हैलो दोस्तों Hindi Sahayta में आपका स्वागत है। आज की पोस्ट में हम आपको बताने जा रहे है Acidity Kaise Hoti Hai क्या आपको भी Acidity होती है और आप इसका इलाज ढूँढ रहे है तो आप बिल्कुल सही पोस्ट पढ़ रहे है। इसके साथ ही आप यह भी जानेंगे की Acidity Hone Par Kya Khaye

Acidity Ke Lakshan भी आप आज इस पोस्ट के माध्यम से जानेंगे। हम आपको यह बिल्कुल सरल भाषा में समझाएँगे। आशा करते है की आपको हमारी सभी पोस्ट पसंद आ रही होगी। इसी तरह आप आगे भी हमारे ब्लॉग पर आने वाली प्रत्येक पोस्ट को पसंद करते रहे।

यह एक आम समस्या है जो हर किसी व्यक्ति को हो सकती है। आज की जीवन शैली में परिवर्तन के कारण एसिडिटी होना साधारण बात है। आधुनिक जीवन में खान-पान और रहन-सहन के कारण यह हो सकती है। आयुर्वेद में एसिडिटी को अम्ल पित्त कहा जाता है। एसिडिटी होने के बहुत से कारण हो सकते है।

यदि समय पर इसके लक्षणों को पहचान लिया जाये तो इस समस्या से दूर रहा जा सकता है। दिनचर्या में परिवर्तन होने से भी यह समस्या हो सकती है। कहा जाता है की अधिकतर बिमारियों की जड़ पेट में ही होती है। अगर पाचन करने वाले किसी अंग में कोई ख़राबी हो जाती है तो एसिडिटी शुरू हो जाती है।

तो आइये जानते है Hyper Acidity Ke Lakshan क्या है। यदि आपको भी एसिडिटी की समस्या है और आप इससे परेशान हो चुके है तो इस पोस्ट How To Remove Acidity In Hindi को शुरू से अंत तक ज़रुर पढ़े तभी आपको इसकी पूरी जानकारी प्राप्त होगी और आप इस समस्या से दूर हो पाएँगे।

Acidity Kaise Hoti Hai

एसिडिटी होने के बहुत से कारण हो सकते है। हमारी जीवन शैली ऐसी हो गई है की इसमें मसालेदार भोजन करना, शराब पीना और बहुत सी ऐसी आदतों की वजह से यह समस्या हो सकती है लेकिन अगर एसिडिटी लगातार बनी रहती है तो इससे आपको भयंकर बीमारियाँ भी हो सकती है। इसलिए इस पर ध्यान ज़रुर दे। अगर एसिडिटी लगातार बनी रहती है तो आपको ब्लडप्रेशर या शुगर भी हो सकती है।

क्या आपने यह पोस्ट पढ़ी: Yahoo Kya Hai? Yahoo Services Kya Kya Hai? Yahoo Mail Kya Hai – जानिए Yahoo Par Email Account Kaise Banaye हिंदी में!

Acidity Ke Karan

एसिडिटी आपको बहुत से कारणों की वजह से हो सकती है जिसमें मुख्य कारण होते है Acidity Hone Ke Karan आपको आगे बताये जा रहे है जिससे आप जान सकते है की किन कारणों से एसिडिटी होती है।

  • अगर आप खाना खाने के तुरंत बाद सो जाते है तो भी आपको एसिडिटी हो सकती है। इसलिए खाने के बाद थोड़ी देर घूम ले और उसके बाद ही आप सोये।
  • मांसाहारी खाने की वजह से भी एसिडिटी होती है। मांसाहारी खाने में फैट ज्यादा होता है। और उसे बनाने में और भी ज्यादा तेल और मसाले का इस्तेमाल किया जाता है। जिससे यह पेट में समस्या पैदा कर सकता है और इससे भी एसिडिटी हो सकती है।
  • चिंता और तनाव की वजह से भी एसिडिटी हो सकती है। मनुष्य शरीर इस तरह का बना होता है की यदि किसी इन्सान की चिंता बढती है और तनाव बढ़ता है तो आमाशय में एसिड निकलने की मात्रा भी बढ़ जाती है।
  • धुम्रपान करने से भी शरीर में एसिडिटी की मात्रा बढ़ जाती है। सिगरेट, शराब का ज्यादा सेवन करने से भी एसिडिटी होती है।
  • यदि आप शारीरिक रूप से भी सक्रिय नहीं रहते है, नियमित खाना नहीं खाते है और व्यायाम नहीं करते है तो भी एसिडिटी हो सकती है।
  • किसान अपनी फसल को जल्दी और अच्छी पैदावार के लिए बहुत तरह के कीटनाशक और उर्वरक का इस्तेमाल करते है। यह रासायनिक पदार्थ खाद्य सामग्री के द्वारा मनुष्य के शरीर को हानि पहुँचाते है।

Acidity Ke Lakshan

जब एसिडिटी की समस्या शुरू होती है तो कुछ मुख्य लक्षणों को देखा जाता है। अगर आपको यह लक्षण दिखाई देते है तो आपको तुरंत डॉक्टर को दिखाना चाहिए। आइये जान लेते है उन लक्षणों के बारे में जो आपको एसिडिटी होने पर होते है।

  • छाती में जलन – जब आपको एसिडिटी होती है तो ऐसे में छाती में जलन होने लगती है। बहुत से लोगों को हमेशा छाती में दर्द होने का मतलब यही लगता है की हार्ट अटैक होगा लेकिन बहुत बार यह दर्द फूड पाइप की वजह से भी होता है। इसे नॉन कार्डियक चेस्ट पैन कहते है। यदि आप समय पर नहीं खाते है और तला-भुना खाते है तो इसके शिकार हो सकते है।
  • पेट में जलन भी होने से भी यह हो सकता है। यदि आपके पेट में जलन होती है तो यह भी एक लक्षण हो सकता है एसिडिटी होने का।
  • बहुत बार एसिडिटी के लक्षण चक्कर आने पर भी दिखाई देते है लार का अधिक स्त्राव होने पर या मुंह में अचानक से लार का स्त्राव बढ़ने पर एसिड रिफ्लेक्स हो सकता है।
  • गले में खराश होने पर भी एसिडिटी के लक्षण का पता लगा सकते है। पाचन तंत्र की समस्या की वजह से भी एसिडिटी की समस्या हो सकती है। बिना सर्दी-जुकाम के अगर खाने के बाद गले में दर्द होता है तो इसका कारण एसिड रिफ्लेक्स भी हो सकता है।
  • होंठ फटना भी एसिडिटी का एक लक्षण होता है। यदि आपकी त्वचा तैलीय है और मौसम में भी नमी है फिर भी आपके होंठ फट रहे है तो यह एसिडिटी होने का संकेत होता है।
  • एसिडिटी उत्पन्न करने वाले खाने को चबाते समय बहुत बार लार के साथ एसिटिक रिएक्शन भी हो जाते है जो दाँतों और मसूड़ों को कमजोर बनाते है और मुंह से सम्बन्धित बहुत सी समस्याएँ होना शुरू हो जाती है।
  • लगातार एसिडिटी बने रहने से आपकी त्वचा भी रुखी होने लगती है। इससे चेहरे की नमी भी खत्म हो जाती है। जिससे त्वचा रुखी हो जाती है।

Acidity Kaise Dur Kare

एसिडिटी होने पर उसे समय पर दूर कर लेना चाहिए नहीं तो आपको बाद में बड़ी बीमारी हो सकती है। जिससे आपको काफी परेशान होना पड़ सकता है। आगे हम आपको कुछ ऐसे ही Acidity Ke Upchar बता रहे है जिससे आप एसिडिटी को दूर कर सकते है।

जरूर पढ़े: Computer Me Virus Kaise Aata Hai? Computer Virus Remove Kaise Kare – जानिए Computer Me Virus Ka Pata Kaise Lagaye हिंदी में!

Acidity Ka Gharelu Upay  

एसिडिटी के लिए आप घरेलू नुस्खे भी अपना सकते है। यह घरेलू चीजें आपको घर में ही आसानी से मिल जाएगी। जिससे आप एसिडिटी की समस्या से दूर हो सकते है।

ठंडा दूध

ठंडा दूध आपके पेट की जलन को शांत कर देता है और एसिडिटी के दर्द को भी कम कर देता है। जब भी आपको पेट में दर्द या जलन हो तो उसी समय ठंडा दूध पी लीजिये।

केला

एसिडिटी में केला भी बहुत फायदा करता है। यह एसिड की मात्रा को आमाशय में कम कर देता है। केले से पेट में जलन जैसी समस्या से तुरंत आराम होता है। अगर एसिडिटी की प्रॉब्लम ज्यादा होती है तो हर रोज केला खाए।

सौंफ

यह भी बहुत ठंडी होती है इसे पेट की कई प्रकार की बिमारियों में लाभकारी बताया गया है। सौंफ आप ऐसे ही चबा सकते है या इसकी चाय बनाकर भी पी सकते है सबसे अच्छा तरीका यह होगा की खाना खाने के बाद हर बार सौंफ खाए आपको एसिडिटी नहीं होगी।

जीरा

एसिडिटी को कम करने में जीरा भी बहुत लाभदायक होता है। अगर आपकी एसिडिटी बढ़ जाती है या पेट दर्द होता है तो जीरे को कच्चा ही चबाये। उसके बाद आधा ग्लास पानी पी ले आपकी एसिडिटी खत्म हो जाएगी।

पुदीना

एसिडिटी होने पर पुदीना के पत्ते चबाने या चटनी बनाकर इसका प्रयोग करने पर पेट का दर्द भी कम होता है और एसिडिटी में भी राहत मिलती है।

तुलसी के पत्ते

तुलसी के बहुत सारे आयुर्वेदिक लाभ होते है और एसिडिटी को कम करने में इसको बहुत लाभकारी माना गया है। तुलसी के 5-6 पत्ते प्रतिदिन चबाने से एसिडिटी की समस्या दूर हो जाती है।

आंवला

आंवला विटामिन सी से भरपूर होता है। जो गैस, पेट दर्द में राहत देता है इसका आप रोज सेवन कर सकते है।

Hyperacidity Kya Hoti Hai

जब पेट में एसिड की मात्रा ज्यादा हो जाती है तब Hyperacidity हो जाती है। प्रत्येक मनुष्य के पेट से Hydrochloric Acid निकलती है जो भोजन को पचाने में सहायक होती। जब किसी व्यक्ति के पेट में इस एसिड की मात्रा ज्यादा हो जाती है तो उसे Hyper Acidity की समस्या होती है। अगर आप बेवक्त खाना खाते है या बाहर का खाना ज्यादा खा लेते है तो Hydrochloric Acid की मात्रा ज्यादा बढ़ जाती है। जिससे Hyperacidity हो जाती है।

यह पोस्ट भी जरूर पढ़े: Computer Motherboard Kya Hai? Motherboard Kya Kaam Karta Hai? – जानिए Types Of Motherboard In Hindi!

Hyper Acidity Ke Lakshan

यदि आपको Hyper Acidity हो जाती है तो इन लक्षणों से पता लग जाता है की आपको Hyper Acidity हो गई है।

  • आपको उल्टी करने का मन होने लगता है।
  • कुछ भी खाने की इच्छा नहीं होती है।
  • लगातार हिचकियाँ आने लगती है जो जल्दी बंद भी नहीं होती है।
  • खाए हुए खाने के साथ खट्टी डकार भी आने लगती है।
  • और बैचेनी सी भी होने लगती है।

Hyper Acidity Ka ilaj

Hyper Acidity की समस्या से बचने के लिए आपको निम्न बातों का ध्यान रखना चाहिए। यदि आपको भी Hyper Acidity हो गई है तो आप भी इन बातों पर ज़रुर ध्यान दे।

  • अगर आपको Hyper Acidity हो गई है तो आपको ज्यादा खाना खाने से बचना चाहिए।
  • दाल खाने से भी एसिडिटी की समस्या हो जाती है इसलिए जिन लोगों को एसिडिटी की समस्या है वह दाल का सेवन कम मात्रा में करे।
  • खट्टे पदार्थ में एसिडिटी की मात्रा ज्यादा होती है। जिससे आपको बिलकुल दूर रहना चाहिए जैसे निम्बू, दही, इमली में एसिड होता है और भी जो दूसरे खट्टे भोज्य पदार्थ है इन सबसे दूर ही रहना चाहिए वरना एसिड की मात्रा और भी बढ़ जाती है।
  • जिस भोजन को पचने में समय ज्यादा लगता है ऐसे खाने से दूर रहना चाहिए। जैसे तेल, नमकीन और मिर्च – मसाले से बना हुआ खाना।
  • खाना खाने के थोड़ी देर बाद हल्की एक्सरसाइज करना ज़रुरी होता है। आप थोड़ी देर बाहर टहलने भी जा सकते है इससे खाना भी पच जाता है।
  • जिन लोगों को Hyper Acidity की समस्या रहती है उन्हें शराब और सिगरेट से दूर रहना चाहिए।

Conclusion:

आज की पोस्ट में आपने जाना Acidity Se Kya Hota Hai इसके साथ ही आपने यह भी जाना की Acidity Se Bachne Ke Upay क्या है। उम्मीद करते है की हमारे द्वारा दी गई जानकारी आपके लिए उपयोगी होगी।

Acidity Ka Ilaj जानने के लिए हमारी इस पोस्ट की मदद ज़रूर ले। Acidity Ke Upay आप इस पोस्ट के द्वारा अच्छे से जान गए होंगे। आपको यह जानकारी कैसी लगी हमें कमेंट करके बताये।

इस पोस्ट की जानकारी आप अपने दोस्तों को भी दे तथा सोशल मीडिया पर भी यह पोस्ट What Is Acidity In Hindi? ज़रुर शेयर करे। जिससे ज्यादा से ज्यादा लोगों के पास यह जानकारी पहुँच सके। हमारी पोस्ट Gharelu Nuskhe Of Acidity In Hindi में आपको कोई परेशानी है या आपका कोई सवाल है तो आप कमेंट में अपने सवाल ज़रूर पूछे। हमारी टीम आपकी मदद ज़रुर करेगी।

अगर आप हमारी वेबसाइट के Latest अपडेट पाना चाहते है तो आपको हमारी Hindi Sahayta की वेबसाइट को सब्सक्राइब करना होगा। फिर मिलेंगे आपसे कुछ ऐसी ही आवश्यक जानकारी लेकर तब तक के लिए अलविदा दोस्तों, आपका दिन मंगलमय हो।

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (2 votes, average: 1.50 out of 5)
Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here