Diet Chart Kaise Banate Hai? – डाइट चार्ट डायबिटीज और गर्भवती महिलाओं के लिए!
Avatar Health
आप सुबह के समय क्या खाते है, क्या पीते है इन सभी चीजों का काफी प्रभाव आपके स्‍वास्‍थ्‍य पर पड़ता है अगर आप भोजन सही समय पर नही करते है या फिर बाहर का कुछ भी तला और मसालेदार खाने का सेवन करते है तो आपको कई प्रकार की बीमारियाँ हो सकती है।

अगर आप स्‍वस्‍थ रहना चाहते है तो आपको अपना डाइट चार्ट बनाना चाहिए और उसको नियमित रूप से फॉलो करना होगा। आजकल डाइट चार्ट फॉलो करना मुश्किल है, लेकिन आप सही डाइट लेंगे तो आप कई सारी बीमारियों से बच सकते है।

अगर आप अपना डेली रूटीन डाइट चार्ट बना रहे है तो आपको मौसम के हिसाब से डाइट चार्ट बनाना चाहिये जैसे गर्मी के मौसम में आपको कुछ ठंडा जूस, फल -फ्रूट, दही और लिक्विड पदार्थ का ज्‍यादा सेवन करना चाहिए।

सर्दी के मौसम में फिट रहने के लिए मांस, मछली, अंडा, मीट आदि डेयरी उत्‍पादों का सेवन करना चाहिए। तो चलिए जानते है  कैसे बनाये डाइट चार्ट इन हिंदी और विस्तार से पढ़े Diet Chart For Pregnant Women के बारे में।

डाइट चार्ट कैसे बनाते हैं

यदि आप भी जानना चाहते है की Diet Chart Kaise Banaye तो इसके लिए हम आपको कुछ टिप्स बता रहे है जिन्हें फॉलो करके आपको डाइट चार्ट बनाने में मदद मिलेगी।

क्या आपने यह पोस्ट पढ़ी: Food Poisoning Kya Hai? Food Poisoning Kaise Hota Hai? – जानिए Food Poisoning Ke Lakshan और इससे बचने के घरेलु उपाय!

सुबह के लिए डाइट

मॉर्निंग के समय में ज़्यादा भारी खाना नही खाना चाहिए हालांकि कई लोग मोर्निंग में तली गली चीजें खा लेते हैं जो शरीर के लिए ठीक नही है। सुबह के समय एक गिलास दूध के साथ 4-5 बादाम खाना चाहिए।

मॉर्निंग में 9 बजे की डाइट

यह टाइम ब्रेकफास्‍ट करने के लिए होता है इस समय बहुत से लोग ऑफ़िस वर्क  के लिए घर से जाते है। ऑफ़िस जाते समय वे एक गिलास जूस और ग्रीन टी का सेवन कर सकते है।

12 बजे लंच करने का सही समय

बहुत से कुछ लोग ऐसे होते है जो दोपहर का खाना 2 या 3 बजे खाते है जो शरीर की हेल्थ के लिए ठीक नही है। आपको दोपहर का खाना 12 बजे तक खा लेना चाहिए, क्योंकि ये लंच करने का सही टाइम होता है। आप खाने में छिलके वाली दाल, रोटी, दही, हरी सब्जी, चावल, सलाद शामिल कर सकते है। इस खाने में भरपूर मात्रा में प्रोटीन रहता है जो शरीर के लिए हेल्दी होता है। आपको खाना खाने के बाद 10-15 मिनट बाद पानी पिना चाहिए।

3 या 4 बजे के बीच की डाइट

दोपहर का खाना खाने के बाद करीब 3 या 4 बजे के बीच हल्का-फुल्का नाश्‍ता कर लेना चाहिए जैसे चाय, कॉफ़ी, बिस्किट, संतरा, सेव फल, अनार आदि का सेवन कर सकते है।

रात यानी डिनर के लिए डाइट

जो खाना आपने दोपहर में खाया है वो खाना आप डिनर में ले सकते है। सोने से करीब 3 घंटे पहले खाना खा लेना चाहिए जिससे खाना अच्छे से शरीर में डाइजेस्‍ट हो जाता है और सोते समय पेट में कब्‍ज और एसिडिटी नही होती है।

सोने से पहले की डाइट

आप सोने से पहले एक फल काट कर खा सकते है और एक गिलास दूध या फिर जूस भी बनाकर पी सकते है।

डाइट चार्ट इन प्रेगनेंसी

प्रेगनेंसी में महिलाओं को क्या-क्या डाइट लेना चाहिए इसके बारे में जानने के लिए निचे बताई गयी टिप्स को फॉलो करे।

  • गर्भावस्था में महिला को दाल, सब्जियां, फल, दूध आदि का सेवन करना चाहिए।
  • गर्भावस्था में महिला को प्रतिदिन 8-10 गिलास पानी पिना चाहिए।
  • गर्भावस्था में महिलाओं को उन चीजों का सेवन अधिक करना चाहिए जिसमे प्रोटीन की मात्रा ज्यादा हो जैसे- नॉनवेज, सभी दालें, दूध और दूध से बनी चीजें, सोयाबीन, दलिया आदि।
  • प्रेगनेंसी में महिला को रोज दो या तीन फल और हरी सब्जियों सेवन करते रहना चाहिए।
  • शक्कर वाली चीजों को खाने से ज्यादा परहेज रखना चाहिए क्योंकि इससे गर्भवती महिला का ब्लड शुगर का लेवल बढ़ता है।
  • गर्भवती महिलाओं को मांस, मछली, अंडा, मीट से परहेज रखना चाहिए, क्योंकि इन सभी चीजों का ज्यादा सेवन करना उनकी सेहत के लिए ठीक नहीं होता है।

जरूर पढ़े: BP Kaise Check Kare? Blood Pressure Napne Ke Tarike क्या होते है? – जानिए High BP Me Kya Khaye और क्या नही से संबंधित पूरी जानकारी!

डाइट चार्ट फॉर डायबिटीज

भारत में शुगर मरीज़ों की संख्या हर रोज बढ़ती जा रही है। डायबिटीज भयानक बीमारी नही है बल्कि यह अन्य बीमारियों को न्यौता देकर शरीर के अंगों को नुकसान पहुँचाती है। डायबिटीज मरीज़ों को  क्या खाना चाहिए इसके बारे में आपको आगे बताया गया है।

तुलसी, जैतून, बादाम

डायबिटीज मरीज़ों को तुलसी के बीज, जैतून का तेल, बादाम आदि का सेवन करना चाहिए।

सिरका 2 चम्‍मच

भोजन करने से 1 घंटे पहले डायबिटीज मरीज को 2 चम्‍मच सिरके का सेवन करना चाहिए जिससे शुगर की मात्रा कम रहे।

दालचीनी मिक्‍स

दालचीनी पाउडर मिक्‍स करके चाय या गर्म पानी के साथ सेवन कर सकते है।

प्रोटीन डाइट

जो नॉनवेज खाते है उन डायबिटीज मरीज़ों को लाल मिट का सेवन करना चाहिए। तथा जो शाकाहारी है वे ताजे फल, हरी सब्जी, पनीर, सोया आदि का भी सेवन कर सकते है।

मैथी दाने

शुगर मरीज़ों के लिए मैथी दाना सबसे फ़ायदे मंद है। इसका सेवन सब्जी बनाकर या आटे में मिलाकर नियमित रूप से कर सकते है।

फाइबर  

डायबिटीज मरीज़ों के लिए फाइबर का महत्‍वपूर्ण योगदान है। फाइबर आपके शरीर में डायबिटीज़ कम करके ब्‍लड शुगर कंट्रोल रखता है।

डाइट चार्ट फॉर किडनी पेशेंट

शरीर को स्वस्थ रखने के लिए किडनी का ठीक रहना बहुत जरूरी हैं। किडनी पेशेंट को क्या खाना चाहिए और क्या नहीं इसके बारे में हमने आपको आगे बताया है।

यह पोस्ट भी जरूर पढ़े: Kidney Stone Kaise Hota Hai? – किडनी स्टोन (पथरी) के लक्षण, कारण, इलाज और घरेलु उपचार!

गोभी  (किडनी पेशेंट)

गोभी में विटामिन C, विटामिन K और विटामिन B पाया जाता है, गोभी को कच्चा या बॉईल करके भी खा सकते है क्योंकि ये किडनी पेशेंट के लिए काफ़ी फ़ायदेमंद है।

मछली (किडनी पेशेंट)

मछली में  प्रोटीन अधिक मात्रा में पाया जाता है। किडनी की समस्या को काम करने के लिए उबली, पकी या भुनी हुई मछली का सेवन करना बहुत फायदेमंद होता है।

अंडे (किडनी पेशेंट)

अंडे में उच्च मात्रा में प्रोटीन पाया जाता है। अंडे के सफेद भाग को आमलेट बनाकर या बॉईल अंडे के पिले भाग को छोड़कर सफेद भाग का सेवन करना किडनी पेशेंट के लिए बहुत अच्छा होता है।

जैतून (किडनी पेशेंट)

जैतून का तेल किडनी पेशेंट के लिए काफी फ़ायदे मंद है घर में खाना बनाते समय जो तेल Use होता है उसकी जगह पर आप जैतून तेल का इस्तेमाल कर सकते है इस तेल में Oleic Acid, Anti Inflammatory पाया जाता है जो किडनी को स्वस्थ रखने में काफी सहायक होते है।

लहसुन (किडनी पेशेंट) 

किडनी पेशेंट को दिन में दो बार कच्चा लहसुन की कलियों का सेवन करना चाहिए, क्योंकि लहसुन में एंटीऑक्सीडेंट पाए जाने के कारण शरीर में हाई कोलेस्ट्रॉल कम होता है।

लाल अंगूर  (किडनी पेशेंट)

लाल अंगूर में विटामिन S पाया जाता है। इसका सेवन करना किडनी पेशेंट को स्वस्थ रखने में काफी मदद करता है।

Conclusion

दोस्तों आज हमने आपको Diet Chart Kaise Banta Hai इसके बारे में बताया। आशा  है आप इसके बारे में सब कुछ अच्छे से समझ गए होंगे। डाइट चार्ट बनाने के बाद आप उसका नियमित पालन कीजिए और रोज नियमित रूप से व्यायाम तथा सुबह की सैर सपाटा अपने दिनचर्या में लाये, जिससे आप एक सेहतमंद जिंदगी व्यतीत कर पाएंगे। हम सभी जानते है की सही खान-पान हमारे जीवन के लिए कितना महत्वपूर्ण है इसलिए दोस्तों भागदौड़ भरी इस जिंदगी में सही डाइट जरूर ले, जिससे आपकी सेहत अच्छी रहे। तो अपने दोस्तों और परिवार के साथ भी यह पोस्ट शेयर करे ताकि वे भी एक सेहतमंद जीवन जीने के लिए किन नियमों का पालन करना चाहिए इस बारे में जान सके।

Leave a comment

अधिकतर पूछे जाने वाले प्रश्न

हिंदी सहायता क्या है?







हिंदी सहायता एक वेबसाइट है जिस पर अनेक प्रकार की जानकारियों को लेखों के माध्यम से पाठकों तक पहुँचाया जाता है। जिन्हें हिंदी भाषा में लिखकर सरल रूप में समझाया जाता है।

हिंदी सहायता की शुरुआत किसने की?







हिंदी सहायता 15 अगस्त 2017 को नीरज जीवनानी के द्वारा शुरू की गई थी।

हिंदी सहायता का उद्देश्य क्या है?







हमारी वेबसाइट हिंदी सहायता का सबसे मुख्य उद्देश्य लोगों तक इंटरनेट और आधुनिक तकनीकों से जुड़ी सभी प्रकार की जानकारियों को प्रदान करना है। इसके साथ ही देश की मातृभाषा हिंदी के महत्व को बनाये रखना भी है। जो भारत देश की सबसे प्रिय भाषा है।

हिंदी सहायता पर किस प्रकार के लेख मौजूद है ?







हिंदी सहायता पर कई तरह के लेख है जिनके बारे में जानना आपके जीवन के लिए आवश्यक है जैसे – शिक्षा संबंधी लेख, तकनीकी संबंधी लेख, स्वास्थ्य संबंधी लेख, ऑनलाइन पैसे कैसे कमाए तथा और भी विभिन्न प्रकार के लेख मौजूद है। जिनसे आपको बहुत कुछ सीखने को भी मिलता है और आपका काम भी आसान हो जाता है।

हिंदी सहायता अन्य वेबसाइट से क्यों बेहतर है ?







इस वेबसाइट पर आपको बहुत ही सरल भाषा में जानकारी दी जाती है लेख इस प्रकार से लिखे गए होते है जो आसानी से समझ में आ सके शब्दों को बिल्कुल सामान्य रूप में अभिव्यक्त किया जाता है

क्या हिंदी सहायता पर मेरे सवालों का उत्तर दिया जाएगा ?







हाँ आपके सभी सवालों के जवाब दिए जाएँगे आपको किसी लेख में कोई परेशानी आती है तो आप हमसे जरुर पूछे लेखों से जुड़ी परेशानी को दूर करने में हम आपकी मदद करेंगे

अपना बहुमूल्य सुझाव दे |