विज्ञापन
विज्ञापन
in

इंट्रानेट क्या है? – जानिए Extranet Meaning in Hindi और इससे जुड़ी पूरी जानकारी!

इंट्रानेट क्या है? जानिए Extranet Meaning in Hindi और Difference Between Internet Intranet and Extranet in Hindi से जुड़ी पूरी जानकारी हमारे इस पोस्ट के माध्यम से।
विज्ञापन
विज्ञापन

आज की पोस्ट में हम आपको Extranet Meaning in Hindi के बारे में बताने जा रहे हैं, क्या आप भी Internet, Intranet और Extranet की जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं, तो आप बिल्कुल सही पोस्ट पढ़ रहे हैं। इसके साथ ही आप Extranet in Hindi और इंट्रानेट क्या है इसके बारे में भी आज आप जानेंगे।

विज्ञापन
विज्ञापन

इंट्रानेट एक प्रकार का सॉफ्टवेयर है, जिसका उपयोग बड़े- बड़े आर्गेनाइजेशन द्वारा अपने कर्मचारियों के मध्य प्राइवेट डाटा को शेयर करने के लिए किया जाता है। Intranet, Internet Protocol का उपयोग करके किसी आर्गेनाइजेशन के बीच डाटा शेयर करने का काम करता है। यह एक प्रकार का प्राइवेट नेटवर्क है।

जहाँ Internet ने आज के आधुनिक जीवन को बहुत ही आसान बना दिया है। सभी काम आज इंटरनेट पर ही निर्भर हो गये है। चाहे स्कूल हो, कॉलेज, प्राइवेट ऑफ़िस या सरकारी काम सभी काम इंटरनेट का द्वारा किये जा रहे है। वहीँ इसके प्रयोग से चोरी करने के तरीके भी बढ़ गए है। इंटरनेट का इस्तेमाल करके चोरी करने के तरीके आसान हो गए हैं और इन्हीं पर रोक लगाने के लिए इंट्रानेट और एक्सट्रानेट को प्रयोग में लाया गया है। यह इंटरनेट को Access करने का एक सुरक्षित माध्यम है।

आईये अब What is Extranet in Hindi और Difference Between Internet Intranet and Extranet in Hindi के बारे में विस्तार से जान लेते हैं। अक्सर यूजर कमेंट्स में हमसे पूछते हैं, कि Describe The Salient Features of Internet Intranet And Extranet तो आपके सारे प्रश्नों के जवाब आज आपको हमारे इस पोस्ट के माध्यम से मिलने वाले हैं, तो जानने के लिए हमारी यह पोस्ट शुरू से अंत तक जरुर पढ़ें।

Intranet Kya Hai

यह एक तरह का प्राइवेट नेटवर्क होता है। इसका उपयोग किसी कंपनी, कॉलेज संस्था में किया जाता है जिसे Local Area Network भी कहते है। यह पूरी तरह से सुरक्षित Network होता है। Intranet को Access करने के लिए Valid Username और Password की जरुरत होती है। यह इंटरनेट की तरह ही प्रयोग किया जाने वाला एक नेटवर्क होता है। यह हमारे जीवन का एक मुख्य हिस्सा बन गया है। आज हर जगह इंटरनेट का प्रयोग किया जा रहा है।

लेकिन इसे इस्तेमाल करने के लिए यूज़र के पास यूज़र आईडी होना ज़रुरी है। बिना यूज़र आईडी के इसका इस्तेमाल नहीं किया जा सकता है। इसलिए इसके हैक होने का खतरा नहीं रहता है। इसमें कुछ कंप्यूटर एक-दूसरे के साथ जुड़े होते है। तथा डाटा का आदान-प्रदान भी उनके बीच ही संभव होता है।

विज्ञापन
विज्ञापन

Extranet Kya Hai (Extranet Definition in Hindi)

यह इंट्रानेट का ही एक भाग होता है। जब इंटरनेट के द्वारा कोई इंट्रानेट में एक्सेस करता है तो इस Access करने की जो प्रणाली होती है उसे एक्सट्रानेट कहते है। यह एक संचार Network होता है जो (Tcp/Ip) पर आधारित होता है। सरल शब्दों में कहे तो जब कोई व्यक्ति इंटरनेट का इस्तेमाल करता है और वह अपनी जानकारी को अपने नेटवर्क क्षेत्र के बाहर प्रदान करना चाहता है तो उसे बाहरी व्यक्ति को एक यूज़र आईडी और पासवर्ड देखकर इंटरनेट के द्वारा डाटा का आदान-प्रदान करना होता है।

Extranet Ke Fayde

Extranet इस्तेमाल करने के भी कुछ मुख्य फ़ायदे होते है यह हम आगे जानेंगे।

  • यह कंपनी और व्यापारिक हिस्सेदारों के मध्य एक माध्यम का कार्य करता है।
  • ग्राहकों की कोई शिकायत या प्रश्न होते है तो उन्हें सुलझाने के लिए एक मंच प्रदान किया जाता है।

अभी तक आपने जाना कि Extranet क्या है और Intranet Kya Hota Hai अब आगे हम आपको Difference Between Intranet And Extranet in Hindi के बारे में बताएँगे।

क्या आपने यह पोस्ट पढ़ी: Guest Mode Kya Hai? Guest Mode Enable Kaise Kare – जानिए Guest Mode Kaise Off Kare सरल भाषा में!

इंट्रानेट के फायदे

Intranet का इस्तेमाल करने के कुछ फायदे भी होते है जो आपको आगे बताये गए है। तो आइये जानते है Intranet Ke Fayde क्या है।

  • इसके माध्यम से कम्युनिकेशन में Improve आता है। लीडर अपनी Team के विचारों को भलीभांति शेयर कर सकते है तथा मैनेजर और कर्मचारी आपस में स्पष्ट बात कर सकते है।
  • इससे Productivity भी Improve होती है। कंपनी का इंट्रानेट कर्मचारियों को सारे Tools और Information का Access भी दे सकती है। Staff के Members इंट्रानेट में ही ज्यादा से ज्यादा Task को कर के अपनी Productivity को बढ़ा सकते है।
  • बहुत सी कंपनियाँ अपने Work Process को व्यवस्थित और ऑटोमेट बनाने के लिए इसका इस्तेमाल करती है।

इंट्रानेट के नुकसान

  • इंट्रानेट, इन्टरनेट की तुलना में मंहगा होता है।
  • Intranet पर Control खोने का डर अक्सर बना रहता है।
  • अगर इंट्रानेट में Firewall सही से इस्तेमाल ना किया जाए या फिर फ़ायरवॉल इनस्टॉल न किया जाए तो इससे Intranet हैक होने का खतरा बना रहता है।
  • Intranet में कभी-कभी Data Duplication भी हो सकता है। जो Employees के बीच Confusion पैदा कर सकता है।

इंट्रानेट कैसे काम करता है

Intranet स्थापित करने के लिए सबसे पहले एक सुरक्षित Web Server की आवश्यकता होती है, जो सर्वर में सभी Data और Information को स्टोर करने का कार्य करता है। यह सर्वर पर होस्ट की गई Files की Request को मैनेज करता है फिर यूजर द्वारा Request की गई फाइल को Search करता है, और फिर उसे यूजर को Provide करता है।

यह एक संचार Network होता है जो (Tcp/Ip) पर आधारित होता है। अगर कोई User इंट्रानेट से Connect होना चाहे तो इसके लिए उसके पास एक विशेष नेटवर्क Password होना चाहिए और LAN से जुड़ा होना चाहिए। और जो कर्मचारी कंपनी से दूर रहकर काम करते हैं, वो VPN (Virtual Private Network) के जरिए इंट्रानेट से कनेक्ट हो सकते हैं। Intranet LAN, MAN, WAN होता है, जो सभी Computers को आपस में जोड़ता अथवा Connect करता है।

जरूर पढ़े: SBI Me Online Account Kaise Khole – जानिए SBI Me Account Kholne Ke Liye Document क्या-क्या लगते है हिंदी में!

Difference Between Internet Intranet And Extranet In Hindi

यह तीनों ही शब्द कंप्यूटर के नेटवर्क को व्यक्त करते है। लेकिन इनमें कुछ प्रकार के अंतर पाए जाते है। आईये जानते हैं Internet Tatha Intranet Ke Madhya Antar Bataiye?

Internet

Intranet

Extranet
1. Internet को प्रत्येक व्यक्ति के द्वारा इस्तेमाल किया जा सकता है। Intranet सिर्फ एक संस्था द्वारा मैनेज किया जाता है। Extranet एक से अधिक संस्था द्वारा मैनेज किया जा सकता है।
2. इसका प्रयोग करने के लिए यूजरनेम और पासवर्ड की जरुरत नहीं होती। Intranet को एक्सेस करने के लिए Valid Username और  Password जरुरी है। इसे भी Access करने के लिए Username और Password जरुरी है।
3. इसकी Security यूज़र के डिवाइस पर निर्भर करती है। इसकी Security Firewall पर निर्भर करती है। इसकी Security इंटरनेट, एक्सट्रानेट के Firewall पर निर्भर है।
4. यह एक पब्लिक नेटवर्क होता है। यह एक प्राइवेट नेटवर्क होता है। यह भी प्राइवेट नेटवर्क है जो पब्लिक नेटवर्क की सहायता से डाटा प्रदान करता है।

Intranet का उपयोग

  • हेल्थ सेक्टर में
  • IT सेक्टर में
  • फाइनेंस टेक्नोलॉजी में
  • कॉरपोरेट सेक्टर में
  • रियल एस्टेट सेक्टर में

Conclusion

आज की पोस्ट में आपने Intranet And Extranet in Hindi के बारे में जाना और इसके साथ ही इंटरनेट तथा इंट्रानेट के मध्य अंतर बताइए इसकी जानकारी भी आपको मिली। आशा करते है की हमारे द्वारा दी गई जानकारी आपके लिए उपयोगी होगी।

internet intranet extranet यह जानने के लिए हमारी इस पोस्ट की मदद ज़रुर ले।  यह आप इस पोस्ट के द्वारा अच्छे से जान गये होंगे। आपको यह जानकारी कैसी लगी हमें कमेंट करके बताये।

इस पोस्ट की जानकारी आप अपने फ्रेंड्स को भी दे। तथा सोशल मीडिया पर भी यह पोस्ट Intranet Kya Hai ज़रुर शेयर करे। जिससे ज्यादा लोगों के पास यह जानकारी पहुँच सके। हमारी पोस्ट What Is Extranet Hindi? में आपको कोई परेशानी है या आपका कोई सवाल है इस पोस्ट से सम्बन्धित तो आप कमेंट करके हमसे पूछ सकते है। हमारी टीम आपकी मदद ज़रुर करेगी।

अगर आप हमारी वेबसाइट के Latest Update पाना चाहते है, तो आपको हमारी Hindi Sahayta की वेबसाइट को सब्सक्राइब करना होगा। फिर मिलेंगे आपसे ऐसे ही आवश्यक जानकारी लेकर तब तक के लिए अलविदा दोस्तों हमारी पोस्ट पढ़ने के लिए धन्यवाद, आपका दिन शुभ हो।

आपको हमारा यह लेख कैसा लगा ?

Average rating 4.5 / 5. Vote count: 158

अब तक कोई रेटिंग नहीं! इस लेख को रेट करने वाले पहले व्यक्ति बनें।

हिंदी सहायता एप्प को डाउनलोड करें।

आपको हमारा यह लेख कैसा लगा?

आपको क्या जानकारी नहीं मिली हमें ज़रूर बताएं

हम सभी जानकारियां आपको जल्द उपलब्ध कराएँगे

एडिटोरियल टीम

Written by एडिटोरियल टीम

एडिटोरियल टीम, हिंदी सहायता में कुछ व्यक्तियों का एक समूह है, जो विभिन्न विषयो पर लेख लिखते हैं। भारत के लाखों उपयोगकर्ताओं द्वारा भरोसा किया गया।

Email के द्वारा संपर्क करें - [email protected]

Leave a Reply

Avatar

Your email address will not be published. Required fields are marked *

GDP/GNP Kya Hai? – GDP or GNP Me Antar व इसकी गणना कैसे करते है।

VISA Kya Hai? – जानिए Visa Full Form और वीजा की जानकारी हिंदी में!