Home » Govt. Scheme » ई गवर्नेंस क्या है (E Governance in Hindi) – ई-गवर्नेंस के फायदे एवं नुकसान।

ई गवर्नेंस क्या है (E Governance in Hindi) – ई-गवर्नेंस के फायदे एवं नुकसान।

E Governance in Hindi: E-governance दो शब्दों से मिलकर बना है जिसमें E शब्द से तात्पर्य इलेक्ट्रॉनिक सूचना एवं संचार प्रौद्योगिकी से है। जबकि Governance शब्द से तात्पर्य शासन से है। ई-गवर्नेंस का मुख्य उद्देश्य नागरिकों तक सभी सरकारी कार्यों को ऑनलाइन सर्विस के माध्यम से पहुंचना है ताकि उन्हें सरकारी दफ्तरों के बार-बार चक्कर न लगाना पड़े और उनके समय एवं पैसे दोनों की बचत हो सके।

आज अधिकतर काम को ऑनलाइन किये जाने लगा है जिससे सारे कार्य आसान हो गए है। और इससे समय की बचत भी होती है। सरकार ने देश की तरक्की के लिए कई तरह की योजनायें बनाई है। जिससे देश को शक्तिशाली बनाया जा सके। सरकार भी अपने कार्य के तरीकों को बेहतर तरीके से करने के लिए अलग-अलग तरह के प्रयास कर रही है।

[toc]

हम सभी को पता है कि पहले सरकारी कामों को करने में बहुत समय लगता था, जिससे जनता को अपने कार्यों में बाधा आती थी। इंटरनेट की दुनिया ने इस समस्या से बाहर आने में बहुत मदद की है, जिससे सरकारी कार्यों की गति बढ़ी है। कुछ समय पहले किसी तरह के सरकारी कार्यों को करने के लिए बार-बार दफ्तरों के चक्कर लगाने पड़ते थे। लेकिन अब E Governance ने इस काम को आसान बना दिया है।

हालांकि कइयों को E Governance Kya Hai, ई-गवर्नेंस के फायदे (Advantages of E Governance) और ई-गवर्नेंस के नुकसान (Disadvantages of E Governance) नहीं पता होगा, इसलिए इस आर्टिकल में आपको ई गवर्नमेंट क्या है (What is E Governance in Hindi) की पूरी जानकारी जानकारी प्रदान की गयी है।

E Governance Kya Hai

E Governance Kya Hai

E-Governance एक ऐसी सर्विस है जिसमें सभी सरकारी कार्यों को ऑनलाइन सर्विस के द्वारा जनता तक पहुँचाना है। E-Governance डाटा के इकठ्ठा करने, डिजिटल माध्यम से डाटा एवं सूचनाओं को भेजने, सरकारी कार्यों में तीव्रता लाने और न्यायसंगत निर्णय लेने आदि कार्यों में सहायक तथा सुविधाजनक भूमिका निभाता है। इंटरनेट के द्वारा अब जनता सरकारी सुविधाओं का लाभ उठा सकेगी।

किसी भी सरकारी काम को करवाने के लिए पहले दफ्तरों के चक्कर लगाने पड़ते है लेकिन इस सर्विस के द्वारा आप कम समय में अपने सरकारी काम निपटा सकेंगे। इन कामों को करने की एक समय सीमा बनाई गई है। इससे रिश्वतखोरी को रोका जाएगा। इससे कहीं जाने की जरुरत भी नहीं होगी और घर से ही आप सरकारी कार्य के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते है।

इसके तहत आपको गवर्मेंट सर्विस और सूचनाएं ऑनलाइन प्राप्त हो जाएगी। बहुत से राज्यों की सरकार इंटरनेट के द्वारा यह सुविधा लोगों तक प्रदान कर रही है।

क्या आपने यह पोस्ट पढ़ी: CSC Kya Hai – CSC सेंटर कैसे खोले, सीएससी रजिस्ट्रेशन 2022!

E Governance Full Form

ई गवर्नेंस का फुल फॉर्म ‘Electronic Governance‘ होता है जबकि हिंदी में E Governance का मतलब (E Governance Meaning in Hindi) ‘इलेक्ट्रॉनिक शासन‘ होता है।

E Governance के उद्देश्य

यह सर्विस किन उद्देश्यों को पूरा करने के लिए बनाई गई है यह आप आगे जानेंगे। जानते है इस सर्विस को शुरू करने के पीछे क्या उद्देश्य है।

  • यदि आप E Governance का प्रयोग करेंगे तो आपको इंटरनेट का इस्तेमाल करके डिजिटल काम करना होंगे। जिससे देश की जनता इंटरनेट का प्रयोग करना सीखेगी।
  • इससे सरकारी कामों की गति में भी वृद्धि होगी। सरकारी कामों में बहुत समय लग जाता है और सरकार जनता की समस्या को हल करने में समय लगाती है। E Governance के द्वारा इस समस्या को कम समय में हल किया जा सकेगा।
  • जनता अगर किसी तरह के कार्य से नाखुश है तो वह ऑनलाइन अपनी समस्या के लिए फीडबैक भी दे सकती है।

E Governance द्वारा दी जाने वाली सुविधाएँ

E Governance के माध्यम से आप बहुत तरह के सरकारी कामों को कर सकते है। इसके अंतर्गत आप कौन-कौन से कार्य कर सकते है और सेवाओं का लाभ ले सकते है यह हम आपको नीचे बता रहे है।

  • आप ऑनलाइन नागरिक सेवाओं का लाभ प्राप्त कर सकते है। जिसमें आप ऑनलाइन पैन कार्ड, पासपोर्ट बनवा सकते है अपने आधार कार्ड, जाती प्रमाण पत्र, राशन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, वोटर आई-डी कार्ड आदि का वेरिफिकेशन करवा सकते है।
  • इसके द्वारा आप पानी का बिल, बिजली बिल, टेलीफ़ोन बिल, मोबाइल बिल आदि तरह के बिल ऑनलाइन भर सकते है।
  • ई-गवर्नेंस का प्रयोग करके विभिन्न तरह के टिकट बुक कर सकते है। पहले के समय में रेल की टिकट लेने के लिए लोगों को बहुत देर लाइन में खड़े रहना पड़ता था लेकिन अब आप रेल टिकट, हवाई टिकट, IRCTC टिकट की सेवा, बस टिकट को ऑनलाइन ही बुक कर सकते है।
  • शिक्षा सेवाओं का प्रयोग भी अब ई-गवर्नेंस के माध्यम से किया जा सकता है। कॉलेज में एडमिशन ले सकते है, किसी भी सरकारी नौकरी के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते है, छात्रवृत्ति के लिए आवेदन, किसी भी परीक्षा का परिणाम और शिक्षा से संबंधित कई तरह के कार्य किया जा सकते है।
  • किसी भी तरह का प्रमाण पत्र ऑनलाइन बनवा सकते है इसके लिए अब आपको कहीं जाने की जरुरत भी नहीं होगी।

जरूर पढ़े: E Commerce Kya Hai? – E Commerce Business कैसे शुरू करें!

E Governance Ke Prakar

ई गवर्नेंस का लाभ जनता के साथ – साथ सरकार को भी होता है ई गवर्नेंस के प्रकारों के बारे में आपको नीचे जानकारी दी गई है।

1. G to G (Government To Government): इसका मतलब होता है सरकार से सरकार तक। जब एक सरकारी विभाग किसी दूसरे सरकारी कार्यालय या विभाग से किसी प्रकार की सरकारी सूचना और सेवा के लिए संपर्क करती है तो वह जी टू जी कहलाती है।

2. G to C (Government To Citizen): G to C का अर्थ है सरकार से नागरिक तक। जब सरकार और नागरिक के बीच किसी तरह का संपर्क होता है तो वह Government to Citizen कहलाता है।

3. G to B (Government To Business): इसका अर्थ होता है सरकार से व्यवसाय तक। इसमें सरकार और व्यापारिक क्षेत्र के बीच संपर्क होता है। इसके माध्यम से व्यापारी घर से ही ऑनलाइन सरकारी कामों को कर सकते है तथा सरकार व्यापारिक क्षेत्रों में संपर्क कर लेन-देन का काम करती है।

4. G to E (Government To Employees): G to E का मतलब सरकार से कर्मचारी होता है। यह सरकार और कर्मचारी के बीच संपर्क को बनाये रखने में सहायक है। सरकार सरकारी कर्मचारी से सरकारी कार्यों के लिए संपर्क रखती है।

5. C to C (Citizen To Citizen): इस श्रेणी में नागरिकों का आपस में संपर्क होता है।

Features Of E Governance In Hindi

E-Governance की कुछ मुख्य विशेषताएँ भी होती है जिसके द्वारा इस सुविधा का अधिक से अधिक उपयोग किया जाने लगा है।

  • इस सुविधा से कागजी कार्य कम हो गए है जिससे काम में हो रही समस्या पर रोक लगी है।
  • इस सर्विस में एक ही काम को रिपीट नहीं किया जाता है।
  • अधिकतर सरकारी सेवाओं का लाभ ऑनलाइन लिया जा सकेगा।

Advantage Of E Governance In Hindi

E Governance के प्रयोग से बहुत से लाभ प्राप्त होते है। E Governance में कौन-कौन से लाभ शामिल है यह हम आगे जानेंगे।

  • इससे पर्यावरण को बचाया जा सकेगा। कागज़ का प्रयोग कम करने से पेड़ो को बचा पाएँगे यह भी इसका एक बड़ा लाभ है।
  • रिश्वतखोरों, भ्रष्ट अधिकारी, अपराधियों से बचा जा सकेगा।
  • इसकी मदद से कार्य कम समय में किया जा सकता है। पहले कार्य को करने में समय लगता था वहीँ अब कुछ ही समय में कार्य आसानी से हो जाते है।
  • इससे बहुत सी चीजों के खर्चे भी कम हुए है कागज़ों का इस्तेमाल कम हुआ है जिससे खर्चों में कमी आयी है।
  • इसका उपयोग जनता अपने मोबाइल और कंप्यूटर पर ही कर सकती है।
  • सरकार को इससे अपने कार्यों को करने में सरलता और दक्षता मिलती है।

E Governance Ke Nuksan  

E Governance के जिस प्रकार बहुत से लाभ है उसी प्रकार इसके कुछ नुकसान भी है जिन्हें हम आगे जानेंगे।

  • इसका उपयोग करने के लिए हमें इंटरनेट का प्रयोग करना होता है और इंटरनेट पर अपनी व्यक्तिगत जानकारी देना होती है जो की असुरक्षित हो सकती है।
  • बहुत से लोग अभी तक इस सुविधा का इस्तेमाल करने से वंचित है। जहाँ पर E-Governance के प्रयोग करने के बारे में बहुत ही कम लोगों को जानकारी होती है वह इस सुविधा का लाभ नहीं उठा पाते है।
  • हमारे देश में अभी भी ज्यादातर लोगो को कंप्यूटर और मोबाइल का ज्ञान नहीं है। जिसके चलते वह इस सुविधा का फायदा नहीं ले पा रहे है।
  • देश में ऐसे बहुत से गाँव है जहाँ अभी तक इंटरनेट की सुविधा नहीं पहुँचाई जा सकी है। जिसके कारण प्रत्येक नागरिक को इसकी सुविधा प्राप्त नहीं है।

Difference Between E Governance and E Government In Hindi

ई-गवर्नमेंट और ई-गवर्नेंस के बीच काफी अंतर है जिसे आप निचे उल्लेखित बिंदुओं के माध्यम से समझ सकते है –

  • सरकारी सेवा को जनता तक पहुँचाने के लिए संचार तथा सूचना प्रौद्योगिकी का प्रयोग किया जाता है और यह जिन साधनों से जनता तक पहुँचाई जाती है उसे E-Governance कहते है। सरकारी सूचना और सेवा जनता को प्रदान करने के लिए संचार तथा सूचना प्रौद्योगिकी का प्रयोग करना E Government कहलाता है।
  • ई-गवर्नमेंट एक प्रणाली (System) है, जबकि ई-गवर्नेंस एक कार्य है।

Conclusion

ई-गवर्नेंस सरकार द्वारा शुरू की गयी एक बहुत ही महत्वपूर्ण सेवा है जिससे सरकारी काम-काज में तीव्रता आयी है और लोगों का काम बहुत ही कम समय में आसानी से संभव हो पाया है। साथ ही इससे भ्रष्टाचारी एवं रिश्वतखोरी में भी कमी आयी है।

आज की पोस्ट में आपने जाना E-Governance Kya Hota Hai और इसके साथ ही E-Governance Ke Fayde और नुकसान भी आपको यहां पता चले। आशा करते है कि हमारे द्वारा प्रदान की गई जानकारी आपके लिए उपयोगी होगी। E-Governance In Hindi के बारे में जानने के लिए हमारी इस पोस्ट की मदद ज़रूर ले। E-Governance Advantages And Disadvantages In Hindi की जानकारी आप इस पोस्ट के द्वारा अच्छे से जान गए होंगे। आपको यह जानकारी कैसी लगी हमें कमेंट करके बताये।

इस पोस्ट की जानकारी आप अपने दोस्तों को भी दे तथा सोशल मीडिया पर भी यह पोस्ट E-Governance Kya Hai ज़रुर शेयर करे। जिससे ज्यादा से ज्यादा लोगों के पास यह जानकारी पहुँच सके।

आपको हमारा यह लेख कैसा लगा ?

Average rating 4.6 / 5. Vote count: 110

अब तक कोई रेटिंग नहीं! इस लेख को रेट करने वाले पहले व्यक्ति बनें।

एडिटोरियल टीम

एडिटोरियल टीम, हिंदी सहायता में कुछ व्यक्तियों का एक समूह है, जो विभिन्न विषयो पर लेख लिखते हैं। भारत के लाखों उपयोगकर्ताओं द्वारा भरोसा किया गया।Email के द्वारा संपर्क करें - [email protected]

1 thought on “ई गवर्नेंस क्या है (E Governance in Hindi) – ई-गवर्नेंस के फायदे एवं नुकसान।”

Leave a Comment