विज्ञापन
विज्ञापन

बैंक अकाउंट कैसे खोलते है | जरूरी डाक्यूमेंट्स | फॉर्म कैसे भरें।

विज्ञापन
विज्ञापन

क्या आपका बैंक में खाता नहीं है और आप बैंक अकाउंट कैसे खोलते है इस बारे में जानना चाहते है तो आपको बता दूँ कि, सभी लोगों का बैंक में अकाउंट होना चाहिए है, क्योंकि बैंक में खाता होने पर ही हम बैंक से मिलने वाली सुविधाओं और योजनाओं का लाभ उठा पाते है। जैसे अगर आपका बैंक में खाता होता है, तो आप अपना पैसा अपने खाते में सुरक्षित रख सकते है, जरूरत पड़ने पर बिना बैंक जाए ATM से पैसे निकाल सकते है, UPI के जरिये ऑनलाइन पेमेंट कर सकते है।

अगर आपको नहीं पता कि Bank Mein Khata Kaise Kholte Hain तो आपको बता दूँ कि, बैंक में खाता खोलना एवं एटीएम बनवाना बहुत ही आसान होता है। बस इसके लिए सबसे पहले आपको यह सुनिश्चित करना होगा कि आप किस बैंक में और कौन सा अकाउंट खुलवाना चाहते है, क्योंकि बैंक अपने ग्राहकों को विभिन्न प्रकार के अकाउंट खोलने की सुविधा प्रदान करता है।

विज्ञापन

Bank में मुख्यतः तीन प्रकार के अकाउंट खोले जाते हैं, सेविंग अकाउंट (बचत खाता), करेंट अकाउंट (चालू खाता) और क्रेडिट अकाउंट (ऋण खाता) जैसे आप बिज़नेस करते हैं, और आपका पैसों का रोज का लेन-देन होता है तो आप चालू खाता होना जरुरी है। और अगर आप अपने निजी कार्य के लिए खाता खुलवाना चाहते हैं, तो आप बचत खाता खुलवा सकते है।

आप बैंक में किसी भी प्रकार का खाता खुलवाना चाहते हो सबके के लिए प्रक्रिया लगभग एक समान ही होती है पर प्रत्येक बैंक में अनिवार्य डॉक्यूमेंट लगाने की शर्तें अलग-अलग हो सकती है। इसलिए यहां आप ऑफलाइन Bank Me Account Kaise Khole एवं ऑनलाइन बैंक में खाता कैसे खोले की प्रक्रिया से लेकर बैंक में खाता खोलने के लिए क्या-क्या डॉक्यूमेंट चाहिए आदि के बारे में भी जानेंगे। तो आईये शुरू करते Bank Me Khata Kaise Khole की पूरी प्रक्रिया।

बैंक अकाउंट कैसे खोलते है

बैंक ब्रांच जाकर ऑफलाइन बैंक में खाता खुलवाने के लिए आपको बैंक से प्राप्त फॉर्म को भरना होता है और फिर उसके साथ बैंक द्वारा मान्य सभी आवश्यक डाक्यूमेंट्स संलंग्न करना होते है। तभी आप किसी बैंक में अकाउंट खोलने के लिए योग्य होते है। आईये स्टेप बाय स्टेप Bank Mein Khata Kaise Kholen इस बारे में समझते है –

  1. सबसे पहले आप यह निश्चित करें कि आप किस बैंक में अपना अकाउंट खोलना चाहते है।
  2. इसके बाद आपको अपने नजदीकी बैंक ब्रांच में विजिट करना होगा।
  3. अब निश्चय करें कि सेविंग या करंट अकाउंट खुलवाना चाहते है।
  4. इसके बाद आपको हेल्प डेस्क से बैंक अकाउंट खोलने का फॉर्म लेकर उसे भरना होगा।
  5. यह फॉर्म बैंक द्वारा ग्राहकों को निशुल्क प्रदान किया जाता है।
  6. फॉर्म लेने के बाद अब आपको फॉर्म में मांगी गई सभी महत्वपूर्ण जानकारी जैसे- अपना नाम, जन्म तिथि, पिता का नाम, मोबाइल नंबर, स्थाई पता, नॉमिनी यानि नामांकित व्यक्ति का नाम और खाते का प्रकार आदि जानकारी सही-सही भरना है।
  7. पूरा फॉर्म सही-सही भरने के बाद खाताधारक को बैंक के नियमों का पालन करते हुए, कुछ पॉलिसी को स्वीकार करते हुए 3 से 4 जगह अपने हस्ताक्षर करने होते है।
  8. अब आप सभी ज़रुरी डाक्यूमेंट्स की एक-एक कॉपी को फॉर्म के साथ अटैच कर बैंक में जमा कर सकते है।
  9. इसके बाद बैंक कर्मचारी भरे हुए फॉर्म और डाक्यूमेंट्स को वेरीफाई करेगा, और खाता खोलने के लिए स्वीकृति देगा।
  10. एक बार वेरिफिकेशन पूरा हो जाने के बाद बैंक द्वारा आपको अकाउंट नंबर और अन्य विवरण जारी करेगा।
  11. अगर आप बैंक पासबुक के साथ अपना एटीएम कार्ड और चेक बुक भी साथ में ही बनवाना चाहते है, और साथ ही अपने मोबाइल पर Net Banking की सुविधा भी एक्सेस करना चाहते है तो आप फॉर्म भरते समय ही इसके लिए दिए गए विकल्पों को टिक कर सकते है।
  12. कई बैंकों में न्यू अकाउंट तुरन्त ही ओपन कर दिए जाते है, पर सरकारी बैंकों में खाता खुलने में 1-2 दिन का समय लग सकता है।

उम्मीद करता हूँ कि बैंक में Account Kaise Kholte Hain की दी गयी स्टेप्स के माध्यम से अब आप जान चुके होंगे कि, Bank Mein Khata Kaise Khola Jata Hai एवं उसके लिए आपको किन-किन दस्तावेजों की आवश्यकता पड़ेगी।

यह भी पढ़े: PNB Net Banking Kya Hai – पीएनबी इंटरनेट बैंकिंग कैसे एक्टिव करे!

बैंक में खाते के प्रकार

  1. चालू खाता (Current Account)
  2. बचत खाता (Saving Account)
  3. सावधि जमा खाता (Fixed Deposit Account)
  4. आवर्ती जमा खाता (Recurring Deposit Account)
  5. बुनियादी बचत खाता (No Frill Account)

Types of Bank In Hindi

1. बचत खाता (Saving Account)

सेविंग अकाउंट वह अकाउंट होता है, जिसमें आपको पैसे जमा करने पर बैंक द्वारा जमा राशि पर ब्याज मिलता है। इसमें आपका पैसा बैंक में सुरक्षित रहता है। आप जब चाहे इसमें पैसे डाल सकते हैं और जरूरत पड़ने पर निकाल भी सकते हैं। अगर आप भी चाहें तो बैंक में अपना सेविंग अकाउंट खुलवा सकते हैं, और अपने पैसों की बचत कर सकते हैं।

saving account

आप चाहें तो व्यक्तिगत खाता खुलवा सकते हैं या संयुक्त खाता भी खुलवा सकते है। व्यक्तिगत खाता किसी एक व्यक्ति के लिए खोला जाता है जबकि संयुक्त खाता दो या दो से अधिक लोगों के लिए खोला जाता है। खाता खोलने का फॉर्म भरते समय खाते के सभी हिस्सेदारों की जमा राशि में भूमिका और लेन-देन के अधिकार भी उसमें लिखना होते है। संयुक्त खाता (Joint Account) खुलवाने के लिए उसमें सभी खाता धारक के डाक्यूमेंट्स और फ़ोटो जमा करने होते है।

2. चालू खाता (Current Account)

चालू खाता वह अकाउंट होता है, जिसका उपयोग हम व्यापारिक लेन-देन में करते है। अगर आप व्यापारी हैं, और आपका रोज पैसों का हजारों और लाखों का लेन- देन होता है,तो आपका Current Account होना बहुत जरुरी है। इससे आप जितनी बार चाहें लेन-देन कर सकते हैं। इसकी कोई लिमिट नहीं होती जबकि सेविंग अकाउंट में लिमिट होती है।

Current Account

करंट अकाउंट में खाता धारक को जमा राशि पर ब्याज नहीं मिलता है। चालू खाते में खाता धारक को ओवरड्राफ्ट की सुविधा भी प्रदान की जाती है। आप व्यापारिक लेन-देन के लिए चालू खाते का उपयोग कर सकते है।

3. सावधि जमा खाता (Fixed Deposit Account)

सावधि जमा खाता निवेश करने के लिए एक अच्छा ऑप्शन है, जिसमें आप अपने पैसे निश्चित अवधि के लिए निवेश करते हैं, और उस पर बैंक द्वारा एक निश्चित ब्याज आपकी जमा राशि पर मिलता है।

Fixed Deposit Account

FD में निवेश की सुविधा 7 दिन से लेकर 10 साल तक की होती है। बैंकों में ब्याज दर 4 से 11 प्रतिशत होता है।

4. आवर्ती जमा खाता (Recurring Deposit Account)

आवर्ती जमा खाता निवेश के लिए एक बेहतरीन विकल्प है, इसमें आपको एक निश्चित समयावधि के लिए निश्चित राशि किस्तों में जमा करनी होती है, और RD की सीमा पूरी हो जाने के बाद जमा किए पैसों पर अच्छा ब्याज दर मिलता है।

Recurring Deposit Account

RD में निवेश की सुविधा 6 माह से 10 वर्ष तक की हो सकती है।

विज्ञापन
विज्ञापन

5. बुनियादी बचत खाता (No Frill Account)

बुनियादी बचत खाता को जीरो बैलेंस अकाउंट और बेसिक सेविंग अकाउंट भी कहा जाता है, यह एक ऐसा अकाउंट है, जिसे जीरो बैलेंस के साथ खोल सकते हैं और चाहें तो इसे ऐसे ही रख सकते हैं, इस खाते में कोई भी न्यूनतम बैलेंस रखने की अनिवार्यता नहीं है। इसमें प्रतिदिन की जमा और निकासी राशि सीमा 5000 रूपये होती है।

No Frill Account

इसके अलावा बैंक में और भी विभिन्न प्रकार के Accounts खोले जाते है, जैसे- Credit Account, Salary Account, Term Deposit Account, Smart Deposit Account, Power Saving Bank Account आदि।

बैंक में खाता खोलने के लिए आपको ये जानना भी जरुरी है कि सभी Bank की अपनी अलग Policies अथवा Facilities होती है। इसके साथ ही बैंक में खाता खोलने के लिए आपके पास कुछ ज़रुरी Documents होना चाहिए। तभी आप बैंक में खाता खोल सकते है। यह डाक्यूमेंट्स आपके फॉर्म के साथ लगाये जाते हैं।

बैंक में खाता खोलने के लिए जरुरी डॉक्यूमेंट

बहुत से लोगों को Bank Se Khata Kaise Kholte Hain ये तो पता होता है, पर उन्हें इसमें कंफ्यूजन रहता है कि Bank Me Khata Kholne Ke Liye Documents क्या-क्या लगाने होते है। तो उन्हें बता दूँ कि बैंक में खाता खोलने के लिए आपको इन डॉक्यूमेंटस की आवश्यकता होगी।

  • तीन पासपोर्ट साइज़ फ़ोटो
  • आधार कार्ड, वोटर आईडी कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस (कोई भी एक)
  • एड्रेस प्रूफ़ – बिजली बिल, टेलीफ़ोन बिल, राशन कार्ड
  • साझा पत्र (Partnership Deed) (करंट अकाउंट खोलने के लिए)
  • पैन कार्ड (करंट अकाउंट खोलने के लिए)
  • निगमन प्रमाणपत्र (Certificate Of Incorporation) (करंट अकाउंट खोलने के लिए)

मुझे उम्मीद है कि अब आपको Bank Me Khata Kholne Ke Liye Documents क्या-क्या लगाने होते हैं, ये समझ आ गया होगा। तो चलिए अब आगे बढ़ते हैं और जानते हैं ऑनलाइन Bank Mein Khata Kaise Kholen।

यह पोस्ट भी जरूर पढ़े: Kiosk Banking Kya Hai – कीओस्क बैंकिंग की पूरी जानकारी!

मोबाइल से ऑनलाइन सेविंग अकाउंट कैसे खोलें

अगर आप ऑनलाइन Bank Main Khata Kaise Khole के बारे में विचार कर रहे हैं, तो बहुत सी बैंकों ने अपने ग्राहकों के लिए ऑनलाइन अकाउंट ओपनिंग की सुविधा भी प्रदान की है। क्या आप जानना चाहते है मोबाइल या लैपटॉप से बैंक अकाउंट कैसे खोलते है Online। यदि हाँ तो नीचे दिए गए स्टेप्स को फॉलो करें।

  1. आप जिस भी Bank में अपना सेविंग अकाउंट खोलना चाहते है, सबसे पहले उसकी ऑफिसियल वेबसाइट पर जाएँ।
  2. एप्लीकेशन फॉर्म भरने से पहले अपने सभी डाक्यूमेंट्स जैसे पैन कार्ड, आधार कार्ड, वोटर आईडी, पासपोर्ट साइज फोटो तैयार रखें।
  3. अब बैंक की वेबसाइट के Home Page पर आपको ऑनलाइन आवेदन के विकल्प पर जाना है।
  4. आप जिस राज्य और बैंक ब्रांच में अपना खाता खुलवाना चाहते हैं उसे चुने। फिर आप जिस प्रकार का खाता खुलवाना चाहते हैं उसका चयन करें।
  5. अब एप्लीकेशन फॉर्म भरना है, जिसमें आपको अपने ओरिजिनल डाक्यूमेंट्स के अनुसार सही-सही डिटेल भरनी होगी।
  6. इसके बाद आपके फ़ोन नंबर, ईमेल आईडी और आधार कार्ड के वेरिफिकेशन के लिए आपके पास OTP आएगा, इसे दर्ज करना है। आप बाद में अपनी कांटेक्ट डिटेल्स चेंज भी करवा सकते हैं।
  7. आगे आपको एटीएम, नेट बैंकिंग,चेक बुक, आदि के विकल्पों में से अपनी आवश्यकता के अनुसार डाक्यूमेंट्स का चयन करना है। बैंक द्वारा इन सर्विसेज पर कुछ चार्ज लगाया जाता है।
  8. अब आपको अपने डाक्यूमेंट्स को स्कैन करके अपलोड करना है और फिर सबमिट बटन पर क्लिक करना है, आपका वेरिफिकेशन प्रोसेस शुरू हो जाएगा।
  9. इसके बाद आपको कस्टमर आईडी दिया जाएगा, जिसका प्रयोग आप अपने बैंक खाते से सम्बंधित जानकारी प्राप्त करने के लिए कर सकते हैं।
  10. आगे का प्रोसेस यानी की KYC प्रोसेस हर बैंक का अलग होता है, इसलिए आपको यही सलाह दी जाती है कि आप अपने बैंक ब्रांच में जा कर KYC प्रक्रिया पूरी करें। आप चाहे तो बैंक की वेबसाइट पर दिए गए हेल्पलाइन नंबर से भी आगे के प्रोसेस की जानकारी ले सकते हैं।
  11. डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन प्रोसेस अप्रूव हो जाने के बाद 3-5 दिनों के अंदर आपका अकाउंट एक्टिव कर दिया जाएगा।

क्या आपने यह पोस्ट पढ़ी: Clickbank Kya Hai? – क्लिक बैंक पर आकउंट कैसे खोलें!

माइनर अकाउंट कैसे खोलते हैं?

18 साल से कम उम्र के बच्चों के अकाउंट को माइनर अकाउंट कहा जाता है। 10 साल से कम उम्र के बच्चों के बैंक अकाउंट का संचालन उनके अभिभावक यानि माता-पिता को करना होता है, वहीं 10 साल से अधिक उम्र के नाबालिग अपने बैंक अकाउंट का संचालन खुद कर सकते है।

अगर आप भी अपने बच्चे का बैंक अकाउंट खुलवाना चाहते है, तो आइये जानते है बैंक में बच्चों का माइनर खाता कैसे खोला जाता है की पूरी प्रोसेस

  • माइनर अकाउंट खोलने के लिए एक समान अकाउंट ओपनिंग फॉर्म ही भरना होता है।
  • फॉर्म में नाबालिग का नाम, घर का पता, अभिभावक की जानकारी और हस्ताक्षर करना होता है।
  • माइनर अकाउंट खोलने के लिए इन डाक्यूमेंट्स का होना आवश्यक है- नाबालिग का बर्थ सर्टिफिकेट, आधार कार्ड और अभिभावक के केवाईसी दस्तावेज आदि।

बैंक अकाउंट खोलते समय किन बातों का ध्यान रखना चाहिए?

बैंक अकाउंट खोलते समय आपको निम्नलिखित बातों का ध्यान रखना चाहिए-

  • Rate Of Interest (ब्याज की दर)

बचत खाते से फायदा प्राप्त करने के लिए आपको बैंक के ब्याज दर की जानकारी होना आवश्यक है। क्योंकि जितना ज्यादा आपको अपने सेविंग्स अकाउंट पर इंटरेस्ट रेट मिलेगा उतना अधिक आपको फायदा अपनी बचत पर होगा। आपकी जानकारी के लिए बता दें, दूसरे इन्वेस्टमेंट विकल्पों की तुलना में सेविंग्स अकाउंट का इंटरेस्ट रेट कम होता है।

  • Minimum balance required (आवश्यक न्यूनतम राशि)

सरकारी बैंकों के खातों में बहुत ही कम कैश बैलेंस रखने की ज़रूरत होती है जैसे 500 रुपय से 1000 रुपय तक। लेकिन प्राइवेट बैंकों में न्यूनतम राशी ज्यादा रखनी पड़ती है, लगभग 5000 रुपय से 10,000 रुपय तक। ऐसे में उस बैंक में खाता खुलवाने की सलाह दी जाती है जिसकी न्यूनतम राशी कम हो।

  • Debit card benefits (डेबिट कार्ड के फायदे)

अधिकतर बैंक अपने ग्राहकों को डेबिट कार्ड का उपयोग करने पर अच्छे डिस्काउंट, कैशबैक ऑफर्स, Insurance Coverage आदि सुविधा प्रदान करते हैं। हालांकि कुछ बैंक्स अपने डेबिट कार्ड पर हर वर्ष फीस चार्ज करते हैं, तो कुछ बैंक ग्राहक के सालाना Transactions विशेष स्तर से अधिक होने पर ये फीस माफ़ कर देते हैं।

  • Bank Networks (बैंक नेटवर्क)

वर्तमान में अधिकतर बैंक सम्बंधित कार्य ऑनलाइन एप्लीकेशन की मदद से हो जाते हैं लेकिन फिर भी कुछ काम ऐसे होते हैं जिनके लिए आपको बैंक जाने की आवश्यकता होती है, ऐसे में आपको यही सलाह दी जाती है की आप उस बैंक का चुनाव करें जो आपके घर या कार्यस्थल के नज़दीक हो।

  • Ancillary charges (सहायक शुल्क)

कुछ बैंक आपको सहायक सेवाओं जैसे SMS Alerts, Duplicate ATM Cards/PIN Numbers, और Cheque Books के लिए चार्ज करते हैं। इसलिए आपको खाता खोलने से पहले उस बैंक के सभी चार्जेज के बारे में जानकारी होनी चाहिए।

  • Doorstep Banking Facilities (घर पर बैंकिंग सुविधाएं)

वर्तमान में कई बैंक अपने ग्राहकों को घर बैठे ही कैश या चेक पिकअप, डिमांड ड्राफ्ट की डिलीवरी, डाक्यूमेंट्स उठाना जैसी सुविधाएं प्रदान करते हैं। लेकिन इसके लिए आपको चार्जेज देने पड़ते हैं जिनके बारे में आपको जानकारी होनी चाहिए।

List Of Top 5 Banks in India

  • State Bank of India
  • ICICI Bank
  • HDFC Bank
  • Axis Bank
  • Kotak Mahindra Bank

Conclusion

तो ये थी Bank Mein Khata Kaise Khulwaye और ऑनलाइन Account Kaise Kholen की पूरी जानकारी, जो आपको जरूर पसंद आयी होगी। यहां मैंने बैंक खाता कैसे खोलते हैं की ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों प्रक्रियाओं के बारे में बताया है, ताकि आपको कहीं और जाने की जरूरत न पड़े। साथ ही इस पोस्ट के द्वारा आपको यह भी बताया कि Bank Account Kholne Ke Liye Kya Karna Padega।

बैंक अकाउंट कैसे खोलें से संबंधित आपके कोई भी सवाल हो जो आपके मन हो उन्हें आप हमे कमेंट के माध्यम से पूछ सकते है हम सही उत्तर के साथ आप तक जरूर पहुंचेंगे। Bank Me Account Kaise Khole In Hindi की जानकारी यदि आपको उपयोगी लगी हो तो इसे अपने दोस्तों और सोशल मीडिया अकाउंट जरूर शेयर, ताकि अन्य लोगों तक भी यह जानकारी पहुँच सके।

बैंक में खाता खोलने से जुड़े FAQs

  • भारत का सबसे बड़ा बैंक कौन सा है?

भारत का सबसे बड़ा बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI Bank) है।

  • बैंक में कितने प्रकार के अकाउंट खोले जाते है?

बैंक में मुख्य रूप से 3 प्रकार के अकाउंट खोले जाते हैं- सेविंग अकाउंट (बचत खाता), करेंट अकाउंट (चालू खाता) और क्रेडिट अकाउंट (ऋण खाता)।

  • क्या ऑनलाइन बैंक अकाउंट खोलना सुरक्षित है?

जी हाँ! ऑनलाइन बैंक अकाउंट खोलना बिलकुल सुरक्षित है। बस अकाउंट खोलते समय आपको ये सुनिश्चित करना है कि, आप बैंक की ऑफिसियल वेबसाइट से ही अकाउंट खोल रहे हो।

  • भारत का बैंकों का बैंक किसे कहते है?

भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) को भारत का बैंकों का बैंक कहा जाता है।

आपको हमारा यह लेख कैसा लगा ?

Average rating 4.7 / 5. Vote count: 187

अब तक कोई रेटिंग नहीं! इस लेख को रेट करने वाले पहले व्यक्ति बनें।

Default image
एडिटोरियल टीम

एडिटोरियल टीम, हिंदी सहायता में कुछ व्यक्तियों का एक समूह है, जो विभिन्न विषयो पर लेख लिखते हैं। भारत के लाखों उपयोगकर्ताओं द्वारा भरोसा किया गया।

Email के द्वारा संपर्क करें - [email protected]

Articles: 207

One comment

Leave a Reply