अब प्रत्येक तरह के कार्य ऑनलाइन कर दिए गए है। इसी तरह किसी कंपनी में रजिस्ट्रेशन करवाना हो तो यह भी ऑनलाइन किया जा सकता है। अपने व्यवसाय को बढ़ाने के लिए Private Limited Company Registration Online कर सकते है। यदि आप भी Private Limited Company Registration Process पता करना चाहते है तो इस पोस्ट में आपको इसकी पूरी जानकारी मिल जाएगी।

कंपनी का मतलब ही समूह में कार्य करना होता हैं। जिसमें दो या दो से अधिक व्यक्ति मिलकर कार्य कर सकते है। अगर आप भी बिज़नेस करने की चाहत रखते है तो प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के बारे में आपको पूरी जानकारी होना चाहिए। जो आज की पोस्ट में दी जाएगी। आइये शुरू करते है Private Limited Company Kaise Banaye और Private Limited Company Ke Fayde क्या है।

Private Limited Company Kya Hai

इसका अर्थ एक निजी लिमिटेड कंपनी या निजी तौर पर बनायी गई कंपनी से होता है। प्राइवेट Company में न्यूनतम 2 सदस्य और अधिकतम 200 सदस्य हो सकते है। कंपनी के जो शेयरधारक होते है वे कंपनी के मालिक होते है। Stock Exchange में प्राइवेट लिमिटेड कंपनी Listed नहीं होती है। Private Limited Company Registration Charges पैकेज के अनुसार अलग-अलग होते है।

Private Limited Short Form – Pvt. Ltd.

Private Limited Company Registration Documents

यदि आप प्राइवेट लिमिटेड कंपनी का पंजीकरण कर रहे है तो इसके लिए कुछ आवश्यक दस्तावेज़ लगाना ज़रुरी होते है।

Private Limited Company Kaise Register Kare

प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के पंजीकरण के लिए कुछ स्टेप्स को फॉलो करना होता है। इन स्टेप्स से आप Private Limited Company Registration कर सकते है।

Step 1: Apply For Director Identification Number (DIN)

सबसे पहले सभी डायरेक्टर नंबर के लिए अप्लाई करना होगा, जो Ministry Of Corporate Affairs (MCA) से प्राप्त होते है। DIN का ऑनलाइन आवेदन MCA की वेबसाइट पर किया जा सकता है।

Step 2: Apply For Digital Signature

भारत सरकार के द्वारा अधिकृत संगठन जैसे- ई-मुद्रा, सिफ़ी से Digital Signature करवाने होंगे।

Step 3: Check the Name Availability at MCA’s Website

MCA की वेबसाइट पर जाए और चेक करे की कंपनी नाम उपलब्ध है या नहीं। आपको जिस नाम के लिए अप्लाई करना है वह उपलब्ध है या नहीं।

Step 4: Fill Up the Form

अब Private Limited Company Registration Form भरना होगा। www.mca.gov.in की वेबसाइट पर जाकर लॉग इन करे। फिर E-form 1A भरना है। इसके साथ फ़ीस जमा करके डिजिटल सिग्नेचर करे।

Step 5: Draft MOA and AOA for Company Registration

अब MOA और AOA रजिस्ट्रेशन करना होगा। इसके बाद कंपनी को Service Request Number से Form 1 सबमिट करना है। इसके लिए ऊपर दी गई वेबसाइट पर लॉग इन करे। MOA और AOA सबमिट करे।

Step 6: Submit MOA and AOA

Annexure सबमिट करना है। इसमें MOA और AOA की तरह ही जानकरी होना चाहिए।

Step 7: Submit Power Of Attorney

अब पॉवर ऑफ़ अटॉर्नी सबमिट करना है।

Step 8: Declaration Of Registered Office

अब फॉर्म नं. 18 में कंपनी के रजिस्टर्ड ऑफ़िस का Declaration देना होगा। जिस पर डायरेक्टर, कंपनी सेक्रेटरी या मैनेजिंग डायरेक्टर के सिग्नेचर होना चाहिए।

इसके बाद फॉर्म नं. 32 में रजिस्टर्ड डायरेक्टर, मैनेजिंग डायरेक्टर, सेक्रेटरी के डिजिटल सिग्नेचर के साथ ही उनकी पूरी जानकारी को इस फॉर्म में भर कर सबमिट कर दीजिए।

Private Limited Company Rules

यदि आप Private Limited Company शुरू करना चाहते है तो प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के नियमों को जान लेना आवश्यक होता है। इसके नियम जानने के बाद ही आप यह कंपनी खोल सकते है।

  • इसका सबसे पहला रूल यह है की इसके सदस्यों की न्यूनतम संख्या 2 होनी चाहिए। और अधिकतम सदस्य संख्या 200 होना चाहिए।
  • Private Limited Company का डायरेक्टर बनने के लिए 18 साल से कम उम्र नहीं होना चाहिए।
  • कंपनी में रजिस्ट्रेशन कराने के लिए सभी आवश्यक दस्तावेज़ों का होना अनिवार्य है।

प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के फायदे और नुकसान

प्राइवेट लिमिटेड कंपनी रजिस्ट्रेशन करने के फ़ायदे और नुकसान दोनों ही होते है। सबसे पहले इससे होने वाले फ़ायदों के बारे में जान लेते है। यदि आप यह कम्पनी खोलते है तो इससे आपको क्या फायदे प्राप्त होंगे।

Private Limited Company Registration Ke Fayde

आगे आपको प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के लाभ बताये गए है। जिससे आपको यह कंपनी रजिस्ट्रेशन करने में आसानी होगी।

  • इस कम्पनी की शुरुआत करने के लिए इसमें कम से कम सदस्यों की संख्या 2 होती है।
  • इसमें किसी तरह की Statuary बैठक नहीं होती है तथा Statuary Report भी जमा नहीं करना होता है।
  • यह कंपनी डिबेंचर और Share Holders से धन भी उधार ले सकती है।
  • प्राइवेट लिमिटेड कंपनी को करों के लाभ भी प्राप्त होते है। कंपनी निगम टैक्स देती है और उच्च टैक्स से बच जाती है।

Private Limited Company Registration Ke Nuksan

जहाँ इस कंपनी में रजिस्ट्रेशन करने के फायदे है वहीँ इसके कुछ नुकसान भी है। तो जानते है इससे होने वाले नुकसान के बारे में।

  • इसके नुकसान में सबसे बड़ा नुकसान यह है की किसी भी मामले में शेयरधारक की संख्या 50 से ज़्यादा नहीं हो सकती है।
  • यह कंपनी आम जनता को Prospects जारी नहीं कर सकती।

Conclusion:

तो दोस्तों कैसी लगी आपको यह पोस्ट जिसके माध्यम से आपको Private Limited Company Registration करने में हेल्प मिली। अगर आपको पोस्ट पसंद आयी है तो लाइक करे और शेयर करे और इससे सम्बन्धित आपके कोई सवाल है वो भी आप कमेंट में पूछ सकते है। हम आपकी मदद जरुर करेंगे और इसी तरह और भी आवश्यक जानकारी पाने के लिए जुड़े रहे हिंदी सहायता पर, धन्यवाद!

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here