Home » General News » Phishing Kya Hai? – जाने Voice Phishing Meaning in Hindi और इससे बचने के उपाय हिंदी में!

Phishing Kya Hai? – जाने Voice Phishing Meaning in Hindi और इससे बचने के उपाय हिंदी में!

आज की पोस्ट में हम आपको बताने जा रहे हैं Phishing Kya Hai अगर आप भी Voice Phishing Meaning in Hindi के बारे में विस्तार से जाना चाहते हैं, तो आप बिल्कुल सही जगह पर आये है। इसके साथ ही हम आपको Phishing Attack Meaning in Hindi के बारे में भी बताएँगे।

[toc]

Phishing Meaning in Hindi in Computer की बात करें तो यह एक तरह से हैकिंग करने का तरीका होता है, और हैकिंग करने के लिए ज्यादातर इसका इस्तेमाल किया जाता है। इसमें किसी बैंकिंग, क्रेडिट/ डेबिट कार्ड की डिटेल्स और पासवर्ड जानने के लिए किसी बैंक या आर्गेनाईजेशन के माध्यम से कॉल या मैसेज किया जाता है, लेकिन वह Fake होता है। इसलिए इंटरनेट का इस्तेमाल भी बहुत सावधानीपूर्वक करना चाहिए।

इंटरनेट का इस्तेमाल करने के फायदे तो बहुत है लेकिन इसके नुकसान भी कई सारे होते है। लेकिन अगर आप थोड़ी सावधानी रखते है तो इस अटैक से बच सकते है। Phishing Attack in Hindi  के बारे में पूरी जानकारी भी आप आज इस पोस्ट के माध्यम से जानेंगे। हम आपको यह बिल्कुल सरल भाषा में समझाएँगे। आशा करते है की आपको हमारी सभी पोस्ट पसंद आ रही होगी। इसी तरह आप आगे भी हमारे ब्लॉग पर आने वाली प्रत्येक पोस्ट को पसंद करते रहे।

तो आइये जानते है Phishing in Hindi से जुड़ी पूरी जानकारी, यदि आप इस अटैक का शिकार नहीं हुए है और आगे भी नहीं होना चाहते तो इस पोस्ट को शुरू से अंत तक ज़रुर पढ़े तभी आपको इसकी पूरी जानकारी प्राप्त होगी और आप इस अटैक से बच पाएँगे।

Phishing Kya Hai

यह एक तरह से हैकिंग करने का तरीका होता है और हैकिंग करने के लिए ज्यादातर इसका इस्तेमाल किया जाता है। इसमें किसी बैंकिंग, क्रेडिट/ डेबिट कार्ड की डिटेल्स और पासवर्ड जानने के लिए किसी बैंक या आर्गेनाईजेशन के माध्यम से  कॉल या मैसेज किया जाता है लेकिन वह Fake होता है। अपराधी आपको फिशिंग के द्वारा नकली ईमेल या मैसेज करते है जो किसी कम्पनी, बैंक की तरह मिलते जुलते होते है। Phishing Page बिलकुल Original Page की तरह ही होता है। बस इसमें URL Address में बदलाव होता है जो किसी यूज़र को नजर नहीं आता है।

इंटरनेट की दुनिया में बहुत तरह के कार्य किये जाने लगे है। इसके माध्यम से सारे काम आसान हो गये है। इंटरनेट का इस्तेमाल करके जिस तरह से हमें सुविधा हुई है उसी तरह से इसके नुकसान भी होते है। Phishing Kya Hai (फिशिंग क्या है) ये तो आप जान गए होंगे, आईये अब जानते हैं What is Phishing Attack in Hindi और Spear Phishing Meaning in Hindi क्या होता है।

Phishing Attack Kya Hai (यह कैसे काम करता है)

यह लोगों को Email या मैसेज के द्वारा Phishing Link Send करते है। कोई भी जब इस लिंक पर क्लिक करता है, तो वह Phishing Page पर आ जाता है। यूज़र को लगता है की वह Original वेबसाइट है और वह वहां पर अपनी Id और Password से लॉग इन करते है। जैसे ही वह लॉग इन करते है तो यह ID और Password हैकर के पास चली जाती है और यूज़र को पता भी नहीं चलता है की वह Phishing Attack के शिकार हो चुके हैं।

Types Of Phishing Attack In Hindi

Phishing Attack भी कई प्रकार के होते है Phishing Attack के प्रकारों के बारे में आपको आगे बताया गया है।

SMS Phishing

इस Phishing में यूज़र को Bank Account Credential का खुलासा करने या मैलवेयर को इंस्टाल करने के लिए टेक्स्ट मैसेज का प्रयोग किया जाता है।

Pharming Attack

यह अटैक DNS कैश पोइजनिंग पर निर्भर करता है जिससे उपयोगकर्ता को Valid Site से किसी फ्रॉड वेबसाइट पर सीधे पहुँचाया जा सके इस फ्रॉड साईट में लॉग इन करने पर उनकी लॉग इन इनफार्मेशन को चुराया जा सकता है।

Spear Phishing

Spear Phishing अटैक कंपनियों या किसी विशेष व्यक्तियों पर किया जाता है। इस फिशिंग में जिस पर अटैक किया जाता है उसकी कंपनी के सहकर्मी या ऑफिसर्स के रेफ़रेन्स उसका लोकेशन, नाम, पर्सनल रेफ़रेन्स शामिल होते है।

Voice Phishing

यह Voice Communication Media पर होता है। इसमें हैकर कॉल के द्वारा लोगों के क्रेडिट कार्ड या डेबिट कार्ड की जानकारी मांगते है। इसे विशिंग भी कहते हैं।

Whaling Attacks

यह एक तरह से Spear Phishing Attack होता है। जिसमें किसी आर्गेनाईजेशन के अधिकारियों को टारगेट करते है ज्यादा रकम पाने के लिए।

Phishing Attack से कैसे बचें 

यदि आप इससे सतर्क नहीं रहते है। तो आप भी इसका शिकार हो सकते है। इसके लिए आपको सावधानी रखनी चाहिए। तो आगे जानते है Phishing Se Kaise Bache

  • किसी भी अनजानी लिंक पर क्लिक नहीं करना है और ना ही किसी अनजानी लिंक में अपनी जानकारी को Enter करे।
  • आपने सुना होगा की HTTP वाली वेबसाइट सुरक्षित रहती है। लेकिन ऐसा नहीं है हैकर भी अब बहुत स्मार्ट हो गए है। वह Phishing Page पर भी HTTP का इस्तेमाल करते है तो HTTP की जगह उसके Domain को देखे।
  • आप अपने किसी भी Account में लॉग इन करते समय URL का ध्यान जरुर रखे।
  • किसी भी Unknown स्पैम मेल को ओपन ना करे और उसमें दिए गए लिंक पर क्लिक ना करे और उसके साथ हुए Attachment को डाउनलोड भी ना करे।
  • यदि आप कंप्यूटर का इस्तेमाल करते है। तो अपने कंप्यूटर में एक अच्छे एंटी-वायरस का इस्तेमाल ज़रुर करे जो आपको वेब सिक्यूरिटी देगा।

Anti Phishing Meaning in Hindi

लेकिन Google ने हैकर से बचने के लिए Anti Phishing Security फ़ीचर को बनाया है। इस फ़ीचर के द्वारा मिलियन आई फोन और आइपैड के उपयोगकर्ता फिशिंग ईमेल के द्वारा हैकिंग होने के शिकार बनने से बच सकेंगे।

इसमें Security कुछ इस तरह से होगी यदि उपयोगकर्ता किसी ऐसी लिंक पर क्लिक करता है जो गूगल के अनुसार संदेह पूर्ण होगी तो स्क्रीन पर इससे रिलेटेड एक वार्निंग पॉप-अप आ जाएगा। इस वार्निंग में कुछ इस तरह का मैसेज होता है की यदि यूज़र पहली वार्निंग को नज़रअंदाज़ कर देता है और आगे बढ़ता है तो Gmail एप्प दूसरी वार्निंग का मैसेज देता है।

Conclusion

आज की पोस्ट में आपने जाना Phishing Kya Hota Hai और Phishing Attack Kya Hai इसके साथ ही आपने यह भी जाना की Phishing Se Kaise Bache उम्मीद करते है की हमारे द्वारा दी गई जानकारी आपके लिए उपयोगी होगी।

Phishing Attack Hindi? की जानकारी के लिए हमारी इस पोस्ट की मदद ज़रूर ले। How To Prevent Phishing In Hindi आप इस पोस्ट के द्वारा अच्छे से जान गए होंगे। आपको यह जानकारी कैसी लगी हमें कमेंट करके बताये।

इस पोस्ट की जानकारी आप अपने दोस्तों को भी दे तथा सोशल मीडिया पर भी यह पोस्ट Phishing Kya Hota Hai ज़रुर शेयर करे। जिससे ज्यादा से ज्यादा लोगों के पास यह जानकारी पहुँच सके। हमारी पोस्ट What Is Phishing Attack In Hindi? में आपको कोई परेशानी है या आपका कोई सवाल है तो आप कमेंट में अपने सवाल ज़रूर पूछे। हमारी टीम आपकी मदद ज़रुर करेगी।

अगर आप हमारी वेबसाइट के Latest अपडेट पाना चाहते है तो आपको हमारी Hindi Sahayta की वेबसाइट को सब्सक्राइब करना होगा। फिर मिलेंगे आपसे कुछ ऐसी ही आवश्यक जानकारी लेकर तब तक के लिए अलविदा दोस्तों, आपका दिन मंगलमय हो।

आपको हमारा यह लेख कैसा लगा ?

Average rating 4.3 / 5. Vote count: 111

अब तक कोई रेटिंग नहीं! इस लेख को रेट करने वाले पहले व्यक्ति बनें।

Neeraj Jivnani

नीरज जीवनानी हिंदी सहायता के फाउंडर है। इन्होंने ही हिंदी सहायता वेबसाइट की शुरुआत की और इन्हें टेक्नोलॉजी से जुड़े रहने में काफी मज़ा आता है, न्यूज़ राइटिंग के अलावा इन्हें किताबें पढ़ने का काफ़ी शौक है। नीरज जीवनानी से आप इनके ईमेल [email protected] के माध्यम से जुड़ सकते है।

Leave a Comment