

Leave a Comment