Home » Education » PGDCA Full Form in Hindi – पीजीडीसीए क्या है, योग्यता, फीस।

PGDCA Full Form in Hindi – पीजीडीसीए क्या है, योग्यता, फीस।

PGDCA Full Form In Hindi (Post Graduate Diploma Course in Computer – कंप्यूटर एप्लीकेशन में पोस्ट ग्रेजुएशन डिप्लोमा) होता है। यह एक 1 वर्ष का प्रोफेशनल कोर्स होता है, जिसके लिए न्यूनतम योग्यता 10वीं, 12वीं और 3 साल की किसी भी फील्ड में ग्रेजुएशन डिग्री होना चाहिए। यदि आप भी पीजीडीसीए कोर्स करना चाहते है तो इस लेख में मैं आपको PGDCA Kya Hai, PGDCA Course Fees और अन्य PGDCA Course Details in Hindi आदि के बारे में पूरी जानकारी देने जा रहा हूँ।

[toc]

पीजीडीसीए पाठ्यक्रम के लिए भारत में औसत ट्यूशन शुल्क लगभग 10 हजार रूपये से 20 हजार रूपये के बीच 1 साल के लिए है। यदि आप भी ग्रेजुएशन करने के बाद कंप्यूटर के क्षेत्र में एक अच्छी नौकरी की तलाश में है, तो PGDCA आपके लिए एक अच्छा विकल्प हो सकता है। क्योंकि आज हर जगह कंप्यूटर का ही ज्यादा उपयोग किया जाता है। अगर आप भी पीजीडीसीए करते है तो यह नौकरी प्राप्त करने में आपके बहुत काम आएगा।

यदि आपने भी अभी हाल ही में अपना ग्रेजुएशन पूरा किया है और आप भी कंप्यूटर के क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाह रहे है तो यह आपके लिए एक अच्छा विकल्प हो सकता है। तो इस पोस्ट के माध्यम से आपको PGDCA Course से जुड़े सारे सवालों के जवाब मिलेंगे जैसे- पीजीडीसीए क्या है (What Is PGDCA Course in Hindi), पीजीडीसीए का फुल फॉर्म, PGDCA Syllabus in Hindi, PGDCA Kaise Kare, कब करे, फायदे आदि।

PGDCA Full Form in Hindi

PGDCA Full Form in Hindi

PGDCA Ka Full Form – “Post Graduate Diploma in Computer Application” होता है। हिंदी में पीजीडीसीए का फुल फॉर्म – “कंप्यूटर एप्लीकेशन में पोस्ट ग्रेजुएशन डिप्लोमा” होता है।

यह कंप्यूटर के क्षेत्र में किया जाने वाला एक डिप्लोमा कोर्स है जिसे छात्र केवल अपना ग्रेजुएशन पूरा होने के बाद ही कर सकते है।

PGDCA Kya Hai

पीजीडीसीए (PGDCA) का फुल फॉर्म या मतलब पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन कंप्यूटर एप्लीकेशन है जो कि एक डिप्लोमा कोर्स है। यह उन स्नातक (ग्रेजुएट) छात्रों के लिए बनाया गया है जो कंप्यूटर एप्लिकेशंस में रुचि रखते है। यह कार्यक्रम छात्रों को कंप्यूटर एप्लिकेशंस में प्रोफेशनल ज्ञान प्राप्त करने की अनुमति देता है। पीजीडीसीए 1 वर्ष का डिप्लोमा कोर्स होता है जिसे 6 माह के दो सेमेस्टर में बाँटा गया है। यह कोर्स DCA (डिप्लोमा इन कंप्यूटर एप्लीकेशन) से उच्च स्तर का कोर्स होता है जिसे केवल ग्रेजुएट स्टूडेंट्स ही कर सकते है।

जब आप किसी जॉब के लिए अप्लाई करते है तो आप इस कंप्यूटर डिप्लोमा को दिखा सकते है। जो भी छात्र PGDCA पाठ्यक्रम के लिए प्रवेश पाना चाहते है वे PGDCA IGNOU, माखनलाल चतुर्वेदी यूनिवर्सिटी जैसी यूनिवर्सिटी से PGDCA Admission के लिए अप्लाई कर सकते है इसके अलावा और भी यूनिवर्सिटीज है जहाँ से आप यह डिप्लोमा कोर्स कर सकते है।

PGDCA का फुल फॉर्मPost Graduate Diploma in Computer Application
कोर्स का स्तरपोस्ट ग्रेजुएशन
PGDCA कोर्स की अवधि1 वर्ष
PGDCA कोर्स की फीस7,000 – 2,00,000 रुपए
टॉप कॉलेजेसदिल्ली यूनिवर्सिटी, IGNOU, माखनलाल चतुर्वेदी यूनिवर्सिटी, चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी
औसत सैलरी2,00,000 – 20,00,000 प्रति वर्ष
टॉप जॉब प्रोफाइलवेब डेवलपर, UX डिजाइनर, सॉफ्टवेयर डेवलपर, एथिकल हैकर
टॉप रिक्रूटर्सएक्सेंचर, टीसीएस, इंफोसिस, ओरेकल, टेक महिंद्रा आदि।

क्या आपने यह पोस्ट पढ़ी: CCC क्या है? CCC Course Details in Hindi और इसके फायदे!

PGDCA Ke Liye Qualification

यदि आप यह खोज रहे है कि पीजीडीसीए कब कर सकते हैं या पीजीडीसीए पाठ्यक्रम योग्यता क्या होती है तो आपकी जानकारी के लिए बता दे कि, किसी भी विश्वविद्यालय में कंप्यूटर एप्लीकेशन में पोस्ट ग्रेजुएशन डिप्लोमा पाठ्यक्रम में प्रवेश पाने के लिए छात्र का किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से ग्रेजुएशन डिग्री होना अनिवार्य है।

PGDCA कोर्स कैसे करें?

अधिकांश कॉलेजों के लिए PGDCA कोर्स में प्रवेश मेरिट लिस्ट के आधार पर किया जाता है। इसलिए विद्यार्थियों को अपनी ग्रेजुएशन अच्छे अंकों से उत्तीर्ण करने की कोशिश करना चाहिए। हालांकि बहुत से कॉलेजेस और इंस्टीट्यूट पीजीडीसीए कोर्स में प्रवेश के लिए एंट्रेंस एग्जाम का भी आयोजन करते है जिनमें दिल्ली यूनिवर्सिटी, IGNOU आदि शामिल है। पर बहुत से प्राइवेट इंस्टिट्यूट एवं कॉलेज भी है जो बिना किसी लिखित परीक्षा एवं अंको के आधार पर प्रवेश प्रदान करते है।

PGDCA Course in Hindi

पीजीडीसीए कोर्स के दौरान छात्रों को नवीनतम कंप्यूटर सॉफ्टवेयर विकास सहित कंप्यूटर एप्लीकेशन के उन्मुख पहलुओं के बारे में सिखाएगा। पीजीडीसीए में कितने सब्जेक्ट होते हैं (PGDCA Course Subjects) यह आपको निचे बताया गया है:

PGDCA Syllabus - Semester 1PGDCA Syllabus - Semester 2
कंप्यूटर फंडामेंटल्सविजुअल बेसिक
एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर पैकेजेसऑब्जेक्ट-ओरिएंटेड प्रोग्रामिंग
प्रोग्रामिंग इन 'C'कांसेप्ट ऑफ़ DBMS
कंप्यूटर आर्गेनाईजेशन एंड आर्किटेक्चरइंट्रोडक्शन ऑफ़ कंप्यूटर टेक्नोलॉजीस
सिस्टम एनालिसिस एंड डिज़ाइनइंट्रोडक्शन ऑफ़ लिनक्स

PGDCA Syllabus in Hindi

जो भी छात्र PGDCA Certificate कोर्स करने के इच्छुक है वे एक बार पीजीडीसीए का सिलेबस अवश्य देख ले। ध्यान रहे सभी विश्वविद्यालय के PGDCA Ke Subject या सिलेबस भिन्न हो सकते है जबकि कुछ के समान होते है:

अभी तक आप जान गए होंगे कि PGDCA Me Kitne Subject Hote Hai, पीजीडीसीए के विषय और पीजीडीसीए कब कर सकते हैं की पूरी जानकारी।

जरूर पढ़े: सॉफ्टवेयर टेस्टिंग क्या है? – Software Testing in Hindi, Software Testing Course

पीजीडीसीए के बाद करियर

कई स्टूडेंट्स का यह सवाल होता है कि PGDCA Ke Bad Kya Kare तो उनको बता दे कि, पीजीडीसीए के बाद करियर बनाने के लिए बहुत से रास्ते खुल जाते है। आप PGDCA Karne Ke Baad आगे बताये गए विभिन्न क्षेत्रों में जॉब प्राप्त कर सकते है

  • कंप्यूटर ऑपरेटर
  • डाटा एंट्री ऑपरेटर
  • इंटरनेट ऑपरेटर
  • ऑफिस असिस्टेंट
  • बेसिक प्रोग्रामर
  • टीचर
  • अकाउंटेंट

PGDCA Ki Fees Kitni Hai

पोस्ट ग्रेजुएशन डिप्लोमा इन कंप्यूटर एप्लीकेशन यानि PGDCA की फीस अनुमानित तोर पर 12000 रु/- से 20000 रु/- तक हो सकती है क्योंकि अलग-अलग संस्थान में PGDCA Course Fees अलग-अलग फीस हो सकती है। और PGDCA कोर्स आप IGNU, माखनलाल चतुर्वेदी विश्वविद्यालय की तरह किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से भी कर सकते है इसके अलावा और भी विश्वविद्यालय है जहाँ से आप ये कोर्स कर सकते है।

PGDCA Kitne Saal Ka Hota Hai

भारत में, PGDCA Course Duration एक वर्ष की है जिसे कोई भी छात्र ग्रेजुएशन होने के बाद कर सकता है। फिर चाहे आपने किसी भी विषय में ग्रेजुएशन किया हो, आप PGDCA कोर्स कर सकते है। इस पाठ्यक्रम में 6-6 महीने के 2 सेमेस्टर होते है, प्रथम सेमेस्टर में कंप्यूटर भाषा की पढ़ाई की जाती है, जैसे – C, C++, MS Office, Java, Tally आदि। द्वितीय सेमेस्टर में छात्रों को प्रोजेक्ट वर्क दिया जाता है। यदि आप कंप्यूटर फील्ड में करियर बनाना चाहते है, जैसे कंप्यूटर ऑपरेटर, प्रोग्रामर तो आप इस कोर्स को कर सकते है।

अब आप समझ गए होंगे कि PGCA Kitne Year Ka Hota Hai, अब यदि आपने यह कोर्स करने का मन बना लिया है तो आप अपने नज़दीकी किसी अच्छे कोचिंग इंस्टिट्यूट, जहां पर PGCA करवाया जाता है वहाँ एडमिशन लेकर यह कोर्स कर सकते है।

PGDCA Ke Fayde

पीजीडीसीए पाठ्यक्रम या PGDCA Course Benefits काफी सारे है उनमें से कुछ के बारे में आपको आगे बताया गया है:

  • PGDCA Course करने के बाद उम्मीदवार को सबसे बड़ा फायदा किसी जॉब में होता है। इससे उम्मीदवार को सरकारी, प्राइवेट, बैंकिंग, इंश्योरेंस, स्टॉक मार्केट आदि क्षेत्र में नौकरी प्राप्त करने में मदद मिलती है।
  • इसमें उम्मीदवार को कंप्यूटर की बेसिक नॉलेज के साथ ही एडवांस नॉलेज भी प्राप्त हो जाता है।
  • यह कोर्स करने के बाद उम्मीदवार सरकारी एजेंसी जैसे – ऑनलाइन सेंटर, कीओस्क बैंकिंग, CSC सेंटर आदि भी खोल सकते है।
  • PGDCA Ke Bad उम्मीदवार को MCA और MBA में सीधे प्रवेश भी मिल सकता है।

PGDCA के लिए टॉप भारतीय कॉलेजेस

  • पंजाब तकनीकी विश्वविद्यालय, जालंधर
  • माखनलाल चतुर्वेदी विश्वविद्यालय, भोपाल
  • इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय, नई दिल्ली
  • डिब्रूगढ़ विश्वविद्यालय, असम
  • लवली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी
  • भारतीय सांख्यिकी संस्थान, कोलकाता
  • अन्नामलाई विश्वविद्यालय
  • महर्षि मार्कंडेश्वर विश्वविद्यालय
  • पटना महिला कॉलेज, पटना
  • दिल्ली विश्वविद्यालय
  • सरदार पटेल विश्वविद्यालय
  • वल्लभ गवर्नमेंट कॉलेज, मंडी
  • मद्रास क्रिश्चियन कॉलेज, चेन्नई

एक नज़र इस पर भी: HTML Kya Hai – HTML कैसे लिखे है इससे जुड़ी पूरी जानकारी।

Conclusion

तो दोस्तों अब आप भी जान गए होंगे कि पीजीडीसीए के बाद करियर के कितने सारे अवसर हमारे लिए खुल जाते है। यदि आपका भी ग्रेजुएशन हो चुका है और आपकी रूचि कंप्यूटर के क्षेत्र में है तो यह डिप्लोमा कोर्स आपके लिए अच्छा विकल्प हो सकता है। इस लेख के माध्यम से मैंने आपको PGDCA Ka Full Form Kya Hai, PGDCA Karne Ke Fayde और PGDCA Course Kitne Saal Ka Hota Hai आदि लगभग सभी महत्वपूर्ण जानकारी दे दी।

फिर भी यदि PGDCA Course Details व PGDCA Exam Ki Taiyari से संबंधित आपके कोई प्रश्न हो तो आप कमेंट बॉक्स में कमेंट करके बता सकते है मुझे आपकी सहायता करके बड़ी खुशी होगी। आपको यह लेख पसंद आया हो तो इसे शेयर करना ना भूले, ताकि अन्य लोगों को भी PGDCA Ki Puri Jankari प्राप्त हो सके, धन्यवाद!

PGDCA से जुड़े अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQs)

  • PGDCA कोर्स की अवधि क्या है?

यह कोर्स पूरे 1 वर्ष का होता है जिसमे 6-6 माह के दो समेस्टर शामिल होते है।

  • पीजीडीसीए की फीस कितनी है?

PGDCA Course की औसत फीस 10,000 ₹/- से 2,00,000 ₹/- प्रति वर्ष है। यह फीस प्रत्येक कॉलेज या संस्थान की लोकप्रियता के हिसाब से अलग-अलग हो सकती है।

  • पीजीडीसीए कौन सा कोर्स होता है?

PGDCA (Post Graduate Diploma in Computer Science) यानि कंप्यूटर साइंस में स्नातकोत्तर डिप्लोमा कोर्स, ग्रेजुएशन के बाद किया जाने वाला एक डिप्लोमा कोर्स है। जिसकी अवधि 1 वर्ष की होती है।

  • क्या मैं 12वीं के बाद PGDCA कोर्स कर सकता हूँ?

जी नहीं, PGDCA कोर्स करने के लिए आपका किसी भी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी या संस्थान से किसी भी विषय में स्नातक (ग्रेजुएशन) होना चाहिए।

आपको हमारा यह लेख कैसा लगा ?

Average rating 4.6 / 5. Vote count: 178

अब तक कोई रेटिंग नहीं! इस लेख को रेट करने वाले पहले व्यक्ति बनें।

एडिटोरियल टीम

एडिटोरियल टीम, हिंदी सहायता में कुछ व्यक्तियों का एक समूह है, जो विभिन्न विषयो पर लेख लिखते हैं। भारत के लाखों उपयोगकर्ताओं द्वारा भरोसा किया गया।Email के द्वारा संपर्क करें - [email protected]

12 thoughts on “PGDCA Full Form in Hindi – पीजीडीसीए क्या है, योग्यता, फीस।”

    • इसमें आप को कंप्यूटर की बेसिक नॉलेज के साथ ही एडवांस नॉलेज भी प्राप्त हो जाता है! जो कि हर प्राइवेट नौकरी के लिए जरुरी होता है।

      Reply
    • ITI के बाद आप PGDCA का कोर्स नहीं कर सकते, सिर्फ ग्रेजुएशन होने के बाद ही कर सकते है!

      Reply
  1. सर मेरे ग्रेजुएशन में 44 प्रतिशत है और इंटर में आर्ट साइड थी क्या में भी पीजीडीसीए कर सकता हूं

    Reply

Leave a Comment