Home » General News » Intranet क्या है? – Internet, Intranet और Extranet के बीच अंतर।

Intranet क्या है? – Internet, Intranet और Extranet के बीच अंतर।

इंट्रानेट एक प्रकार का सॉफ्टवेयर है, जिसका उपयोग बड़े-बड़े आर्गेनाइजेशन द्वारा अपने कर्मचारियों के मध्य प्राइवेट डाटा को शेयर करने के लिए किया जाता है। Intranet, Internet Protocol का उपयोग करके किसी आर्गेनाइजेशन के बीच डाटा शेयर करने का काम करता है। यह एक प्रकार का प्राइवेट नेटवर्क है। हालाँकि कइयों को Intranet Meaning in Hindi एवं इसका उपयोग किस लिए किया जाता है इस बारे में पता नहीं होगा। इसलिए इस लेख में आपको Internet, Intranet and Extranet के बारे में पूरी जानकारी प्रदान की गयी है।

[toc]

जहाँ Internet ने आज के आधुनिक जीवन को बहुत ही आसान बना दिया है। सभी काम आज इंटरनेट पर ही निर्भर हो गये है। चाहे स्कूल हो, कॉलेज, प्राइवेट ऑफ़िस या सरकारी काम सभी काम इंटरनेट का द्वारा किये जा रहे है। वहीँ इसके प्रयोग से चोरी करने के तरीके भी बढ़ गए है। इंटरनेट का इस्तेमाल करके चोरी करने के तरीके आसान हो गए हैं और इन्हीं पर रोक लगाने के लिए इंट्रानेट और एक्सट्रानेट को प्रयोग में लाया गया है। यह इंटरनेट को Access करने का एक सुरक्षित माध्यम है।

Intranet Kya Hai

इंट्रानेट (Intranet) एक तरह का प्राइवेट नेटवर्क होता है। इसका उपयोग किसी कंपनी, कॉलेज संस्थान द्वारा अपने कर्मचारियों की बिच सुरक्षित रूप से सूचनाओं के आदान-प्रदान के लिए किया जाता है, जिसे LAN (Local Area Network) भी कहते है। यह पूरी तरह से सुरक्षित नेटवर्क होता है। Intranet को Access करने के लिए वैध Username और Password की जरुरत होती है।

यह इंटरनेट की तरह ही प्रयोग किया जाने वाला एक नेटवर्क होता है। यह हमारे जीवन का एक मुख्य हिस्सा बन गया है। आज हर जगह इंटरनेट का प्रयोग किया जा रहा है। लेकिन इसे इस्तेमाल करने के लिए यूज़र के पास यूज़र आईडी होना ज़रुरी है। बिना यूज़र आईडी के इसका इस्तेमाल नहीं किया जा सकता है। इसलिए इसके हैक होने का खतरा नहीं रहता है।

इसमें कुछ कंप्यूटर एक-दूसरे के साथ जुड़े होते है तथा डाटा का आदान-प्रदान भी उनके बीच ही संभव होता है।

 Intranet Meaning in Hindi  – अंतःजाल या इंट्रानेट होता है।

क्या आपने यह पोस्ट पढ़ी: Net Neutrality Kya Hai? – नेट न्यूट्रैलिटी के फायदे तथा नुकसान विस्तार में!

इंट्रानेट के फायदे

Intranet का इस्तेमाल करने के कुछ फायदे भी होते है जो आपको आगे बताये गए है। तो आइये जानते है Intranet Ke Fayde क्या है।

  • इसके माध्यम से कम्युनिकेशन में सुधार आता है। लीडर अपनी टीम के विचारों को भलीभांति शेयर कर सकते है तथा मैनेजर और कर्मचारी आपस में स्पष्ट बात कर सकते है।
  • इससे प्रोडक्टिविटी भी इम्प्रूव होती है। कंपनी का इंट्रानेट कर्मचारियों को सारे टूल्स और इनफार्मेशन का एक्सेस भी दे सकती है। स्टाफ के सदस्य इंट्रानेट में ही ज्यादा से ज्यादा कार्य को करके अपनी प्रोडक्टिविटी को बढ़ा सकते है।
  • बहुत सी कंपनियाँ अपने वर्क प्रोसेस को व्यवस्थित और ऑटोमेट बनाने के लिए इसका इस्तेमाल करती है।

इंट्रानेट के नुकसान

  • इंट्रानेट, इन्टरनेट की तुलना में मंहगा होता है।
  • Intranet पर कंट्रोल खोने का डर अक्सर बना रहता है।
  • अगर इंट्रानेट में Firewall सही से इस्तेमाल ना किया जाए या फिर फ़ायरवॉल इनस्टॉल न किया जाए तो इससे इंट्रानेट हैक होने का खतरा बना रहता है।
  • इंट्रानेट में कभी-कभी Data Duplication भी हो सकता है। जो कर्मचारियों के बीच कन्फूजन पैदा कर सकता है।

Extranet Kya Hai (Extranet Meaning in Hindi)

यह इंट्रानेट का ही एक भाग होता है। जब इंटरनेट के द्वारा कोई इंट्रानेट में एक्सेस करता है तो इस Access करने की जो प्रणाली होती है उसे एक्सट्रानेट कहते है। यह एक संचार Network होता है जो (TCP/IP) पर आधारित होता है। सरल शब्दों में कहे तो जब कोई व्यक्ति इंटरनेट का इस्तेमाल करता है और वह अपनी जानकारी को अपने नेटवर्क क्षेत्र के बाहर प्रदान करना चाहता है तो उसे बाहरी व्यक्ति को एक यूज़र आईडी और पासवर्ड देखकर इंटरनेट के द्वारा डाटा का आदान-प्रदान करना होता है।

Extranet Ke Fayde

एक्सट्रानेट इस्तेमाल करने के भी कुछ मुख्य फ़ायदे होते है यह हम आगे जानेंगे।

  • यह कंपनी और व्यापारिक हिस्सेदारों के मध्य एक माध्यम का कार्य करता है।
  • ग्राहकों की कोई शिकायत या प्रश्न होते है तो उन्हें सुलझाने के लिए एक मंच प्रदान किया जाता है।

तो ये थी Internet Intranet Extranet के बारे में जानकारी, जिसमें अभी तक आपने जाना कि इंट्रानेट क्या है और एक्सट्रानेट क्या है? (What is Intranet and Extranet), अब आगे हम आपको Difference Between Intranet and Extranet in Hindi के बारे में बताएँगे।

क्या आपने यह पोस्ट पढ़ी: Guest Mode Kya Hai? Guest Mode Enable Kaise Kare – जानिए Guest Mode Kaise Off Kare सरल भाषा में!

इंट्रानेट कैसे काम करता है

Intranet स्थापित करने के लिए सबसे पहले एक सुरक्षित Web Server की आवश्यकता होती है, जो सर्वर में सभी डाटा और सूचनाओं को स्टोर करने का कार्य करता है। यह सर्वर पर होस्ट की गई फाइल्स की रिक्वेस्ट को मैनेज करता है फिर यूजर द्वारा रिक्वेस्ट की गई फाइल को सर्च करता है, और फिर उसे यूजर को प्रदान करता है।

यह एक संचार नेटवर्क होता है जो (TCP/IP) पर आधारित होता है। अगर कोई यूजर इंट्रानेट से कनेक्ट होना चाहे तो इसके लिए उसके पास एक विशेष नेटवर्क पासवर्ड होना चाहिए और LAN से जुड़ा होना चाहिए। और जो कर्मचारी कंपनी से दूर रहकर काम करते है, वो VPN (Virtual Private Network) के जरिए इंट्रानेट से कनेक्ट हो सकते हैं। Intranet LAN, MAN, WAN होता है, जो सभी कंप्यूटर को आपस में जोड़ता अथवा कनेक्ट करता है।

Difference Between Internet Intranet and Extranet In Hindi

यह तीनों ही शब्द कंप्यूटर के नेटवर्क को व्यक्त करते है, लेकिन इनमें कुछ प्रकार के अंतर पाए जाते है। आगे आपको इंटरनेट इंट्रानेट और एक्सट्रानेट के मध्य अंतर (Difference Between Intranet and Extranet) बताया गया है –

InternetIntranetExtranet
1. इंटरनेट को प्रत्येक व्यक्ति के द्वारा इस्तेमाल किया जा सकता है।इंट्रानेट सिर्फ एक संस्था द्वारा मैनेज किया जाता है।एक्सट्रानेट एक से अधिक संस्था द्वारा मैनेज किया जा सकता है।
2. इसका प्रयोग करने के लिए यूजरनेम और पासवर्ड की जरुरत नहीं होती।Intranet को एक्सेस करने के लिए Valid Username और  Password जरुरी है।इसे भी Access करने के लिए Username और Password जरुरी है।
3. इसकी Security यूज़र के डिवाइस पर निर्भर करती है।इसकी Security Firewall पर निर्भर करती है।इसकी Security इंटरनेट, एक्सट्रानेट के Firewall पर निर्भर है।
4. यह एक पब्लिक नेटवर्क होता है।यह एक प्राइवेट नेटवर्क होता है।यह भी प्राइवेट नेटवर्क है जो पब्लिक नेटवर्क की सहायता से डाटा प्रदान करता है।

जरूर पढ़े: IOT Kya Hai?- जानिए Internet Of Things In Hindi से जुड़ी पूरी जानकारी।

Intranet का उपयोग

  • हेल्थ सेक्टर में
  • IT सेक्टर में
  • फाइनेंस टेक्नोलॉजी में
  • कॉरपोरेट सेक्टर में
  • रियल एस्टेट सेक्टर में

Conclusion

आज की पोस्ट में आपने इंट्रानेट क्या है (What is Intranet in Hindi) के बारे में जाना और इसके साथ ही एक्सट्रानेट क्या है (What Is Extranet Hindi) एवं इंटरनेट, इंट्रानेट और एक्सट्रानेट के मध्य अंतर (Internet Intranet Extranet in Hindi) भी जाना। आशा करते है की हमारे द्वारा दी गई जानकारी आपके लिए उपयोगी होगी। अगर दी गयी जानकारी आपको उपयोगी लगी हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें।

FAQs

  • Intranet किसे कहते हैं?

इंट्रानेट किसी संसथान या एंटरप्राइज के भीतर निहित एक निजी नेटवर्क है जिसका उपयोग कर्मचारियों के बीच कंपनी की जानकारी और कंप्यूटिंग संसाधनों को सुरक्षित रूप से आदान-प्रदान करने के लिए किया जाता है।

  • Intranet किस प्रोटोकॉल का उपयोग करता है?

इंट्रानेट मुख्य रूप से TCP/IP, HTTP और अन्य इंटरनेट प्रोटोकॉल का उपयोग करते है।

  • सबसे छोटा नेटवर्क कौन सा है?

लोकल एरिया नेटवर्क (LAN) सबसे छोटा नेटवर्क है जो एक छोटे भौगोलिक एरिया को कवर करता है। इसका उपयोग कार्यालय, भवन, स्कूल/कॉलेज संसथान, घर, अस्पताल, आदि के लिए किया जा सकता है।

आपको हमारा यह लेख कैसा लगा ?

Average rating 4.7 / 5. Vote count: 174

अब तक कोई रेटिंग नहीं! इस लेख को रेट करने वाले पहले व्यक्ति बनें।

एडिटोरियल टीम

एडिटोरियल टीम, हिंदी सहायता में कुछ व्यक्तियों का एक समूह है, जो विभिन्न विषयो पर लेख लिखते हैं। भारत के लाखों उपयोगकर्ताओं द्वारा भरोसा किया गया।Email के द्वारा संपर्क करें - [email protected]

Leave a Comment