हैलो दोस्तों ! Hindi Sahayta में आपका स्वागत है | आज हम आपको बताएँगे Demat Account Kya Hota Hai और Demat Account Kaise Khole हमने हमारी पिछली पोस्ट में बताया था की UPI Kya Hai? उम्मीद है वो पोस्ट आपको पसंद आई होगी |

हमने हमारी एक पोस्ट में बताया था की Share Market Kya Hai, हमारा आज का टॉपिक भी Share Market से ही जुड़ा हुआ है आज हम बात करेंगे Demat Account Kya Hota Hai और जानेंगे की Demat Account Kaise Khole जाते है तो चलिए शुरू करते है |

अगर अब आप सोच रहे है की Share Market Me Kaise Invest Kare और Share Kaise Kharide तो हम आपको बताना चाहते है की उसके लिए सबसे पहले आपके पास एक Account होना चाहिए जिसका नाम है Demat Account.

क्या आपने यह पोस्ट पढ़ी: Share Market Kya Hai? Share Market Se Paise Kaise Kamaye? Share Market से जुडी सारी जानकारी आसान भाषा में!

आपको Share Market में निवेश करने के लिए Demat Account होना जरूरी है, लेकिन ये Demat Account क्या होता है, कैसे खुलता है, इसका क्या उपयोग होता है, अगर आपके मन में भी ऐसे सवाल हैं तो आप बस हमारी आज की पोस्ट ध्यान से पढिये जिससे आपको अपने सभी सवालों का जवाब मिल सके |

Demat Account Kya Hota Hai

सरल शब्दों में कहें तो Demat Account किसी बैंक अकाउंट जैसा ही होता है, फ़र्क सिर्फ इतना होता है कि बैंक अकाउंट में पैसों का लेनदेन होता है। जबकि Demat Account में Shares का लेनदेन होता है। जैसे बैंकों में पैसा सुरक्षित रहता है, वैसे ही Demat Account में हमारे Share सुरक्षित रहते हैं।

Demat का फुल फॉर्म – Dematerialised होता है |

Demat Account का इस्तेमाल ऐसे Account और Locker के रूप में किया जाता है, जहा ख़रीदे गए Shares को जमा किया जाता है, Demat Account को सिर्फ और सिर्फ Shares खरीदने के बाद उसे रखने के काम में लिया जाता है |

और जब हम Shares को बेचते है, तो वो Shares हमारे Demat Account से निकल कर Shares खरीदने वाले के Demat Account में जमा हो जाते है |

Demat Account में Shares के अलावा Bonds, Government Securities, Mutual Funds भी रखे जा सकते हैं। Demat Account को बेनीफिशियल ओनर (B.O.) भी कहा जाता है। Demat Account को बैंक, ब्रोकर या फाइनेंशियल इंस्टिट्यूशन खोलते हैं |

SEBI (Securities And Exchange Board Of India) के दिशा निर्देश के अनुसार Demat Account के अलावा किसी अन्य रूप में Shares को बेचा या खरीदा नहीं जा सकता है। इसलिए अगर आपको Share Bazar से स्टॉक खरीदना या बेचना हो तो आपके पास डीमैट खाता (Demat Account) होना अनिवार्य है।

Demat Account Kaise Khole

अगर आप अपना Demat Account Online खोलना चाहते है तो आप किसी भी बैंक की या ब्रोकर्स की वेबसाइट पर जाकर अपना Demat Account Online खोल सकते है | बैंको के नाम हमने नीचें लिस्ट में दिए है जो Demat Account Online भी खोलती है |

यह पोस्ट भी जरूर पढ़े: Mutual Funds Kya Hai? Mutual Funds Se Paise Kaise Kamaye? जानिए सरल भाषा में

Demat Account दो तरीकों से खोला जा सकता है

  1. Online 
  2. Offline

और अगर आप अपना Demat Account Offline खोलना चाहते है तो Demat Account खोलने के लिए आप किसी डिपॉजिटरी पार्टिसिपेंट (DP) जो NSDL (The National Securities Depository Limited) या CDSL (Central Depository Services (India) Limited) के ब्रोकर या सब-ब्रोकर होते है आप उनसे संपर्क कर सकते हैं।

कई बैंक और संस्थान (DP) के रूप में कार्य करते हैं। भारत में अधिकतर सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक डीपी के रूप में कार्य करते हैं। इन बैंकों के अलावा देशभर में कई निज़ी वित्तीय संस्थान हैं जो डीपी के रूप में कार्य कर रहे हैं, जिनसे आप Demat Account खुलवाने के लिए संपर्क कर सकते हैं, और अपना Demat Account खुलवा सकते है |

Demat Account Banks

भारत में ऐसी कई Banks है जो Demat Account खोलती है, Demat Account Open करने के लिए Banks की लिस्ट:

  1. ICICI Securities Ltd.
  2. State Bank Of India.
  3. HDFC Securities Ltd.
  4. Axis Securities Ltd.
  5. Kotak Securities Ltd.

Demat Account Kholene के लिए जरुरी दस्तावेज़

Demat Account खोलने के लिए आपको कई जरूरी दस्तावेज की जरुरत होती है जैसे:

  1. पैन कार्ड (Pan Card)
  2. पासपोर्ट साइज़ फ़ोटो (दो फोटो)
  3. पहचान पत्र (ड्राइविंग लाइसेंस या आधार कार्ड)
  4. बैंक खाता संख्या (Account No.)

Demat Account Ke Fayde

Demat Account के बिना आप Share Market में कदम नहीं रख सकते Demat Account खोलने से कई फ़ायदे होते है, Shares को Demat Account में रखना बहुत ही फायदेमंद है, Demat Account Ke Fayde:

जरूर पढ़े: Pan Card Kaise Banaye? Pan Card Ke Liye Online Apply Kaise Kare – Pan Card Online आवेदन से जुडी सारी जानकारी!

  1. Demat Account के द्वारा Shares को Hold पर रखा जा सकता है यह एकदम आसन और सुविधाजनक तरीका है |
  2. Demat Account में Shares को बैंक लाकर जैसी सुरक्षा मिलती है |
  3. Shares को बेचने पर आसान,सुरक्षित और सुविधाजनक ट्रान्सफर की व्यवस्था, Demat Account में पेपर वर्क की कोई जरूरत नहीं पड़ती है |
  4. Demat Account में Transaction Cost और Stamp Duty फीस भी कम हो जाती है |
  5. Demat Account के द्वारा आप दुनिया में कही से भी Shares खरीद और बेच सकते है |

Demat Account Charges

Demat Account खोलने की कुछ फ़ीस होती है, जो अलग-अलग बैंक्स और स्टॉक ब्रोकर के द्वारा अलग-अलग राशि के रूप में ली जाती है, और साथ ही साथ Demat Account खोलने के बाद आपको Demat Account Charges भी देना होता है, जो आपको Demat Account की सेवा के बदले हर साल एक फ़ीस के तौर पे देना होता है, Demat Account खोलने के लिए आपको कुछ Charges देना होगा यह Charges कई प्रकार के होते है:

  1. वार्षिक रखरखाव शुल्क (Annual Maintaince Fees)
  2. संरक्षक शुल्क (Protective Duty Fees)
  3. लेनदेन शुल्क (Transcation Fees)

Conclusion

हाँ तो दोस्तों आपको हमारी आज की पोस्ट कैसी लगी आज हमने आपको बताया की Demat Account Kya Hota Hai और Demat Account Kaise Khole जाते है उम्मीद है आपको समझ आया होगा और पसंद भी आया होगा और आज हमे ये भी पता चला की Demat Account Ke Fayde क्या होते है, आशा करते है आज आपके कई सवालो के जवाब आज आपको यहाँ मिले होंगे |

अगर आपके मन में अब भी कुछ सवाल है तो वो भी आप कमेंट बॉक्स में कमेंट करके हमसे पूछ सकते है, हमारी टीम आपकी सहायता करने की कोशिश करेगी |

अगर आपको हमारी आज की पोस्ट पसंद आई है तो आप कमेंट करके बता सकते है और इसी प्रकार की अन्य जानकारी के लिए आप हमारी वेबसाइट Hindi Sahayta की Notification को Subscribe भी कर सकते है जिससे आपको हमारी नयी पोस्ट की जानकारी मिल सके |

आप हमारी पोस्ट अपने दोस्तों से भी शेयर कर सकते है और शेयर करके अपने दोस्तों को भी इसके बारे में बता सकते है | हम फिर नयी पोस्ट लेकर हाज़िर होंगे तब तक के लिए नमस्कार दोस्तों !आपका दिन मंगलमय हो |

Demat Account Kya Hota Hai? Demat Account Kaise Khole? जानिए इसे उपयोग करने के तरीके हिंदी में
5 (100%) 3 votes

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here