वह छात्र जो Biotechnology Course से अपने जीवन को एक नई दिशा देना चाहते है ऐसे छात्रों के लिए यह कोर्स बहुत से आकर्षक और सफलता से भरे रास्ते खोलता है। इस कोर्स को करके आप अपना उज्जवल भविष्य बना सकते है।

Biotechnology के क्षेत्र में भारत में लगातार विकास होता जा रहा है। इस क्षेत्र में नौकरी के बहुत सारे अवसर होते है। यदि बारहवीं आपने साइंस विषय से की है तो Biotechnology का यह विकल्प चुनना आपके करियर के लिए बेहतरीन होगा।


Biotechnology Me Career Kaise Banaye इसकी पूरी जानकारी लेकर आप मेडिकल क्षेत्र में करियर बनाने के सपनों को पूरा कर पाएँगे।

Biotechnology Kya Hai (What Is Biotechnology In Hindi?)

बायोटेक्नोलॉजी विज्ञान की एक शाखा होती है। यह मेडिकल और कृषि दोनों का क्षेत्र होता है। Biotechnology एक ऐसी तकनीक होती है जो जैविकता का प्रयोग करके नए प्रोडक्ट का निर्माण करे। जो वास्तविक प्रोडक्ट से अलग और बेहतर हो। इस तकनीक में जीवधारियों से जो पदार्थ प्राप्त होते है उसका इस्तेमाल करके नए प्रोडक्ट का निर्माण किया जाता है या प्रोडक्ट में सुधार करना होता है। इसके तहत कई क्षेत्र आते है जैसे- पशुपालन, कृषि, स्वास्थ्य व चिकित्सा, पर्यावरण, उद्योग आदि।

क्या आपने यह पोस्ट पढ़ी: Cricketer Kaise Bane? Cricket Banne Ke Liye Kya Karna Hoga? – जानिए Cricket Me Career Banane Ka Tarika बेहद आसान भाषा में!

Biotechnology Me Career Kaise Banaye

आपने यह तो समझ लिया की B Tech Biotechnology Kya Hai लेकिन इसमें करियर बनाने के लिए आपको कुछ योग्यताओं को पूरा करना होता है जो आपको आगे बताई गई है।

शैक्षणिक योग्यता

12 वीं में आपका बॉयोलॉजी विषय होना अनिवार्य है तथा पोस्ट ग्रेजुएशन में प्रवेश पाने के लिए आपका ग्रैजुएट होना ज़रुरी है। 12 वीं के बाद आप बीई, बी एससी, बी टेक कर सकते है। ग्रेजुएशन के बाद स्टूडेंट मास्टर डिग्री की पढ़ाई कर सकते है। अगर आप मास्टर डिग्री कर रहे है तो इसके लिए बायोटेक्नोलॉजी या बायोलॉजी में किसी भी एक ब्रांच से ग्रेजुएशन होना चाहिए।

प्रवेश प्रक्रिया

बायोटेक्नोलॉजी में प्रवेश पाने के लिए IIT-JAM, AIEEE, AIIMS इन परीक्षाओं को देकर आप प्रवेश प्राप्त कर सकते है।

जरूर पढ़े: RSCIT Computer Course Kya Hai? RSCIT Computer Course Kaise Kare? – जानिए RSCIT Course Karne Ke Fayde बेहद आसान भाषा में!

Biotechnology Ke Course

आप बायोटेक्नोलॉजी के कोर्स को चार तरह से कर सकते है जो आपको आगे बताये गए है।

  • डिप्लोमा कोर्सेज
  • बैचलर डिग्री कोर्सेज
  • पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्सेज (मास्टर और पोस्ट ग्रेजुएशन डिप्लोमा प्रोग्राम)
  • पीएचडी कोर्सेज

हमारे देश में मुख्य रूप से कुछ प्रकार के बायोटेक्नोलॉजी के कोर्स उपलब्ध है जिसके बारे में आपको नीचे जानकारी दी गई है। भारत में कुछ प्रमुख बायोटेक्नोलॉजी के कोर्स है। अगर आप इसके योग्य है तो आप इन कोर्स को कर सकते है।

[table “55” not found /]

बायोटेक्नोलॉजी करने के प्रमुख कॉलेज

भारत के कई संस्थान इस कोर्स को करवाते है। बायोटेक्नोलॉजी के अंडर ग्रैजुएट और मास्टर कोर्स देश के बहुत से संस्थानों में करवाए जाते है। आगे हम आपको  बायोटेक्नोलॉजी के कुछ प्रमुख कॉलेज के बारे में बता रहे है जहाँ से आप यह कोर्स कर सकते है।

  • देवी अहिल्या विश्वविद्यालय इंदौर मध्यप्रदेश
  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी मद्रास
  • बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय वाराणसी
  • इंस्टिट्यूट ऑफ़ केमिकल टेक्नोलॉजी मुंबई
  • राजीव गाँधी इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी एवं बायोटेक्नोलॉजी पुणे, महाराष्ट्र

यह पोस्ट भी जरूर पढ़े: GNM Kya Hai? GNM Course Kaise Kare? GNM Ke Liye Yogyta क्या होती है – जानिए GNM Course Karne Ke Fayde हिंदी में!

Scope Of Biotechnology In Hindi

बायोटेक्नोलॉजी के क्षेत्र में कई सारे पद होते है जिसमें आप नौकरी कर सकते है। जानते है इन पदों के बारे में।

  • रिसर्च लेबोरेट्रीज
  • हेल्थ केयर सेंटर
  • फार्मस्युटीकल कंपनीज
  • एनिमल हसबेंडरी
  • मेडिकल राइटिंग
  • फूड मैन्युफैक्चरिंग इंडस्ट्रीज़
  • जेनेटिक इंजीनियरिंग
  • आईटी कम्पनी

वेतनमान

इस क्षेत्र में वेतनमान आपकी योग्यता, कार्य के आधार पर निर्भर होता है। शुरुआत में आपको तीस हजार से लेकर 1 लाख रूपये या इससे ज्यादा भी मिल सकता है। बीटेक कोर्स करने के बाद ट्रेनी के रूप में आपको प्राइवेट इंस्टिट्यूट में 25-30 हजार रुपये प्रत्येक माह का ऑफर मिलता है। रिसर्च असिसटेंट व रिसर्च ट्रेनी करने के बाद अगर आप साइंटिस्ट के तौर पर कार्य कर रहे है तो आपका वेतन 50 हजार रुपये होता है। अनुभव अधिक होने पर आपका वेतन भी ज्यादा हो जाता है।

Yellow Biotechnology Kya Hai (Yellow Biotechnology In Hindi)

Yellow Biotechnology जिसे हिंदी में पीत जैव प्रौद्योगिकी कहते है। यह जैव प्रौद्योगिकी की शाखा होती है जो कीट जैव प्रौद्योगिकी को परिभाषित करती है। कीड़ों में कुछ सक्रिय तत्व पाए जाते है। जो कृषि के लिए उपयोग किये जाते है तथा चिकित्सा में रिसर्च करने के लिए उपयोगी होते है।

Conclusion:

Biotechnology में भविष्य बनाने की कई सारी संभावनाएं है। आज बहुत से क्षेत्रों में इसका प्रयोग किया जाने लगा है, अपनी दक्षता के अनुसार किसी भी पद पर कार्य किया जा सकता है तथा आप एक उच्च पद और नाम के साथ अच्छा पैसा भी कमा सकते है। आशा करते है की Biotechnology Ki Jankari आपके लिए बहुत उपयोगी होगी और आप इस जानकारी के माध्यम से Biotechnology Course को करने में सफल हो पाएँगे।

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here