in

PGDCA Kya Hai | PGDCA Kaise Kare? – पीजीडीसीए पाठ्यक्रम के लिए योग्यता, फीस, कॉलेज और सिलेबस।

PGDCA Kya Hai? PGDCA Ka Full Form, पीजीडीसीए पाठ्यक्रम के लिए योग्यता, फीस, कॉलेज और सिलेबस।
विज्ञापन
लेख़ इसके बाद शुरु होगा।

PGDCA Kya Hai: कंप्यूटर एप्लीकेशन में पोस्ट ग्रेजुएशन डिप्लोमा एक 1 वर्ष का प्रोफेशनल कोर्स होता है, जिसके लिए न्यूनतम योग्यता 10वीं, 12वीं और 3 साल की किसी भी फील्ड में ग्रेजुएशन डिग्री होना चाहिए। पीजीडीसीए पाठ्यक्रम के लिए भारत में औसत ट्यूशन शुल्क 2,000 रूपये से 18 लाख रूपये के बीच 3 साल के लिए है। यदि आप भी ग्रेजुएशन करने के बाद कंप्यूटर के क्षेत्र में एक अच्छी नौकरी की तलाश में है, तो PGDCA आपके लिए एक अच्छा विकल्प हो सकता है।

विज्ञापन
लेख़ इसके बाद शुरु होगा।

आज हर जगह कंप्यूटर का ही ज्यादा उपयोग किया जाता है। अगर आप भी पीजीडीसीए करते है तो यह नौकरी प्राप्त करने में आपके बहुत काम आएगा। यदि आपने भी अभी हाल ही में अपना ग्रेजुएशन किया है और आप भी कंप्यूटर के क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाह रहे है तो यह आपके लिए एक अच्छा विकल्प हो सकता है। तो इस पोस्ट के माध्यम से आपको PGDCA Course से जुड़े सारे सवालों के जवाब मिलेंगे जैसे – PGDCA Full Form, PGDCA Course Details in Hindi, PGDCA Kaise Kare, कब करे, इसके फायदे आदि।

PGDCA Kya Hai

PGDCA Kya Hai

पीजीडीसीए यानि पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन कंप्यूटर एप्लीकेशन, उन स्नातक छात्रों के लिए बनाया गया है जो कंप्यूटर एप्लिकेशंस में रुचि रखते है। यह कार्यक्रम छात्रों को कंप्यूटर एप्लिकेशंस में प्रोफेशनल ज्ञान प्राप्त करने की अनुमति देता है। भारत में, PGDCA Course Duration एक वर्ष की है जिसे कोई भी छात्र ग्रेजुएशन होने के बाद कर सकता है। फिर चाहे आपने किसी भी विषय में ग्रेजुएशन किया हो, आप PGDCA कोर्स कर सकते है। इस पाठ्यक्रम में 6-6 महीने के 2 सेमेस्टर होते है, प्रथम सेमेस्टर में कंप्यूटर भाषा की पढ़ाई की जाती है, जैसे – C, C++, MS Office, Java, Tally आदि।

द्वितीय सेमेस्टर में छात्रों को प्रोजेक्ट वर्क दिया जाता है। यदि आप कंप्यूटर फील्ड में करियर बनाना चाहते है, जैसे कंप्यूटर ऑपरेटर, प्रोग्रामर तो आप इस कोर्स को कर सकते है। जब आप किसी जॉब के लिए अप्लाई करते है तो आप इस कंप्यूटर डिप्लोमा को दिखा सकते है। जो भी छात्र PGDCA पाठ्यक्रम के लिए प्रवेश पाना चाहते है वे PGDCA IGNOU, माखनलाल चतुर्वेदी यूनिवर्सिटी जैसी यूनिवर्सिटी से PGDCA Admission के लिए अप्लाई कर सकते है इसके अलावा और भी यूनिवर्सिटीज है जहाँ से आप यह डिप्लोमा कोर्स कर सकते है।

PGDCA Full Form

PGDCA Ka Full Form – “POST GRADUATE DIPLOMA IN COMPUTER APPLICATION” होता है।

PGDCA Full Form in Hindi: पीजीडीसीए का फुल फॉर्म – “कंप्यूटर एप्लीकेशन में पोस्ट ग्रेजुएशन डिप्लोमा” होता है !

PGDCA Ke Liye Qualification

यदि आप यह खोज रहे है कि पीजीडीसीए पाठ्यक्रम योग्यता क्या होती है तो आपकी जानकारी के लिए बता दे कि किसी भी विश्वविद्यालय में कंप्यूटर एप्लीकेशन में पोस्ट ग्रेजुएशन डिप्लोमा पाठ्यक्रम में प्रवेश पाने के लिए छात्र का किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से ग्रेजुएशन डिग्री होना अनिवार्य है।

PGDCA Syllabus in Hindi

जो भी छात्र PGDCA Certificate कोर्स करने के इच्छुक है वे एक बार पीजीडीसीए का सिलेबस अवश्य देख ले। ध्यान रहे सभी विश्वविद्यालय के PGDCA Ke Subject या सिलेबस भिन्न हो सकते है जबकि कुछ के समान होते है:

अभी तक आप जान गए होंगे कि PGDCA Me Kitne Subject Hote Hai, पीजीडीसीए के विषय और पीजीडीसीए कब कर सकते हैं की पूरी जानकारी।

पीजीडीसीए फीस कितनी होती है

PGDCA की फीस अनुमानित तोर पर 12000/- से 20000/- तक हो सकती है क्योंकि अलग-अलग संस्थान में अलग-अलग फीस हो सकती है। और PGDCA कोर्स आप IGNU, माखनलाल चतुर्वेदी विश्वविद्यालय की तरह किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से भी कर सकते है इसके अलावा और भी विश्वविद्यालय है जहाँ से आप ये कोर्स कर सकते है।

PGDCA Ke Bad Kya Kare (पीजीडीसीए के बाद करियर)

पीजीडीसीए के बाद करियर बनाने के लिए बहुत से रास्ते खुल जाते है आप PGDCA Karne Ke Baad आगे बताये गए विभिन्न क्षेत्रों में जॉब प्राप्त कर सकते है

PGDCA Ke Fayde

PGDCA Course Benefits काफी सारे है उनमें से कुछ के बारे में आपको आगे बताया गया है:

  • PGDCA Course करने के बाद उम्मीदवार को सबसे बड़ा फायदा किसी जॉब में होता है। इससे उम्मीदवार को सरकारी, प्राइवेट, बैंकिंग, इंश्योरेंस, स्टॉक मार्केट आदि क्षेत्र में नौकरी प्राप्त करने में मदद मिलती है।
  • इसमें उम्मीदवार को कंप्यूटर की बेसिक नॉलेज के साथ ही एडवांस नॉलेज भी प्राप्त हो जाता है।
  • यह कोर्स करने के बाद उम्मीदवार सरकारी एजेंसी जैसे – ऑनलाइन सेंटर, कीओस्क बैंकिंग आदि भी खोल सकते है।
  • PGDCA Ke Bad उम्मीदवार को MCA और MBA में सीधे प्रवेश भी मिल सकता है।

Conclusion

तो दोस्तों अब अभी जान गए होंगे कि पीजीडीसीए के बाद करियर के कितने सारे अवसर हमारे लिए खुल जाते है यदि आपका भी ग्रेजुएशन हो चुका है और आपकी रूचि कंप्यूटर के क्षेत्र में तो यह डिप्लोमा कोर्स आपके लिए अच्छा विकल्प हो सकता है। PGDCA Course Details व PGDCA Exam Ki Taiyari से संबंधित आपके कोई प्रश्न हो तो आप हमे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके बता सकते है हमे आपकी सहायता करके बड़ी खुशी होगी। आपको हमारी PGDCA Kya Hai पोस्ट पसंद आयी हो तो इसे शेयर करना ना भूले ताकि अन्य लोगों को भी PGDCA Ki Puri Jankari प्राप्त हो सके, धन्यवाद!

आपको हमारा यह लेख कैसा लगा ?

Average rating 4.3 / 5. Vote count: 107

अब तक कोई रेटिंग नहीं! इस लेख को रेट करने वाले पहले व्यक्ति बनें।

हिंदी सहायता एप्प को डाउनलोड करें।

आपको हमारा यह लेख कैसा लगा?

आपको क्या जानकारी नहीं मिली हमें ज़रूर बताएं

हम सभी जानकारियां आपको जल्द उपलब्ध कराएँगे

एडिटोरियल टीम

Written by एडिटोरियल टीम

एडिटोरियल टीम, हिंदी सहायता में कुछ व्यक्तियों का एक समूह है, जो विभिन्न विषयो पर लेख लिखते हैं। भारत के लाखों उपयोगकर्ताओं द्वारा भरोसा किया गया।

Email के द्वारा संपर्क करें - [email protected]

12 Comments

Leave a Reply
    • इसमें आप को कंप्यूटर की बेसिक नॉलेज के साथ ही एडवांस नॉलेज भी प्राप्त हो जाता है! जो कि हर प्राइवेट नौकरी के लिए जरुरी होता है।

    • ITI के बाद आप PGDCA का कोर्स नहीं कर सकते, सिर्फ ग्रेजुएशन होने के बाद ही कर सकते है!

  1. सर मेरे ग्रेजुएशन में 44 प्रतिशत है और इंटर में आर्ट साइड थी क्या में भी पीजीडीसीए कर सकता हूं

Leave a Reply

Avatar

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ग्लोबल वार्मिंग पर निबंध | Global Warming Ke Karan और सटीक उपाय, हिंदी में।

Online Fir Kaise Darj Kare

Online FIR Kaise Kare? – बिना पुलिस स्टेशन जाये घर बैठे ऑनलाइन एफआईआर दर्ज करने की प्रक्रिया।