CA Ka Matlab चार्टर्ड अकाउंटेंट होता है यह कॉमर्स स्ट्रीम में सबसे प्रतिष्ठित कोर्स है। इसलिए, प्रत्येक कॉमर्स का छात्र एक सफल चार्टर्ड अकाउंटेंट बनने का सपना देखता है और यह जानना चाहता है कि भारत में CA (चार्टर्ड अकाउंटेंट) कैसे बने लेकिन CA बनना इतना आसान नहीं है। इस कोर्स को करने के लिए पूर्ण समर्पण, कड़ी मेहनत और लगन की जरूरत है।

CA का काम वित्तीय कार्यो को करना है ऐसे काम जो Account के Maintenance से संबंधित है उन कार्यो को करने के लिए एक Accountant को Apoint किया जाता है। तो दोस्तों Graduation Ke Baad CA Kaise Bane इसके बारे में और अधिक जानकारी के लिए हमारी पोस्ट को शुरू से अंत तक ज़रुर पढ़े हमे उम्मीद है की आपके कई सवालों के जवाब आपको यहाँ पर मिलेंगे।

Chartered Accountant

CA Information In Hindi (चार्टड अकाउंटेंट क्या है)

CA में हिसाब-किताब (Accounting) के बारे में सिखाया जाता है CA का काम लोगों को वित्तीय (Financial) सलाह देना, वित्तीय क्षेत्र से जुड़े किसी तरह के काम जैसे- किसी कंपनी का टैक्स रिटर्न करना, बैलेंस शीट बनाना आदि कार्य CA के द्वारा ही किये जाते है।

CA में वित्तीय सलाह, व्यापार खाता और टैक्स इत्यादि इत्यादि के बारे में सिखाया जाता है यह बहुत ही अच्छी पोस्ट है किसी भी अकाउंटेंट का स्टेटस डॉक्टर, इंजीनियर से कम नही होता है।

CA में आप बैंकिंग, टैक्स और अकाउंटेंट की Job करके अच्छा पैसा कमा सकते है CA बनने के लिए आपको बहुत पढ़ाई करनी पड़ती है तब जाकर आप CA की डिग्री हासिल कर सकते है।

CA Full Form

CA Ka Full Form होता है – Chartered Accountant

CA Full Form In Hindi

CA Ki Full Form होती है – चार्टर्ड अकाउंटेंट

अभी आपने CA Ka Full Name के बारे में जाना अब आपको आगे हम सीए कैसे बने के बारे में बता रहे है।

CA Ke Tayari Kaise Kare

CA बनने के लिए आपको 10वीं कक्षा से ही इसकी तैयारी शुरू कर देना चाहिए CA के लिए आपको CPT Exam देनी होगी इसके लिए आप 10वीं कक्षा के बाद ही इसका रजिस्ट्रेशन करवा सकते है और 12वीं कक्षा के बाद CPT की परीक्षा दे सकते है। इसके लिए आपकी 12वीं कक्षा कॉमर्स विषय से होनी चाहिए जिसमे आपके 50% अंक होने चाहिए, उसके बाद ही आप इसकी परीक्षा दे सकते है। दोस्तों आपके मन में सवाल होगा की क्या कॉमर्स विषय होने पर ही आप CPT की परीक्षा दे सकते है तो यह सही नही है।

अगर आपने 12वीं कक्षा आर्ट्स विषय से की है तब भी आप CPT की परीक्षा दे सकते है लेकिन अगर आपने 12वीं कक्षा कॉमर्स से की है तो आपको इसकी तैयारी करने में ज्यादा मेहनत नही करनी पड़ेगी क्योंकि आपको 12वीं कक्षा में ही अकॉउन्टिंग, वित्तीय प्रबंधन, व्यवसाय प्रबंधन से संबंधित विषय पढ़ाये जाते है। उसके बाद आपके CA बनने की प्रक्रिया शुरू हो जाती है। CA CPT परीक्षा साल में दो बार आयोजित की जाती है, पहली जून महीने में होती है और दूसरी दिसम्बर महीने होती है।

क्या आपने यह पोस्ट पढ़ी: SSC Ki Taiyari कैसे करे? – SSC Ki Bharti 2019 के लिए Eligibility, Exam Pattern!

CA Kaise Bane

जब आप CA की CPT परीक्षा को पास कर लेते है तब आपको CA करने की अगली प्रोसेस करनी होती है और यह प्रोसेस है IPCC (Integrated Professional Competence Course) आपको IPCC की परीक्षा के लिए रजिस्ट्रेशन करवाना होता है और आप इसका रजिस्ट्रेशन केवल तब ही कर सकते है।

जब आप IPCC की Exam को पास कर लेते है और अगर आप इसकी परीक्षा में असफल (Fail) हो जाते है तो आप इसके लिए रजिस्ट्रेशन नही करवा सकते IPCC की परीक्षा भी CPT की तरह ही एक साल में 2 बार होती है पहली परीक्षा मई महीने में और दूसरी परीक्षा नवंबर महीने में होती है।

B.Com Ke Baad C.A Kaise Bane

यदि आप CPT परीक्षा देने से चूक जाते है या फिर आप लेट हो जाते है तो आप अपना ग्रेजुएशन पूरा करने के बाद भी शामिल हो सकते है अधिकांश उम्मीदवार ग्रेजुएशन होने के बाद ही इसमें शामिल होते है

अगर आपके पास बी.कॉम डिग्री है तो आप CA कोर्स कर सकते है। ग्रेजुएट छात्रों के लिए यह सीधा प्रवेश है यदि आप कॉमर्स के ग्रेजुएट छात्र है तो IPCC में सीधे प्रवेश पाने के लिए आपके ग्रेजुएशन में 55% अंक होने चाहिए, जबकि अन्य ग्रेजुएशन के लिए यह 60% है।

CA Ka Syllabus

वैसे आप चार्टर्ड अकाउंटेंट कोर्स के सिलेबस को चार चरणों में विभाजित कर सकते है जो कुछ इस तरह से है:

Step 1: CPT (Common Proficiency Test)

इसमें दो सत्रों (Sessions) में एक पेपर होता है:

Sessions 1:

  • Section A: Fundamentals of Accounting – 60 Marks
  • Section B: Mercantile Laws – 40 Marks

Sessions 2:

  • Section C: General Economics – 50 Marks
  • Section D: Quantitative Aptitude – 50 Marks

Step 2: IPCC (Integrated Professional Competence Course)

CA बनने के लिए IPCC दूसरा चरण (Step) होता है इसमे दो Group होते है पहले Group में 4 पेपर और दूसरे ग्रुप में 3 पेपर होते है:

Group 1:

  • Accounting – 100 Marks
  • Business Laws Ethics And Communication – 100 Marks
  • Cost Accounting And Financial Management – 100 Marks
  • Taxation – 100 Marks

Group 2:

  • Advance Accounting
  • Auditing And Assurance
  • Information Technology And Strategic Management

इन पेपर्स में आपको हर विषय में 40% पासिंग मार्क्स चाहिए और आपके कुल 50% अंक होने चाहिए।

Step 3: Articleship

IPCC की परीक्षा पास करने के बाद आपको 3 साल की आर्टिकलशिप की प्रेक्टिस ट्रेनिंग के लिए आवेदन करना होता है, जैसे ही आपके 3 साल की प्रेक्टिस ट्रेनिंग पूरी हो जाती है इसके 6 महीने के बाद आपको एक परीक्षा देनी होती है जो CA बनने के लिए अंतिम परीक्षा (Final Exam) होती है।

Step 4: CA Final Exam

यह परीक्षा बहुत ही उच्च स्तर (High Level) की परीक्षा होती है। इस परीक्षा को भी दो ग्रुप में बाँटा गया है यह बहुत ही कठिन परीक्षा होती है ये परीक्षा इसलिए कठिन होती है क्योंकि इस परीक्षा में पास होते ही आप CA की डिग्री प्राप्त कर लेंगे और चार्टर्ड अकाउंटेंट बन जायेंगे इस परीक्षा के पहले ग्रुप में आपके 4 पेपर होते है:

Group 1:

  • Financial Reporting
  • Strategic Financial Management
  • Advanced Auditing And Professional Ethics
  • Corporate And Allied Laws

Group 2:

CA फाइनल परीक्षा के दुसरे ग्रुप में भी आपको 4 पेपर देने होते है:

  • Advanced Management Accounting
  • Information Systems Control
  • Audit, Direct Tax Laws
  • Indirect Tax Laws

यदि आप इन सभी परीक्षाओं को पास कर लेते है तब आप एक चार्टर्ड एकाउंटेंट यानि CA कहलायेंगे। CA कोर्स की अंतिम परीक्षा को पास करने के बाद, आपको अपने आप को ICAI कंपनी में रजिस्टर्ड करवाना होगा इसके बाद ही आप एक चार्टर्ड एकाउंटेंट की तरह CA कहलायेंगे।

CA Kitne Saal Ka Course Hai

चार्टर्ड एकाउंटेंट के लिए कोर्स की अवधि अब सिर्फ साढ़े तीन साल है। पहले इसकी अवधि 5 साल और 3 महीने थी, लेकिन अब ICAI ने कोर्स की अवधि को कम करने का फैसला किया है। यह उन लोगों के लिए बहुत अच्छा है जो 10वीं और 12वीं के बाद पाठ्यक्रम में शामिल होना चाहते है।

जरूर पढ़े: BSF Kya Hai? BSF Ka Itihas Kya Hai – जानिए BSF Kaise Join Kare पूरी जानकारी हिंदी में!

CA Ki Fees Kitni Hoti Hai

CA बनने के लिए आपको 5 सालों में कम से कम 40,000 से 57,000 रु तक खर्च करना होता है और बाकी आपके प्रयासों पर निर्भर करता है की आप इन परीक्षाओं को पास करने में कितने Attempt लेते है इसके अलावा अगर आप निजी कोचिंग से CA Ki Padhai करने का विचार कर रहे है तो CA Ki Fees पूरी तरह से अलग है

इसमे आपको 50,000 रु से लेकर 2-3 लाख तक रु खर्च करने पड़ सकते है सीए की फीस आपके उस जगह या शहर पर निर्भर करता है जिस शहर में आप रह रहे है तो चलिए आपको बताते है की CA में कहाँ पर कितनी फीस Pay करनी होगी।

CA Foundation Course

  • Registration Fee – 9000
  • Examination Fee – 1000-1500

CA Intermediate Course

  • Registration Fee – 18000
  • Examination Fee – 2700
  • Orientation Program And It Training Fee – 14000
  • CA Final Exam Fee – 22000

दोस्तों अगर आप CA Colleges In India सर्च कर रहे है तो आपको भारत में CA का कॉलेज नहीं मिलेगा, क्योंकि यह Correspondence Course होता है। यदि आप CA बनना चाहते है तो उसके लिए आपको CA Ke Liye Best Coaching चुनना चाहिए, जहाँ पर आपको सही Guidline मिले। हम आपको निचे एक लिंक दे रहे है जहां से आप CA के Regional ब्रांच पर जाकर अपने सभी सवालों के जवाब प्राप्त कर सकते है।

https://www.icai.org/new_post.html?post_id=2230

CA Ki Salary Kitni Hoti Hai Per Month

किसी भी बैंक, कंपनी, वित्तीय संस्थान में Accounting Management बहुत ही आवश्यक होता है क्योंकि ये सभी काम चार्टर्ड एकाउंटेंट के द्वारा ही किये जाते है। शुरुआत में नए CA को वार्षिक 4,00,000 से 5,00,000 लाख रूपये औसतन मिलते है और अनुभव के साथ ही 2 से 3 सालों में Chartered Accountant Ki Salary बढ़कर 7,00,000 से 8,00,000 तक हो सकती है। जबकि शुरुआती वेतन के रूप में भारत में फ्रेशर्स को CA Ki Salary Per Month के हिसाब से 50,000 रूपये या अधिक मिल सकते है।

छोटे शहरों के मुकाबले मेट्रो शहरों में CA Ki Salary अच्छी होती है CA का काम बहुत की मेहनत का होता है इसमे CA को 9 से 10 घंटे काम करना होता है और कभी-कभी तो CA को कुछ Companies में 12 से 15 घंटे तक काम करना पड़ता है।

यह पोस्ट भी जरूर पढ़े: Bank PO Kaise Bane – SBI Bank PO 2019 में भर्ती के लिए योग्यता, सिलेबस, एग्जाम पैटर्न!

Conclusion:

हम आपको यही सलाह देंगे की यदि आप वास्तव में चार्टर्ड अकाउंटेंट बनने में रूचि रखते है तभी CA Ki Taiyari करे अन्यथा आप इसे छोड़ सकते है और किसी दूसरी फील्ड को चुन सकते है। यदि आप इसमें प्रवेश लेना चाहते है तब आपको अंतिम निर्णय लेने की आवश्यकता है। आप चाहे तो 10वीं या 12वीं कक्षा के बाद ही कोर्स शुरू कर सकते है। लेकिन अगर आप CA Course के बारे में गंभीर है, तो अपने ग्रेजुएशन होने तक की प्रतीक्षा ना करते हुए 10+2 के ठीक बाद ही इसमें सम्मिलित हो जाना चाहिए।

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (7 votes, average: 4.14 out of 5)
Loading...