in

SEO Kaise Kare? – SEO के Top 7 तरीकों से बढ़ाएं अपनी वेबसाइट की रैंकिंग।

यदि आप Blogging के क्षेत्र में नए है और जानना चाहते है कि, SEO Kya Hai व SEO Kaise Kare तो इस लेख में हम SEO के बारे में विस्तार में बताने जा रहे है।
विज्ञापन
लेख़ इसके बाद शुरु होगा।

वे ब्लॉगर जो Blogging के क्षेत्र में नए है वे ये जरूर जानना चाहेंगे कि SEO Kya Hai और SEO Kaise Kare या फिर अपने ब्लॉग या वेबसाइट को SEO फ्रेंडली कैसे बनाये। तो उससे पहले आपको अपने SEO Basics को क्लियर करना होगा। वर्तमान में अगर हमे कोई भी परेशानी आती है या हमारा कोई सवाल होता है तो हम तुरंत गूगल पर उसे सर्च करते है। गूगल का दुनिया सबसे बड़ा सर्च इंजन है, इसके अलावा कई और लोकप्रिय सर्च इंजन भी है जो दुसरे स्थान पर है जैसे- Yahoo, Bing आदि।

विज्ञापन
लेख़ इसके बाद शुरु होगा।

सर्च होने के बाद जो पहले पेज पर हमे रिजल्ट्स दिखाई देते है हम उसे ही खोलते है और अपना जवाब ढूंढते है। अधिकतर लोगों को पहले पेज पर ही उनका जवाब मिल जाता है, जिस कारण से पहले पेज पर रहने वाली वेबसाइट और ब्लॉग का ट्रैफिक बढ़ जाता है, जिसके द्वारा वह वेबसाइट टॉप रैंकिंग करती है और अच्छा पैसा कमाती है।

अपने वेबसाइट और ब्लॉग को इस तरह बनाना चाहिए कि वह सर्च इंजन में अच्छी स्थिति पर रैंक करके ऑर्गेनिक ट्रैफिक (Organic Traffic) प्राप्त कर सके उसे ही SEO का नाम दिया जाता है। तो चलिए SEO क्या है व SEO Kaise Kam Karta Hai के बारे में जानने से पहले थोड़ा और विस्तार से जानते है कि SEO Kya Hota Hai.

SEO Kaise Kare

सबसे पहले आपको अपनी वेबसाइट बनानी होगी वेबसाइट बनाने के बाद उसमें कंटेंट डालकर Publish देना है इसका मतलब ये नही की आपकी साइट पर विज़िटर आने लग जायेंगे। विज़िटर केवल तभी आएँगे जब आपकी साइट सर्च इंजन के पहले या दूसरे पेज पर दिखाई देगी ये तभी होगा जब आप SEO करेंगे।

गूगल और दूसरे सर्च इंजन्स ने ऐसे नियम बनाये है जिन नियमों के आधार पर आप जो करेंगे उनको SEO (Search Engine Optimize) कहेंगे इन नियमों के द्वारा ही आप अपनी साइट पर Traffic बढ़ा सकते है।

सभी सर्च इंजन्स में सबसे ज्यादा उपयोग किये जाने वाला सर्च इंजन Google है क्योंकि गूगल सभी जानकारी अच्छे तरीके से समायोजित करके सर्च इंजन में दिखता है। गूगल सभी कंटेंट को Index Organize करता है जैसे ही किसी यूज़र द्वारा गूगल पर कोई Content Search करता है तो गूगल उस कंटेंट को Keywords के आधार पर दिखाता है।

#1 अच्छा और Unique कंटेंट लिखे

आपको बता दें कि गूगल सबसे ज्यादा महत्व उन वेबसाइट को देता है जो सबसे अच्छा कंटेंट अपने उपयोगकर्ताओं को प्रदान करती है। अगर आपका कंटेंट Unique और अच्छी Quality का है तो आपको अलग से Backlinks बनाने में ज्यादा मेहनत नहीं करनी पड़ेगी। आपको केवल वहीं जानकारी प्रदान करना चाहिए जो वे इंटरनेट पर खोज रहे है जिससे उन्हें यह लगेगा की वे बिलकुल सही जगह आये है और फिर किसी भी जानकारी को प्राप्त करने के लिए आपकी वेबसाइट पर आना Prefer करेंगे।

आप जिस टॉपिक पर लिखने जा रहे है उससे पहले अपने Competitors को Analyze करें की वे क्या कर रहे है आप इन Competitors के मुख्य पॉइंट्स Note कर सकते है। और कंटेंट लिखते वक्त उन्हें सरल व स्पष्ट भाषा में Describe करें। ध्यान रहे आपको किसी भी वेबसाइट के कंटेंट को Copy/Paste नहीं करना है।

#2 कंटेंट को ठीक से Design करें

पोस्ट को लिखने के बाद सबसे अहम् बात है कंटेंट को डिज़ाइन करना। आपको रिसर्च करना चाहिए कि उपयोगकर्ता किस चीज को सबसे ज्यादा सर्च कर रहे है उन मुख्य-मुख्य बातों को सबसे पहले Define करें। गूगल सर्च में Top पर आने के लिए आपको Strong कीवर्ड्स को Headings और Subheadings (H2, H3) में यूज़ करना चाहिए।

कंटेंट को Attractive बनाने के लिए आप पोस्ट में Images और Bullets का इस्तेमाल कर सकते है। मुख्य कीवर्ड को सबसे फर्स्ट पेराग्राफ में यूज़ करें और उसे Bold करें।

#3 प्रत्येक आर्टिकल का एक Unique Title दें

क्या आप जानते हैं कि आप अपनी वेबसाइट के प्रत्येक पोस्ट या आर्टिकल के लिए एक यूनिक टाइटल या शीर्षक लिख सकते है? आपके द्वारा दिया गया यह Title जो सटीक और स्पष्ट रूप से वर्णन करते है कि आप अपने आर्टिकल में किस विषय के बारे में बताने वाले है। आदर्श रूप से, टाइटल कुछ मुख्य कीवर्ड और वाक्यांशों को मिश्रित करके बनाया जा सकता है।

#4 अच्छी Backlinks बनाये

जब किसी वेबसाइट द्वारा आपकी वेबसाइट की लिंक दी जाती है तो उसे Backlink में गिना जाता है। Backlink मुख्य रूप से दो प्रकार की होती है- Do Follow और No Follow. Do Follow लिंक वे होती है जो गूगल में आपकी रैंक को ऊपर लाने में मदद करती है क्योंकि ये वेबसाइट का Link Juice पास करती है।

जबकि No Follow लिंक इतना ज्यादा स्ट्रांग नहीं होती क्योंकि ये वेबसाइट का Link Juice पास नहीं करती। आप Ahrefs टूल की मदद से हाई डोमेन अथॉरिटी वाली वेबसाइट पर अपनी वेबसाइट की बैकलिंक बना सकते है जिससे आपकी वेबसाइट की अथॉरिटी भी बढ़ने लगेगी और वह अच्छा परफॉर्म करने लगेगी।

#5 Internal Linking

Internal Link का मतलब होता है स्वयं के ब्लॉग की किसी पोस्ट में अपने ही ब्लॉग की दूसरी पोस्ट की लिंक देना। इससे होगा यह कि आपकी वेबसाइट को जो Domain Authority मिली हुई है वो सब Pages में बराबर Distribute होती रहे। ध्यान रहे आपके द्वारा दी जाने वाली पोस्ट की इंटरलिंक Relevant कंटेंट यानि मिलती-जुलती पोस्ट पर होनी चाहिए। आप एक पोस्ट में 4-5 लिखे हुए कंटेंट की इंटरनलिंक कर सकते है।

#6 Meta Tag और Description लिखे

Meta Tag और Description वे होते है जो आपको वेबसाइट पर नज़र नहीं आते। परन्तु जब कोई यूजर आपके कंटेंट को गूगल पर सर्च करता है तो SERP में उसको आपके Meta दिखते है। आपको अपने प्रत्येक कंटेंट में मेटा टैग और डिस्क्रिप्शन देना चाहिए। मुख्य कीवर्ड को आपको Meta Tag और Description में जरूर देना चाहिए इससे वे Highlight होते है जिससे गूगल द्वारा उन्हें पकड़ने में आसानी होती है। और फिर आपकी पोस्ट धीरे-धीरे रैंक करने लगेगी।

#7 Site Loading Speed

Google फ़ास्ट लोडिंग स्पीड वाली वेबसाइट को सबसे ज्यादा महत्व देता है इसलिए आप अपनी वेबसाइट की लोडिंग स्पीड को जितना फ़ास्ट कर सके उतना करें। वेबसाइट की लोडिंग स्पीड को तेज़ करने के लिए Images को Compress करके ही डालें, अच्छी Hosting लें तथा CDN नेटवर्क का उपयोग करें। वेबसाइट की स्पीड चेक करने के लिए आपको गूगल पर कई सारी वेबसाइट्स मिल जाएँगी।

SEO Kya Hai

Search Engine Optimization (SEO) वेबसाइट से संबंधित वह टर्म होती है जो किसी भी वेबसाइट को बनाने के लिए जान लेना आवश्यक है। किसी भी वेबसाइट को शुरू करने से पहले आप इस बारे में जानकारी अवश्य रखें। Google, Yahoo, Bing और बाकि सभी सर्च इंजन जानकारियों को दिखाने के लिए एक तरह के एल्गोरिथम (Algorithm) का इस्तेमाल करते है।

SEO Full Form In Hindi होता है – Search Engine Optimization

सरल शब्दों में Search Engine Optimization (SEO) एक प्रक्रिया है, जिसमे किसी भी वेबसाइट या ब्लॉग को प्रभावी तरीके से आर्गेनिक सर्च के लिए सुधार किया जाता है। इस से सर्च इंजन में किसी वेबसाइट और ब्लॉग की विजिबिलिटी (Visibility) बढ़ जाती है और वह सर्च इंजन में पहली रैंक पर आ जाती है और इसके अंतर्गत किसी भी वेबसाइट को सर्च इंजन फ्रेंडली बनाया जाता है इसे ही Search Engine Optimization या SEO कहा जाता है।

SEO Ka Kya Kaam Hota Hai

अब आपके मन में यह सवाल होगा कि Website SEO Kaise Kare या कोई भी वेबसाइट टॉप रैंकिंग कैसे करती है? तो इसका सीधा सा जवाब है – “Search Engine Optimization”

SEO किसी भी वेबसाइट या ब्लॉग की सर्प रैंकिंग में सुधार करने के लिए की जाती है। अगर आप अपना कोई भी ऑनलाइन बिज़नेस करना चाहते हो या फिर Affiliate Marketing और Google Adsense से पैसे कमाना चाहते है तो आपको SEO की जरूरत पड़ेगी। SEO ही एकमात्र ज़रिया है जो आपकी वेबसाइट और ब्लॉग पर ट्रैफिक और रेवेन्यू को बढ़ाने में मदद करता है।

सरल शब्दों में कहा जाये कि अगर आप गूगल पर जाकर कुछ भी Keywords Search करते है, तो उस कीवर्ड्स से संबंधित जो भी सामग्री या जानकारी होती है वो हमें गूगल दिखा देता है, यह सभी जानकारी अलग-अलग वेबसाइट और ब्लॉग से आती है। जो वेबसाइट या ब्लॉग हमारे द्वारा Search किये Keywords पर सबसे ऊपर आती है वह गूगल पर पहली रैंक हासिल किये हुए है।

पहली रैंक हासिल करने के पीछे उस वेबसाइट या ब्लॉग पर SEO का बहुत अच्छे तरीके से इस्तेमाल किया गया है, जिससे उस वेबसाइट या ब्लॉग पर ज्यादा से ज्यादा विज़िटर (आगंतुक) आते है और हम जानते है की जितने ज्यादा विज़िटर उतनी ज्यादा कमाई।

SEO Kaise Sikhe

यदि आपका ब्लॉग या वेबसाइट नई है तो सबसे पहले आप उसे सभी Search Engine जैसे- Google,Yahoo आदि पर सबमिट करे। इसके बाद कुछ Basic SEO Knowledge भी आपको होना चाहिए जिसके बारे में आपको आगे बताया गया है:

  • SEO के लिए आपको सही SEO Keywords का चयन करना चाहिए।
  • जिन कीवर्ड्स का आपने चयन किया है उन कीवर्ड्स का इस्तेमाल अपनी वेबसाइट और ब्लॉग में करे।
  • अपनी Domain लम्बे समय के लिए खरीदे।
  • अपनी वेबसाइट का साइटमैप (Sitemap) गूगल में सबमिट करे। Sitemap.Xml होती है, जिसमे हमारी साइट की सभी जानकारी होती है।
  • ब्लॉग पर उपयोगी कंटेंट ही डाले जिससे आपकी साइट पर रिटर्निंग विजिटर बढ़ेंगे।
  • वेबसाइट या ब्लॉग पर नियमित कंटेंट डाले और ब्लॉग का कंटेंट Simple व Easy लैंग्वेज में होना चाहिए।
  • ब्लॉग का शीर्षक (Title) और विवरण (Description) आकर्षक और प्रभावशाली डाले।

Types of SEO (SEO के प्रकार)

SEO मुख्यतः दो प्रकार के होते है आइये एक-एक करके समझते है SEO Kaise Kare In Hindi में SEO के प्रकारों के बारे में:

  1. On Page SEO
  2. Off Page SEO

1. On Page SEO: ऑन पेज SEO का काम आपकी वेबसाइट और ब्लॉग में होता है, इसका मतलब होता है की ठीक उस तरह से हमारी वेबसाइट और ब्लॉग को डिजाईन करना जो SEO Friendly हो। SEO के कुछ रूल्स (नियम) होते है उन्हें फॉलो करके अपनी वेबसाइट और ब्लॉग पर Template का उपयोग कर अच्छे कंटेंट्स लिखना तथा उन कंटेंट्स में ऐसे कीवर्ड्स का उपयोग करना जो सर्च इंजन में अधिक सर्च किये जाते है।

On Page SEO Kaise Kare

अभी हमने जाना कि On Page SEO क्या होता चलिए अब On Page SEO Karne Ke Tarike के बारे में जानते है कि किस तरह से On Page SEO किया जाता है:

  • टाइटल में कीवर्ड्स का उपयोग करके।
  • आर्टिकल या पोस्ट के पहले पैराग्राफ में कीवर्ड का उपयोग करके।
  • Permalink (Post URL) में कीवर्ड का उपयोग करके।
  • इमेज के Alt Tag में कीवर्ड का उपयोग करके।
  • H2 और H3 Heading में कीवर्ड का उपयोग करके।
  • ब्लॉग में संबंधित आर्टिकल को Interlink करके।
  • आर्टिकल के डिस्क्रिप्शन को कम से कम 700 शब्दों में लिखे।
  • इमेज को अपलोड करने से पहले ऑप्टिमाइज़ करके देखे।
  • वेबसाइट की लोडिंग स्पीड को बढ़ा कर रखे।
  • डिस्क्रिप्शन टाइटल से संबंधित रखे।

2. Off Page SEO: ऑफ पेज SEO का सारा काम वेबसाइट और ब्लॉग के बाहर होता है। Off Page SEO में हमे अपनी वेबसाइट का प्रमोशन करना होता है जैसे बहुत सी फेमस वेबसाइट और ब्लॉग पर जाकर कमेन्ट करना और कमेन्ट में अपनी वेबसाइट और ब्लॉग की लिंक सबमिट करना, इसे Backlink भी कहते है और इसके अलावा सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट जैसे- Facebook,Twitter, Instagram आदि पर अपनी वेबसाइट और ब्लॉग का एक अच्छा सा पेज बनाना इससे आपकी वेबसाइट और ब्लॉग को ज्यादा से ज्यादा लोग जानेंगे और विजिट करेंगे।

Off Page SEO Kaise Kare

अब हम आपको बताने जा रहे है की किन तकनीकों के द्वारा आप अपने ब्लॉग्स को और अधिक प्रभावशाली और लाभकारी बना सके जिससे आपके ब्लॉग्स पर ज्यादा से ज्यादा यूजर्स विजिट करे इसके लिए आपको कुछ स्टेप्स को फॉलो करना होगा।

  • ऑफ पेज SEO में सोशल नेटवर्किंग साइट का उपयोग प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है।
  • आप अपने ब्लॉग को लोकप्रिय बनाने के लिए सर्च इंजन सबमिशन का उपयोग करके भी Traffic बढ़ा सकते है।
  • आप Forum Posting Use करके भी रैंकिंग को बढ़ा सकते है।
  • जब भी आप ब्लॉग पर नए आर्टिकल पोस्ट करते है तो उस आर्टिकल को प्रसिद्ध आर्टिकल पर ज़रूर Publish करे।
  • ब्लॉग कमेंट करके भी आप अपनी साइट पर Traffic बढ़ा सकते है।
  • साइट पर Traffic बढ़ाने का एक अच्छा तरीका ये भी है कि आप YouTube Channel पर किसी वीडियो की डिस्क्रिप्शन के नीचे लिंक Add करके Traffic बढ़ा सकते हो।
  • किसी ब्लॉग के लिए पोस्ट लिख कर उस पर Publish करना मतलब Guest Post करना लेकिन याद रहे की उसकी रैंक अच्छी हो।
  • आप अपनी वेबसाइट या ब्लॉग की इमेजस को फोटो शेयरिंग वेबसाइट पर Add करके भी Traffic बढ़ा सकते है।

SEO Kyu Zaruri Hai

अगर आप अपनी वेबसाइट या ब्लॉग को सर्च इंजन में हाई रैंक पर दिखाना चाहते है, तो आपको Search Engine Optimization करना बहुत जरुरी है और इसे करने के लिए SEO की पूरी जानकारी होना आपके लिए बहुत ही जरूरी है।

सभी सर्च इंजन जैसे- Google, Yahoo, Bing के पास किसी भी ब्लॉग या वेबसाइट को पढ़ने के लिए विशेष सॉफ्टवेयर होते है। उन विशेष सॉफ्टवेयर को वेब क्रॉलर या स्पाइडर कहा जाता है। इसके अलावा सभी सर्च इंजन के पास सर्च रिजल्ट के अंक देने के लिए एक खास सर्च एल्गोरिथम होता है।

सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन के कारण आपकी वेबसाइट गूगल में सर्च करने पर फर्स्ट पेज पर दिखाई देती है। सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन के कारण अगर आपके ब्लॉग या वेबसाइट में गूगल एडसेंस है तो आपकी कमाई भी ज्यादा होने लगती है, और यह वेबसाइट पर ट्रैफिक बढाने के लिए भी बहुत जरुरी है।

SEO Ke Fayde

सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन करने के कई फायदे होते है जिसके बारे में आपको आगे बताया है:

  • सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन या SEO किसी भी वेबसाइट या ब्लॉग की SERP Ranking Improve करने के लिए किया जाता है।
  • वेबसाइट या ब्लॉग की Organic Ranking SEO के द्वारा बढ़ायी जा सकती है।
  • वेबसाइट या ब्लॉग के लिए हाई ट्रैफिक जनरेट किया जा सकता है।
  • सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन Digital Marketing का नया तरीका है।
  • SEO के अंदर उन सभी तरीकों का इस्तेमाल किया जाता है जिससे ब्लॉग और वेबसाइट को सर्च इंजन में टॉप में लाया जा सके।

Conclusion

अगर आप भी नए ब्लॉगर है और आपको On Page And Off Page SEO In Hindi और SEO Kaise Karte Hai? के बारे में जानकारी नहीं है तो हमारी द्वारा दी गयी SEO Ke Baare Mein Jankari आपके लिए जरूर उपयोगी होगी जिसमे आपको SEO Sikhne Ka Tarika बताया गया है। यह आपकी वेबसाइट के ट्रैफिक को बढ़ाने का सबसे बेहतर तरीका है। साइट रैंक करवाने के जो तरीके हमने आपको बताये है, उनकी मदद से आप भी अपनी वेबसाइट पर विजिटर्स की संख्या बढ़ा कर अच्छे पैसे कमा सकते है। SEO Kya Hai In Hindi की जानकारी को अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करे, ताकि वे भी SEO Kaise Bane के बारे में जान सके, धन्यवाद!

आपको हमारा यह लेख कैसा लगा ?

Average rating 4.5 / 5. Vote count: 87

अब तक कोई रेटिंग नहीं! इस लेख को रेट करने वाले पहले व्यक्ति बनें।

हिंदी सहायता एप्प को डाउनलोड करें।

आपको हमारा यह लेख कैसा लगा?

आपको क्या जानकारी नहीं मिली हमें ज़रूर बताएं

हम सभी जानकारियां आपको जल्द उपलब्ध कराएँगे

एडिटोरियल टीम

Written by एडिटोरियल टीम

एडिटोरियल टीम, हिंदी सहायता में कुछ व्यक्तियों का एक समूह है, जो विभिन्न विषयो पर लेख लिखते हैं। भारत के लाखों उपयोगकर्ताओं द्वारा भरोसा किया गया।

Email के द्वारा संपर्क करें - [email protected]

8 Comments

Leave a Reply
  1. Hellow Sir
    kya app bta sakte hai ki jo comment kr link hum bna rhe h app ki site pr kya vo link Dofollow hai ya Nofollow …
    Ye hi confusion ho jata h ki Dofollow link bna h ki Nofollow Link bna h.
    Vase app k hindi blog bahut achha h ak ak baat clear ho jati h.

Leave a Reply

Avatar

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Computer Kya Hai? – जानिए Computer Kya Hai in Hindi से जुड़ी संपूर्ण जानकारी।

LIC Agent Kaise Bane? – जानिए एलआईसी एजेंट कैसे बनते हैं पूरी जानकारी हिंदी में।