हैलो दोस्तों Hindi Sahayta में आपका स्वागत है आज हम आपको बताएँगे की DM Kaise Bane क्या आप भी डी एम बनने की तैयारी कर रहे है। और जानना चाहते है की डी एम बनने की तैयारी कैसे करे तो आप बिल्कुल सही पोस्ट पढ़ रहे है। इस पोस्ट के जरिये आपको हम इसकी पूरी जानकारी देंगे।
DM Ke Karya आज आपको इस पोस्ट के जरिये जानने को मिलेंगे। और आपको हम यह बिल्कुल आसान भाषा में समझाएँगे। आशा करते है की आपको हमारी सभी पोस्ट पसंद आ रही होगी। और हमें उम्मीद है की आप आगे भी हमारे ब्लॉग पर आने वाली सारी पोस्ट पसंद करते रहे।
आज प्रत्येक युवा चाहता है की वह किसी बड़े पद पर कार्य करे। और अगर बात डी एम बनने की हो तो हर युवा डी एम बनना ज़रुर चाहेगा। डी एम का पद बहुत बड़ा और Power Full होता है। और इस पद में बहुत सम्मान भी मिलता है। और डी एम को कई सारे अधिकार भी प्राप्त होते है।

अगर आप भी डी एम बनने की इच्छा रखते है। और इसकी तैयारी में भी लगे है तो आज की यह पोस्ट पढ़ना आपके लिए बहुत ज़रुरी है। इसमें आपको डी एम बनने से जुड़े सारे सवालों के जवाब मिल जाएँगे। और आप अच्छी तरह से इसकी तैयारी भी कर पाएँगे।
आइये अब जानते है District Magistrate In Hindi की पूरी जानकारी जो आज आपको हमारी इस पोस्ट DM Kaise Bane In Hindi के माध्यम से मिलेगी। तो इसके लिए यह पोस्ट शुरू से अंत तक ज़रुर पढ़े।

DM Kya Hota Hai

डी एम जिला अधिकारी को कहा जाता है। जिसे जिले का मुखिया भी कहते है। जो अपने जिले की सुरक्षा व सेवा करता है। District Magistrate को District Collector भी कहते है।
जरूर पढ़े: English Bolna Aur Padhna Kaise Sikhe? – 5 सरल और आसान तरीको से केवल कुछ दिनों में अंग्रेजी बोलना सीखिए!
तथा इन्हें जिला न्यायाधीश भी कहा जाता है। प्रत्येक जिले में एक न्यायालय होता है। न्यायालय में जो न्यायाधीश होते है उन्हें जिला न्यायाधीश कहते है।

DM Full Form

District Magistrate

DM Full Form In Hindi

जिला दंडाधिकारी

DM Kaise Bane

आइये अब आपको आगे बताते है District Magistrate Kaise Bane इसके लिए क्या योग्यता होना चाहिए, आयु सीमा क्या होना चाहिए। ये सभी जानकारी आपको हम Details में बताने वाले है।

डी एम बनने के लिए योग्यता

District Magistrate बनने के लिए उम्मीदवार का किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से ग्रेजुएशन होना चाहिए। Graduation Pass होने के बाद ही आप डी एम बनने की तैयारी कर सकते है।

डी एम बनने के लिए आयु

जिला न्यायाधीश बनने के लिए प्रत्येक वर्ग के लिए अलग-अलग आयु सीमा निर्धारित की गई है। General वर्ग के लिए आयु सीमा 21 वर्ष से 30 तक रखी गई है। OBC वर्ग के लिए आयु सीमा 21 वर्ष से 33 वर्ष तक रखी गई है 3 साल की छूट के साथ। SC/ST वर्ग के लिए 21 वर्ष से 35 वर्ष तक रखी गई है, 5 साल की छूट के साथ।

डी एम बनने की चयन प्रक्रिया

District Magistrate बनने के लिए उम्मीदवार को UPSC में होने वाली CSE( सिविल सर्विस एग्जाम) पास करना होती है। इसके बाद आपका IAS के लिए चयन किया जाता है। इसके बाद आप IAS अधिकारी बनते है। तथा पदोन्नति होने पर IAS अधिकारी को जिला न्यायाधीश बनाया जाता है।

डी एम परीक्षा पैटर्न (DM Exam Pattern)

जिला न्यायाधीश बनने के लिए आपको UPSC पास करना होती है। इसमें आपको CSE की परीक्षा देना होती है। जो 3 चरणों में होती है, जिसके बारे में आपको नीचे बताया गया है।
यह पोस्ट भी जरूर पढ़े: IBPS Kya Hai? IBPS Exam Ki Taiyari Kaise Kare? IBPS से जुडी सभी Details जानिए हिंदी में

  • प्रारंभिक परीक्षा

UPSC के लिए Apply करने के बाद आपको प्रारंभिक परीक्षा पास करना होती है। यह पहला चरण होता है।

  • मुख्य परीक्षा

प्रारंभिक परीक्षा में पास होने के बाद आपको मुख्य परीक्षा देनी होती है। और यह दूसरा चरण होता है। जो उम्मीदवार प्रारंभिक परीक्षा में पास होते है वह मुख्य परीक्षा में भाग लेते है। और यह अंतिम परीक्षा होती है। इसके बाद आपका Interview लिया जाता है।

  • साक्षात्कार

लिखित परीक्षा में पास होने के बाद आपका Interview होता है। जिसमें आपसे कुछ सवाल किये जाते है। जिसके आधार पर ही आपका चयन होता है।

डी एम की तैयारी कैसे करे

  • आपको अपना General Knowledge बढ़ाना होगा। इसके लिए Books पढ़े। और Daily News Paper पढ़े।
  • आपको इसके लिए कानूनी जानकारी होना ज़रुरी है। तो आप Law की Books भी पढ़े।
  • तथा आप पिछले साल के प्रश्न पत्र का भी सहारा ले सकते है, इसमें आपको डी एम की तैयारी की जानकारी भी मिल जाएगी।

DM Ke Karya

आइये अब जानते है डी एम के कार्य के बारे में की डी एम के क्या कार्य होते है:

  • डी एम का कार्य कानून व्यवस्था को बनाये रखना है। यह कानून व्यवस्था को बनाये रखता है।
  • वार्षिक अपराध की सरकार को Report देना।
  • पुलिस और जेलों का निरीक्षण करता है।
  • सभी कार्यों की मंडल आयुक्त को जानकारी देना।
  • जब मंडल आयुक्त उपस्थित नहीं होते है, तो जिला विकास प्राधिकरण के पद पर अध्यक्ष के रूप में कार्य करते है।
  • साथ में कार्य करने वाले मजिस्ट्रेटों का निरीक्षण करना।

Conclusion

आज की पोस्ट में हमने आपको DM Kaise Bane के बारे में बताया। और आपको इस पोस्ट के द्वारा DM Kya Hota Hai की जानकारी भी मिली। उम्मीद है दोस्तों आपको इसकी जानकारी हमने अच्छे से दी।
DM Kaise Bane In Hindi की जानकारी आपको कैसी लगी हमें ज़रुर बताये। District Magistrate Kaise Bane में आपको इसका Exam Pattern भी पता चला। हम आशा करते है की आपने डी एम परीक्षा पैटर्न को अच्छी तरह से समझ लिया होगा।
District Magistrate In Hindi में आपको बहुत कुछ जानने को मिला। इस पोस्ट में आपको DM Ka Full Form Kya Hai यह भी पता चला। और इस पोस्ट की जानकारी आप अपने Friends को भी दे। तथा Social Media पर भी यह पोस्ट DM Kaise Bane In Hindi ज़रुर Share करे। जिससे और भी लोगों को इसके बारे में जानकारी प्राप्त हो।
क्या आपने यह पोस्ट पढ़ी: SSC Ki Taiyari Kaise Kare – बिना कोचिंग के कैसे करे एसएससी की तैयारी
हमारी पोस्ट DM Kaise Bane में आपको कोई परेशानी है या आप इस पोस्ट के बारे में और कोई जानकारी चाहते है, तो Comment Box में Comment करके हमसे पूछ सकते है, हमारी Team आपकी Help ज़रुर करेगी।
अगर आप हमारी Website के Latest Update पाना चाहते है, तो आपको हमारी Hindi Sahayta की Website को Subscribe करना होगा। फिर मिलेंगे आपसे कुछ ऐसे ही New Article के साथ तब तक के लिए अलविदा दोस्तों आपका दिन शुभ हो।

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading...