हैलो दोस्तों  Hindi Sahayta में आपका स्वागत करता हूँ, हम आज आपको बताएँगे की Mechanical Keyboard Kya Hai क्या आप कुछ नया जानना चाहते तो बने रहिए हमारी आज की पोस्ट Mechanical Keyboard Kaise Kaam Karta Hai के साथ पूरी जानकारी पाने के लिए

Mechanical Keyboard In Hindi इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको जानकारी देंगे हम आपको इसके बारे में बहुत आसान भाषा में बतायेंगे आशा करते है की आपको हमारी पिछली पोस्ट की तरह हमारी आज की पोस्ट Advantages Of Mechanical Keyboard In Hindi भी ज़रूर पसंद आयेगी

आपने Keyboard के बारे में तो सुना ही होगा उसका क्या काम होता है और उसे किस लिए उपयोग किया जाता है आज हम आपको Keyboard के New वर्जन Machanical Keyboard के बारे बताएँगे और उसे क्यों उपयोग किया जाता है और उसकी क्या-क्या विशेषताएँ है।  

Mechanical Keyboard इसके बारे में भले ही आपने सुना होगा लेकिन में आपको बता दूँ की ये कोई Normal Keyboard की तरह नहीं होता है इसमें बहुत सारे Features होते है जिन्हे आप किसी Normal Keyboard में नहीं पा सकते इस Keyboard में Keys के नीचे स्विच होते है जो स्प्रिंग से Activated होते है जो इसे हाई क़्वालिटी प्रदान करती है और इसके इनपुट को सटीक बनाते है

आज हम आपको इस पोस्ट के जरिए Mechanical Keyboard Switches Ke Prakar के बारे बतायेंगे। तो दोस्तों क्या आप Mechanical Keyboard के बारे में जानना चाहते है इसमें क्या खास Features है इससे क्या फायदे है और क्या नुकसान है तो बने रहिए सारी जानकारी पाने के लिए हमारी आज की पोस्ट के साथ शुरू से अंत तक।

Mechanical Keyboard Kya Hai

Mechanical Keyboard एक उच्च Quality वाला Keyboard होता है जिसे स्प्रिंग Activated Keys और स्विच के द्वारा बनाया जाता है ये Key स्विच Keyboard Users के आधार पर अलग-अलग होते है इसका एक उदाहरण है : इस Keyboard में एक धातु  प्लेट, स्प्रिंग स्विच होती है जब आप स्विच को दबाते हो तब Stem Hunsing के अंदर घुस जाता है और वह स्विच को धातु से छूने की अनुमति देता है जिससे आपके Word टाइप होते है

क्या आपने यह पोस्ट पढ़ी: Video Player Download Kaise Kare? VLC Se Video Download Kaise Kare – जानिए VLC Media Player और MX Player Computer Me Kaise Download Kare हिंदी में!

बहुत सारे Keyboard में तीन प्लास्टिक मेम्ब्रेन के सेट बनाए जाते है जिनमे प्रत्येक Keys के नीचे रबर के गुंबद के आकर के स्विच होते है जब आप अपने Keyboard पर किसी Key को दबाते हो तो रबर स्विच ऊपर और नीचे कनेक्ट होने के लिए मेमब्रेन्स में एक छेद के माध्यम से धक्का देता है और फिर ये नीचे उपस्थित PBC बोर्ड के संपर्क में आता है और Electric Circuit  बनाता है जिस वजह से आपके कंप्यूटर में इनपुट जाता है

Mechanical Keyboard Kaise Kaam Karta Hai

Mechanical Keyboard कुछ अलग तरह का Keyboard है क्योंकि इसमें कोई मेम्ब्रेन नहीं होता है यहां पर प्रत्येक Strike को Actual Mechanical Switch के द्वारा Handle किया जाता है जिससे वो Slides Up और Down होता है प्रत्येक Keys की अलग-अलग खुद की Self-contained-system होती है जिसमे एक Key Metal Actuator और एक Spring भी होती है जो की Depress होती है और स्ट्रोक करने पर वापस आ जाती है उसमे Un-pressed State में एक Successful Strike के बाद वहां पर Keyboard पर Keypress पर Register करती है

उदाहरण : यदि किसी एक सामान्य कार्य को करने के लिए अन्य प्रकार के Keyboard को जितना समय लगता है तो उसी कार्य को करने के लिए Mechanical Keyboard को उससे कम समय लगेगा।

Mechanical Keyboard Ke Fayde

तो ऊपर आपने जाना की Mechanical Keyboard कैसे काम करता है चलिए अब आगे जानते है Mechanical Keyboard के फायदे क्या-क्या है

  • Removable Keycaps 

इसमें आप अपने Keyboard की मुख्य Key को निकाल सकते हो और अपने हिसाब से Adjust कर सकते हो और आप अपनी मेज थीम अपने हिसाब से भी सेट कर सकते हो जिससे वो स्टाइलिश दिखेगा

  • Key Rollover

Mechanical Keyboard आपको एक Facility देता है जिससे आप एक ही समय पर कई Keys को दबा सकते है और सभी Keys को भी एक समय पर दबा सकते हो इससे उन लोगों को बहुत फ़ायदा होगा जो Keyboard से Games खेलते है  

  • Long Time Running

Mechanical Switches बहुत लम्बे समय तक चलते है और बहुत ही कम ख़राब होती है बहुत वर्षो तक इस्तेमाल करने के बाद भी एकदम नये Keyboard की तरह चलता है और कोई भी Key Stuck नहीं होती है

  • Improved Typing Experience

आप एक Mechanical Keyboard के Mechanical Switch में फेरबदल कर सकते है एक नॉर्मल Keyboard की तुलना में इसमें बहुत सारे अलग-अलग Switch Types होते है और उनकी बहुत विशेषताएँ भी होती है कुछ Switch में पता लगाने वाले सक्रिय बिंदु होते है कुछ में Additional Acoustic Feedback होते है इनके साथ आप इन Switch को अपने हिसाब से Optimize भी कर सकते है

  • Mechanical Keyboard Ke Nuksan

जिस तरह Mechanical Keyboard के कुछ फायदे है उसी तरह इसके कुछ नुकसान भी है तो चलिए जानते है उनके बारे में।

  • High Price

Mechanical Keyboard नॉर्मल Keyboard की तुलना में बहुत खर्चीले होते है मगर आपको इसे एक Investment की तरह मानना चाहिए क्योंकि इन Keyboard को आप बहुत वर्षो तक इस्तेमाल कर सकते है बिना कोई खराबी के  

  • High Weight

ज्यादा Weight होने के कारण इसमें स्थिरता तो मिलती है लेकिन इसे एक जगह से दूसरी जगह तक ले जाने में परेशानी होती है और अगर आप इसे अपने लैपटॉप के साथ भी इस्तेमाल करते है तो आपको इससे परेशानी होगी

  • Sound Level

Mechanical Keyboard ज्यादा आवाज़ करते है दूसरे Keyboards की तुलना में तो इसके लिए आप कोई Silent Mechanical Keyboard मॉडल का इस्तेमाल कर सकते है और साथ ही आप O-rings का इस्तेमाल कर करते है साउंड को काम करने में  

Mechanical Keyboard Switches Ke Prakar

अब हम आपको Mechanical Keyboard के प्रकार क्या है के बारे में बताने जा रहे है तो चलिए जानते है उनके बारे में।

जरूर पढ़े: ATM Card Kho Jane Par Kya Kare? – जानिए ATM Card Block Or Unblock Kaise Kare विस्तार से!

  • Cherry

पहली बार इसे सन 1983 में Cherry Mx Switch बनाये गए जिसमे से Cherry Mx Switch सबसे ज्यादा सफल Keyboard में से एक है

  • Cherry Mx Red

ये चलाने में हल्का महसूस कराता है इसका वजन 45 ग्राम है और ये कोई भी आवाज़ नहीं करता है अगर आप Gaming और Typing के लिए इस Keyboard का इस्तेमाल करने वाले है तो ये आपको सन्तुष्ट नहीं करेगा क्योंकि इसमें Tractile Feedback का अभाव है  

  • Cherry Mx Blue

इसे चलाते समय थोड़ा भारी महसूस होगा इसका वजन 60 ग्राम है और ये बहुत आवाज़ करता है

  • Cherry Mx Black

ये चलाने में भारी महसूस होगा इसका वजन 60 ग्राम है और इसे चलाने में कोई आवाज़ नहीं आती है ये बहुत अधिक प्रतिरोध उत्पन्न करता है इसलिए ये भी Gaming और Typing के लिए उपयुक्त नहीं है

  • Cherry Mx Brown

ये चलाने में समांतर है इसका वजन 45 ग्राम है और ये चलाने में कोई आवाज़ नहीं करता है ये Gaming और Typing के लिए अच्छे माने जाते है क्योंकि इनमें ज्यादा बल नहीं लगाना पड़ता है

  • Cherry Mx Speed

ये चलाने में हल्का महसूस कराते है इसका वजन 45 ग्राम है इसे चलाने में कोई आवाज़ नहीं होती है इसका एक्टिवेशन प्वाइंट सबसे काम होता है इसलिए ये Gaming के लिए सबसे अच्छा माना जाता है

  • Razer

सन 2014 में Kaihua के साथ मिलकर Razer ने Mechanical Switch बनाए जिन्होंने इन Switch को Razer Blackwidow Series के Gaming Keyboard में Install किये इसके बाद Razer ने अपना प्रोडक्शन स्टार्ट कर दिया वर्तमान समय में इन Switch के दो वर्ज़न आते है Razer Green और Razer Orange    

  • Razer Green

ये चलाने में भारी महसूस कराता है इसका वजन 55 ग्राम है इसे चलाने में तेज आवाज़ आती है ये बहुत लम्बे समय तक चलते है

  • Razer Orange

ये चलाने में सामान्य है इसका वजन 55 ग्राम है इन्हे चलाते समय आवाज़ नहीं होती है और ये लम्बे समय तक चलते है  

Conclusion

आशा करते है की आपको हमारी आज की पोस्ट What Is Mechanical Keyboard In Hindi? पसंद आयी होगी इसके साथ ही आपको Mechanical Keyboard Kaise Kaam Karta Hai के बारे में जानकारी प्राप्त हुई इसे Like और Share ज़रूर करे

तो दोस्तों आपको हमारी आज की पोस्ट Disadvantages Of Mechanical Keyboard In Hindi कैसी लगी Comment Box में Comment करके ज़रूर बताएं आशा करते है की आपको Advantages Of Mechanical Keyboard In Hindi के बारे में सब कुछ अच्छे से समझ में आया होगा  

यह पोस्ट भी जरूर पढ़े: NFC Kya Hai? NFC Kaise Use Kare – जानिए NFC Full Form In Hindi!

अगर आपको हमारी पोस्ट Mechanical Keyboard Switches Ke Prakar के बारे में कोई भी परेशानी हो तो हमे ज़रूर बताएं हम आपकी समस्या को हल करने का पूरा प्रयास करेंगे अगर आपको हमारी पोस्ट पसंद आयी हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ ज़रूर शेयर करे ताकि वे भी इस जानकारी को  प्राप्त कर सके

दोस्तों हमारी Website के Latest Update पाने के लिए हमारी Hindi Sahayta की Website को Subscribe करना ना भूले इससे आपको हमारी आने वाली New पोस्ट के बारे में Latest Update मिलते रहेंगे तो Friends आज के लिए बस इतना ही फिर मिलेंगे आपसे तब तक के लिए इजाज़त दीजिए आपका दिन शुभ रहे

Mechanical Keyboard Kya Hai? Mechanical Keyboard Kaise Kaam Karta Hai? – जानिए Mechanical Keyboard Switches Ke Prakar के बारे में!
Rate this post

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here