आज के समय में हर व्यक्ति अमीर होना चाहता है इसलिए हर व्यक्ति अपनी कड़ी मेहनत से कमाए गए पैसों को बचाता भी है परन्तु सिर्फ पैसे बचाने से कोई भी व्यक्ति अमीर नहीं बन जाता है। अमीर बनने के लिए पैसे बचाने के साथ उन्हें और अधिक बढ़ाने के लिए सही जगह इन्वेस्ट भी करना पड़ता है। म्यूच्यूअल फंड, शेयर मार्केट, बांड इन्वेस्टमेंट आदि सभी पैसों को निवेश करने के लिए बहुत ही अच्छे मंच है।

कई बार लोग शेयर मार्केट में पैसे तो इन्वेस्ट कर देते है परन्तु Share Market Basics के अभाव में उनका फायदा होने के बजाय नुकसान हो जाता है। शेयर बाजार एक बहुत ही जोखिम भरा इन्वेस्टमेंट होता है जिसमे बड़े फायदे के साथ बड़े नुकसान भी होते है। अगर आप चाहते कि आपके द्वारा अर्जित किया गया पैसा डूबे नहीं और आप एक अच्छा मुनाफा भी प्राप्त करे तो आपको सबसे पहले इसके बारे में पूर्ण जानकारी प्राप्त करना चाहिए। इसलिए आज हम आपको हमारी इस पोस्ट के माध्यम से शेयर मार्केट क्या है और Share Bazar Ki Jankari विस्तार में प्रदान करेंगे।

 

Share Market Kya Hai

Share Market दो शब्दों से मिलकर बना है Share + Market, अगर हम भी Share Market को दो भागों में समझने की कोशिश करे तो हमे यह आसानी से समझ आ सकता है।

Share

शेयर का बहुत ही सीधा सा अर्थ होता है “हिस्सा”। यदि हम शेयर मार्केट की भाषा में बात करें तो शेयर का अर्थ है कंपनियों में हिस्सा ! उदाहरण के लिए किसी एक कंपनी ने कुल 1 लाख रुपये के शेयर जारी किए है। तथा आप कंपनी के प्रस्ताव के अनुसार जितने अंश खरीद लेते है आपका उस कंपनी में उतने प्रतिशत का मालिकाना हक हो जाता है। शेयर को आप किसी अन्य खरीददार को जब भी चाहें बेच सकते है। आप 100 रुपए से लेकर अधिकतम कितनी भी राशि तक के शेयर खरीद सकते है।

Market

शेयर मार्किट वह बाज़ार होता है जहाँ शेयर का लेन-देन किया जाता है अथवा ख़रीदा या बेचा जाता है। शेयर बाजार में शेयर बेचने वाली कंपनी रजिस्टर्ड होती है और शेयर बाजार में सूचीबद्ध होने के लिए कंपनी को बाजार से लिखित समझौता करना पड़ता है।

अगर कोई कंपनी समझौते के नियमों का पालन नहीं करती है, तो सेबी (SEBI) द्वारा उसे डीलिस्ट (सूची से बाहर) कर दिया जाता है। सेबी का प्रमुख उद्देश्य भारतीय स्टॉक निवेशकों के हितों को संरक्षण प्रदान करना है इसके अलावा इस पूरे बाजार पर भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) का ही नियंत्रण होता है।

SEBI Ka Full Form:

SEBI का फुल फॉर्म – “SECURITIES AND EXCHANGE BOARD OF INDIA” या “भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड” होता है !

Share Market Today India:

Share Market India में दो तरह के है:

  • BSE (बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज)
  • NSE (नेशनल स्टॉक एक्सचेंज)

क्या आपने यह पोस्ट पढ़ी: Sensex Kya hai? Sensex Kaise Kaam Karta Hai – जानिये सरल भाषा में!

Demat Account Kya Hota Hai

जिस तरह बैंक अकाउंट में रूपये जमा कर सकते है उसी तरह डीमैट अकाउंट में आपके निवेश से संबंधी सभी सुरक्षा जैसे- शेयर, बांड्स, गवर्नमेंट सिक्योरिटी आदि को सेव किया जाता है।

SEBI के दिशा निर्देश के अनुसार डीमैट अकाउंट के अलावा किसी अन्य रूप में शेयर्स को बेचा या खरीदा नहीं जा सकता है। इसलिए अगर आपको शेयर बाजार से स्टॉक खरीदना या बेचना हो तो आपके पास डीमैट खाता होना अनिवार्य है।

Share Market Se Paise Kaise Kamaye

यदि आपको Share Market Ke Baare Mein बहुत कम जानकारी है या आप शेयर बाजार में पहली बार उतर रहे है, और आप चाहते तो है कि Share Market Me Invest Kare मगर जानते नहीं कि क्या करें और कैसे करें तो आपकी सुविधा के लिए Share Market Tips नीचे दी गयी है:

शेयर बाजार की जानकारी रखें

यदि आप शेयर बाजार में पैसा कमाना चाहते है तो आपको सबसे पहले कंपनी की बैलेंस शीट और रिजल्ट को पढ़ना सीखना होगा और शेयर बाजार के बारे में ज्यादा से ज्यादा जानकारी रखनी होगी।

कंपनी का चयन

किसी कंपनी के शेयर लेने से पहले उस कंपनी तथा शेयर की पूरी जानकारी ज़रूर ले लेना चाहिए और शेयर बाजार मे पैसा कमाने के लिए हमेशा ध्यान रखना चाहिए कि हम उसी कंपनी के शेयर ख़रीदे जो मार्केट में टॉप कंपनी हो तथा BSE एवं NSE की लिस्ट में भी हो।

कम पूँजी से शुरुआत

शेयर मार्केट में छोटी राशि से शुरुआत कर अनुभव प्राप्त करना चाहिए तथा एकदम से बड़ी रकम दाँव पर नहीं लगाने से नुकसान होने पर भी ज्यादा पैसा नही जाता है।

लालच न करें

कई बार लोग मुनाफ़ा होने पर जोश में आकर अधिक पैसे लगा देते है जिससे मार्केट में शेयर के भाव कम या ज्यादा होने पर नुकसान झेलना पड़ सकता है और शेयर मार्केट में पैसा फँस जाता है। इसलिए Share Market Ke Baare Mein पूर्ण रूप से अनुभव प्राप्त करने के पश्चात् ही पैसे लगाना चाहिए।

हमेशा ध्यान रहे

शेयर मार्केट मे कभी भी ब्याज पर लिया हुआ पैसा ना लगाए। शेयर में हमेशा वही पैसा लगाना चाहिए जो हमारी ज़रूरतों के हिसाब से एक्स्ट्रा हो। क्योंकि शेयर मार्केट एक बहुत ही जोखिम पूर्ण निवेश होता है जिसमे कभी भी नुकसान हो सकता है।

बहकावे में ना आये

कभी भी वो शेयर ना ख़रीदे जिसका किसी और ने आप को सुझाव दिया हो, पहले उसकी जानकारी अवश्य ले और Share Market Me Invest करने से पहले आप अपना लक्ष्य बना ले कि आप को कितने मुनाफ़े पर शेयर बेचना है।

डैक्स शेयर मार्केट

शेयर बाजार में निवेश करने से पहले Dax Share Market की सहायता से मार्केट का उतार चढ़ाव चेक कर लेना चाहिए।

जरूर पढ़े: NIFTY Kya Hai? NIFTY Aur Sensex Me Kya Antar Hai? – जानिए NIFTY Ke Fayde हिंदी में!

How To Invest In Share Market

अगर आप जानना चाहते है कि Share Market Me Invest Kaise Kare या Share Market Me Khata Kaise Khole तो इसके लिए आप नीचे दिए गए निर्देशों की सहायता ले सकते है:

दस्तावेज़

स्टॉक ब्रोकर

कोई भी व्यक्ति शेयर मार्केट में न तो डायरेक्ट शेयर ख़रीद सकता है न ही बेच सकता है। शेयर खरीदने तथा बेचने का कार्य स्टॉक ब्रोकर एजेंसी द्वारा किया जाता है। कुछ स्टॉक ब्रोकर एजेंसी के नाम शेरखान, ऐंजल ब्रोकिंग, आईसीआईसीआई डायरेक्ट आदि है।

शेयर मार्केट अकाउंट

शेयर मार्केट में निवेश करने के लिए स्टॉक ब्रोकर द्वारा हमारे दो प्रकार के खाते खोले जाते है।

  • डीमैट अकाउंट : इस अकाउंट में हमारे द्वारा ख़रीदे गए शेयर जमा रहते है।
  • ट्रेंडिंग अकाउंट : इस अकाउंट की सहायता से शेयर्स को ख़रीदा तथा बेचा जाता है।

Share Market Se Share Kaise Kharide

अकाउंट ओपन करने के बाद स्टॉक्स को खरीदने तथा बेचने के लिए निर्देश नीचे दर्शाये गए है:

  • खाता खुलवाने के पश्चात् ब्रोकर द्वारा आपको शेयर खरीदने तथा बेचने के लिए ट्रेडिंग अकाउंट का यूजर आईडी तथा पासवर्ड दिया जाता है।
  • अब इस यूजर आईडी और पासवर्ड की सहायता से ब्रोकर के Share Market Software या शेयर मार्केट एप्स में कंप्यूटर या मोबाइल पर लॉगिन किया जा सकता है।
  • लॉगिन करने के पश्चात् आप ब्रोकर को शेयर खरीदने या बेचने के लिए आर्डर कर सकते है जिसे ब्रोकर द्वारा BSE या NSE को फारवर्ड कर दिया जाता है।
  • आर्डर कम्पलीटेड होने के बाद स्टॉक एक्सचेंज द्वारा आपको कन्फर्म का मैसेज भेज दिया जाता है।

शेयर मार्केट में वोल्यूम क्‍या है

जैसा हमने आपको ऊपर बताया है हमेशा शेयर मार्केट में निवेश से पहले Share Market Ki Jankari अच्छे से जरूर प्राप्त कर ले। बहुत से लोगों का प्रश्न होता है शेयर मार्केट में वोल्यूम क्‍या है इसलिए इसे समझने के लिए नीचे दर्शाये गए बिन्दुओं की सहायता ली जा सकती है।

  • शेयर मार्केट में कुछ लोग शेयर खरीदते है तो कुछ लोग बेचते है इसलिए शेयर मार्केट में केवल उतना ही शेयर ख़रीदा जा सकता है जितना बेचा जा रहा है।
  • किसी भी स्टॉक में एक दिन में हुए ट्रेड में जितने शेयर ट्रांसफर होते है वो उस स्टॉक का वोल्यूम कहलाता है।
  • उच्च वोल्यूम होने पर बड़े निवेशक एवं निम्न वोल्यूम होने पर छोटे निवेशक शेयर्स का क्रय-विक्रय करते है।
  • अगर दिन भर में 1000 शेयर खरीदे गए तथा 1000 शेयर बेचे गए तो इसका मतलब होता है उस दिन का वोल्यूम 1000 है।
  • जिस दिन स्टॉक में कम वोल्यूम हो हमे शेयर खरीदने से बचना चाहिए, क्योंकि उस दिन हमारा नुकसान हो सकता है।

Share Market Holidays

शेयर मार्केट का एक समय निर्धारित होता है इसका काम हफ्ते में सिर्फ पांच दिन सोमवार से शुक्रवार तक सुबह 9 से दोपहर 3 बजे तक होता है तथा आप उस समय में ही अपने Share ख़रीद और बेच सकते है। शनिवार, रविवार और केंद्र सरकार द्वारा घोषित सभी अवकाश, Share Market Holidays होते है।

Note: शेयर बाजार निवेश बाजार जोखिमों के अधीन एक हाई रिस्क मार्केट है, शेयर मार्केट के बारे में संपूर्ण जानकारी और समझ होने के बाद ही इसमें निवेश करे।

Conclusion:

शेयर बाजार से हर कोई पैसा कमाना चाहता है। मगर कई बार दोस्तों और रिश्तेदारों को देख कर बिना सोचे समझे निवेश करके लोग फँस जाते हैं, और अपना पैसा गवां देते है इसलिए शेयर बाजार में निवेश हमेशा अपनी समझ से और Share Market Basics को जानने के बाद ही करना चाहिए तथा निवेश के पहले जोखिम की भी पूर्ण जानकारी जुटा लेना चाहिए।

अगर आपको शेयर मार्केट से जुड़ी जानकारी पसंद आयी हो तो इसे Like करना न भूले तथा अपने दोस्तों से शेयर कर उन्हें भी शेयर मार्केट कि जानकारी प्रदान करे जिससे उन्हें भी कोई नुकसान न झेलना पड़े। अगर आपके पास इससे सम्बन्धित कोई भी सवाल है तो आप हमसे कमेंट में पूछ सकते है जिनके जवाब हम आपको ज़रूर देंगे।

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (2 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading...