हैलो दोस्तों Hindi Sahayta में आपका स्वागत है। आज की पोस्ट में हम आपको बताने जा रहे है UV Rays Kya Hai क्या आप भी UV Rays की जानकारी प्राप्त करना चाहते है और इससे होने वाले फ़ायदों के बारे में जानना चाहते है तो आप बिल्कुल सही जगह पर आये है। इसके साथ ही आप यह भी जानेंगे की UV Rays Ke Fayde क्या है।

UV Rays Ki Khoj Kisne Ki यह भी आप आज इस पोस्ट के माध्यम से जानेंगे। हम आपको यह बिल्कुल सरल भाषा में समझाएँगे। आशा करते है की आपको हमारी सभी पोस्ट पसंद आ रही होगी। इसी तरह आप आगे भी हमारे ब्लॉग पर आने वाली प्रत्येक पोस्ट को पसंद करते रहे।

सूरज से आने वाली रौशनी के कारण ही पेड़-पौधे हमारे जीवन के लिए ऑक्सीजन का निर्माण करते है। सूर्य से निकलने वाली किरणों से विटामिन डी प्राप्त होता है जो स्वास्थ्य के लिए बहुत फ़ायदेमंद होता है। पराबैंगनी किरणों का उपयोग बहुत तरह से किया जा सकता है और यह बहुत उपयोगी भी होती है अगर यह नियंत्रण में होती है तो।

पराबैंगनी किरणें सूरज से निकलने वाली किरणों का ही एक भाग है। इन किरणों से त्वचा को भयंकर नुकसान भी हो सकता है जो किसी बीमारी का रूप भी ले सकता है या कैंसर होने का कारण भी बन सकता है। गर्मी के मौसम में यह किरणें अपना ज़्यादा असर दिखाती है। इसलिए सावधानी रखकर ही इन किरणों के प्रभाव से बचा जा सकता है।

तो आइये जानते है UV Rays Kya Hai In Hindi यदि आप भी पराबैंगनी किरणों से होने वाले फायदे और नुकसान को समझना चाहते है तो यह पोस्ट Ultraviolet Radiation In Hindi शुरू से अंत तक ज़रुर पढ़े तो ही आप इसकी जानकारी पूरी तरह से प्राप्त कर पाओगे।

UV Rays Kya Hai

यह सूर्य से निकलने वाली किरणें होती है। जिन्हें पराबैंगनी किरणें कहा जाता है। अगर इन पराबैंगनी किरणों का स्तर ज्यादा हो जाता है तो यह हमें कई तरह के नुकसान भी पहुंचा सकती है। इन किरणों को हम ना ही देख सकते है और ना ही महसूस कर पाते है। पराबैंगनी किरणें शरीर में ज्यादा गहराई तक नहीं जा पाती है। इस कारण से इन किरणों का नुकसान सिर्फ हमारी त्वचा पर ही हो पाता है।

क्या आपने यह पोस्ट पढ़ी: Aankho Ki Roshni Kaise Badhaye? Aankho Ki Roshni Badhane Ke Upay क्या है? – जानिए Aankho Ka Chashma Utarne Ke Liye Gharelu Nuskhe और Eye Care Food Tips हिंदी में!

UV Rays Ki Khoj Kisne Ki

जर्मन के वैज्ञानिक Johann Wilhelm Ritter (जोहान विल्हेम रिटर) के द्वारा सन 1801 में पराबैंगनी किरणों की खोज की गई थी। उन्होंने यह पाया की सिल्वर क्लोराइड पर धुप लगते ही वह काला हो जाता है। जोहान विल्हेम ने 1801 में एक अवलोकन करके यह देखा की बैंगनी रौशनी से अलग (ऊपर) सिल्वर क्लोराइड गिले कागज़ को ब्लैक करती है। रासायनिक क्रियाओं पर बल देने के लिए जोहान विल्हेम ने इन किरणों को डी-ऑक्सीडाईजिंग किरणें नाम दिया।

Types Of Ultraviolet Rays In Hindi

पराबैंगनी किरणों के कुछ मुख्य प्रकार भी होते है। जो प्रमुख रूप से तीन प्रकार की होती है। जिनके बारे में आपको आगे बताया गया है। आइये जानते है Rays Ke Prakar क्या है।

UVA Rays

पराबैंगनी किरणों का यह प्रकार त्वचा को अधिक समय तक के लिए नुकसान पहुँचाता है। UVA Rays त्वचा की जो कोशिकाएं होती है उनकी उम्र को नष्ट कर देती है और त्वचा के DNA के लिए हानिकारक होती है। UVA Rays से त्वचा का कैंसर भी हो सकता है। इस किरणों से त्वचा पर झुर्रियों की समस्या हो सकती है।

UVB Rays

UVB Rays में UVA Rays की अपेक्षा ज्यादा उर्जा रहती है। जिसके कारण UVB Rays डायरेक्ट त्वचा की कोशिका और DNA को हानि पहुँचाती है। UVB Rays से त्वचा के बहुत से कैंसर हो सकते है। UVB Rays ही सनबर्न के लिए जिम्मेदार होती है। इन किरणों से बचाव ही इसका इलाज होता है।

UVC Rays

इन पराबैंगनी किरणों में दूसरी पराबैंगनी किरणों की अपेक्षा ज्यादा उर्जा पायी जाती है। UVC Rays सूरज के प्रकाश और वायुमंडल में नहीं होती है। तथा UVC Rays से त्वचा सम्बन्धी कैंसर की समस्या भी नहीं होती है।

UV Rays Uses In Hindi

पराबैंगनी किरणों के कुछ इस तरह के उपयोग भी होते है। यह हमारे लिए किसी ना किसी प्रकार से उपयोगी भी होती है।

स्वच्छ वायु

पराबैंगनी किरणें हवा को स्वच्छ करने में सहायक होती है।

विटामिन डी

इन किरणों के माध्यम से विटामिन डी ग्रहण किया जा सकता है। जो हड्डियों को मजबूत बनाने में उपयोगी होती है।

विशेष शोध

वैज्ञानिकों के द्वारा विशेष प्रकार की खोज के लिए इसका प्रयोग किया जाता है।

त्वचा रोग

बहुत तरह की त्वचा से सम्बन्धित बीमारी में भी इन किरणों का उपयोग होता है।

नष्ट बैक्टीरिया

यह किरणें बैक्टीरिया को भी नष्ट करती है।

UV Rays Ke Fayde

पराबैंगनी किरणों के प्रभाव से सिर्फ नुकसान ही नहीं होता है बल्कि इसके आपको बहुत से फायदे भी हो सकते है जो आपको आगे बताये गए है। जानते है पराबैंगनी किरणों से होने वाले फ़ायदों के बारे में।

  • यह विटामिन डी का स्त्रोत होती है। शरीर में विटामिन डी प्राप्त करने के लिए सूर्य से आने वाली पराबैंगनी किरणों की जरुरत होती है। विटामिन डी से बहुत तरह के फायदे होते है। इससे हड्डियाँ मजबूत होती है, मांसपेशी मजबूत होती है तथा रोगप्रतिरोधक क्षमता बढती है।
  • पराबैंगनी किरणें कीटाणुओं को खत्म कर संक्रमण होने से बचाती है। जो सूक्ष्म कीटाणु होते है जिनसे बैक्टीरिया या वायरस फैलता है उनको भी नष्ट करती है।
  • इन किरणों का इस्तेमाल त्वचा से सम्बन्धित कुछ बिमारियों का इलाज करने में भी किया जाता है।
  • जो छोटे जीव-जंतु होते है वह पराबैंगनी किरणों के द्वारा ही फलो को, फूलों को और बीजों को देख पाते है। इसके अलावा जो जंतु या किट हवा में उड़ते है वह पराबैंगनी किरणों के माध्यम से ही दिशा का पता लगा पाते है।

जरूर पढ़े: Blueborne Bluetooth Attack Kya Hai? Blueborne Bluetooth Attack Se Kaise Bache – जानिए Blueborne Bluetooth Attack Ke Nuksan हिंदी में!

UV Rays Ke Nuksan

पराबैंगनी किरणों के फायदे और उपयोग होने के साथ ही इनके नुकसान भी होते है। यह किरणें फायदा तो करती है लेकिन इन किरणों से कुछ नुकसान भी है।

त्वचा पर झुर्रियां

पराबैंगनी किरणों से आपकी त्वचा पर झुर्रियां हो सकती है। अगर आप अधिक समय तक इन किरणों के संपर्क में रहते है तो यह झुर्रियां होने का कारण होती है। इस नुकसान से बचने के लिए आपको सूर्य की किरणों में ज्यादा समय तक रहने से बचना होगा।

आँखों के लिए नुकसानदायक

यह किरणें आँखों को भी हानि पहुँचाती है। जिससे आँखों में जलन होना शुरू हो जाती है और मोतियाबिंद की समस्या भी हो सकती है। आँखों की रौशनी कम होने लगती है। इससे बचाव के लिए आँखों का खास तौर पर ध्यान रखना चाहिए।

त्वचा का रंग परिवर्तन

इन किरणों के ज्यादा संपर्क में रहने से त्वचा का रंग भी बदलने लगता है और काला हो जाता है।

पौधों के विकास पर प्रभाव

पराबैंगनी किरणों से पौधों के हो रहे विकास पर भी गलत प्रभाव पड़ता है। इन किरणों के प्रभाव के कारण पौधों में बीजों का विभाजन होने में भी समय लगता है।

यह पोस्ट भी जरूर पढ़े: Depression Kya Hai? Depression Kyu Hota Hai? – जानिए Depression Se Bachne Ke Upay क्या होते है विस्तार में!

Conclusion:

आज की पोस्ट में आपने UV Light Kya Hoti Hai प्राप्त की और इसके साथ ही UV Rays Ke Fayde भी आपने प्राप्त किये। आशा करते है की हमारे द्वारा प्रदान की गई जानकारी आपके लिए उपयोगी होगी।

UV Rays Information In Hindi जानने के लिए हमारी इस पोस्ट की मदद ज़रूर ले। Types Of Ultraviolet Rays In Hindi की जानकारी आप इस पोस्ट के द्वारा अच्छे से जान गए होंगे। आपको यह जानकारी कैसी लगी हमें कमेंट करके बताये।

इस पोस्ट की जानकारी आप अपने दोस्तों को भी दे तथा सोशल मीडिया पर भी यह पोस्ट What Is Ultraviolet Rays In Hindi ज़रुर शेयर करे। जिससे ज्यादा से ज्यादा लोगों के पास यह जानकारी पहुँच सके। हमारी पोस्ट Ultraviolet Rays In Hindi में आपको कोई परेशानी है या आपका कोई सवाल है तो आप कमेंट में अपने सवाल ज़रूर पूछे। हमारी टीम आपकी मदद ज़रुर करेगी।

अगर आप हमारी वेबसाइट के latest अपडेट पाना चाहते है तो आपको हमारी Hindi Sahayta की वेबसाइट को सब्सक्राइब करना होगा। फिर मिलेंगे आपसे कुछ ऐसी ही आवश्यक जानकारी लेकर तब तक के लिए अलविदा दोस्तों, आपका दिन मंगलमय हो।

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here