1. Finance

KYC Kya Hai? – जानिए केवाईसी से जुड़ी सम्पूर्ण जानकारी हिंदी में।

विज्ञापन
लेख़ इसके बाद शुरु होगा।

यदि आप नहीं जानते कि KYC Kya Hai? (What Is KYC) या KYC Ka Matlab क्या होता है (KYC Meaning in Hindi), तो आपके लिए यह लेख, जो है “What is KYC in Hindi”, बहुत ही उपयोगी साबित होगा। यह जानने के लिए कि आपको KYC क्यों कराना चाहिए, हमसे इस लेख द्वारा अंत तक जुड़े रहें।

आज के समय में लगभग सभी लोगों के बैंक खाते जरूर होते है। लोग अपनी जमा पूंजी को बैंक में जमा भी करवाते है और साथ बैंकों द्वारा उपलब्ध कराई जाने वाली सभी प्रकार की सुविधाओं का फायदा भी उठाते है। बैंक या किसी भी फाइनेंसियल क्षेत्र में इन सुविधाओं से जुड़ने के लिए KYC बहुत ही आवश्यक है, साथ ही यह एक बहुत ही अहम प्रक्रिया है। आगे आप पढ़ेंगे क्यक फुल फॉर्म के बारे में

KYC Kya Hai

विषयों की सूची

KYC Ka Full Form “Know Your Customer” होता है, KYC एक ऐसी प्रक्रिया है जिसके द्वारा बैंक या कोई भी फाइनैंशल सेक्टर की कंपनी अपने ग्राहक से जरूरी KYC Documents के द्वारा एक फॉर्म भरवाकर ग्राहक की पहचान (Identity) और उसके पते (Address) की जानकारी प्राप्त करती है। इस प्रक्रिया द्वारा यह सुनिश्चित किया जाता है कि उस बैंक या कंपनी की सेवाओं का दुरुपयोग नहीं किया जा रहा है। इस कारण बैंकों को समय-समय पर अपने ग्राहकों को KYC Status के अनुसार केवाईसी अपडेट करने की आवश्यकता होती है।अब आप यह तो जान ही गए होंगे कि केवाईसी क्या है,  KYC का हिंदी में मतलब, अब हम आपको बताएंगे KYC Information in Hindi जिसमें आप जानेंगे केवाईसी कब आवश्यक है? और केवाईसी के लिए आवश्यक दस्तावेज कौन से है और K Y C Ka Full Form क्या होता है

KYC Full Form in Hindi

यदि आप नहीं जानते कि केवाईसी का फुल फॉर्म (KYC Full Form) क्या है और KYC in Hindi तो हम आपको बता दें,

KYC Full Form – “Know Your Customer” है। KYC Ka Full Form in Hindi – “अपने ग्राहक को जानें” होता है।

इसके अलावा जब केवाईसी इलेक्ट्रॉनिक तरीके से होती है तो उसे e KYC कहते हैं। e KYC का फुल फॉर्म होता है-Electronic Know Your Customer और e KYC Full Form in Hindi (Customer/Subscriber) की पहचान इलेक्ट्रॉनिक या डिजिटल तरीके से पुष्ट करना। KYC Full Form in Marathi ”आपला ग्राहक जाणून घ्या” होता है।

KYC Jankari Hindi Main

क्या आप जानते हैं कि केवाईसी का अर्थ (Meaning Of KYC) क्या है? चलिए हम बता देते है। कोई भी बैंक या कंपनी KYC प्रक्रिया के अंतर्गत, अपने ग्राहक के पते और उसके बारे में कुछ आवश्यक जानकारियाँ लेती है। यह इसलिए महत्वपूर्ण है, ताकि कोई व्यक्ति यदि धोखाधड़ी के इरादे से अपनी गलत पहचान बताता है, तो वह आसानी से पता चल सके। यह उस बैंक या कंपनी के लिए बहुत ही आवश्यक है क्योंकि यह अपराधिक गतिविधियों को कम करता है।

KYC Ke Liye Important Documents

आइए अब हम आपको बताते है, केवाईसी के लिये आवश्यक डॉक्यूमेंट (Documents) कौन से हैं?

KYC प्रक्रिया के दौरान ग्राहक को फॉर्म भरना होता है और उसके साथ वेरिफिकेशन के लिए कुछ आवश्यक दस्तावेज़ की प्रतिलिपि (Photocopy) अटैच करके जमा करनी होती है। KYC के लिए आपको नीचे दिए गए दस्तावेज़ों की आवश्यकता होती है –

  • ड्राइविंग लाइसेंस (Driving License)
  • वोटर आईडी (Voter ID)
  • पासपोर्ट (Passport)
  • आधार कार्ड (Aadhaar Card)
  • पैन कार्ड (PAN Card)

Conclusion

KYC का महत्व (Importance Of KYC) बैंक और कंपनी के लिए तो जरूरी है ही साथ ही यह आपके लिए भी उतना ही जरूरी है। यह इसलिए क्योंकि यदि भविष्य में आपके नाम से कोई और व्यक्ति जालसाजी करता है, तो वह पकड़ा जा सकता है। KYC प्रक्रिया में आप अपना सहयोग अवश्य प्रदान करें, यह आपका कर्तव्य है, और जिम्मेदारी भी।

इस लेख में हमने आपको केवाईसी के बारे में जानकारी (About KYC in Hindi) अत्यंत सरल शब्दों में प्रदान की है। आशा है अब आप जान गए होंगे KYC Ka Matlab Kya Hota Hai और केवाईसी के लिए किन-किन दस्तावेज़ों की आवश्यकता होती है।

यदि आपको यह जानकारियाँ उपयोगी लगी हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें और उन्हें भी इन जानकारियों से रूबरू होने में सहायता करें।

आपको हमारा यह लेख कैसा लगा ?

Average rating 3.9 / 5. Vote count: 32

अब तक कोई रेटिंग नहीं! इस लेख को रेट करने वाले पहले व्यक्ति बनें।

हिंदी सहायता एप्प को डाउनलोड करें।

Contributor
क्या आपको नंदिनी शर्मा के आर्टिकल पसंद आयें? अभी फॉलो करें सोशल मीडिया पर!
Comments to: KYC Kya Hai? – जानिए केवाईसी से जुड़ी सम्पूर्ण जानकारी हिंदी में।

Your email address will not be published. Required fields are marked *