Home » Technology » USB Kya Hai? जानिए USB Meaning in Hindi और इससे जुड़ी पूरी जानकारी!

USB Kya Hai? जानिए USB Meaning in Hindi और इससे जुड़ी पूरी जानकारी!

USB का नाम तो हम सबने सुना ही है पर क्या आप जानते हैं USB Kya Hai अगर नहीं जानते तो दोस्तों आज हम आपको बताएंगे कि USB Kya Hota Hai और इसी के साथ ये भी बताएंगे की USB कनेक्टर कितने प्रकार के होते हैं| आईये जानते हैं USB Meaning in Hindi के बारे में विस्तार से हमारी इस पोस्ट के माध्यम से|

[toc]

USB एक ऐसी टेक्नोलॉजी है, जिसकी मदद से हम पॉवर को या डाटा को आसानी से एक Device से दूसरे Device में भेज सकते हैं| USB का फुल फॉर्म Universal Serial Bus होता है| USB एक ऐसा डिवाइस है जिसका उपयोग आज हम सभी करते हैं| यह हमारी दिनचर्या का एक हिस्सा बन चुका है, क्योंकि जब हम कंप्यूटर पर कार्य कर रहे होते हैं  उसमें USB का उपयोग करते हैं| मोबाइल चार्ज करने के लिए भी हम USB केबल का उपयोग करते है और डाटा ट्रान्सफर करने के लिए भी USB का ही उपयोग किया जाता है| हमने हमारी पिछली पोस्ट में बताया था की Android Kya Hai आशा करते है वो पोस्ट आपको पसंद आई होगी|

पर क्या आप जानते है USB इतना इम्पोर्टेन्ट क्यों है, आपको शायद ये भी पता नहीं होगा की USB के भी अलग-अलग Versions होते हैं, अब तक कितने USB Versions बाज़ार में आ चुके है, जिनके बारे में बहुत से लोगों को पता नहीं होता है| तो आज हम आपको USB के बारे में पूरी जानकारी विस्तार में बताएँगे कि What is USB in Hindi अथवा USB Kya H और USB Cable Kya Hota Hai तो चलिए शुरू करते हैं|

USB Kya Hai

USB एक ऐसी टेक्नोलॉजी है जिसकी मदद से हम पॉवर को या डाटा को आसानी से एक Device से दूसरे Device में Transfer यानि भेज सकते है, USB को बनाने की शुरुआत 7 कम्पनियों ने मिलकर की थी, जिनके नाम इस प्रकार है –

Intel, Microsoft, IBM, Compaq, Dec, Nortal And Nec

USB का पहला Standard अजय भट्ट जी ने तैयार किया था जो Intel कंपनी की टीम में शामिल थे|

उम्मीद है कि आप USB Cable Kya Hota Hai अथवा USB Cable Meaning in Hindi इसके बारे में जान गए होंगे| अब नीचे हम आपको कुछ USB Devices के नाम बताने जा रहे हैं जिनका उपयोग हम अपनी रोजमर्रा की जिन्दगी में करते हैं:

क्या आपने यह पोस्ट पढ़ी: WWW Kya Hai? WWW का Full Form क्या होता है? – जानिए WWW का पूरा इतिहास हिंदी में!

USB Connector Ke Prakar

USB Connector 3 प्रकार (Types) के होते है-

  • USB Type A
  • USB Type B
  • USB Type C

USB Type A

USB Type A फ्लैट होते है और ये बाकी Connector से थोड़े बड़े होते है,USB Type A को कंप्यूटर के साथ फाइल लेने या देने के लिए इस्तेमाल किया जाता है,USB Type A को माउस, की-बोर्ड, पेन ड्राइव आदि में इस्तेमाल किया जाता है|

USB Type B

USB Type B चोकोर आकार के होते है और देखने में थोड़े बड़े भी होते है, USB Type B Connector ज्यादातर स्कैनर, प्रिंटर या फिर हार्ड ड्राइव्स में पाए जाते है जिनके जरिये ये कंप्यूटर के साथ जुड़ते है| आज कल मोबाइल में जो Mini USB का इस्तेमाल हो रहा है वह भी USB Type B का ही प्रकार है|

Mini USB Connector

आकार में छोटा होने के कारण इन्हें मिनी Mini USB Connector कहते हैं, Micro USB Connector आने के पहले इनका इस्तेमाल मोबाइल में किया जाता था, और जहाँ अभी भी Non-Standard Connector का Use कुछ कैमरा में किया जा रहा है, वहाँ Mini USB Connector का इस्तेमाल किया जा रहा है, लेकिन अब इनका उपयोग बहुत कम होता है|

Micro USB Connector

Apple को छोड़कर Micro USB Connector का इस्तेमाल आजकल सभी Mobiles और अन्य सभी Portable Devices में किया जा रहा है|

USB Type C

USB Type C भी दिखने में USB Type B की ही तरह होते है लेकिन इनका आकार छोटा होता है, USB Type C जरिये कैमरा, Mp3 प्लेयर और बाकी के छोटे डिवाइस को कंप्यूटर से जोड़ा जाता है|
USB Type C की एक खासियत यह भी है की इसे दोनों तरफ से यूज़ किया जा सकता है, मतलब अगर आप इसे उल्टा सीधा कैसा भी लगा सकते है यह दोनों तरफ से समान होता है,यह अभी USB Versions 3.2 में आता है|

USB Port कहाँ स्थित होते हैं

  • Desktop अथवा Computer में 2-4 USB Port सामने की तरफ और 2-8 USB Port पीछे की तरफ होते हैं|
  • Laptop में Side में 1-4 USB Port होते हैं|
  • Tablet में Charging Point ही USB Port होता है|
  • बहुत ही कम मोबाइल फोन में USB Port Available होते हैं, सभी USB Port का इस्तेमाल मोबाइल को चार्ज करने के लिए करते हैं|

अब बात आती है USB Versions की आप सोच रहे होंगे की ये USB Versions Kya Hote Hai तो आपके इस सवाल का जवाब भी आपको इसी पोस्ट में मिलेगा, आइए जानते है विभिन्न प्रकार के USB Versions

USB Versions Kya Hai

USB को सबसे पहले सन 1996 में लॉन्च किया गया था जिसके बाद से USB के लगभग 6 Version बाज़ार में आ चुके है:

  • USB 1.0
  • USB 1.1
  • USB 2.0
  • USB 3.0
  • USB 3.1
  • USB 3.2

आइये विस्तार से जानते है इन सभी USB Versions बारे में –

USB 1.0

USB Version 1.0 को January 1996 में रिलीज़ किया गया था, यह USB का पहला Version था| USB 1.0 की डाटा ट्रान्सफर करने की स्पीड 1.5 Mbps (Mega Bite Per Second) थी|

उस समय इतने ज्यादा Devices उपलब्ध नहीं थे उस समय लोग फ्लॉपी ड्राइव का इस्तेमाल करते थे USB 1.0 की डाटा ट्रान्सफर करने की स्पीड बहुत ही कम थी इसलिए आज के समय में इसका इस्तेमाल नहीं होता है|

USB 1.1

USB Version 1.1 को USB 1.0 के दो साल बाद September 1998 में बाज़ार में उतारा गया यह Version USB 1.0 से कई मामलो में बहुत आगे था इसके जरिये 12 Mbps(Mega Bite Per Second) की स्पीड तक डाटा ट्रान्सफर क्या जा सकता था।

इसमें एक और नया फीचर भी था जिसके जरिये होस्ट से पेरिफेरल में 2.5v और 500ma का पॉवर भी Supply किया जा सकता था।

USB 2.0

USB 2.0 को April 2000 में लॉन्च किया गया था। USB 2.0 को Intel, Microsoft, Compaq ने मिल कर तैयार किया था, यह USB का बहुत ही सफल Version माना जाता है|

USB 2.0 को सबसे ज्यादा Devices में Use किया गया है और आज भी ज्यादातर Devices में यही देखने को मिलता है। इसकी डाटा स्पीड 480 Mbps (Mega Bite Per Second) है और इससे 2.5v और 1.8 A का होस्ट से पेरिफेरल में Power भी Supply कर सकते है।

USB 3.0

USB 3.0 को November 2008 में लॉन्च किया गया था, USB 2.0 को और थोडा सुधार करके ही इसे बनाया गया है इसलिए इसमें USB 2.0 से बहुत ज्यादा बदलाव देखने को नहीं को मिलते है लेकिन इसकी डाटा ट्रान्सफर स्पीड को बढाकर 5 GBPS (Giga Bite Per Second) कर दिया गया, जो की USB 2.0 से बहुत ज्यादा है।

USB 3.1

यह USB 3.0 का ही अगला Version है, USB 3.1 को सन 2013 में लॉन्च किया गया था इसके द्वारा 20v और 5a तक Power Supply कर सकते है|
इसमें डाटा ट्रान्सफर करने की स्पीड और बढ़ा दी गयी थी, USB 3.1 में 10 Gbps (Giga Bite Per Second) की स्पीड से डाटा ट्रान्सफर किया जा सकता है जो USB 3.0 से लगभग दोगुनी है।

USB 3.2

USB 3.2 को हाल ही में पिछले साल सन 2017 में लॉन्च किया है, USB 3.2 में डाटा ट्रान्सफर की स्पीड और दोगुना कर दी गयी है,USB 3.2 की डाटा ट्रान्सफर स्पीड सब से ज्यादा 20 GBPS (Giga Bite Per Second) है|

USB 3.2 आपको USB Type C में मिलेगा और इसकी सबसे बड़ी खासियत यह है की इसको किसी भी तरह से पोर्ट में लगाया जा सकता है, USB Type C को पोर्ट में लगाते वक्त यह नहीं देखना पड़ेगा की यह सीधा है या उल्टा है|


तो ये थे सभी USB Versions जो अब तक आ चुके है अब हम बात करेंगे USB Ke Fayde की और इसी के साथ जानेंगे की USB Ke Upyog क्या-क्या होते है|

यह पोस्ट भी जरूर पढ़े: ABS Kya Hai? ABS Kaise Kam Karta Hai? – जानिए ABS के बारे में आसान भाषा में

USB Port काम न करे तो क्या करें

यदि कभी ऐसा हो कि USB Port अचानक काम न करें तो ऐसी स्तिथि में क्या करें आईये जानते हैं:

अगर ऐसी कोई प्रॉब्लम आपके डिवाइस में अति है तो इसे हार्डवेयर या सॉफ्टवेयर Failure से Track कर सकते हैं, नीचे हम आपको कुछ ऐसे ही आसान तरीके बताने वाले हैं, तो चलिए जानते हैं:

  1. सबसे पहले आप अपने Computer को Restart करके देखिए|
  2. या फिर आप USB Port को inspect कर सकते हैं|
  3. आप USB Cable को अलग-अलग USB Port में डालकर देख सकते हैं, कि ये काम कर रहे हैं या नहीं|
  4. आप किसी दूसरे USB Cable का इस्तेमाल करके भी देख सकते हैं, कि कहीं आपका USB Cable तो ख़राब नहीं हो गया|
  5. फिर भी कुछ नहीं होता है, तो आप किसी और के Computer में अपने Device को insert करके देख सकते हैं|
  6. एक बार आप अपने Device अथवा Computer को Check करलें क्योंकि कई बार Outdated Drivers के कारण भी USB Port काम नहीं करता है, इसलिए आप अपने Device को Update कर लें|

USB के उपयोग

USB Ke Upyog वैसे तो बहुत तो बहुत सारे होते है उनमे से कुछ इस प्रकार है –

  • DSLR कैमरा अपने फोन से कनेक्ट कर उसे कंट्रोल कर सकते है|
  • अपने फोन से गेम कंट्रोलर कनेक्ट करके फोन में गेम्स खेल सकते है|
  • USB के द्वारा प्रिंटर कनेक्ट करके फोन से प्रिंट आउट दें सकते है|

USB Ke Fayde

  • USB के द्वारा हम कंप्यूटर से अपने मोबाइल में डाटा ट्रान्सफर कर सकते है|
  • USB का एक ये फायदा भी है की इससे हम पॉवर बैंक से अपना मोबाइल चार्ज कर सकते है|
  • USB के द्वारा हम आसानी से Devices को कनेक्ट कर सकते है और डिसकनेक्ट करके इसे दूसरी जगह भी ले जाया जा सकता है|
  • USB से Data ट्रान्सफर करने की स्पीड बहुत अच्छी होती है|
  • ये विभिन्न उपकरणों के लिए एक Single Interface होता है|
  • इसकी कीमत भी कम होती है| ये बहुत ही कम पॉवर Consume करते हैं|

जरूर पढ़े: CVV Kya Hai? CVV और CVC में क्या Antar है? – जानिए CVV की सारी जानकारी संक्षिप्त मे!

Conclusion

हाँ तो दोस्तों आपको हमारी आज की पोस्ट कैसी लगी आज हमने आपको बताया की| USB Kya Hai, USB कनेक्टर कितने प्रकार के होते हैं, USB Ke Fayde और USB Ke Upyog क्या क्या होते है| उम्मीद है आपको समझ आया होगा और पसंद भी आया होगा, क्योंकि आज हमने सरल भाषा में आपको सही और Update जानकारी बताई है, जो आपके लिए उपयोगी है|

हम आशा करते है आपके कई सवालों के जवाब आज आपको यहाँ मिले होंगे, अगर आपके मन में अब भी कुछ सवाल है तो वो भी आप Comment Box में Comment करके हमसे पूछ सकते है, हमारी टीम आपकी सहायता करने की कोशिश करेगी|

अगर आपको हमारी आज की पोस्ट पसंद आई है तो आप Comment Box में Comment करके भी हमे बता सकते है और इसी प्रकार की अन्य जानकारी के लिए आप हमारी वेबसाइट Hindi Sahayta की Notification को Subscribe भी कर सकते है जिससे आपको हमारी नयी पोस्ट की जानकारी मिल सके|

आप हमारी पोस्ट अपने दोस्तों से भी शेयर कर सकते है और शेयर करके अपने दोस्तों को भी इसके बारे में बता सकते है, तो दोस्तों आज के लिए बस इतना ही हम फिर नयी टेक्नोलॉजी और एजुकेशन से संबंधित पोस्ट लेकर हाज़िर होंगे तब तक के लिए अलविदा दोस्तों! आपका दिन शुभ हो|

आपको हमारा यह लेख कैसा लगा ?

Average rating 5 / 5. Vote count: 115

अब तक कोई रेटिंग नहीं! इस लेख को रेट करने वाले पहले व्यक्ति बनें।

Neeraj Jivnani

नीरज जीवनानी हिंदी सहायता के फाउंडर है। इन्होंने ही हिंदी सहायता वेबसाइट की शुरुआत की और इन्हें टेक्नोलॉजी से जुड़े रहने में काफी मज़ा आता है, न्यूज़ राइटिंग के अलावा इन्हें किताबें पढ़ने का काफ़ी शौक है। नीरज जीवनानी से आप इनके ईमेल [email protected] के माध्यम से जुड़ सकते है।

Leave a Comment