Home » Education » PWD Full Form In Hindi – PWD क्या है, कार्य और कैसे बने।

PWD Full Form In Hindi – PWD क्या है, कार्य और कैसे बने।

PWD Full Form In Hindi ‘लोक निर्माण विभाग’ (Public Work Development) होता है। यह हमारे शहर की सड़के, पुल, सरकारी इमारते, नालियाँ, आदि बनाने एवं उनका रखरखाव करने के लिए एक ज़िम्मेदार विभाग होता है। सरकार ने इन कार्यों के लिए एक विभाग का गठन साल 1854 में किया था, जिसे वर्तमान में PWD के नाम से जाना जाता है। आज के इस लेख में हम भारत सरकार के सबसे बड़े विभागों में से एक ‘PWD’ के बारे में आपको जानकारी देने वाले हैं।

[toc]

पीडब्लूडी के बारे में जानकारी रखना आपके लिए दो कारणों से आवश्यक है। पहला- देश के हर नागरिक को लगभग हर सरकारी विभाग के बारे में जानकारी होनी चाहिए, ताकि ज़रूरत पड़ने पर उसे पता हो की किस कार्य के लिए उसे सरकार के किस विभाग में जाना चाहिए। दूसरा- यदि आप सरकारी नौकरी करना चाहते हैं तो PWD विभाग भी आपके लिए एक अच्छा करियर विकल्प हो सकता है।

इस लेख में हमने आपको PWD Full Form से लेकर पीडब्ल्यूडी क्या कार्य करती है, पीडब्ल्यूडी में नौकरी पाने के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए आदि जानकारी दी है। इसलिए इस लेख को अंत तक पढियेगा। सबसे पहले जानते है पीडब्ल्यूडी का फुल फॉर्म क्या होता है।

PWD Full Form In Hindi

पीडब्लूडी, PWD Ka Full Form या पूरा नाम ‘Public Works Department‘ होता है, जिसे हिंदी में (Full Form Of PWD In Hindi) ‘लोक निर्माण विभाग’ कहा जाता है। यह भारत सरकार का एक विभाग है, जिसका मुख्य कार्य सर्वाजनिक इमारतों, सड़को, पाइपलाइन, पुल, आदि को बनाना और उनकी मरम्मत एवं देख-रेख संबंधित कार्य करना है। शहर को शुद्ध पानी उपलब्ध करवाने की जिम्मेद्दारी भी PWD विभाग की होती है।

PWD ka full form

क्या आपने इसे पढ़ा: Forest Guard Kaise Bane – वन विभाग में हाइट, योग्यता, वेतन व भर्ती प्रक्रिया।

PWD Meaning इन हिंदी

पीडब्लूडी (PWD) एक ऐसा सरकारी मंत्रालय है जिसका काम जनता की सुविधा के लिए सड़क, हाईवे, अस्पताल, विद्यालय, आदि की योजना बनाना, डिज़ाइन, निर्माण और रखरखाव करने का होता है। यह मुख्य रूप से राज्य स्तर पर काम करता है। भारत के हर राज्य में एक पीडब्ल्यूडी कार्यालय सार्वजनिक अवसंरचना (Public Infrastructure) के लिए मौजूद है। इसका निरीक्षण PWD मंत्री द्वारा किया जाता है।

PWD के मुख्य कार्य

पीडब्लूडी (PWD) विभाग का कार्य प्रबंधन शहर के पीडब्ल्यूडी मंत्री द्वारा किया जाता है। कुछ सरकारी निर्माण कार्यों जैसे- सड़क, ब्रिज, आदि के लिए पीडब्ल्यूडी ठेकेदारी के माध्यम से भी काम करवाता है। देश में जनता की सुविधाओं से सम्बंधित हर निर्माण कार्य पीडब्ल्यूडी द्वारा किया जाता है। नीचे हमने पीडब्ल्यूडी के कुछ मुख्य कार्यों के बारे में विस्तार से बताया है।

सड़क, हाईवे का निर्माण और मरम्मत

शहर, गाँव और महानगरों में सड़क, हाईवे, लिंक रोड आदि का निर्माण करना, उनकी देख-रेख और मरम्मत का कार्य पीडब्ल्यूडी विभाग के अंतर्गत आता है।

सरकारी अस्पतालों और विद्यालयों का निर्माण

PWD के अंतर्गत राज्य में सरकारी बिल्डिंग जैसे सरकारी स्कूल, सरकारी विश्वविद्यालय, सरकारी अस्पताल, आदि के भवनों का डिज़ाइन तैयार करना, निर्माण तथा मरम्मत का कार्य भी आता है।

नगर में पानी की व्यवस्था

गाँव, शहरों में पीने के पानी की उचित व्यवस्था करने की ज़िम्मेदारी पीडब्ल्यूडी विभाग की होती है। PWD पानी के टैंको का निर्माण करता है, जिससे पानी स्टोर किया जा सके और ज़रूरत के समय लोगों को ये जमा किया गया पानी जल भंडारण से उपलब्ध करवाया जा सके।

जल वितरण कार्य के लिए पाइपलाइन बिछाने का कार्य पीडब्ल्यूडी द्वारा किया जाता है। साथ ही, यदि कही पानी की पाइपलाइन में किसी प्रकार की मरम्मत की आवश्यकता होती है तो उसका कार्य भी पीडब्ल्यूडी विभाग के अंतर्गत ही आता है।

पुल का निर्माण

गाँव, शहरों और महानगरों में आवश्यकता के अनुसार पुल बनाने का कार्य पीडब्ल्यूडी का होता है। परन्तु PWD का कार्य सिर्फ पुल निर्माण तक ही सीमित नहीं होता। पहले से मौजूद पुल की देख-रेख का कार्य, और आवश्यकता पड़ने पर उस पुल की मरम्मत करने का कार्य भी PWD का होता है।

यदि आप PWD अफसर बनना चाहते हैं तो नीचे हमने आपको PWD अफसर कैसे बने की जानकारी दी है।

इसे भी जरूर पढ़े: Patwari Kaise Bane – पटवारी कैसे बने की पूरी जानकारी।

PWD अधिकारी कैसे बने?

पीडब्ल्यूडी (PWD) अधिकारी की पोस्ट के लिए सम्बंधित विभाग द्वारा समय-समय पर समाचार पत्रों, कॉम्पिटीटिव मैगजीन और इंटरनेट के द्वारा जॉब नोटिफिकेशन जारी किया जाता है। इसमें आपको योग्यता, आवेदन प्रक्रिया, आवेदन शुल्क, भर्ती प्रक्रिया, आदि के बारे में जानकारी प्रदान की जाती है। उसके अनुसार आप अपनी योग्यता के आधार पर सम्बंधित फॉर्म भरकर परीक्षा दे सकते है, और अगर आप परीक्षा क्वालीफाई कर लेते है तो फिर परीक्षा में प्राप्त किये गए अंकों के आधार पर आपको PWD अधिकारी की किसी पोस्ट पर पदोन्नित (Appoint) कर दिया जाता है।

PWD Officer बनने के लिए योग्यता

  • PWD ऑफिसर बनने के लिए 21-35 वर्ष की आयु सीमा निर्धारित है।
  • सिविल इंजीनियर, इलेक्ट्रिकल और मेकैनिकल इंजीनियरिंग में से किसी एक में स्नातक (Graduate) होना आवश्यक है।

PWD Officer का सिलेक्शन प्रोसेस

  1. पीडब्ल्यूडी विभाग में भर्ती SSC (कर्मचारी चयन आयोग) और राज्य लोक सेवा आयोग (State PSC) द्वारा की जाती है।
  2. जूनियर इंजिनियर की भर्ती के लिए SSC JE की परीक्षा कंडक्ट करवाती है, इसके अंतर्गत दो परीक्षाएं होती हैं- ऑब्जेक्टिव टाइप और सब्जेक्टिव टाइप।
  3. इन परीक्षाओं में अच्छे अंक हासिल करने के लिए जनरल अवेयरनेस, रीजनिंग और इंजीनियरिंग के बारे में जानकारी होना आवश्यक होता है।
  4. ध्यान रहे, आपने इंजीनियरिंग की जिस स्ट्रीम में पढाई की है, आपको उसी से सम्बंधित भर्ती परीक्षा के लिए फॉर्म फिल करना है।
  5. दोनों परीक्षाएं सफलतापूर्वक आयोजित किये जाने के कुछ समय बाद चुने गए उम्मीदवारों की सूची विभाग द्वारा जारी कर दी जाती है।

PWD Categories

देश में पीडब्ल्यूडी को दो भागों में बाँटा गया है- CPWD और SPWD। इन दोनों विभागों का कार्य लगभग समान ही होता है परन्तु इनके कार्यसीमा में अंतर होता है। नीचे इनके बारे में विस्तार से बताया गया है।

  1. CPWD (Central Public Works Department): इसे हिंदी में केन्द्रीय लोक निर्माण विभाग के नाम से जाना जाता है। इसका कार्य केंद्र सरकार के आधीन होता है। केन्द्रीय स्तर पर कार्य, जैसे- प्राथमिक सड़क व्यवस्था के लिए राष्ट्रिय राजमार्गो (National Highways) आदि का निर्माण और रखरखाव (Repair and Maintenance) का कार्य CPWD का होता है।
  2. SWPD (State Public Works Department): इसे हिंदी में राज्य लोक निर्माण विभाग कहा जाता है। इसका कार्य राज्य से सम्बंधित होता है और राज्य तक ही सीमित होता है। स्टेट हाईवे का निर्माण और रखरखाव कार्य SPWD का होता है।

राज्य में पीडब्ल्यूडी विभाग को डिवीजन, सब-डिवीजन और अन्य विभागों में बाँटा गया है। हर राज्य में पीडब्ल्यूडी में जल वितरण और सफाई, सड़क और ब्रिज, सरकारी बिल्डिंग, बाढ़ प्रबंधन, आदि कार्यों के लिए अलग-अलग विभाग हैं।

एक नज़र इस पर भी: PCS Kya Hota Hai?- PCS ऑफिसर कैसे बने की पूरी जानकारी।

Conclusion

केंद्रीय और राजकीय स्तर पर भारतीय समुदाय के लोगों को बेहतर और सुविधाजनक जीवन प्रदान करने के उद्देश्य से सरकार द्वारा PWD को लाया गया है। PWD की महत्वता को समझते हुए आज के इस लेख में हमने आपको PWD विभाग से संबंधित जानकारी उपलब्ध करवाई है।

इसमें हमने आपको Full Form Of PWD अंग्रेजी और हिंदी में क्या होती है, पीडब्ल्यूडी के मुख्य कार्य क्या होते हैं, पीडब्ल्यूडी ऑफिसर बनने के लिए क्या प्रक्रिया होती है, आदि के बारे में संक्षेप में बताया है। हमें उम्मीद है इस पोस्ट में दी गयी जानकारी आपके लिए उपयोगी साबित हुई होगी।

अगर आपको ये पोस्ट अच्छा लगा हो तो इसको अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर सबके साथ शेयर ज़रूर करें। साथ ही इस पोस्ट से संबंधित यदि आपके पास कोई सुझाव या सुधार हों तो उनके बारे में आप हमें Comment करके ज़रूर बताये।

FAQs

  • पीडब्ल्यूडी अधिकारी की सैलरी कितनी होती है?

पीडब्ल्यूडी अधिकारी की औसतन मासिक सैलरी 35,400 से 1,12,400 रुपये तक होती है। इसके साथ ही आवास, चिकित्सा, पीएफ, पेंशन जैसी सुविधाएं और भत्ते भी मिलते हैं।

  • CWPD और SPWD में क्या अंतर होता है?

CPWD और SPWD में कार्य सीमा का अंतर होता है। CPWD केंद्र से सम्बंधित सभी सरकारी निर्माण और रखरखाव का कार्य करती है, जैसे नेशनल हाईवे, वही SPWD राज्य स्तर पर सरकारी निर्माण और रखरखाव का कार्य संभालता है जैसे स्टेट हाईवे।

  • रेलवे और हवाई अड्डों के निर्माण और रखरखाव का कार्य कौन करता है?

CPWD रेलवे, हवाई अड्डों (IAAI और NAA), ऑल इंडिया रेडियो, दूरदर्शन, आदि केंद्र सरकार की गैर सरकारी इमारतों के डिजाइन, निर्माण और रखरखाव का कार्य करती है।

आपको हमारा यह लेख कैसा लगा ?

Average rating 4.8 / 5. Vote count: 158

अब तक कोई रेटिंग नहीं! इस लेख को रेट करने वाले पहले व्यक्ति बनें।

एडिटोरियल टीम

एडिटोरियल टीम, हिंदी सहायता में कुछ व्यक्तियों का एक समूह है, जो विभिन्न विषयो पर लेख लिखते हैं। भारत के लाखों उपयोगकर्ताओं द्वारा भरोसा किया गया।Email के द्वारा संपर्क करें - [email protected]

Leave a Comment